SENSEX
NIFTY
GOLD
USD/INR

Weather

27    C

राय और ब्लॉग्स / दैनिक सवेरा टाइम्स

कहानी : सौतन का घर , भाग -5

मेरे हाथों में पांच सौ रुपए रखकर कमली ने मेरे माथे पर हल्दी का टीका लगाते हुए कहा, तुझे कभी किसी की नजर न लगे।फिर भी मैं चुपचाप खड़ी रही। मां की आंखें गीली हो आई थीं। मामा के चेहरे पर खुशी की लहर दौड़ आई थी। ह्यसुनयना आज से मेरी छोटी बहिन हो गई है चाची। जब तक मैं इसकी बारात लेकर नहीं आती तब तक तुझे इसका ध्यान रखना होगा।ह्यसुनयना कहक

30 May 2019 7:04 pm
मुंबई में बहुत सारे वेडिंग प्लेसमेंट विकल्प उपलब्ध हैं

A Lot Of Wedding Venue Options Available In Mumbai A range of wedding venues are available in Mumbai from which one can choose. Banquet halls, hotel grounds, and mansions are included in some of the best Mumbai wedding locations https://mumbai.wedding.net/venues/. One should put into consideration the amenities that are available at that particular venue when choosing wedding venue in Mumbai. One has to consider that the hall can house the number of guests invited, to book a banquet hall. These guests can be accommodated comfortably in the hall. Where the food service will take place, one has to consider. Ensuring the banquet hall is accessible to guests, other important things to consider include space for dancing. The location must be easily accessible for the guests using Mumbai wedding transport. Another choice for Mumbai weddings i

30 May 2019 7:04 pm
किस्सा कहानी : बैड नंबर तीन

समीर ने रात के खाने का आखिरी कौर मुंह में रखकर पानी के गिलास की ओर हाथ बढ़ाया ही था कि मोबाइल फोन की घंटी बज उठी। फोन उसकी दीदी का था। मन किसी अज्ञात आशंका से कांप उठा। अभी एक घंटा पहले ही तो उसकी बात दीदी से हुई थी। समीर के पिताजी का स्वास्थ्य ठीक नहीं चल रहा था। वे काफी वृद्ध थे लेकिन जिंदगी उन्होंने बड़ी ही जिंदादिली से गुजारी थी

30 May 2019 7:04 pm
कहानीः आखिर बदल गई कलिका

कलिका एक जागरूक युवती थी। उसने अपने से भी ज्यादा मेधावी और प्रतिभा सम्पन्न गिरीश से प्रेम विवाह किया था। कलिका शिमला से पूना जब गिरीश के घर पर आई तो उसने कुछ ही दिनों में महसूस किया कि गिरीश का व्यवहार बहुत ही सामाजिक है। नागपुर से सटे दूर दराज के गांव से उनके परिचितों को पूना बुलाकर नौकरी व्यवसाय में मदद करना गिरीश को सुकून द

27 May 2017 4:17 pm
अकबर बीरबल के 2 मजेदार किस्से

 मोम का शेर- सर्दियों के दिन थे, अकबर का दरबार लगा हुआ था। तभी फारस के राजा का भेजा एक दूत दरबार में उपस्थित हुआ। राजा को नीचा दिखाने के लिए फारस के राजा ने मोम से बना शेर का एक पुतला बनवाया था और उसे पिंजरे में बंद कर के दूत के हाथों अकबर को भिजवाया, और उन्हे चुनौती दी की इस शेर को पिंजरा खोले बिना बाहर निकाल कर दिखाएं। बीरबल की अ

23 May 2017 7:23 pm
कहानीः परवरिश

'मेम साहब... मेम साहब, जल्दी बाहर आइए..., सकूबाई की आवाज सुन कर नंदनी भाग कर बाहर आई। उसने देखा गली में घूमने वाली पगली दरवाजे पर बेहोश पड़ी थी। 'लगता है रात को ठंड से मर गई सकूबाई ने कहा। नंदनी ने सकुचाते हुए उसके पास जाकर देखा उसकी सांस चल रही थी। नंदनी ने अपनी पेईंग गेस्ट वृंदा को, जो एक डॉक्टर थी, आवाज दी। वृंदा ने आकर देखा और बता

18 May 2017 7:23 pm
कहानीः सबसे अलग हैं जादू की छड़ी

एक रात की बात है शालू अपने बिस्तर पर लेटी थी। अचानक उसके कमरे की खिडकी पर बिजली चमकी। शालू घबराकर उठ गई। उसने देखा कि खिडकी के पास एक बुढिया हवा मे उड़ रही थी। बुढ़िया खिडकी के पास आइ और बोली ``शालू तुम मुझे अच्छी लड़की हो। इसलिए मैं तुम्हे कुछ देना चाहती हूँ।'' शालू यह सुनकर बहुत खुश हुई। बुढिया ने शालू को एक छड़ी देते हुए कहा `

16 May 2017 4:20 pm
कहानीः बेंजी का बड़ा दिन

बड़े दिन की पूर्व संध्या थी। गलियाँ और बाजार परियों की नगरी जैसे सजे हुए थे। बाजार में सब दुकानों पर लाल, नीली, हरी, पीली बत्तियाँ तारों की तरह टिमटिमा रही थीं। सभी दुकानें जगमगा रही थीं। उनमें सजाया हुआ बड़े दिन का सामान मन को लुभा रहा था। वहाँ तीन दुकानें ऐसी थीं जो क्रिस्मस पेड़ बेच रहीं थीं। छोटे, बड़े सभी तरह के पेड़ थे। उन

16 May 2017 4:20 pm
कहानीः राजा रानी और बकरा

बात बहुत पुरानी है। एक राजा था जिसे एक मुनि ने प्रसन्न होकर जानवरों, कीट पतंगों और पक्षियों की बोली समझने का वरदान दिया था, लेकिन एक शर्त भी थी कि यदि राजा ने किसी को भी इस बारे में बताया तो राजा की उसी क्षण म्रत्यु हो जायेगी।  एक रात की बात है राजा अपनी रानी के साथ रात्री का भोजन कर रहा था, अचानक राजा ने देखा कि दो बडे चींटे (जो का

13 May 2017 1:18 pm
बीरबल और लालची दुकानदार

बीरबल और लालची दुकानदार: एक बार बीरबल को शहर के लोगों ने आकर एक लालची बर्तनों के दूकानदार के बारे में शिकायत की कि वह बहुत लालची है। उसे सबक सिखाओ। यह सुनकर बीरबल दुकानदार के पास गए और वहां से तीन बड़े-बड़े पतीले खरीद लाए। कुछ दिन के बाद वह एक बहुत छोटी-सी पतीली लेकर लालची दुकानदार के पास पहुंचे और बोले, “यह आपके बड़े पतीले ने बच्

10 May 2017 7:21 pm