चंदन और पीले फूलों से करें शिव की उपासना, बनने लगेंगे बिगड़े काम

ऐसे करें व्रत का पालन व्रत करने वाले को दिन में एक बार भोजन करना चाहिए। सोमवार को ब्रह्म मुहूर्त में सोकर उठें। पूरे घर की सफाई कर स्नानादि से निवृत्त हो जाएं। गंगा जल या पवित्र जल पूरे घर में छिड़कें। घर में ही किसी पवित्र स्थान पर भगवान शिव की मूर्ति या चित्र स्थापित करें। तीसरे पहर से व्रत प्रारंभ सोमवार व्रत सूर्योदय से प्रारंभ कर तीसरे पहर तक किया जाता है। शिव पूजा के बाद सोमवार व्रत की कथा सुननी आवश्यक है। पहले सोमवार को व्रत रखकर श्रद्धालु शिवलिंग का जलाभिषेक करते हैं। महादेव का विशेष श्रृंगार कर जलाभिषेक किया जाता है। इसके बाद भगवान को 56 भोग लगाए जाते हैं।

पत्रिका 26 Sep 2019 1:20 am