सांस से निकलती है अग्नि, नाम है शुभंकरी, देती हैं अभय वरदान

मां कालरात्रि का स्वरूप मां की कैसे हुई उत्पत्ति? ऐसे करें मां की पूजा धर्म शास्त्रों के अनुसार, मां कालरात्रि सदैव अपने भक्तों पर कृपा करती हैं और शुभ फल देती हैं। यही कारण है कि मां को 'शुभंकरी' भी कहा जाता है। मान्यताओं के अनुसार, मां अपने भक्तों के भय को दूर करती हैं। नवरात्रि में मां को प्रसन्न करने के लिए गंगा जल, पंचामृत, पुष्प, गंध, अक्षत से पूजा करनी चाहिए। इन सबके अलावा मां को गुड़ से भोग लगाना चाहिए क्योंकि मां को गुड़ बहुत ही प्रिय है।

पत्रिका 4 Oct 2019 11:18 am