SENSEX
NIFTY
GOLD
USD/INR

Weather

11    C

राय और ब्लॉग्स / अजमेरनामा

*कबाड़*

कबाड़ घर में हो या मस्तिष्क में निकाल देना ही ठीक है बड़े – बुजुर्गों की यही सीख है । कबाड़ रोक देता है हमारी गति- प्रगति भ्रमित कर देता है मानव – मति मानसिक तनाव बढ़ाता है दरिद्रता लाता है । अनुभव की कसौटी पर कसी हुई सीख है कबाड़ नकारात्मकता का प्रतीक है ... Read more

18 Jan 2020 9:26 pm
क्या मुस्लिम महिलाएँ और बच्चे अब विपक्ष का नया हथियार हैं?

सीएए को कानून बने एक माह से ऊपर हो चुका है लेकिन विपक्ष द्वारा इसका विरोध अनवरत जारी है। बल्कि गुजरते समय के साथ विपक्ष का यह विरोध “विरोध” की सीमाओं को लांघ कर हताशा और निराशा से होता हुआ अब विद्रोह का रूप अख्तियार कर चुका है। शाहीन बाग का धरना इसी बात का ... Read more

17 Jan 2020 9:04 pm
संघ को मानवता की दृष्टि से समझे

दक्षिण दिल्ली के जसोला में डॉ. हेडगेवार स्मारक न्यास एवं भगवान महावीर रिलीफ फाउंडेशन ट्रस्ट के संयुक्त प्रयासों से प्रारंभ हुए मेडी-डायलिसिस सेंटर का उद्घाटन करते हुए राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के सर संघचालक श्री मोहन भागवत ने भारत की समृद्ध संस्कृति एवं आध्यात्मिक जीवन शैली से न केवल नया भारत बल्कि दुनिया को उन्नत ... Read more

16 Jan 2020 9:53 pm
*पंछी और पतंग*

मरते हुए पंछी ने व्यथित होकर पतंग से पूछा बहिन ! मैंने तेरा क्या बिगाड़ा है, अपनी डोर में उलझाकर मुझे क्यों मारा है ? मैं तो वैसे ही डरा – डरा था इंसानी क्रूरता से अधमरा था । दूषित वातावरण में जीता था ज़हरीला दाना खाकर नदी-नालों का गंदा पानी पीता था । तुम ... Read more

15 Jan 2020 10:48 am
*परिवर्तन*

आजकल श्वान भौंकते हैं काटते नहीं हैं बस सूंघते हैं चाटते नहीं हैं । विषय बोध का है गहरे शोध का है । समय के साथ परिवर्तन लाज़मी है पर इसकी जड़ में आदमी है । किसी को काटकर या चाटकर कोई श्वान मर गया होगा इसीलिए हर श्वान शायद डर गया होगा । – ... Read more

14 Jan 2020 9:55 pm
किस तरह सक्रांति पर सूर्य और शनि को करे प्रसन्न?

स्कंदपुराण के काशीखंड में प्रचलित एक कथा के अनुसार – राजा दक्ष की कन्या संज्ञा का विवाह सूर्यदेव के साथ हुआ था। भगवान सूर्यदेव का तेज बहुत अधिक था जिसे लेकर संज्ञा सदैव परेशान रहती थी। सूर्य देव और संज्ञा की तीन संतान वैवस्वत मनु, यमराज और यमुना तीन संतान हुईं। लेकिन संज्ञा अब भी ... Read more

14 Jan 2020 9:22 pm
जज़्बा और ऊर्जा हो तो नमित मेहता जैसी,ये थकता नहीं रुकता नहीं

नमित मेहता ने जैसलमेर को विकास में जो नई ऊंचाइयां दी चंदन सिंह भाटी जैसलमेर एक साल भर में जिला कलेक्टर के रूप में नमित मेहता ने जैसलमेर को विकास में जो नई ऊंचाइयां दी है वो बहुत कम देखने को मिलती है।।सभी अधिकारी अपना बेस्ट देने की कोशिश करते है ।।मगर नमित मेहता का ... Read more

13 Jan 2020 10:33 pm
*विषय लाया हूँ*

एक गिरगिट मेरी छत पर आया किसी ने भला तो किसी ने बुरा बताया । शुभ- अशुभ के चक्कर में भी पड़ गए मैं तो चुप रहा लोग आपस में भीड़ गए । मैंने गिरगिट को समझाया भले प्राणी भाग जा नहीं तो मारा जाएगा और मरने का पाप मुझ पर ही आएगा । गिरगिट ... Read more

13 Jan 2020 10:31 pm
इस बार लोहड़ी 13 जनवरी को, जबकि मकर संक्रांति 15 जनवरी को

जय माताजी की मकर सक्रांति का पर्व अक्सर लगातार 14 जनवरी को पड़ताहैं। लेकिन इस बार लोहड़ी 13 जनवरी को पड़ गयी है जबकि मकर संक्रांति 15 जनवरी को है। क्योंकि ज्योतिषीय गणना के अनुसार इस बार सूर्य का मकर राशि में प्रवेश 14 जनवरी की रात 02:07 बजे है। इसलिए संक्रांति 15 जनवरी को ... Read more

13 Jan 2020 9:58 pm
प्रेरणा स्त्रोत युगप्रवर्तक स्वामी विवेकानन्द Part 4

स्वामी विवेकानन्द परमात्मा में विश्वास से अधिक अपने आप पर विश्वास करने को अधिक महत्व देते थे। स्वामीजी ने कहा कि जीवन में हमारे चारो ओर घटने वाली छोटी या बड़ी, सकारात्मक या नकारात्मक सभी घटनायें हमें अपनी असीम शक्ति को प्रगट करने का अवसर प्रदान करती है। आज भी स्वामीजी का साहित्य किसी अग्निमन्त्र ... Read more

12 Jan 2020 10:21 pm
व्यक्तित्व निर्माण में सहायक सिद्ध होता है दान

जो हम देते हैं वो ही हम पाते हैं ‘ दान के विषय में हम सभी जानते हैं। दान, अर्थात देने का भाव, अर्पण करने की निष्काम भावना। भारत वो देश है जहाँ कर्ण ने अपने अंतिम समय में अपना सोने का दांत ही याचक को देकर, ऋषि दधीचि ने अपनी हड्डियां दान करके और ... Read more

12 Jan 2020 10:07 pm
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से खास बातचीत

देश की आर्थिक हालत खराब, श्वेत पत्र जारी करे सरकार, और आरएसएस पार्टी बनकर मैदान में उतरे राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत केंद्र सरकार पर बड़े हमलावर नेता के रूप में उभर रहे हैं। बरबाद होती जा रही वित्तीय व्यवस्था और देश के आर्थिक हालात को लेकर वे सरकार पर लगातार हमले कर रहे हैं। ... Read more

12 Jan 2020 10:04 pm
छपाक से छपाक पर कूद पडे

जब कुछ नकाबपोश लोगों ने जेएनयू में घुसकर वहां के छात्रों से मारपीट की और पुलीस तमाशबीन बनी रही तो अगले रोज सिने तारिका दीपिका पादुकोण छात्रों के समर्थन में वहां गई. इस पर कुछ निहित स्वार्थ के लोग छपाक से उनकी फिल्म “छपाक” पर बिफर पडे. ऐसे ही जब फिल्म “टॉयलेट” रिलीज हुई थी ... Read more

11 Jan 2020 10:24 pm
धुंध भी हटेगी और धूप भी खिलेगी

इस दुनिया में हर व्यक्ति दुःखी है और दुखों से परेशान है, असफल होने के डर में जी रहा है। इस परेशानी से मुक्ति भी चाहता है लेकिन प्रयास अधिक दुःखी एवं असफल होने के ही करता है। हर व्यक्ति का ध्यान अपनी सफलताओं पर कम एवं असफलताओं पर अधिक टिका है। सकारात्मक नजरिया बनाने ... Read more

11 Jan 2020 10:21 pm
मच्छर और आदमी

एक मच्छर रोज़ एक आदमी के घर आता था आदमी उसे पकड़ने की कोशिश करता पर मच्छर भाग जाता था । एक दिन उसी मच्छर ने आदमी को काटा गुस्से में आकर आदमी ने मार दिया उसे चाँटा । मच्छर वही ढेर हो गया पट्ठा रोज शेर बनता था आज आदमी सवा शेर हो गया ... Read more

11 Jan 2020 8:49 pm
प्रेरणा स्त्रोत युगप्रवर्तक स्वामी विवेकानन्द Part 3

स्वामीजी ने अपना सारा जीवन अपने गुरु रामकृष्ण परमहंसदेव को समर्पित कर दिया | विवेकानंदजी धार्मिक आडम्बरवाद, कठमुल्लापन और रूढ़ियों के सख्त विरोधी थे। उन्होंने धर्म को मानव मात्र की सेवा के केन्द्र में रखकर ही आध्यात्मिक चिंतन-मनन किया था। उनका हिन्दू धर्म अटपटा, रुढीवादी एवं अतार्किक मान्यताओं मानने वाला नहीं था। स्वाम

11 Jan 2020 2:00 pm
छप्पन इंच की छाती और छत्तीस इंच वालों की शादी

जैसे कभी छप्पन इंच की छाती मशहूर हुई थी वैसे ही अब छत्तीस इंच वालों की शादी प्रसिध्द हो रही है जिसमें दूल्हा-दुल्न दोनों ही कद में छत्तीस इंच के. कोई कम नही. Equality before law के हिसाब से भी यह सही है. यह खबर है मध्य प्रदेश के खंडवा के पास के पुनसा स्थान ... Read more

10 Jan 2020 10:15 pm
कोई भी राष्ट्र युद्ध का अंधेरा नहीं चाहता

अमेरिका एवं ईरान के बीच बढ़ते तनाव से बनती विश्व युद्ध की स्थितियों ने समूची दुनिया को संकट में डाल दिया है। इन वैश्विक तनावों के बीच व्यापार और तकनीकी संघर्ष के चलते वैश्विक बाजार अस्थिर हो रहे हैं, विकास की गति मंद हो रही है, महंगाई बढ़ती जा रही है, मानव जीवन जटिल हो ... Read more

9 Jan 2020 9:57 pm
जानिये गुरु शिष्य के बीच खुशहाल जिन्दगी के रहस्य के बारे में रोचक सवाल जबाव

प्रस्तुत है रामक्रष्ण परमहंसदेव और उनके शिष्य स्वामी विवेकानंदजी के बीच में हुये वादविवाद में छिपे खुशहाल जिन्दगी के रहस्य को | यहाँ प्रश्नकर्ता विवेकानंद जी उत्तर देने वाले रामक्रष्ण परमहंसदेव है | प्रश्न—–जीवन की जटिलता के बीच उत्साह को केसे बनाया रक्खा जा सकता है ? उत्तर—-जीवन में उसे गिनों जो तुमने पाया है,उसे ... Read more

8 Jan 2020 10:37 pm
क्यों नही लगेगा इस बार ग्रहण का सूतक

ज्योतिषशास्त्र के अनुसार यह चंद्र ग्रहण नहीं है यह तो केवल उपछाया चंद्र ग्रहण है। भारतीय ज्योतिशास्त्र और पंचांग के अनुसार उपछाया चंद्र ग्रहण को चंद्र ग्रहण की श्रेणी में नहीं रखा जाता है। यहीं कारण है कि शुक्रवार, 10 जनवरी को लगने वाले इस चंद्र ग्रहण में सूतक काल नहीं होगा। सूतक काल ग्रहण ... Read more

8 Jan 2020 10:34 pm
अमरजीत सिंह राणा की हालत के पीछे कोंन जिम्मेदार है

आज मै आपको ऐसी शख्सियत के हालातों से रूबरू करवा रही हूं जिनकी इस हालत के पीछे सरकार से लेकर हम भी जिम्मेदार है ..जी मै बात कर रही हूँ #पूर्व_भारतीय_हॉकी_प्लेयर #अमरजीत_सिंह_राणा के बारें जो अभी 2 दिन पहले दिल्ली के पहाड़गंज रोड़ पर #भीख_मांगते हुए बेबस और लाचारी से जीवन व्यतीत करते हुए मिले ... Read more

7 Jan 2020 11:32 pm
ननकाना साहिब हमले के सन्दर्भ में सीएए

पाकिस्तान में गुरुद्वारा ननकाना साहिब पर हमले की घटना से एक बार फिर दुनिया के सामने वहां के अल्पसंख्यकों की हिफाजत के खोखले दावे का सच सामने आया है। किस तरह पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों को उपेक्षित, अपमानित और आतंकित जीवन जीने को विवश होना पड़ रहा है, गुरुद्वारा ननकाना साहिब पर नफरत, द्वेष एवं अमानवीयता ... Read more

6 Jan 2020 9:20 pm
स्वामी विवेकानंदजी के अनमोल मन्त्र जिनमें छुपा है खुशहाल जीवन जीने का रहस्य पार्ट 1

उठो, जागो और तब तक मत रुको जब तक आपको अपना लक्ष्य प्राप्त ना हो जाये। जब तक आप खुद पर विश्वास नहीं करते तब तक आप भगवान पर भी विश्वास नहीं कर सकते । जब जब दिल और दिमाग के टकराव हो तब हमेशा अपने दिल की सुनो। आकांक्षा , अज्ञानता और असमानता बंधन ... Read more

6 Jan 2020 12:15 pm
मिल जाए वो सब जो अब तलक मिला नहीं

कल सुबह देखा जब मैंने धुप तो थी ही नहीं लोगों ने भेजे ख़त मुझे कि भोर है नई नई आ गयी है फिर से एक बार तारीख वही जो पहले भी जीवन में आई है हर साल नई आज से पहले भी कितनी बार तारीख बदली है मुन्तजिर हूँ मैं उसका जो अब तलक ... Read more

3 Jan 2020 8:41 pm
कोटा में बच्चों की मौत से जुड़े सवाल

एनआरसी और नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के तथाकथित बवाल एवं हौ-हल्ला के बीच कोटा संभाग के सबसे बड़े सरकारी जेके लोन चिकित्सालय में भर्ती बच्चों की लगातार हो रही मौतों पर जिस तरह की असंवेदनहीनता एवं अराजकता देखने को मिल रही है, वह न सिर्फ दुखदायी है बल्कि राजस्थान सरकार की चिकित्सा व्यवस्था पर सवालिया ... Read more

3 Jan 2020 8:13 pm
अंधेरों के बीच उजालों की खोज हो

एक वर्ष का विदा होना सिर्फ कैलेन्डर का बदल जाना भर नहीं है। छोटा ही सही लेकिन यह हमारे जीवन का एक अहम पड़ाव तो होता ही है, जो हमें थोड़ा ठहरकर अपने बीते दिनों के आकलन और आने वाले दिनों की तैयारी का अवसर देता है। एक व्यक्ति की तरह एक समाज, एक राष्ट्र ... Read more

2 Jan 2020 7:36 pm
तनाव है तो होने दे, इसमें बुरा क्या है?

स्ट्रेस यानी तनाव। पहले इसके बारे में यदा कदा ही सुनने को मिलता था। लेकिन आज भारत समेत सम्पूर्ण विश्व के लगभग सभी देशों में यह किस कदर तेज़ी से फैलता जा रहा है इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि आज हर जगह स्ट्रेस मैनेजमेंट अर्थात तनाव प्रबंधन पर ना सिर्फ ... Read more

31 Dec 2019 8:36 pm
बदलते राजनीतिक दृश्यों में उथल-पुथल के संकेत

आज जब नववर्ष प्रारम्भ हो रहा है या यूं कहूं कि इक्कीसवीं शताब्दी का ट्वींटी-ट्वींटी प्रारम्भ हो रहा है, तब इसकी पूर्व संध्या पर मुझे भारत की एक नवीन तस्वीर दिखाई दे रही है। बीता वर्ष जाते-जाते घटनाबहुल बन गया। राष्ट्रीय स्तर पर जहां राममंदिर, अनुच्छेद 370, तीन तलाक कानून, एनआरसी और नागरिकता संशोधन कानून ... Read more

31 Dec 2019 8:30 pm
पीहर-ससुराल एक ही जगह होने का अपना मजा है !

खबर है कि भारत में हर दसवें लडकें को दुल्हन नही मिल रही है. वह दसवां लडका कौन है यह खोज का विषय है. सीबीआई खोजले तो और बात है बशर्ते उस पर किसी तरह का दवाब ना हो. फिर भी र्इस समस्या का हल निकाल लिया है मध्य प्रदेश में खरगोन जिले के चोली ... Read more

29 Dec 2019 9:03 pm
*विचार -प्रवाह*

लगता है तबियत और पत्नी में काफ़ी अंतर्संबंध है । दोनों की ही प्रकृति एक जैसी । ख़ुश रहे तब तक खुश और बिगड़ जाए तो बवंडर । ध्यान रखो तो घर में सुख शांति और लापरवाही बरतते ही कष्टों का पहाड़ । कोई एक नासाज़ हो जाए तो घर की पूरी व्यवस्थाएं बेपटरी और ... Read more

28 Dec 2019 9:05 pm
*विचार प्रवाह*

अभिनय भी एक बहुत बड़ी कला है । हमें तो क़ुदरत ने ऐसी मासूम शक़्ल भी नहीं दी जो अभिनय कर सकें । एक -दो बार दाढ़ी बढ़ाकर मजनूँ बनने की कोशिश की थी पर घरवालों ने नाई बुलाकर सिर के बाल और कटवा दिए । बचपन में ग्लिसरीन की डिब्बी हाथ लग गई । ... Read more

27 Dec 2019 10:11 pm
भाव देना बंद कीजिए ओवैसी को

ये ओवैसी है कौन? कुल 2 सांसदों और 7 विधायकों की पार्टी का अध्यक्ष। फिर भी मीडिया इसे इतना भाव क्यों देता है? क्यों इसके उसके बयानों को इतना महत्व दिया जाता है,जो देश में आग लगाते है। ऐसे नेताओं का क्या मीडिया को बहिष्कार नहीं करना चाहिए ? ओवैसी की राजनीतिक हैसियत तभी तक ... Read more

26 Dec 2019 11:19 pm
सरकारी नहीं .असरकारी चाहिए

एक अत्यन्त गरीब की माताजी बहुत बीमार थी।जिला अस्पताल से संभाग मुख्यालय इन्दौर के सात मंजिला अस्पताल ले जाने हेेतु कहा गया। सरकारी एम्बुलेंस माॅगी गई , जितने रुपए सी एस साहब ने बाले उसमें गीड़गीड़ाने के बाद भी एक पैसा नहीं कम किया।इधर – उधर से पैसे एकत्र कर देने के दो घंटे बाद ... Read more

26 Dec 2019 11:08 pm
घूंघट गुलामी का नहीं तहज़ीब का प्रतिक

चंदन सिंह भाटी जैसलमेर औरतें आज भी घूंघट से अपना मुंह ढकती हैं। विशेषकर ग्रामीण अंचलों में बड़ी संख्या में महिलाएं घूंघट में रहती है। घूँघट हिन्दू समाज की वो प्रथा रही है जिसे लाज का प्रतीक माना जाता है. हिन्दू धर्म में महिलाओं पर घूँघट के लिए दवाब नहीं डाला जाता बल्कि महिलायें स्वयं ... Read more

26 Dec 2019 10:38 pm
*विचार –प्रवाह*

“च” वर्ण से निर्मित चमचा , चालू , चापलूस , चुगलखोर , चाटुकार आदि शब्द आपस में भाई – बंधु ही है जो आज हमारे आस- पास खड़े और पसरे हुए हैं । उपर्युक्त हर शब्द आज के युग में जीवंत है । इन सबमें चमचा शब्द जो पहले कभी रसोईघर में काम लिए जाने ... Read more

26 Dec 2019 10:34 pm
विचार- प्रवाह

परमात्मा सबकी सुनता है , ज़रूरत है धैर्य और विश्वास की । पता नहीं हम क्यों इतने जल्दी अधीर हो जाते है और हमारी आस्था डगमगा जाती है , फलस्वरूप हम अन्य रास्ते अपनाने लग जाते हैं । ऐसी स्थिति में मन को मज़बूत रखना ज़रूरी होता है । दिक़्क़त यह है कि मन चंचल ... Read more

25 Dec 2019 12:02 am
आपने स्वार्थ के लिये जनता को मुर्ख न बनाएं

जब देश के पढ़े –लिखे बुद्धिजीवी लोग जिनमें कुछ डॉक्टर वकील, शिक्षक,प्रोफेसर, स्कूल कॉलेज के डायरेक्टर, पत्रकार, संपादक जैसे लोग सी ए ए और एन आर सी में अंतर समझे बिना मुस्लिम समुदाय को भृमित करने वाली बातें सोशल मीडिया में कथित सेक्युलरिज्म या फिर गंगा जमुनी तहजीब के नाम पर डालते हैं तो उनकी ... Read more

24 Dec 2019 10:08 pm
कंग्रेस बैसाखी के सहारे आगे बढ़ी, बीजेपी अपने पैरों पर खड़े होने के चक्कर मेें औंधी गिरी

मोदी नाम केवल्म से नहीं जीते जा सकते हैं राज्य -संजय सक्सेना, लखनऊ- झारखंड विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी को मिली हार को लेकर हर तरफ हाय-तौबा मचा हुआ है। सब अपने-अपने तरीके से बीजेपी की हार की समीक्षा कर रहे हैं, खासकर राष्ट्रीय दल का तमगा हासिल किए हुए कांग्रेस-बीजेपी की जर्बदस्त तुलना ... Read more

24 Dec 2019 9:58 pm
जनमानस में जानकारी का आभाव बना विपक्ष का हथियार

नागरिकता संशोधन कानून बनने के बाद से ही देश के कुछ हिस्सों में इस कानून के विरोध के नाम पर जो हिंसक प्रदर्शन हो रहे हैं वो अब गंभीर चिंता ही नहीं चिंतन का भी विषय बन गए हैं। हर बीतते दिन के साथ उग्र होते जा रहे आन्दोलनों और आंदोलनकारियों के हौंसलों के आगे ... Read more

22 Dec 2019 11:27 pm
और अब गिध्दखाना खुल रहा है !

खबर है कि अपने उत्तम प्रदेश यानि कि य़ू पी के महाराजगंज में सरकार एक गिध्दखाना खोलने जा रही है और दिलचस्प बात यह है कि स्थान के चुनाव की वजह बताई जा रही है पास ही पहले से स्थापित गौशाला को. कुछ समय पूर्व, जब मध्य प्रदेश में शिवराज जी की सरकार थी, यह ... Read more

22 Dec 2019 11:00 pm
विचार –प्रवाह

श्रेष्ठ विचार किसी के भी हो , उन्हें आत्मसात कर लेने में कोई बुराई नहीं है किंतु ध्यान इस बात का भी रखा जाए कि हम अंधानुकरण ना करें । हर व्यक्ति के पास अपना विवेक होता है अतः उद्गारों को अपनी कसौटी पर कसकर ही उनका अनुगमन करना श्रेयकर होता है । कई बार ... Read more

19 Dec 2019 8:00 pm
आम-बजट में राहत की उम्मीदें

देश में बढ़ती महंगाई, बेरोजगारी, व्यापार की टूटती सांसें, आर्थिक सुस्ती एवं विकास की रफ्तार में लगातार आ रही गिरावट चिंता एवं चिन्तन का कारण है। जनता महंगाई एवं नवीन आर्थिक परिवर्तनों से जार-जार है, लोग बढ़ती महंगाई को लेकर चिंतित हैं, वे चाहते हैं कि आयकर सीमा बढ़ाई जानी चाहिए। वित्तमंत्री से इस बार ... Read more

18 Dec 2019 2:32 pm
राष्ट्र की शुभता को आहत करने के षड़यंत्र

नागरिकता संशोधन कानून का जैसा हिंसक विरोध असम एवं पश्चिम बंगाल के बाद अब दिल्ली में हो रहा है उससे यही पता चल रहा कि अराजक तत्व उत्पात पर आमादा हैं, वे देश को जोड़ना नहीं तोड़ना चाहते हैं। सरकारी एवं निजी संपत्ति को आग के हवाले करने और सड़क एवं रेल मार्ग को बाधित ... Read more

16 Dec 2019 9:53 pm
दे और दिल उनको जो न दे मुझको ज़बाँ और

पुस्तक समीक्षा -राजेश चौधरी, चित्तौड़गढ़ हिन्दी पट्टी में दलित आत्मवृत्त-लेखन महाराष्ट्र की तुलना में देर से शुरू हुआ और अब भी संख्यात्मक दृष्टि से कम है। भँवर मेघवंशी का आत्मवृत्त पिछले दिनों प्रकाशित हुआ है, जो कि इस अभाव की एक हद तक पूर्ति करता है। इसे लेखक का सम्पूर्ण आत्मवृत्त कहने के बजाय एक ... Read more

15 Dec 2019 7:52 pm
हिन्दुओं को गाली देने वाली बिग्रेड अब ‘कैब’ विरोध के नाम पर मैदान में

-संजय सक्सेना, लखनऊ- केन्द्र की मोदी सरकार ने आखिरकार भारी विरोध के बीच अपने घोषणा पत्र के एक और चुनावी वायदे ‘नागरिकता संशोधन बिल’ (कैब)को कानूनी जामा पहना ही दिया। इससे देश का कितना भला होगा,यह तो समय ही बताएगा,परंतु कैब के विरोध ककी सियासत लगातार परवान चढ़ रही हैं। इस बिल के विरोध में ... Read more

14 Dec 2019 8:26 pm
राजनैतिक स्वार्थों की भेंट चढ़ता असम

राज्यसभा से नागरीकता संशोधन विधेयक पास होने के बाद से ही लगातार असम में इसका विरोध हो रहा है। इस बिल में यह प्रावधान किया गया है कि अब पाकिस्तान बांग्लादेश और अफगानिस्तान में रहने वाले “अल्पसंख्यक समुदाय” जैसे हिन्दू सिख बौद्ध पारसी और ईसाई समुदाय अगर भारत में शरण लेते हैं तो उनके लिए ... Read more

13 Dec 2019 9:49 pm
अगर टालनी हो अकाल मृत्यु

-करें ये उपाय, मिलेगा फायदा ======================= कहा जाता है कि जो भी मनुष्य इस धरती पर जन्म लेता है उसकी मृत्यु अवश्य होती है और इसीलिए धरती को मृत्यु लोक भी कहते है। मतलब जैसे जन्म का विधान है ठीक उसी तरह मौत का भी विधान बना हुआ है और इसीलिए मौत हमारे जीवन की ... Read more

6 Dec 2019 10:46 pm
निमाड़ी बोली में है अपनत्व की मिठास

खंडवा के साहित्यकारों ने निमाड़ी बोली पर हुए कार्यों के अंतर्गत अपने विचार साझा किए । खंडवा ।निमाड़ी बोली में अपनत्व की मिठास है ,यही मिठास निमाड़ी को अन्य लोक भाषाओं से पृथक स्थान प्रदान करती है ।ऐसे ही कुछ विचार स्व.पंडित राम नारायण उपाध्याय के निवास ‘ साहित्य कुटिर’ में शहर के प्रमुख रचनाकारों, ... Read more

6 Dec 2019 9:35 pm
अरे ! प्याज तो यह रहा

हास्य-व्यंग्य खबर है कि प्याज फिर गायब होगया है. वह आम आदमी की पहुंच से कही दूर चला गया है. प्याज की बडी महिमा है. राजस्थान में बहू जब अपनी सास के तानों से तंग आजाती है तो अपनी “मन की बात” इन शब्दों में कहती है “कब मरेगी सासू, और कब आयेंगे आंसू” परन्तु ... Read more

6 Dec 2019 9:14 pm
*भौंको मत, पीठ थपथपाओ*

-हैवानों का एनकाउंटर करने वाले हैदराबाद पुलिस के जाबांज अफसर को बारम्बार सेल्यूट ✍प्रेम आनन्दकर, अजमेर। भौंकने दीजिए भौंकने वालों को। चाहे बिकाऊ इलेक्ट्रॉनिक मीडिया भौंके, चाहे मौकापरस्त और स्वार्थी नेता, चाहे कोई अन्य भौंके। जिन लोगों का काम ही भौंकना है, वे भौंके बिना कैसे रह सकते हैं। यह समय भौंकने का नहीं, हैवानों ... Read mor

6 Dec 2019 9:10 pm