सिर्फ आसन, प्राणायाम, ध्यान ही योग नहीं है: श्री श्री रविशंकर

श्री श्री रविशंकर का चिंतन है सिर्फ आसन, प्राणायाम, ध्यान ही नहीं, बल्कि किसी कार्य को कुशलतापूर्वक करना या तनावरहित जीवन जीना, ये भी योग हैं।

दैनिक जागरण 21 Jun 2018 11:09 am