मंगल का राशि परिवर्तन, इन 3 राशियों को रहना होगा सावधान, हो सकती है दुर्घटना

ज्योतिष शास्त्र में मंगल को ग्रहों के सेनापति कहा जाता है। गोचरवश मंगल का कन्या राशि में 25 सितंबर 2019, बुधवार के दिन प्रवेश हो चुका है। इस परिवर्तन का सभी राशियों पर प्रभाव देखने को मिलेगा।   मंगल मेष राशि के स्वामि ग्रह हैं और कन्या राशि में वे 10 नवंबर तक रहेंगे। कन्या राशि में इस समय सूर्य, बुध, शुक्र का बेहद शुभ संयोग बन रहा है। लिहाजा इसका प्रभआव सभी राशियों पर पड़ेगा, चाहे वह शुभ प्रभाव हो या अशुभ प्रभाव.... इस राशि में मंगल का गोचर छठे स्थान पर हो रहा है। इस दौरान मेष राशि वाले जातकों की आत्मविश्वास में वृद्धि होगी। वहीं यह गोचर आपके लिये फलदायी साबित होगी। स्वास्थ्य गढ़बड़ा सकत है और जीवन में सफलता प्राप्त होगी। इस राशि में मंगल का गोचर पांचवे भाव में होगा। गोचरवश इस समय आपके दांपत्य में लाभ होगा। जीवनसाथी से विशेष लाभ प्राप्त होगा। खार्चों में बढ़ोतरी होगी व अत्यधिक लाभ प्राप्त होगा। लेकिन इस समय आपको शत्रुओं से सावधान रहने की जरुरत होगी। मंगल का आपकी राशि के चौथे भाव में गोचर हुआ है। आपको लिए यह समय थोड़ा सतर्क रहने वाला होगा। इस दौरान आपके बने बनाये कार्यों में रुकावटें आ सकती है। दोस्तों व रिश्तेदारों से विवाद की संभावनाएं बन सकती है। यह समय आपके स्वास्थ्य और आर्थिक स्थिति के लिये शुभ नहीं रहेगा। थोड़ी सावधानी बरतें। मंगल का राशि परिवर्तन आपके विवाहित जीवन के लिए बहुत शुभ फलदायी रहेगा। क्योंकि आपकी राशि में मंगल का राशि परिवर्तन तीसरे भाव में होगा। इसके साथ ही इस समय आपकी आर्थित स्थिति मजबूत होगी और समाज में मान-सम्मान बढ़ेगा। कार्यक्षेत्र में किसी सरकारी पद पर आसीन व्यक्ति से आपको लाभ मिल सकता है। मंगल का राशि परिवर्तन आपकी राशि के दूसरे भाव में हुआ है। इस दौरान आपको अपने गुस्से पर कंट्रोल रखना होगा। वहीं आपको अपनी कार्यक्षमता में थोड़ी कमी महसूस होगी। परिवारिक दृष्टि से यह समय आपके लिये शुभ नहीं रहेगा। वाद-विवाद हो सकता है। लेकिन आपको इस गोचरकाल में धन लाभ होगा। मंगल का कन्या राशि से प्रथम भाव में गोचर हुआ है। इस गोचर का सभी राशियों पर खासा प्रभाव देखने को मिलेगा। आपको इस समय अपने क्रोध पर नियंत्रण रखना होगा नहीं तो आपको बहुत नुकसान हो सकता है। मंगल के इस गोचर के दौरान आपको वाहन चलाते समय सावधानी बरतनी होगी, वरना दुर्घटना हो सकती है। तुला राशि के जातकों के लिए मंगल का यह गोचर विशेष फलदायी साबित होगा। क्योंकि आपकी राशि से मंगल का गोचर बारह्वें भाव में हो चुका है। यह गोचर आपको कार्यक्षेत्र में विशेष उपलब्धि प्राप्त करवाएगा और आपकी आय में वृद्धि भी होगी। इस गोचरकाल के दौरान आपको प्रॉपर्टी से संबंधित विशेष लाभ मिल सकता है। इस राशि के लिये मंगल का गोचर मिलाजुला साबित होगा। इस दौरान आपको सभी कुछ क्षेत्रों में लाभ होगा तो कुछ क्षेत्रों में इसका नुकसान भी आपको झेलना पड़ सकता है। आपकी राशि के ग्यारह्वें भाव में मंगल गोचर कर चुके हैं। परिणाम स्वरुप लंबी यात्रा हो सकती है और नौकरी में सफलता मिल सकती है। इस राशि में मंगल का गोचर दसवीं राशि में हुआ है। जिसके अनुसार यह समय आपके लिये सेहत के प्रति सचेत रहने का है। जीवनसाथी से मतभेद हो सकते हैं वहीं आपको वाद-विवाद की स्थिति से बचने का प्रयास करना होगा। धनु राशि के जातकों के लिए यह गोचर काल सामान्य रहेगा। मंगल का कन्या राशि में गोचर आपके लिए सामान्य रहेगा। ना तो यह आपको बहुत मुनाफा देगा नाही इस समय आपको कोई बड़े नुकसान का सामना करना पड़ेगा। आपकी राशि के नवें भाव में मंगल का गोचर हुआ है। जिसके परिणाम स्वरुप परिवार के सदस्यों में प्रेम बना रहेगा। इस गोचरकाल में आपके खर्च तो बढ़ेंगे साथ ही आपको आर्थिक लाभ के भी योग बन रहे हैं। इस गोचर के दौरान मंगल मीन राशि से सातवें भाव में रहेंगे। मंगल के इस गोचरकाल के दौरान मीन राशि के जातकों को कार्यस्थल पर मनचाहे फल की प्राप्ति होगी। बॉस आपके काम से प्रसन्न होगा और इस दौरान आपकी पदोन्नति भी संभव है।

पत्रिका 25 Sep 2019 11:33 pm