अब तो मानो

बहुत हो गया , अब तो मानों । बंद करो , घर के दरवाजे , भीतर ही हो , स्तुति- नमाज़े । कहर बड़ा है, समझो- जानों , बहुत हो गया , अब तो मानों । रहे सुरक्षित , तो सब कुछ है , वरना धन-दौलत, सब तुच्छ है । बिन मतलब सड़के मत छानों, ... Read more

Continue Reading