भक्ति तो मन का भाव है

सद्गुरु  जग्गी वासुदेव भक्ति कुदरत की तरह है। कुदरत देने में कंजूसी नहीं करती, वह हर चीज में अपने आपको पूरी तरह से समर्पित कर देती है। कुदरत की हर चीज अपनी पूरी क्षमता से देना जानती है। जबकि मनुष्य बचत करने का प्रयास करता है। क्योंकि इनसान खुशी, अपना प्यार और वह सारी बातें, […] Divya Himachal: No. 1 in Himachal news - News - Hindi news - Himachal news - latest Himachal news .

दिव्या हिमाचल 19 Oct 2019 12:15 am