धनतेरस पर विशेष मूहुर्त में करें मंत्रों का जाप, सालभर नहीं आएगी दरिद्रता

पूजन के लिए गोधूलि बेला व वृष लग्न शुभकाल हैं। ऐसे में 28 अक्टूबर को गोधूलि बेला शाम 5.45 बजे शुरू हो रही है। वृष लग्न का योग होने से रात 8.30 बजे तक पूजन का शुभ मुहूर्त है। 28 अक्टूबर को धन्वंतरि पूजा व धनतेरस है, क्योंकि शुक्रवार को सूर्योदय व सूर्यास्त दोनों ही त्रयोदशी तिथि में हैं।

पत्रिका 26 Sep 2019 1:20 am