मां के चमत्कारी मंदिर में टंगी हुईं हैं 5 लाख घंटियां, दर्शन मात्र से टल जाती है अकाल मृत्यु

टंगी हुईं है 5 लाख घंटियां कैसे शुरू हुई घंटी बांधने की परंपरा स्थानीय लोग बताते हैं कि एक बार मरी माता का दर्शन करने के लिए श्रद्धालु बस से आ रहे थे। बस मंदिर के पास पुल के नीचे गिर गई लेकिन बस में बैठे किसी भी यात्री को कुछ नहीं हुआ। लोगों ने माता का चमत्कार मान कर मंदिर में घंटी बांध दी। तब से ही घंटी बांधने की परंपरा शुरू हो गई, जो आज तक जारी है।

पत्रिका 29 Sep 2019 2:34 pm