प्रेरक कथा: एक पल की बुरी संगत बिगाड़ सकती है खेल, जानिए क्या हुआ उस भले हंस के साथ

हंस ने कहा, 'मैं तो आपकी सेवा कर रहा था, मैं तो आपको छांव दे रहा था, आपने मुझे ही मार दिया?

दैनिक जागरण 6 Jul 2019 6:16 pm