कहीं बार-बार दिखती या घर में तो नहीं आती बिल्ली, सावधान, आ सकते है संकट, पितृ पक्ष के अंतिम दिन कर लें ये उपाय

ऐसी मान्यता है कि काली या अन्य रंग की बिल्ली का बार-बार दिखाई देना या फिर बिल्ली का घर में अचानक आना भविष्य में होने वाली किसी संकट का संकेत देती है। अगर आपके साथ भी ऐसा हो रहा हो तो पितृ पक्ष की सर्व पितृ मोक्ष अमावस्या के दिन आने वाले संकटों से बचने के लिए ये उपाय जरूर करें। सर्व पितृ मोक्ष अमावस्या 28 सितंबर 2019 दिन शनिवार को है।   पितृ पक्ष इंदिरा एकादशी व्रत, पूजा विधि एवं श्राद्ध करने का महत्व कुछ ज्योतिष शास्त्रों में बिल्ली का सम्बन्ध पितरों से भी माना गया है, जो किसी अधुरी इच्छा को पूरी करवाने के लिए अपने वंशजों के ईर्द गिर्द भी घुमकर संकेत देने का प्रयास करती नजर आती है। अगर किसी के घर में बार-बार बिल्ली का आना, दिखाई देना, घर के आंगन या छत पर बिल्ली का रोना, लड़ाई करने जैसा कुछ घट रहा हो सकता है आपके परिवार में कुछ अशुभ होने के संकते देती है बिल्ली। इससे बचने के लिए पितृ मोक्ष अमावस्या के दिन तुरंत असरकारक ये उपाय जरूर करें।   सर्व पितृ मोक्ष अमावस्या के दिन घर के आंगन में कर लें ये उपाय, खुब आशीर्वाद देकर जाएंगे सारे पितृगण सर्व पितृ मोक्ष अमावस्या तिथि साल 2019 में 28 सितंबर दिन शनिवार को है, इसी दिन पितृ पक्ष का समापन भी इसी दिन होगा। पितृ मोक्ष अमावस्या पर करें ये उपाय 1- ज्ञात अज्ञात पूर्वज पितरों की शान्ति और तृप्ति के लिए सर्व पितृ मोक्ष अमावस्या के दिन घर या किसी नदी, तालाब में दक्षिण दिशा की ओर में मुख करके शुद्ध जल में काले तिल मिलाकर स्वयं या किसी अनुभवी ब्राह्मण से तर्पण करें या करावें। तर्पण करते वक्त पितरों से इस बाधा को हर लेने की प्रार्थना करें। 2- पितृ मोक्ष अमावस्या के दिन सुबह 5 से 6 बजे के बीच एवं शाम को भी 6 बजे से 7 बजे के बीच किसी प्राचीन पीपल के पेड पर शक्कर मिला मीठा जल चढावें एवं आटे के बने दो बत्ती वाले दो दीपक भी जलावें। 3- इन उपायों को करने के बाद बिल्ली के कारण होने वाले अशुभ परिणामों या भय से छुटकारा मिल जायेगा।

पत्रिका 24 Sep 2019 11:37 pm