नवरात्र की सप्तमी तिथि : इस उपाय से शीघ्र प्रसन्न हो जाती है कालरात्रि माता, कर देती है हर इच्छा पूरी

शारदीय नवरात्र की सप्तमी तिथि को माँ दुर्गा के कालरात्रि स्वरूप की पूजा की जाती है। माता कालरात्रि शत्रुओं का संहार करने के साथ सुमार्गगामी शरण में आने वालों की रक्षा करते हुए उनकी सभी इच्छाएं भी पूरी कर देती है। अगर किसी के जीवन में किसी चीज का अभाव हो या फिर शत्रु परेशान कर रहा हो तो शारदीय नवरात्रि काल में सप्तमी तिथि (5 अक्टूबर 2019 शनिवार) को षोडषोपचार पूजा करने के बाद माता के इन नामों का पाठ करने से माता सभी इच्छाएं पूरी कर देती है।   दुर्गा महाअष्टमी 6 अक्टूबर : रात में कर लें ये महाउपाय, जो चाहोगे मिलेगा माता से माता महाकाली के इन 108 नामों का जप करें नवरात्र की सप्तमी तिथि को माता के इन 108 नामों का जप करें- काली, कापालिनी, कान्ता, कामदा, कामसुंदरी, कालरात्री, कालिका, कालभैरवपूजिता, कुरुकुल्ला, कामिनी, कमनीयस्वभाविनी, कुलीना, कुलकर्त्री, कुलवर्त्मप्रकाशिनी, कस्तूरीरसनीला, काम्या, कामस्वरूपिणी, ककारवर्णनीलया, कामधेनु, करालिका, कुलकान्ता, करालास्या, कामार्त्ता, कलावती, कृशोदरी   शारदीय आश्विन नवरात्र : स्कंद माता की पूजा के लाभ एवं स्कंद आरती कैलाशवासिनी, कात्यायिनी, कार्यकरी, काव्यशास्त्रप्रमोदिनी, कामामर्षणरूपा, कामपीठनिवासिनी, कंकिनी, काकिनी, क्रिडा, कुत्सिता, कलहप्रिया, कुण्डगोलोद्-भवाप्राणा, कौशिकी, कीर्तीवर्धिनी, कुम्भस्तिनी, कटाक्षा, काव्या, कोकनदप्रिया, कान्तारवासिनी, कान्ति, कठिना, कृष्णवल्लभा। ****************

पत्रिका 3 Oct 2019 1:13 pm