Navratri 2019: देश के प्राचीन सिद्धपीठों में से एक है कालका जी मंदिर, जहां दर्शन से होती हैं मुरादें पूरी

कालकाजी में आदि शक्ति माता भगवती महाकाली के रूप में प्रकट हुई और उन्होंने असुरों का संहार किया। तब से यह मनोकामना सिद्धपीठ के रूप में प्रसिद्ध है। दूर-दूर से लोग दर्शन को आते हैं।

दैनिक जागरण 1 Oct 2019 9:34 am