पितृ पक्ष में कर दें इन चीज़ों का दान, परेशानियों से हो जाएंगे मुक्त

पितृपक्ष की शुरुआत हो चुकी है और इस समय सभी पितरों के श्राद्ध में लगे हुए हैं। यह समय अपने पूर्वजों को धूप-ध्यान देने का समय हैं। वहीं दूसरी तरफ पंडित रमाकांत मिश्रा के अनुसार पितृपक्ष में आर्थिक समस्या से छुटकारा पाने के लिए भी कई उपाय किये जा सकते हैं।   जी हां, पितृपक्ष में यदि कुछ ऐसे दान किये जाएं जिससे की आर्थिक संपन्नता आती है तो व्यक्ति को कुछ विशेष प्रकार के दान करना चाहिए। वैसे भी मान्यताओं के अनुसार पितृ पक्ष में दान पुण्य करने से भी पूर्वज प्रसन्न होते हैं और आर्थिक समृद्धि होती है। तो आइए जानते हैं क्या करें इस समय दान... पंडित जी बताते हैं कि पित पक्ष में पितरों के नाम से दान करने पर पितृदोषों से मुक्ति तो मिलती ही है, इसके साथ ही आर्थिक संपन्नता भी आती है। इसलिए इस समय दान करें ये चीज़ें.... गरुड़ पुराण के अनुसार पितृ पक्ष में नमक का दान करना अच्छा माना जाता है। बताया गया है कि इस दौरान नमक का दान करने से यम का डर दूर हो जाता है। वहीं शास्त्रों के अनुसार इस समय गुड़-नमक का दान करना आर्थिक संपन्नता लाता है। काले तिल का दान करना बहुत अच्छा माना जाता है। यदि आप अन्य कोई भी दान करने में सक्षम ना हों तो काले तिल का दान जरुर करें। मान्यताओं के अनुसार तिल का दान करने से आप पर आने वाली परेशानियों को पितृ रोक लेते हैं। पितृपक्ष में चांदी का दान करना बहुत ही शुभ होता है। लेकिन यदि आप चांदी दान देने में सक्षम नहीं हैं तो दूध और चावल भी दान कर सकते हैं। ये दोनों भी चंद्रमा के कारक माने जाते हैं और पुराणों में पितरों का निवास स्थान चंद्रमा के ऊपरी भाग में ही बताया गया है। गरूड़ पुराण एवं अन्य शास्त्रों के अनुसार, पूर्वजों के निमित्त वस्त्रों का दान करने से उनपर हमेशा ही पितरों की कृपा बनी रहती है और खासकर धोती व दुपट्टे का दान करना सर्वोत्तम माना जाता है। ज्योतिषाचार्यों के मुताबिक पितृ पक्ष में छाते का दान करने से पूर्वज प्रसन्न होते हैं। यदि जीवन में सुख-शांति चाहिए तो पितृपक्ष में पितरों के नाम से छाता दान करें। पितृ पक्ष में पितरों के निमित्त किसी जरूरतमंद को जूते चप्पल जरुर दान करें, यदि आप आर्थिक संकटों से जूझ रहे हैं तो पितरों की शांति के लिए जूते-चप्पल का दान करें, आपकी परेशानी हल हो जाएगी।

पत्रिका 17 Sep 2019 11:14 pm