डिजिटल समाचार स्रोत

शादी के नाम पर ठगी करने वाली लुटेरी दुल्हन गिरफ्तार:पुलिस ने साथी को भी पकड़ा, शादी के लिए 3 लाख लिए, फिर स्टेशन से गई भाग

राजस्थान और हरियाणा के युवकों को फंसाकर उन्हें ठगने का मामला लगातार प्रकाश में आता रहा है। इसी क्रम में लक्सा थाने की पुलिस ने लुटेरी दुल्हन और उसके साथी को गिरफ्तार किया है। दोनों ने ही राजस्थान के जैसलमेर निवासी दूल्हे को झांसा दिया और शादी के लिए 3 लाख रुपए भी ऐंठे। इसके बाद विदाई के बाद रेलवे स्टेशन से दुल्हन भाग गई। फिलहाल पुलिस ने इस मामले में वांछित सरायनंदन दशमी निवासी संजय श्रीवास्तव और चंदौली के मानस नगर मुगलसराय निवासी दीपा मिलेनियम को गिरफ्तार कर लिया है। दोनों के विरुद्ध पहले से धोखाधड़ी सहित कई अन्य मामले दर्ज हैं। दोनों को पुलिस ने जेल भेज दिया है। 15 अप्रैल 2023 को दर्ज हुआ था मुकदमा राजस्य्थान के जैसलमेर निवासी नरेंद्र उर्फ़ नरेश व्यास ने ने 15 अप्रैल को लक्सा थाने पर मुकदमा दर्ज कराया था। नरेंद्र ने पुलिस को बताया था कई तीन लाख रुपए लेकर उसकी शादी कराई गई थी। शादी बहुत सादे समारोह के साथ संपन्न हुई थी। इसके बाद दुल्हन को विदाई कराकर घर ले जाते समय दुल्हन ने स्टेशन पर वाशरूम जाने का बहाना बनाया और वहां से फरार हो गई। पुलिस ने किया गिरफ्तार एसीपी दशाश्वमेध के अनुसार इस मुकदमें को लेकर लगातार आरोपियों को पकड़ने के लिए दबिश दी जा रही थी। इसी बीच औरंगाबाद चौकी प्रभार आलोक सिंह यादव को मुखबिरों से इन दोनों के ढालूवीर मस्जिद के पास होने की सूचना मिली थी जिसके बाद दोनों को पकड़ लिया गया और न्यायालय में पेश करते हुए संबंधित धाराओं में जेल भेज दिया गया है। 2020 से चल रहा है रैकेट पुलिस की पूछताछ में संजय ने बताया - लुटेरी दुल्हन दीपा के साथ मिलकर संजय और उसका दोस्त शैलेन्द्र साल 2020 से लुटेरी दुल्हन का रैकेट चला रहे हैं। इसमें दीपा दुल्हन बनती और हर बार रेलवे स्टेशन से फरार हो जाती। ज्यादातर लोगों ने तो मुकदमा ही दर्ज नहीं करवाया है। उसका राजस्थान और हरियाणा के कुछ लोगों से संबंध है। इसी का फायदा उठता था। गरीब घर की लड़की बनती थी दीपा, खर्च के नाम पर तीन लाख दीपा को गरीब घर की लड़की दर्शाया जाता था। इसके अलावा शादी के खर्च के लिए दूल्हे से 3 लाख रुपए लिए जाते थे और सारनाथ इलाके के किसी भी मंदिर से शादी संपन्न कराई जाती थी। इसके बाद रेलवे स्टेशन पर गच्चा देकर दीपा भाग जाती थी और फिर सभी अपना मोबाइल ऑफ कर लेते थे।

दैनिक भास्कर 22 Jul 2024 5:57 am

जयपुर-कोटा में पिछले 5 बार से नहीं जीती ABVP:4 बड़ी यूनिवर्सिटी में निर्दलीय भारी, युवा बोले- छात्रसंघ चुनाव टालने के मूड में सरकार

राजस्थान में छात्र संघ चुनाव को लेकर सियासी घमासान बढ़ता जा रहा है। एक ओर जहां सरकार कोई फैसला नहीं कर पा रही है। दूसरी ओर प्रदेशभर में छात्रों ने सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल रखा है। विपक्ष के नेता सरकार पर उपचुनाव के डर से चुनाव नहीं करने का आरोप लगा रहे हैं। आखिर सरकार छात्रसंघ चुनाव क्यों नहीं करवाना चाहती? एक्सपर्ट के अनुसार इसका बड़ा कारण पिछले चुनाव। दरअसल, 5 बड़ी यूनिवर्सिटी में पिछले 10 साल के छात्रसंघ चुनावों की पड़ताल में सामने आया कि मौजूदा हालात में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ज्यादा मजबूत स्थिति में नहीं है। जयपुर और कोटा में जहां अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद पिछले 5 साल से अध्यक्ष पद पर खाता तक नहीं खोल पाई है। वहीं, जोधपुर में भी एबीवीपी के हालात ठीक नहीं हैं। जबकि अजमेर और उदयपुर में एनएसयूआई की स्थिति ठीक नहीं है। पढ़िए पूरी रिपोर्ट… राजस्थान यूनिवर्सिटी : 5 साल से निर्दलीय बन रहा अध्यक्ष राजस्थान यूनिवर्सिटी प्रदेश की राजनीति का केंद्र मानी जाती है। यहां पर पिछले 10 साल के छात्र संघ चुनाव की बात करें तो निर्दलीय प्रत्याशियों ने अब तक सबसे ज्यादा 6 बार जीत दर्ज की है। जबकि बड़े-बड़े संगठन होने के बावजूद एबीवीपी और एनएसयूआई के प्रत्याशी अध्यक्ष पद पर महज 2-2 बार जीत हासिल करने में कामयाब हुए हैं। पिछले 5 साल से तो हालात इतने बिगड़ चुके हैं कि एबीवीपी और एनएसयूआई राजस्थान यूनिवर्सिटी में अध्यक्ष पद पर खाता तक नहीं खोल पाई है। वर्तमान हालात में भी एबीवीपी और एनएसयूआई को टक्कर देने के लिए बड़ी संख्या में निर्दलीय छात्र भी चुनावी मैदान में हैं। कोटा यूनिवर्सिटी : पिछले 5 चुनाव से नहीं खुला एबीवीपी का खाता हाड़ौती में कोटा यूनिवर्सिटी छात्र राजनीति का केंद्र मानी जाती है। पिछले 5 छात्र संघ चुनाव में एबीवीपी यहां खाता भी नहीं खोल पाई है। पांच बार से यहां भी निर्दलीय जीतते आ रहे हैं। पिछले 10 चुनाव की बात करें तो एबीवीपी महज 4 बार ही अपना अध्यक्ष जिता पाई है। एनएसयूआई का रिकॉर्ड तो और भी खराब रहा है। वर्तमान में भी त्रिकोणीय संघर्ष एबीवीपी और एनएसयूआई को परेशान कर सकता है। जय नारायण व्यास यूनिवर्सिटी : SFI दे रही एबीवीपी-एनएसयूआई को चुनौती जोधपुर की जय नारायण व्यास यूनिवर्सिटी की छात्र राजनीति पिछले 10 सालों में काफी बदल चुकी है। एबीवीपी और एनएसयूआई को जोधपुर में एसएफआई कड़ी चुनौती दे रही है। पिछले 10 चुनाव में जोधपुर में एबीवीपी ने 3, एनएसयूआई ने 3 और एसएफआई ने 3 बार अध्यक्ष पद पर जीत हासिल की है। वहीं, साल 2019 में जोधपुर यूनिवर्सिटी के इतिहास में पहली बार रविंद्र सिंह भाटी ने निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर जीत दर्ज की थी। जिसके बाद वह शिव से विधायक बन विधानसभा तक पहुंच चुके हैं। रविंद्र भाटी यूनिवर्सिटी चुनावों में अच्छा प्रभाव रखते हैं। ऐसे में इस बार अगर जोधपुर में छात्र संघ चुनाव होते हैं तो एबीवीपी और एनएसयूआई को फिर से भाटी के समर्थन वाले उम्मीदवार एबीवीपी को सीधी चुनौती देते हुए नजर आ सकते हैं। महर्षि दयानंद सरस्वती यूनिवर्सिटी : एबीवीपी-एनएसयूआई में बराबर की टक्कर अजमेर की महर्षि दयानंद सरस्वती यूनिवर्सिटी में पिछले 10 चुनाव में एबीवीपी और एनएसयूआई के बीच सीधी टक्कर रही है। दोनों के प्रत्याशियों ने चार-चार बार जीत दर्ज की है। वहीं, दो त्रिकोणीय संघर्ष में निर्दलीयों ने बाजी मारी है। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद से छात्र संघ चुनाव जीतने वाले विकास चौधरी (किशनगढ़) अब कांग्रेस पार्टी से चुनाव लड़ विधानसभा पहुंच चुके हैं। मोहनलाल सुखाड़िया यूनिवर्सिटी : बीजेपी के गढ़ में एबीवीपी मजबूत उदयपुर की मोहनलाल सुखाड़िया यूनिवर्सिटी में छात्रसंघ चुनाव में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद मजबूत स्थिति में है। पिछले 10 चुनाव की बात करें, तो यहां पर अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के उम्मीदवार ने 5 बार अध्यक्ष पद पर जीत दर्ज की है। वहीं एक बार एबीवीपी के प्रत्याशी का निर्विरोध निर्वाचन हुआ है। इसके साथ ही छात्र संघर्ष समिति (CSS) ने दो बार अध्यक्ष पद पर एबीवीपी और एनएसयूआई को शिकस्त देकर जीत दर्ज की है। जबकि महज एक बार एनएसयूआई जीत दर्ज करने में कामयाब हुई है। वर्तमान हालात में भी राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का गढ़ होने की वजह से सुखाड़िया यूनिवर्सिटी में एबीवीपी मजबूत स्थिति में नजर आ रही है। एक्सपर्ट बोले- लोकसभा चुनाव के बाद सरकार बचाव की मुद्रा में वरिष्ठ पत्रकार नारायण बारेठ ने बताया कि छात्र संघ चुनाव के माध्यम से ही जनमत का निर्माण होता है। यही कारण है कि सरकार फिलहाल बचाव की मुद्रा में चुनाव नहीं कराने के मूड में नजर आ रही है। क्योंकि लोकसभा चुनाव में उन्हें हार मिली थी। ऐसे में विपक्ष के नेता प्रदेश में छात्र संघ चुनाव की डिमांड कर रहे हैं। छात्र संघ चुनाव का आम राजनीति पर सीधा और गहरा प्रभाव पड़ता है। यही कारण है कि जो एबीवीपी कांग्रेस राज में छात्र संघ चुनाव कराने की मांग को लेकर आंदोलन कर रही थी वह फिलहाल खामोश है। वहीं जो एनएसयूआई कांग्रेस राज में खामोश बैठी थी, वह बीजेपी सरकार में छात्र संघ चुनाव कराने की मांग को लेकर सड़कों पर संघर्ष कर रही है। क्या उपचुनाव से पहले ABVP की हार का डर! राजस्थान में जल्द पांच सीटों पर विधानसभा उपचुनाव होंगे। उससे पहले प्रदेश की बड़ी यूनिवर्सिटीज में हार और जीत से ही जनता और युवा वोटर के बीच नैरेटिव बन सकता है। इसलिए सत्ता में रहने वाली पार्टी ऐसे मौके पर जोखिम नहीं उठाती है। पिछली बार जब सत्ता में कांग्रेस सरकार थी। तब उन्होंने चुनावी साल में भारी विरोध के बावजूद छात्र संघ चुनाव पर रोक लगाई थी। ताकि चुनावी साल में आम जनता के बीच किसी भी तरह के परसेप्शन को खराब नहीं हो। वरिष्ठ पत्रकार नारायण बारेठ का कहना है कि लोकसभा चुनाव में केंद्र में बीजेपी ने ज्यादा अच्छा प्रदर्शन नहीं किया है। राज्य में उन्हें 11 सीटों पर हर का सामना करना पड़ा है। आगे सरकार उपचुनाव में भी जाएगी इसलिए वह राजस्थान में छात्र संघ चुनाव कराने का जोखिम नहीं उठाना चाहेंगे। इसके पीछे वजह है कि अगर छात्र संघ चुनाव में बीजेपी की छात्रसंघ इकाई (एबीवीपी) को हार मिलती है तो विपक्षी दलों को सरकार के खिलाफ माहौल बनाने का मौका मिलेगा। नेता प्रतिपक्ष बोले- बीजेपी को फिर सता रहा हार का डर राजस्थान विधानसभा के नेता प्रतिपक्ष टीकाराम जूली ने कहा कि राजस्थान में बीजेपी सरकार को छात्र संघ चुनाव में ABVP की हार का डर सता रहा है। यही कारण है कि सरकार छात्रसंघ चुनाव नहीं कराना चाहती है। उन्होंने कहा कि बीजेपी़ नेताओं को डर लगता है कि लोकसभा चुनाव के बाद अब अगर छात्रसंघ में भी एबीवीपी हारी तो इनकी असलियत दिल्ली तक पता चल जाएगी। उच्च शिक्षा मंत्री दे चुके इशारा- सरकार चुनाव करवाने के मूड में नहीं पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत भी लिंगदोह कमेटी की सिफारिशों की धज्जियां उड़ाने को लेकर अपनी नाराजगी जाहिर कर चुके थे। उन्होंने कहा था कि छात्रसंघ चुनाव से पहले ही स्टूडेंट इस तरह पैसे खर्च कर रहे हैं। जैसे एमएलए-एमपी के चुनाव लड़ रहे हों। आखिर कहां से पैसा आ रहा है, इतने पैसे क्यों खर्च किए जा रहे हैं। हम इसे पसंद नहीं करते हैं। वहीं उप मुख्यमंत्री डॉ प्रेम चंद बैरवा भी पूर्व सरकार के फैसले पर सहमति जताते हुए फिलहाल छात्रसंघ चुनाव नहीं करने के मूड में नजर आ रहे है। क्या छात्र नेताओं के आक्रोश का डर? राजस्थान में छात्रसंघ चुनाव मुख्य राजनीति की पहली सीढ़ी माना जाता है। प्रदेश में 24 से अधिक राजनेताओं की शुरुआत छात्र राजनीति से हुई थी। पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, विधायक कालीचरण सराफ, सांसद हनुमान बेनीवाल से लेकर कई दिग्गज छात्र राजनीति से ही चमके हैं। कई बार देखा गया है कि चुनाव में जीतने वाले छात्रनेता भीड़ जुटाकर अपने क्षेत्रों से टिकटों के लिए दावेदारी करते हैं। अगर उन्हें टिकट नहीं दे तो वो पार्टी नेताओं को नुकसान पहुंचा सकते हैं। बताया जा रहा है कुछ विधायकों ने भी उच्च शिक्षा मंत्री से छात्रसंघ चुनाव नहीं कराने की अपील की थी। शिव विधायक रविंद्र सिंह भाटी ने कहा कि छात्रसंघ चुनाव का आयोजन होना बहुत जरूरी है। मैं खुद छात्र संघ चुनाव की राह पर चलकर ही आज विधानसभा तक पहुंचा हूं। इसलिए मैं सदैव छात्र संघ चुनाव के आयोजन का पक्षधर रहूंगा। लेकिन सरकार युवाओं की आवाज को दबाने और युवा नेतृत्व को खत्म करने के लिए चुनाव पर रोक जारी रखना चाहती है। जबकि युवाओं को राजनीति में लाने का छात्र संघ चुनाव सबसे बेहतर माध्यम है। आज विधानसभा में बड़ी संख्या में ऐसे विधायक हैं, जो छात्र संघ के माध्यम से सदन तक पहुंचे हैं। इसलिए मैं सरकार से गुजारिश करता हूं कि वह राजस्थान में फिर से छात्रसंघ चुनाव का आयोजन करें। युवा बोले- सरकार को सता रहा पेपर लीक का डर राजस्थान यूनिवर्सिटी में पढ़ने वाले रमेश ने कहा कि यूजीसी नेट और नीट की परीक्षा में हुई धांधली ने देश के युवाओं के भविष्य के साथ खिलवाड़ किया है। जिसका आक्रोश आज भी प्रदेश के लाखों युवाओं के मन में है। यही कारण है कि सरकार फिलहाल छात्रसंघ चुनाव टालने के मूड में है। ताकि नीट और नेट जैसे मुद्दे को पूरी तरह खत्म किया जा सके। राजस्थान यूनिवर्सिटी में पढ़ने वाले कमल चौधरी का कहना है कि सरकार तानाशाही रवैया अपना कर युवाओं की आवाज को दबाना चाहती है। मैंने पिछले कई सालों से छात्रों की आवाज उठाई है। अब जब मेरी उम्र चुनाव लड़ने की आई है, तब सरकार ने इसे स्थगित कर रही है। हम चुप नहीं बैठेंगे, छात्रों के साथ मिलकर सरकार के खिलाफ आर पार की लड़ाई लड़ेंगे। NSUI के राष्ट्रीय प्रवक्ता रमेश भाटी ने कहा कि भाजपा सरकार राजस्थान में युवा विरोधी नीति पर काम कर रही है। हमारी पार्टी ने युवाओं की आवाज को मजबूत करने के लिए छात्र संघ चुनाव फिर से शुरू किए थे। लेकिन बीजेपी सरकार ने चुनाव बंद कर आम छात्रों की आवाज को कुचलने का काम किया है। लेकिन NSUI आम छात्रों की आवाज बनकर न सिर्फ राजधानी जयपुर बल्कि, प्रदेशभर में बीजेपी सरकार के खिलाफ प्रदर्शन करेंगे और प्रदेश में फिर से छात्र संघ चुनाव शुरू कराकर ही दम लेंगे। राजस्थान यूनिवर्सिटी एबीवीपी के इकाई अध्यक्ष रोहित मीणा ने कहा कि अधिकारियों और यूनिवर्सिटी प्रशासन की लापरवाही की वजह से अब तक एडमिशन प्रक्रिया पूरी नहीं हुई है। एडमिशन प्रक्रिया जब तक पूरी नहीं होगी। तब तक छात्र संघ चुनाव का आयोजन नहीं किया जा सकेगा। हम सरकार से मांग करते हैं कि एडमिशन प्रक्रिया पूरी करने के साथ ही छात्र संघ चुनाव का आयोजन भी करवाया जाएं। ये भी पढ़ें- भाकर बोले- उपमुख्यमंत्रीजी, युवा आपको मुख्यमंत्री मान लेगा:आप तो छात्रसंघ चुनाव करवा दीजिए; कांग्रेस MLA ने कहा- राज-बीवी आने के बाद जाने नहीं चाहिए विधानसभा में उच्च शिक्षा की अनुदान मांगों पर बहस के दौरान कांग्रेस के कई विधायकों ने छात्रसंघ चुनाव करवाने की मांग उठाई। विधायक मुकेश भाकर ने कहा- आज प्रदेश का युवा छात्रसंघ चुनावों की मांग कर रहा है। (पूरी खबर पढ़ें)

दैनिक भास्कर 22 Jul 2024 5:57 am

साय ने कहा:कानून व्यवस्था पर सरकार को घेरेगी कांग्रेस मुद्दा नहीं फिर भी निभा रहे विपक्ष धर्म

छत्तीसगढ़ विधानसभा का मानसून सत्र आज से शुरू हो रहा है। सत्र में कुल पांच बैठकें होंगी। इस दौरान राज्य सरकार अनुपूरक बजट, विधेयक समेत कई जरूरी सरकारी काम निपटाएगी वहीं दूसरी ओर कांग्रेस कानून व्यवस्था, खाद-बीज संकट, मलेरिया, डायरिया जैसे मुद्दों को लेकर सरकार को घेरने की कोशिश करेगी। मुख्यमंत्री ​विष्णुदेव साय ने कहा कि विपक्ष के पास कोई मुद्दा नहीं है फिर भी वह विपक्ष धर्म निभा रहा है। सीएम ने मीडिया से बातचीत में कहा कि विधानसभा का सत्र कल से शुरू हो रहा है जो 26 जुलाई तक चलेगा। कांग्रेस के पास कोई मुद्दा तो है ​नहीं फिर भी विपक्ष का धर्म निभा रहे हैं। छह सात माह से लगातार विकास के काम कर रहे हैं फिर भी उन्हें कुछ दिखाई नहीं देता। वे कहते हैं कि सरकार कुछ काम नहीं कर रही है। जबकि हमने कई ऐतिहासिक काम किए हैं दो महीने आचार संहिता रहा फिर भी हमने 18 लाख पीएम आवास की स्वीकृति दिए हैं। 21 क्विंटल प्रति एकड़ धान खरीदे हैं। 145 लाख टन धान खरीदे हैं। 31 सौ रुपए धान की कीमत दिए हैं। 24 लाख 72 हजार से ज्यादा किसानों को 13 हजार करोड़ से ज्यादा अंतर की राशि दिए हैं। 70 लाख से ज्यादा माता-बहनों को हर महीने एक-एक हजार रुपए उनके खातों में दिए हैं। तेंदूपत्ता इस साल 5500 प्रति मानक बोरा खरीदे हैं। रामलला दर्शन योजना की शुरुआत हो चुकी है। इतना सारा काम हमने पांच-छह महीने में किया है। सरकार ने भी विपक्ष के हमलों का तथ्यों के साथ जबाव देने की रणनीति तैयार की है। सदन के भीतर हमलावर रहेगा विपक्ष, विस घेराव की रणनीति भी तैयार कांग्रेस ​विधायक दल की बैठक में सरकार को घेरने की रणनीति पर विचार-विमर्श किया गया। सभी ​विधायकों को सदन में उपस्थित रहने के निर्देश दिए गए हैं। सभी से कहा गया है कि कानून-व्यवस्था, खाद-बीज संकट, मलेरिया, डायरिया जैसे मुद्दों को लेकर पूरी तैयारी करके आएं। ​​एक निजी होटल में आयोजित इस बैठक में नेता प्रतिपक्ष डा. चरणदास महंत, पीसीसी चीफ दीपक बैज, पूर्व सीएम भूपेश बघेल, पूर्व डिप्टी सीएम टीएस सिंहदेव, गुरुमुख सिंह होरा समेत सभी विधायक और वरिष्ठ नेता मौजूद थे। बैठक के बाद नेता प्रतिपक्ष डा.महंत ने कहा कि सरकार ने पिछले छह महीने में प्रदेश को अपराध का गढ़ बना दिया है। ऐसा कोई भी काम नहीं हुआ जो लोगों को याद हो। सदन के भीतर हम तथ्यों के साथ सरकार को कठघरे में खड़ा करेंगे। पूर्व सीएम भूपेश ने कहा कि मोदी की गारंटी और साय का सुशासन दोनों में ही राज्य सरकार फेल हो गई है। पीसीसी चीफ दीपक बैज ने कहा कि बैठक में 24 तारीख को होने वाले विधानसभ घेराव के लिए भी रणनीति तैयार की गई है। बदला होगा सदन का नजारा: सत्र के दौरान सदन का नजारा बदला हुआ नजर आएगा। पूर्व संसदीय कार्यमंत्री बृजमोहन अग्रवाल अब सदन के सदस्य नहीं हैं। ऐसे में प्रथम पंक्ति में नए संसदीय कार्यमंत्री केदार कश्यप बैठेंगे यानी अब वे कृ​षि मंत्री रामविचार नेताम के बगल में बैठेंगे। इससे पहले वे सीएम के पीछे वाली पंक्ति में बैठ रहे थे। इसी तरह केदार कश्यप की जगह पर महिला एवं बाल विकास मंत्री लक्ष्मी राजवाड़े बैठेंगे।

दैनिक भास्कर 22 Jul 2024 5:57 am

सावन का पहला सोमवार, 1.5 करोड़ भक्त करके जलाभिषेक:काशी विश्वनाथ में 10 लाख भक्त पहुंचे; गाजियाबाद से हरिद्वार तक हाईवे पर सिर्फ कांवड़िए

आज सावन का पहला सोमवार है। गंगा जल लेकर भोले भक्त मंदिरों की तरफ बढ़ रहे हैं। सड़कों और शिवालयों में हर-हर, बम-बम की गूंज है। एक अनुमान के मुताबिक, यूपी के शिव मंदिरों में करीब 1.5 करोड़ भक्त आज जलाभिषेक करेंगे। यूपी में कांवड़ यात्रा के तीन बड़े मार्ग हैं। पहला- गाजियाबाद से मेरठ, मुजफ्फरनगर होते हुए श्रद्धालु हरिद्वार पहुंच रहे हैं। इन श्रद्धालुओं में पश्चिमी यूपी के अलावा दिल्ली, हरियाणा के लोग हैं। दूसरा मार्ग- सेंट्रल यूपी में कानपुर से बाराबंकी के लोधेश्वर महादेव मंदिर तक का है। तीसरे मार्ग में श्रद्धालु प्रयागराज में संगम तट से जल भरकर भदोही होते हुए वाराणसी पहुंच रहे हैं। काशी विश्वनाथ में करीब 10 लाख भक्तों के पहले दिन जलाभिषेक करने का अनुमान है। आधी रात 2.30 बजे से दर्शन-पूजन शुरू हो जाएगा। तीनों मार्गों पर एक लेन कांवड़ियों के लिए बुक है। ड्रोन से निगरानी की जा रही है। सुरक्षा व्यवस्था के लिए पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। स्वास्थ्य विभाग ने एंबुलेंस और डॉक्टर भी तैनात किए हैं।

दैनिक भास्कर 22 Jul 2024 5:55 am

सड़कों पर घूम रहे आवारा मवेशी:हर साल औसतन 15 लोगों की मौत, 10 साल में भी नहीं सुलझी समस्या

केवल राजधानी में ही बारिश के समय सड़कों पर बैठे आवारा मवेशियों की वजह से हर साल औसतन 15 लोगों की जान जा रही है। पिछले 10 साल में भाजपा और कांग्रेस की सरकार आवारा मवेशियों को लेकर कोई भी ठोस योजना नहीं बना पाई। सरकारी पॉलिसी नहीं बनने की वजह से इस परेशानी को दूर करने के लिए कभी कोई बड़ा फंड भी नहीं मिलता है। यही वजह है कि इस साल भी बारिश शुरू होने के साथ ही यह समस्या फिर बढ़ रही है। सड़कों पर आवारा मवेशियों की वजह से अभी तक चार लोगों की मौत हो चुकी है। कई हादसों में लोग घायल भी हो गए हैं। इतना ही नहीं आवारा मवेशियों को ठोकर मारने की वजह से कई बार हंगामा भी हो चुका है। ​इसी महीने इस मामले में गौ रक्षकों ने ठोकर मारने वाले आरोपियों को पकड़ने की मांग को लेकर कोतवाली और आजाद चौक थाने का घेराव भी ​किया था। कांग्रेस सरकार ने आवारा मवेशियों को रखने के लिए गौठान बनाए थे। लेकिन शहरी एरिया में इक्का-दुक्का ही गौठान बने। इस वजह से शहर के आवारा मवेशी सड़कों पर ही घूमते रहे। अभी भी यही स्थिति है। दिन में इन जानवरों की वजह से ट्रैफिक जाम तो होता ही रात में गंभीर हादसे होते हैं। शहर के वीआईपी रोड, एयरपोर्ट, मालवीय रोड, नया बस स्टैंड रोड, कुशालपुर, रायपुरा, शास्त्री चौक, बीरगांव, भनपुरी समेत कई सड़कों पर हर दिन आवारा मवेशी बैठे और घूमते हुए दिखाई देते हैं। इस वजह से अभी भी गंभीर हादसों का खतरा बना ही रहता है। खासतौर पर एयरपोर्ट जाने वाले लोग वीआईपी रोड में तेजी से गाड़ियां चलाते हैं। इस वजह से इस सड़क पर आए दिन हादसे होते रहते हैं। इसे रोकने के लिए भी अभी तक कोई इंतजाम नहीं किए गए हैं। मुख्य सचिव भी बोले लेकिन व्यवस्था नहीं सुधरी आवारा मवेशियों को पकड़ने के लिए मुख्य सचिव अमिताभ जैन भी कई बार कलेक्टरों को बोल चुके हैं। रायपुर कलेक्टर ने इस मामले में निगम और प्रशासन के अफसरों की ड्यूटी भी लगाई थी। उन्होंने सभी अफसरों से कहा था कि सुबह और शाम 2-2 घंटे सड़कों पर घूमेंगे। कहीं भी आवारा मवेशी दिखेंगे तो उन्हें कांजी हाउस या गौठानों में पहुंचाया जाए। यह​ सिस्टम कुछ ही दिन चला उसके बाद अफसरों ने फील्ड में जाना ही छोड़ दिया।​ निगम अफसरों और कर्मचारियों ने ज्यादा काम का हवाला देकर इस कार्रवाई को बंद कर दिया। इसलिए अभी कहीं भी आवारा मवेशियों को पकड़ने की कोई कार्रवाई नहीं हो रही है। सूखी जगह की तलाश में सड़क पर आते हैं मवेशी पशु विशेषज्ञों के अनुसार सूखी जगह की तलाश में ही मवेशी सड़कों पर आते हैं। अभी बा​रिश में सड़कों में मवेशियों की संख्या बढ़ ही जाती है। कीचड़ से बचने के लिए यह मवेशी सूखी जगह की तलाश में रहते है। सड़कों में सूखी जगह होने से मवेशी बीच रोड पर ही डेरा जमाकर बैठ जाते हैं। अधिकतर बार रात में अंधेरा होने की वजह से वाहन चालकों को ये मवेशी दिखाई नहीं देते हैं। इस वजह से वे ऐसे मवेशियों से टकरा जाते हैं। जुलाई से सितंबर तक इसी वजह से सड़क दुर्घटनाओं की संख्या बेहद बढ़ जाती है। निगम की ओर से कार्रवाई नहीं होने की वजह से दोपहर, ​शाम और रात में इनकी संख्या और बढ़ जाती है। हाईकोर्ट में जा चुका है मामला अफसरों की जवाबदेही भी तय, ​​फिर भी कार्रवाई नहीं सड़कों पर आवारा मवेशियों की वजह से हो रहे हादसों का मामला हाई कोर्ट भी पहुंच चुका है। इस मामले में कई जनहित याचिकाएं लग चुकी हैं। इन याचिकाओं पर सुनवाई करते हुए छत्तीसगढ़ हाईकोर्ट ने रायपुर समेत प्रदेश के सभी नगर पालिका, निगम आयुक्त और ग्राम पंचायतों को कड़े निर्देश देते हुए कहा था कि सड़कों और राजमार्गों में आने वाले पशुओं को रोंके। संभावित दुर्घटनाओं को रोकने के लिए सख्त कदम उठाने ही चाहिए। कोर्ट ने यह भी था कि निर्देशों का पालन नहीं करने वाले अफसरों की जवाबदेही भी तय की जाए। समाधान- लगातार कार्रवाई कर रहे प्राथमिकता हादसे रोकना निगम की ओर से लगातार कार्रवाई की जा रही है। अभी 6 डेयरी संचालकों पर कार्रवाई करने के साथ 1200 से ज्यादा आवारा मवेशियों को कांजी हाउस और गौठानों में पहुंचाया जा चुका है। सड़कों पर हादसों को रोकना ही पहली प्राथ​मिकता है। रात में भी अफसरों को फील्ड में उतारेंगे।अबिनाश मिश्रा, कमिश्नर नगर निगम आवारा मवेशी दिखे तो इस नंबर पर करें कॉलखुलेआम घूम रहे मवेशियों को पकड़कर गोठानों-गोशालाओें को भी दिया जा सकता है। लोगों से भी अपील की गई है कि आवारा मवेशी दिखने पर 62690-66630 या 62690-66612 नंबर पर कॉल करें। ताकि निगम के कर्मचारी वहां पहुंचकर उन्हें सड़क से हटा सके।

दैनिक भास्कर 22 Jul 2024 5:52 am

आजमगढ़ में पिस्टल सटाकर ट्रक चालक से लूट:स्कार्पियो सवार बदमाशों ने दिया घटना को अंजाम, जौनपुर रेलवे क्रासिंग पर फेंककर भागे अपराधी

आजमगढ़ जिले के गंभीरपुर थाना क्षेत्र में स्कार्पियो सवार बदमाशों ने ट्रक ड्राइवर को पिस्टल सटाकर एक लाख 14 हजार की लूट की घटना को अंजाम दिया। शनिवार की रात जब ट्रक ड्राइवर ट्रक लेकर प्रयागराज से केला लादकर बलिया के लिए जा रहा था। इसी दौरान लुटेरों ने घटना को अंजाम दिया। आरोपियों ने ट्रक ड्राइवर अंसार अहमद को लूट के बाद जौनपुर के पास रेलवे क्रासिंग के पास फेंककर फरार हो गए। रविवार की शाम पीड़ित अंसार अहमद ने गंभीरपुर पहुंचकर मामले की शिकायत थाने में दर्ज कराई। इस मामले की शिकायत मिलने के बाद पुलिस जांच में जुट गई। पुलिस को घटना से जुड़ा सीसीटीवी भी मिल गया। सीसीटीवी में एक संदिग्ध स्कार्पियो ट्रक को ओवरटेक करते दिख रही है। ड्राइवर बोला पिस्टल सटाकर हुई लूट इस बारे में दैनिक भास्कर से बातचीत करते हुए ड्राइवर अंसार अहमद ने बताया कि प्रयागराज से केला लादकर बलिया जाते समय स्कार्पियो सवार बदमाशों ने गंभीरपुर के पास स्कार्पियो को ओवरटेक कर रोका और हथियारों से लैश बदमाशों ने ट्रक पर चढ़कर मारपीट करने के साथ पिस्टल मेरी गर्दन पर लगाकर गाड़ी में रखा एक लाख 14 हजार रूपए लूट लिए। इसके साथ ही मेरा मोबाइल भी छीनकर बेहोशी की हालत में जौनपुर के पास रेलवे क्रासिंग के पास फेंक दिया। हालांकि पीड़ित की तहरीर पर इस मामले में मुकदमा दर्ज कर पुलिस मामले की छानबीन में जुट गई है।

दैनिक भास्कर 22 Jul 2024 5:48 am

मौसम का हाल:कमजोर मानसून और खंड वर्षा के कारण इस जुलाई रायपुर गर्म, औसत तापमान 2 डिग्री बढ़ा

जुलाई के पहले पखवाड़े में इस साल मानसून बेहद कमजोर रहा। समुद्री हवा और लोकल सिस्टम के कारण इस दौरान जो खंड वर्षा हुई उससे राहत तो नहीं मिली बल्कि उमस और गर्मी ने लोगों को बेचैन कर दिया।इस साल जुलाई में 1 से 21 तारीख के बीच रायपुर में दिन का अधिकतम तापमान औसत 33.27 डिग्री रहा। जबकि रायपुर में जुलाई का औसत तापमान 31.3 डिग्री ही रहता है। मौसम विज्ञानियों का कहना है कि रविवार को हुई बारिश के कारण मौसम ठंडा हुआ है। इसलिए सोमवार को भी गर्मी और उमस से थोड़ी राहत रहने की संभावना है। जुलाई में इस साल मानसून बहुत अच्छा नहीं रहा। बारिश नहीं होने की वजह से दिन का तापमान ज्यादातर दिनों में सामान्य से ऊपर रहा। इस वजह से ज्यादातर दिनों में गर्मी और उमस से लोग परेशान रहे। बारिश होने के बाद मौसम साफ होता रहा है। लेकिन हवा में नमी रहने और उस दौरान तेज धूप निकल आने के कारण ही उमस बढ़ने लगती है। मौसम विज्ञानियों का कहना है कि बंगाल की खाड़ी में कोई बड़ा सिस्टम नहीं बनने के कारण ही जुलाई का आधा महीना सूखा निकल गया। शुक्रवार से प्रदेश में बारिश की स्थिति बनी है। मानसून सक्रिय हुआ है, लेकिन इसका प्रभाव भी बस्तर संभाग और लगे हुए क्षेत्रों में अधिक रहा। रायपुर जिले में अभी तक बहुत अच्छी बारिश नहीं हुई। इस वजह से शनिवार-रविवार तक हल्की गर्मी और उमस बरकरार रही। हालांकि रविवार शाम को हुई बारिश के बाद मौसम थोड़ा ठंडा हुआ है। सोमवार को भी शाम-रात में बारिश हो सकती है। फिर भी दिन का तापमान 33 डिग्री के आसपास ही रहने की संभावना है। रायपुर में अब तक 299.8 मिमी बारिशरायपुर जिले में इस साल 1 जून से 21 जुलाई तक 299.8 मिमी बारिश हुई है। यह औसत से 22 फीसदी कम है। मौसम विभाग के अनुसार इस दौरान 384.1 मिमी औसत बारिश होनी चाहिए। यानी अब तक 84.3 मिमी कम बारिश हुई है। मानसून का अभी करीब सवा महीना बाकी है। इसलिए संभावना है कि अगले कुछ दिनों में अच्छी बारिश हुई तो यह कमी पूरी हो जाएगी। मौसम विज्ञानी डा. गायत्री वाणी कांचिभ के अनुसार सोमवार को रायपुर में आसमान में हल्के बादल रहेंगे। इस दौरान गरज-चमक के साथ बौछारें पड़ने की संभावना है। 17 दिन सामान्य से ज्यादा रहा पारामौसम विभाग के डेटा के अनुसार पिछले 21 में से 17 दिनों तक अधिकतम तापमान सामान्य से अधिक रहा। 1 से 4 जुलाई तक बारिश और बादल की वजह से तापमान सामान्य से कम रहा, लेकिन 5 जुलाई के बाद से लगातार तेज गर्मी पड़ी। इस दौरान हर दिन तापमान सामान्य से ऊपर रिकार्ड किया गया। मौसम विज्ञानियों का कहना है कि हर दिन का एक औसत तापमान होता है। यह पिछले 30 साल के औसत के आधार पर निकाला जाता है। किसी दिन का अधिकतम तापमान यदि उस दिन के औसत तापमान से अधिक है तो कहा जाता है कि आज औसत से ज्यादा गर्मी रही।

दैनिक भास्कर 22 Jul 2024 5:45 am

सीएम ने दी मंजूरी:सात साल बाद बनेगा अधूरा स्काई वॉक, जीई रोड शास्त्री चौक से पैदल यात्रियों का दबाव कम होगा

राजधानी के विवादित प्रोजेक्ट स्काई वॉक का काम करीब सात साल बाद फिर शुरू होगा। इसके लिए मुख्यमंत्री ने सहमति दे दी है। देर रात सीएम हाउस में हुई हाई लेवल की मीटिंग में यह तय किया गया कि स्काई वॉक के अधूरे काम को पूरा कर इसे लोगों के लिए खोला जाएगा। बैठक में शामिल पीडब्ल्यूडी और पुलिस विभाग के अफसरों ने कहा कि लोग आसानी से तहसील, जिला कोर्ट, डीकेएस और अंबेडकर अस्पताल पहुंच सकेंगे। इससे जीई रोड, अंबेडकर अस्पताल और शास्त्री चौक पर पैदल यात्रियों का प्रेशर पूरी तरह से खत्म हो जाएगा। सात साल पहले हुए सर्वे में यह कहा गया था कि शास्त्री चौक के चारों ओर हर दिन 40 हजार से ज्यादा लोग पैदल सफर करते हैं। इसमें करीब आधे लोग सरकारी दफ्तरों में ही जाते हैं। इस वजह से स्काई वॉक बनना चाहिए। मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय ने पिछले हफ्ते पीडब्ल्यूडी अफसरों से स्काई वॉक की फाइल मंगवाई थी। इसमें उन्होंने पूछा था कि वर्तमान में स्काईवॉक का निर्माण नए और पुराने ठेकेदार से कराने पर कितना खर्च होगा। सेतु निगम के अफसरों ने प्रोजेक्ट से संबंधित सभी जानकारी सीएम हाउस पहुंचा दी थी। इसके बाद से ही इस निर्माण को लेकर हलचल तेज हो गई थी। मुख्यमंत्री की सहमति के बाद माना जा रहा है कि पुरानी ठेका एजेंसी से ही इस काम को पूरा कराया जाएगा। अधूरे काम को पूरा करने में करीब करीब डेढ़ साल का समय लगेगा। अफसर कह रहे हैं कि सहमति बनने के बाद जल्द ही नया प्रोजेक्ट तैयार टेंडर भी जारी कर दिया जाएगा। 60% काम पूरा, सात करोड़ की लागत बढ़ेगीराजधानी में बढ़ती आबादी, गाड़ियों की संख्या, सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए पूर्ववर्ती भाजपा सरकार ने 2016-17 में 1470 मीटर लंबे स्काई वॉक बनाने का काम शुरू कराया था। पहली बार के टेंडर में इस काम को 42.55 करोड़ में आठ माह में पूरा करना था। लेकिन ले-आउट में लगातार बदलाव की वजह से इसकी लागत 77 करोड़ पहुंच गई थी। प्रोजेक्ट का 60 प्रतिशत काम पूरा हो चुका है। उस समय ठेका एजेंसी को 34 करोड़ का भुगतान भी कर दिया गया था। करीब सात साल बाद दोबारा इस पर दोबारा काम शुरू करने के लिए खराब समान को निकालना पड़ेगा। नए सामान लगाने होंगे। ऐसे में करीब 6 से 7 करोड़ और खर्च होंगे। ^ स्काई वाक को फिर से बनाने मुख्यमंत्री के साथ हुई बैठक में मौखिक सहमति बन गई है। जल्द ही लिखित आदेश जारी कर दिया जाएगा। इसके बाद सभी जरूरी प्रक्रिया पूरी की जाएगी।अरुण साव, मंत्री पीडब्ल्यूडी छत्तीसगढ़ एसीपी शीट तो कहीं एल्युमिनियम फ्रेम चोरी जयस्तंभ चौक पर स्थित मल्टीलेवल पार्किंग से शास्त्री चौक और अंबेडकर अस्पताल के गेट तक स्काईवॉक का स्ट्रक्चर तैयार है। पीडब्ल्यूडी के अफसरों की जांच में पता चला है कि इस ब्रिज से एसीपी शीट तो कहीं एल्युमिनियम फ्रेम चोरी हो गए हैं। कुछ जगहों पर डिवाइडर रेलिंग भी चोरी हो गई है। लोगों को चढ़ने-उतरने के लिए 12 जगहों पर सीढ़ी, एसकेलेटर और लिफ्ट लगाई जानी है। इन जगहों पर खुले समान को भी चोरी कर लिया गया है। ब्रिज में लगे स्टील और नट बोल्ट सही है। वेल्डिंग, पेटिंग, फ्लोरिंग, हुड एवं फ्लोरिंग फिक्सिंग का काम अधूरा है। खुले में होने की वजह से बारिश और गर्मी के कारण कई हिस्से में जंग भी लग गया है। इससे स्ट्रक्चर की मजबूती पर असर पड़ सकता है। सेतु निगम की टीम ने पूरी जांच कर रिपोर्ट सौंप दी है।

दैनिक भास्कर 22 Jul 2024 5:41 am

शायरा शबीना अदीब बोलीं-मैंने तो राम भजन-सरस्वती वंदना भी पढ़ी:लहू रोता है हिंदुस्तान...20 साल पहले लिखा था, तब भाजपा की सरकार भी नहीं थी

'लहू रोता है हिंदुस्तान...गांधी के सिंहासन पर है नाथू की संतानलहू रोता है हिंदुस्तान... ये नज्म मशहूर शायरा शबीना अदीब की है, जो उन्होंने 20 साल पहले लिखी थी। लेकिन, विरोध अब हो रहा है। विरोध भी ऐसा कि शबीना अदीब मेरठ के नौचंदी मेले में होने वाले मुशायरे में नहीं आ सकीं। प्रशासन ने उनकी एंट्री बैन कर दी। दैनिक भास्कर ने शबीना अदीब से एक्सक्लूसिव बात की, विरोध की वजह भी पूछी। जवाब मिला- जब गीत लिखा था, तब भाजपा सरकार भी नहीं थी। मैंने तो कवि सम्मेलनों में सरस्वती वंदना और राम का भजन पढ़ा है। हमेशा मोहब्बतों की शायरी की। मैं यही कहूंगी कि ये गलतफहमी पैदा करने वाला देश नहीं है। मेरठ के मुशायरा में शिरकत क्यों नहीं की? इस पर शबीना बोलीं- मैं कानपुर में हूं, 15 दिन से तबीयत खराब है। शबीना अदीब से हुई बातचीत से पहले शायरी पर हुआ पूरा विवाद पढ़िए... CM पोर्टल पर शिकायत, फिर मुशायरा में आने से मना हुआ मेरठ के नौचंदी मेला में शनिवार, 20 जुलाई को ऑल इंडिया मुशायरा था। पटेल मंडप में शबीना अदीब को नज्म पढ़नी थी। इससे पहले मेरठ नगर निगम की अपर नगर आयुक्त ममता मालवीय ने शबीना अदीब को फोन करके आयोजन में आने से मना कर दिया। उन्होंने बताया- शबीना को बुलाया गया था। बाद में किसी ने मुख्यमंत्री पोर्टल पर शिकायत की, वो सत्ता और पीएम मोदी के खिलाफ शायरी करती हैं, उनको नहीं बुलाना चाहिए। इसके बाद आयोजन समिति ने भी उनके आने पर विरोध जताया। ये मुशायरा डॉ. मेराजुद्दीन करवाते हैं। वो मोदी सरकार में केंद्रीय राज्य मंत्री जयंत चौधरी की पार्टी राष्ट्रीय लोक दल (RLD) के जनरल सेक्रेटरी हैं। उन्होंने कहा- उन (शबीना अदीब) पर गलत इल्जाम लगाया गया। 20 साल पहले उन्होंने सरकार के खिलाफ विवादित नज्म कही। मैंने उसको सुना, वो सरकार के खिलाफ इतनी विवादित भी नहीं थी। शायर तो ऐसा ही लिखते हैं। जिन लोगों ने इस विवाद को खड़ा किया, वो सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने वाले लोग हैं। इस विवाद के बाद दैनिक भास्कर ने शबीना अदीब से बात की। शबीना कानपुर के दलेलपुरवा की रहने वाली हैं। उन्होंने फोन पर हमारे सवालों के जवाब दिए। पढ़िए... सवाल - आपको फोन कर मुशायरे में आने से रोक दिया गया? क्या कहेंगी?जवाब - देखिए, मेरी तबीयत एक हफ्ते से खराब थी। मैं पहले से ही आना नहीं चाह रही थी। मुझे जानकारी दी गई कि वहां 'लहू रोता है हिंदुस्तान' गीत को लेकर कुछ विरोध हुआ है। अब लोगों ने उस गीत को लेकर क्या महसूस किया। क्या कह सकते हैं? हमने डा. मेराज साहब से बात की। उन्होंने मेरी बात अपर नगर आयुक्त ममता मालवीय से कराई। फिर मैंने ही उन्हें आने से मना कर दिया। सवाल - उस वक्त आप कहां थी, जब आपको मना किया गया?जवाब - मैं उस वक्त कानपुर में ही थी। बीते एक हफ्ते से मैं बीमार चल रही हूं। एक-दो प्रोग्राम और थे, उसमें भी नहीं जा सकी। पता नहीं कौन लोग हैं, जिन्होंने हंगामे का ऐलान किया। बताइए इतनी पुराने गीत को लेकर आज विरोध कर रहे हैं। सवाल - विरोध के पीछे कारण बताया गया कि आपने शाहीनबाग में PM और CM के खिलाफ बोला था?जवाब - (सवालिया अंदाज में) वो जो कह रहे हैं कि PM और CM का विरोध किया, उनके पास कोई रिकॉर्ड तो होगा? मेरे जैसे कितने लोग हालातों पर शायरी करते हैं, पढ़ते हैं। यह उनका पॉइंट ऑफ व्यू है, वो इसे किस नजरिए से देखते हैं, महसूस करते हैं। हमने किसी का नाम लिया हो तो और बात है। जब ये गीत लिखा था, तब सरकार भी इनकी नहीं थी। उस वक्त की सरकार को आपत्ति नहीं थी। अब कुछ लोग गलतफहमी पैदा कर रहे हैं। वो क्यों कर रहे हैं, ये वो लोग ही जाने। सवाल - कुछ लोगों का मानना है कि आपकी नज्म से उन्हें ठेस लगी?जवाब - कोई ऐसी बात नहीं है। अगर किसी को लगता है कि मैंने किसी बात पर कोई कमेंट किया है तो मैं सॉरी बोलती हूं। मेरी ये सोच भी नहीं है। मैंने हमेशा मोहब्बतों की शायरी की है। शबीना ने हमेशा सरस्वती वंदना कवि सम्मेलनों में पढ़ी। राम का भजन सम्मेलनों में पढ़ा। हम हमेशा ही कौमी एकता की बात करते हैं। सवाल - इस पूरे विवाद को आप किस नजरिए से देखती हैं?जवाब - हम अपने देश का परचम लेकर जश्न-ए-हिंदुस्तान मनाने कभी दुबई तो कभी सऊदी अरब गए। दूसरे देश में जाकर वतन का नगमा पढ़ा। हम जिस सरजमीं पर रहते हैं, वहां कभी भी ऐसी बातें नहीं थी। सवाल - क्या आपको लगता है ये पूरा वाकया राजनीति से प्रेरित है?जवाब - अब, मुझे नहीं मालूम इसके पीछे कौन लोग हैं, जिन्होंने इसको इश्यू बना दिया। विवाद का पता चलने के बाद मैंने खुद कह दिया कि मैं वहां नहीं आ रही हूं। किसी को मेरे 20 साल पुराने गीत से आपत्ति है, तो मैं क्या कह सकती हूं। प्रयागराज के वीडियो भी देखा जाए कि मैंने वहां क्या पढ़ा है। सवाल - मुशायरे में पढ़ने वाली नज्म, क्या आयोजक तय करते हैं या आप तय करती हैं?जवाब - उदाहरण के लिए बता दूं कि बहुत सारे दौर बदलते रहते हैं। शुरुआती दौर में इंसान को पता नहीं होता कि उसे क्या पढ़ना है और क्या नहीं पढ़ना है। ये हमारी नज्म 20-22 साल पुरानी है। लोगों ने इसको अपने-अपने तरीके से बताया। कुछ लोग, जिनको शायरी का सहूर नहीं है, उन लोगों ने हेडिंग लगा दी कि फला नेता को ललकार दिया। हम पढ़ रहे हैं कि जो खानदानी रईस हैं वो मिजाज रखते हैं नर्म अपना, तुम्हारा लहजा बता रहा है तुम्हारी दौलत नई-नई है। जिस गीत को लेकर विवाद हुआ, वो गीत भी पढ़िए... शबीना अदीब 2014 के लोकसभा चुनाव के दौरान भी चर्चा में रहीं, जानिए वजह... 'अच्छे दिन कब आएंगे' नज्म सबकी जुबां पर थी 2014 लोकसभा चुनाव के वक्त शायरा शबीना अदीब की लिखी एक नज्म खूब चर्चा में रही। उनकी एक नज्म है- 'अच्छे दिन कब आएंगे, जब भारत को लूटने वाले जेल की रोटी खाएंगे'। ये नज्म इतनी लोकप्रिय हुई कि हर शख्स की जुबान पर आ गई। हर कोई कहता था कि अच्छे दिन कब आएंगे। चुनाव के नतीजे आने के बाद शबीना ने बागपत के एक मुशायरे में यह नज्म पढ़ी थी। पूरी नज्म पढ़िए... अच्छे दिन कब आएंगे, जब भारत को लूटने वाले जेल की रोटी खाएंगेआटा चावल इतना महंगा, आम इंसान का क्या खाएगाइस दिन सुकून उसी दिन, चैन उसी दिन आएगारेल की राहत पाने वाले जब पैदल हो जाएंगेअच्छे दिन कब आएंगे....नेताओं अब होश में आओ, दुनिया जाग चुकी है,नेताओं अब होश में आओ, जनता जाग चुकी है,अब तुम अपनी खैर मनाओ, जनता जाग चुकी हैजिन्होंने तुमको सत्ता सौंपी, वही तुम्हें ठुकराएंगेअच्छे दिन कब आएंगे...महंगाई का इतना बढ़ना, जुल्म है मजलूमों परभूख से बच्चे तड़प रहे हैं, शहर के फुटपाथों परजब भी जुल्म किया जाएगा, हम आवाज उठाएंगेअच्छे दिन कब आएंगे.... हम हो तुम हो ये हो वो हो या हो देश के रहबरमिलेगा जो सबसे झुककर, वो रहेगा ऊंचाई परजो मगरुर है वो सब इक दिन मिट्‌टी में मिल जाएंगेअच्छे दिन कब आएंगे... यह भी पढ़ें 20 साल पुरानी नज्म पर मुशायरे में आने से रोका:मेरठ प्रशासन ने शायरा शबीना को फोन कर मना किया, आयोजक बोले- गलत हुआ मेरठ में गंगा-जमुनी तहजीब के प्रतीक नौचंदी मेले में मुस्लिम शायर शबीना अदीब के आने पर प्रशासन ने रोक लगा दी। शनिवार को पटेल मंडप में 'ऑल इंडिया मुशायरा' में शबीना अदीब को आना था, लेकिन भाजपा समर्थकों ने उनकी नज्म 'लहू रोता है हिंदुस्तान' पर विरोध जताया। इसके बाद अपर नगर आयुक्त ने कार्यक्रम से 24 घंटे पहले शबीना अदीब को फोन कर कार्यक्रम में आने से मना कर दिया। पढ़ें पूरी खबर...

दैनिक भास्कर 22 Jul 2024 5:39 am

सुविधा:स्टेशन को हाईटेक बनाने का काम अगले हफ्ते से शुरू होगा, 42 लिफ्ट और 21 एस्केलेटर लगेंगे

राजधानी के रायपुर रेलवे स्टेशन को हाईटेक बनाने का काम इस महीने के आखिरी हफ्ते से शुरू हो जाएगा। रेलवे ने तय किया है कि इस दौरान ज्यादा ट्रेनों को न तो कैंसिल किया जाएगा और न ही उनका रुट बदला जाएगा। इससे लोगों को निर्माण के दौरान भी बड़ी राहत मिलेगी। उन्हें अपनी कोई भी यात्रा रद्द नहीं करनी पड़ेगी। नए हाईटेक स्टेशन में 42 लिफ्ट और 21 नए एक्सेलरेटर लगाए जाएंगे। यानी यात्रियों को स्टेशन के किसी भी हिस्से में पहुंचने में कोई परेशानी नहीं होगी। स्टेशन बिल्डिंग के दोनों तरफ प्रवेश द्वार को और बड़ा किया जाएगा। इससे स्टेशन में प्रवेश करना और बाहर निकलना भी आसान होगा चाहे जितनी भीड़ हो। स्टेशन बिल्डिंग का कलर बदलकर हरे रंग में रंगा जाएगा। ताकि लोगों यह दूर से भी दिख सके और हरियाली का एहसास हो। इसमें विशाल कांकोर्स, बड़ी छत, 4 नए बड़े फुट ओवरब्रिज, स्टेशन की छतों पर सोलर पैनल, रेन वाटर हार्वेस्टिंग, सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट, दिव्यांग फ्रेंडली सुविधाएं और बड़ी कार पार्किंग बनाई जाएगी। स्टेशन को हाईटेक करने में करीब 470 करोड़ खर्च किए जाएंगे। नई बिल्डिंग दो मंजिला होगी, जिसकी चौड़ाई 36 मीटर होगी। दिखेगी स्थानीय कला और संस्कृति की झलकस्टेशन को आधुनिक सुविधाओं से लैस किया जा रहा है। इसके तहत वेटिंग हाल, पीने का पानी, एटीएम, इंटरनेट, वॉशरूम, कवर शेड, स्टैंडर्ड साइनेज आदि बनाए जाएंगे। बाहर से यह किसी शॉपिंग मॉल की तरह दिखाई देगा। स्टेशन को विश्वस्तरीय रूप देने के लिए ही इसे ग्रीन स्टेशन के स्वरूप में बदला जा रहा है। जहां प्राकृतिक रोशनी और वेंटिलेशन का बेहतर इंतजाम किया जाएगा। स्टेशन पर वरिष्ठ नागरिक एवं दिव्यांग के अनुकूल सुविधाएं रहेंगी। स्थानीय कला और संस्कृति को ध्यान में रखते हुए स्टेशन को डिजाइन किया जाएगा। पार्सल बिल्डिंग शिफ्ट होगी, यहीं से शुरू होगा निर्माणरेलवे इंजीनियरों ने मॉडल स्टेशन के लिए डेमो तैयार कर वीआईपी गेट पर लगा दिया है। इसे कोई भी देख सकता है। नया स्टेशन बनाने के लिए सबसे पहले पार्सल बिल्डिंग को शिफ्ट कर उसे तोड़ेंगे। धीरे-धीरे बाकी भवनों को तोड़ा जाएगा। काम के दौरान किसी भी तरह की दिक्कत न हो इसलिए अफसरों ने इसे कई फेज में बांट दिया है। हर फेज के काम की निगरानी के लिए अफसरों के नाम उनकी जिम्मेदारी भी तय कर दी गई है। सभी अफसरों से कहा गया है कि वे गंभीरता के साथ इस काम को करें। ताकि निर्माण में कोई खामी या कमी न रहें। ^ स्टेशन की नई बिल्डिंग का काम इस महीने के आखिरी हफ्ते से शुरू कर दिया जाएगा। इस दौरान ट्रेनों को डिस्टर्ब नहीं किया जाएगा। कोशिश की जाएगी कि यात्रियों को किसी भी तरह की कोई परेशानी न हो।अवधेश त्रिवेदी, सीनियर डीसीएम रायपुर

दैनिक भास्कर 22 Jul 2024 5:39 am

होटल बनारस-कोठी और रिवर पैलेस को खाली करने का नोटिस:सील होटल में बुकिंग और निर्माण जारी, VDA ने होटल संचालकों पर दर्ज कराया केस

वाराणसी में सत्तादल के नेताओं की साठगांठ से वीडीए से सील होटलों का संचालन जारी है। शहर के बनारस कोठी और रिवर पैलेस होटल सील होने के बाद पिछले दरवाजे से पर्यटकों की बुकिंग कर रहे हैं। होटल में देश विदेश के पर्यटकों का ठहराव जारी है और होटल संचालक अंदर निर्माण भी करवाने में जुटे हैं। VDA की टीम पहुंची तो शिकायत सही मिली, जिसके बाद दोनों होटल संचालकों को तत्काल होटल खाली करने का नोटिस थमाया गया। वहीं वीडीए के अवर अभियंता अतुल कुमार मिश्रा की तहरीर पर दोनों होटलों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। यह पहला मामला नहीं है, इन होटल को वीडीए ने आठ साल पहले 2015 में भी सील किया था।

दैनिक भास्कर 22 Jul 2024 5:38 am

दो दिन की बारिश से छत्तीसगढ़ में सूखा खत्म:प्रदेश में 376.4 मिमी गिर चुका पानी, बालोद में 7 फीट गहरे नाले में कार पलटी, डॉक्टर की मौत

प्रदेश में 376.4 मिमी गिर चुका पानी, बालोद में 7 फीट गहरे नाले में कार पलटी, डॉक्टर की मौत छत्तीसगढ़ में दो दिन की बारिश से सूखा खत्म हो गया। शुक्रवार से हो रही तेज बारिश के कारण प्रदेश के 20 में से 8 जिले कम से सामान्य वर्षा वाले क्षेत्र में शामिल हो गए हैं। अब सिर्फ 12 जिले ही कम बारिश वाले रह गए हैं। रविवार तक प्रदेश में 376.4 मिमी पानी गिर चुका है। मौसम विभाग का कहना है कि दो दिनों मे पूरे प्रदेश में 67.4 मिमी पानी गिर गया है। आने वाले दो दिनों तक भारी बारिश की संभावना बनीं हुई है। वहीं, बालोद जिले में भूलनडबरी-धनेली-गुरूर मार्ग पर पुलिया के डिवाइडर से टकराने के बाद नई कार सहित 7 फीट गहरे नाले में गिरने से भानपुरी निवासी डॉ. थनेश साहू (39) की मौत हो गई। खेतों को जब एक-दो अच्छी बारिश की जरूरत थी, तभी बंगाल की खाड़ी में बने सिस्टम ने पूरे प्रदेश को बारिश से तरबतर कर दिया। बस्तर संभाग के लगभग सभी जिले और रायपुर व दुर्ग संभाग के कुछ जिलों में इस दौरान काफी ज्यादा बारिश हो गई। इससे पूरे राज्य की बारिश का औसत सुधर गया। रविवार तक प्रदेश में 376.4 मिमी पानी गिर चुका है। यह औसत से सिर्फ 15 फीसदी कम रह गया है। शुक्रवार तक बारिश की मात्रा औसत से 26 फीसदी कम थी। यानी दो दिनों के पानी में बारिश की कमी लगभग 11 फीसदी तक कम हो गई। रायपुर समेत उत्तरी छत्तीसगढ़ के 13 जिले ही ऐसे हैं, जहां बारिश की मात्रा थोड़ी कम है। यहां भी चिंताजनक स्थिति सिर्फ जशपुर, सूरजपुर, जशपुर और बेमेतरा में है, जहां 50 फीसदी से कम बारिश हुई है। अन्य जिलों में एक-दो अच्छी बारिश होने पर वे भी सामान्य वर्षा वाले क्षेत्र में शामिल हो जाएंगे। बीजापुर और सुकमा जिले सरप्लस हो गए हैं। बीजापुर में 860.7 मिमी बारिश हो गई है। यह औसत से 73 फीसदी अधिक है, वहीं सुकमा में भी 41 फीसदी ज्यादा पानी गिर चुका है। बंगाल की खाड़ी में सिस्टममौसम विज्ञानी डॉ. गायत्री वाणी कांचिंभ ने बताया की प्रदेश में पिछले दो दिनों से मानसून सक्रिय है। बंगाल की खाड़ी में बना मजबूत सिस्टम उत्तर-पश्चिम की ओर आगे बढ़ेगा। इससे सोमवार को भी रायपुर और बस्तर संभाग में अच्छी बारिश की संभावना है। किरंदुल में बांध टूटा| दंतेवाड़ा - एनएमडीसी की किरंदुल परियोजना के डिपॉजिट 11सी में लौह अयस्क की धुलाई के लिए बनाया गया बांध टूट गया है। इससे किरंदुल नगर में पानी भरने लगा। इसका सबसे ज्यादा असर बंगाली कैंप व गाडर पुलिया के आस-पास देखा गया। जैसे ही पानी पूरी रफ्तार से पत्थर व गाद लिए नगर की तरफ बढ़ा अफरा-तफरी मच गई। करीब 4 साल पहले भी इसी तरह की घटना हुई थी।

दैनिक भास्कर 22 Jul 2024 5:36 am

अद्भुत श्रावण:शिव तांडव स्तोत्र के बाद आशुतोष राणा की नई पहल; रामचरित मानस के ‘नमामि शमीशान निर्वाण रूपं’ के हिंदी स्वरों से शिव आराधना

शिव तांडव के हिंदी वर्जन से एक्टर आशुतोष राणा ने शिव भक्तों में नई ऊर्जा का संचार किया था। अब राणा ने एक कदम आगे बढ़ते हुए ‘नमामि शमीशान निर्वाण रूपं’ का हिंदी वर्जन तैयार किया है। यह जानकारी नाटक ‘हमारे राम’ के मंचन के लिए जयपुर आए एक्टर आशुतोष राणा ने भास्कर से साझा की। चूंकि सोमवार से सावन का पवित्र माह शुरू हो रहा है तो हर तरफ शिव स्तोत्र की गूंज सुनाई देगी- चाहे भक्तों के फोन की कॉलर ट्यून हो या कांवड़ यात्रा। मंदिरों में घंटे-घड़ियाल के स्वरों में रामायण के अंश शिव तांडव और नमामि शमीशान से शिव की आराधना होगी। गौरतलब है कि दो साल पहले शिव तांडव स्तोत्र का जो हिंदी वर्जन आशुतोष राणा ने अपनी आवाज में महाशिवरात्रि के मौके पर जारी किया था, वह चंद मिनटों में लाखों-करोड़ों व्यूज में पहुंच गया। उन्होंने भास्कर से खास बातचीत में कहा- शिव स्तोत्र की अपार सफलता के बाद ‘नमामि शमीशान निर्वाण रूपं’ का हिंदी वर्जन तैयार किया है। मेरी पूरी कोशिश है कि मैं इसी माह इसे जारी करूं। शिव तांडव स्तोत्र की तरह लोगों को यह भी पसंद आएगा। हिंदी वर्जन की प्रेरणा कहां से मिली?संस्कृत में रावण द्वारा रचित शिव तांडव स्तोत्र, एक अद्भुत रचना और प्रार्थना है। भाषा की कठिनाई के कारण लोग इसके भाव को समझ नहीं पा रहे थे। कानों को सुनने में अच्छा जरूर लग रहा है, लेकिन कंठ में नहीं उतार पाते थे। हिंदी के जरिए मैंने इस अद्भुत प्रार्थना को लाखों-करोड़ों कानों से होते हुए कंठ तक पहुंचाने की कोशिश की है। इस स्तोत्र के लिए विशेष तैयारी की?मैंने कोई अलग तैयारी नहीं की। मैं इसकी लहर और लय को बचाना चाहता था, जिसे लोगों ने संस्कृत में सुना है। भाव और भाषा पर भगवान शिव ने कृपा दर्शाई, वे हमें बुलवा देते हैं और हम कर देते हैं। आपके चित्त में शांति और आनंद के लिए अगर कोई रचना होती है तो वो अपने आप वायरल हो जाती है। आपने इसे किस श्रोता वर्ग को ध्यान में रख तैयार किया?मैं मनुष्य को वर्गों में नहीं बांटता। परमात्मा ने ये सृष्टि अखंड बनाई है, इसे खंडित दृष्टि से देखने की अभी हमारी आदत नहीं पड़ी है। साेशल मीडिया ने शिव तांडव हटाया, विवाद बढ़ा... लौटाया महाशिवरात्रि 2022 के खास अवसर पर अभिनेता आशुतोष राणा शिव भक्तों के लिए शिव तांडव लेकर आए थे। इसे उन्होंने बेहद ही खूबसूरत अंदाज में गाया। जिसे सोशल मीडिया पर भी अपलोड किया। देखते ही देखते यह काफी वायरल हो गया। इसी बीच फेसबुक ने उनकी टाइमलाइन से शिव तांडव को हटा दिया तो इस पर विवाद खड़ा हो गया। सोशल मीडिया पर बड़ी संख्या में लोगों ने इस पर अपनी नाराजगी जाहिर की, जिसके कारण साेशल मीडिया ने रिवाइव कर दिया।

दैनिक भास्कर 22 Jul 2024 5:36 am

केशव ने योगी के विभाग से पूछा सवाल:संविदा और आउटसोर्सिंग भर्तियों में कितना आरक्षण दिया, मायावती का आदेश लागू करने को कहा

डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य विपक्ष की तरह अपनी ही सरकार से सवाल पूछने लगे हैं। सीएम योगी के विभाग को आदेश देने लगे हैं। मामला संविदा और आउटसोर्सिंग से होने वाली भर्ती में आरक्षण का है। उन्होंने सरकारी विभागों में संविदा और आउटसोर्सिंग से हुई नियुक्तियों की रिपोर्ट मांगी है। पूछा- इसमें रिजर्वेशन के नियम का कितना पालन किया गया? केशव ने संविदा भर्ती में रिजर्वेशन के 2008 के शासनादेश का पालन करने के भी निर्देश दिए। इसको लेकर केशव ने 15 जुलाई को नियुक्ति एवं कार्मिक विभाग (डीओएपी) के अपर मुख्य सचिव देवेश चतुर्वेदी को पत्र लिखा। इसमें उन्होंने कहा- विधान परिषद के प्रश्नों की ब्रीफिंग के दौरान कार्मिक विभाग के अधिकारियों से आउटसोर्सिंग और संविदा पर कार्यरत कुल अधिकारियों और कर्मचारियों की जानकारी मांगी थी। लेकिन यह जानकारी कार्मिक विभाग के पास नहीं थी। 69,000 सहायक अध्यापक भर्ती में आरक्षण का मसला भी उठायाकेशव मौर्य ने सीएम योगी को पत्र लिखकर 69000 सहायक अध्यापक भर्ती में आरक्षण की विसंगति के बाद चयनित 6800 आरक्षण वर्ग के अभ्यर्थियों को नियुक्ति देने का मुद्दा भी उठाया। केशव ने राष्ट्रीय ओबीसी आयोग के आदेश के तहत 69000 सहायक अध्यापक भर्ती परीक्षा- 2018 में उत्तीर्ण अंक में ओबीसी के अभ्यर्थियों को 5% छूट देते हुए संशोधित परिणाम जारी करने का भी मुद्दा उठाया है। उनका मानना है कि आरक्षण का यह मुद्दा काफी दिनों से निस्तारित नहीं होने से ओबीसी के अभ्यर्थी आंदोलन कर रहे हैं। जानिए आउटसोर्स और संविदा भर्तियों के बारे मेंसरकार डायरेक्ट स्थायी नियुक्ति न करके, संविदा और आउटसोर्स से भर्तियां कर रही है। यह एक तरह से कॉन्ट्रैक्ट होता है। संविदा में सरकार और कर्मचारी के बीच कॉन्ट्रैक्ट होता है, जबकि आउटसोर्सिंग में कंपनी या थर्ड पार्टी और सरकार में कॉन्ट्रैक्ट होता है। कंपनी या थर्ड पार्टी सरकारी विभागों में कर्मचारी उपलब्ध कराती है। इससे सरकार को काफी फायदा होता है। ऐसे कर्मचारियों को सरकारी कर्मचारी की तरह मूल वेतन नहीं मिलता। सरकारी सुविधाएं भी नहीं मिलती। साथ ही सरकार जब चाहे कॉन्ट्रैक्ट खत्म कर सकती है। सरकार ऐसी भर्तियों को बढ़ावा दे रही है, ताकि उस पर आर्थिक बोझ न बढ़े। इसका अंदाजा हाल ही में नियुक्त कर्मचारियों की संख्या से लगाया जा सकता है। यूपी में 2017 में भाजपा की सरकार बनी थी। तब से 2023 तक संविदा से 56 हजार 491 और आउटसोर्सिंग 2 लाख 75 हजार 497 भर्तियां सरकारी विभागों में की गई हैं। इसके अलावा विभिन्न निकायों में 1 लाख 7 हजार 936 कर्मचारी आउटसोर्सिंग से रखे गए हैं। मामला उठाने की वजह क्या है… केशव प्रसाद जिस नियुक्ति एवं कार्मिक विभाग से सूचना मांग रहे हैं, वो सीएम योगी के पास है। जानकार मानते हैं कि सीएम की मंजूरी के बिना ना तो कोई शासनादेश लागू हो सकता है, ना ही कोई सूचना जारी हो सकती है। अब केशव इसी आधार पर योगी को घेर रहे हैं। पत्र लिखकर उन्होंने एक तरह से विपक्ष को बड़ा मुद्दा दे दिया। यह पहला मामला नहीं है। पत्र लिखने के एक दिन पहले 14 जुलाई को प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में उन्होंने कहा था कि सरकार से बड़ा संगठन होता है। अगले ही दिन सोशल मीडिया X पर लिखा- संगठन सरकार से बड़ा है! इसके अलावा केशव कैबिनेट की बैठकों में भी शामिल नहीं हो रहे हैं। विधानमंडल के मानसून सत्र में उठेगा मुद्दाविधानमंडल की अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, विमुक्त जाति की संयुक्त समिति ने सरकार को संविदा और आउटसोर्स भर्ती में आरक्षण व्यवस्था लागू करने के निर्देश दिए हैं। भाजपा के उच्च पदस्थ सूत्रों का कहना है कि विधानमंडल के आगामी सत्र में यह मुद्दा दोनों सदनों में उठेगा। अब आगे क्या? 1- सरकार में टकराव बढ़ेगा: केशव मौर्य के इस कदम से टकराव और बढ़ेगा। इसके दो कारण हैं। पहला- आरक्षण पर पहले से ही योगी सरकार घिर चुकी है। लोकसभा चुनाव में उसे नुकसान उठाना पड़ा। सहयोगी पार्टियां भी यही बात कही रही हैं। दूसरा- जिस विभाग को केशव मौर्य ने निर्देश दिया है, वह योगी का है। पहले से ही दोनों में टकराव है। अब ये और बढ़ेगा। 2- विपक्ष को बड़ा मुद्दा मिल जाएगा: सपा और कांग्रेस ने लोकसभा चुनाव में इस मुद्दे को उठाया था। 7 दिन पहले कांग्रेस ने कहा था कि शैक्षिक एवं चिकित्सा संस्थानों में नियमित भर्ती के साथ ही संविदा एवं आउटसोर्सिंग की भर्तियों में आरक्षण का पालन कराने के लिए आंदोलन करेगी। यह आंदोलन अगस्त से शुरू होगा। जिला मुख्यालय के साथ जहां पर संबंधित संस्थान होगा, उसके आसपास प्रदर्शन कर राज्यपाल और राष्ट्रपति को पत्र भेजा जाएगा। इसकी जिम्मेदारी पिछड़ा वर्ग विभाग को सौंपी गई है। केशव प्रसाद के इस पत्र के बाद अब विपक्ष को मौका मिल जाएगा कि सरकार ओबीसी, एससी और एसटी की अनदेखी कर रही है। एक साल पहले भी केशव ने लिखा था पत्र, नहीं मिली थी जानकारीकेशव प्रसाद ने 16 अगस्त, 2023 को भी नियुक्ति एवं कार्मिक विभाग को पत्र लिखकर संविदा और आउटसोर्सिंग नियुक्ति में आरक्षण के नियमों का पालन नहीं होने पर आपत्ति जताई थी। उन्होंने विभाग को मामले में नियमानुसार कार्रवाई करने के लिए निर्देश दिए थे। लेकिन विभाग ने अब तक उनको रिपोर्ट नहीं दी है। भास्कर ने सबसे पहले किया था खुलासादैनिक भास्कर ने 26 जून को यूपी में संविदा नौकरियों में आरक्षण का सुझाव शीर्षक से खबर प्रकाशित की थी। खबर में भाजपा एससी मोर्चा की ओर से चुनाव में पार्टी को एससी का वोट नहीं मिलने की वजह बताई गई थी। इसमें मोर्चा की ओर से संविदा नौकरी में आरक्षण देने की मांग को प्रमुखता से उठाया था। भास्कर में खबर प्रकाशित होने के बाद ही विधानमंडल की संयुक्त समिति ने भी सरकार को पत्र लिखकर संविदा और आउटसोर्स भर्ती में आरक्षण का लाभ देने के निर्देश दिए थे। 15 जुलाई को केशव मौर्य ने भी सरकार को पत्र लिखा। 14 जुलाई से मुखर हुए थे केशव, दिल्ली भी गए14 जुलाई को लखनऊ में हुई भाजपा कार्य समिति की बैठक में केशव ने तेवर दिखाए थे। उन्होंने कार्य समिति की बैठक के बाद देर रात 'X' पर लिखा- संगठन सरकार से बड़ा था, बड़ा है और हमेशा रहेगा। मैं उपमुख्यमंत्री बाद में हूं, पहले कार्यकर्ता हूं। मेरे घर के दरवाजे सबके लिए खुले हैं। केशव के इस बयान को योगी को संदेश देने से भी जोड़ कर देखा गया। राजनीतिक गलियारों में चर्चा शुरू हो गई कि लोकसभा चुनाव में सीट कम आने के बाद सीएम योगी और केशव में दूरियां बढ़ गई हैं। इसीलिए वह किसी भी बैठक में शामिल नहीं हो रहे। नड्डा से मिले केशव, बगावती तेवर बरकरारकेशव मौर्य ने नाराजगी की खबरों के बीच ही 16 जुलाई को भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्‌डा से मुलाकात की। आलाकमान ने नसीहत दी कि सरकार-संगठन में तालमेल बनाकर रखें, बयानबाजी से भी बचें। इसके बावजूद उनके बगावती तेवर बरकरार हैं। नड्डा से मिलने के 15 घंटे बाद मौर्य ने फिर से X पर लिखा- संगठन सरकार से बड़ा होता है। आखिर क्यों नाराज हैं केशव? ये खबरें भी पढ़ें... यूपी सरकार में खींचतान के बीच अखिलेश का ऑफर:कहा-100 लाओ, सरकार बनाओ; केशव की मोदी-शाह से नहीं हुई मुलाकात यूपी सरकार में खींचतान के बीच डिप्टी सीएम केशव मौर्य बुधवार देर रात दिल्ली से लौट आए हैं। 2 दिन में केशव मौर्य ने दिल्ली में भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा से दो बार मुलाकात की, लेकिन उनकी पीएम मोदी और शाह से मुलाकात नहीं हो पाई। इधर, सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने केशव मौर्य के लखनऊ लौटने के बाद X पर दो पोस्ट किए। बुधवार रात लिखा- लौट के बुद्धू घर को आए। गुरुवार सुबह लिखा- मानसून ऑफर: 100 लाओ, सरकार बनाओ। पूरी खबर पढ़ें...

दैनिक भास्कर 22 Jul 2024 5:33 am

नूंह में ब्रजमंडल यात्रा आज:सुबह 10 बजे शुरू होगी, हिंसा की आशंका पर इंटरनेट बंद, बल्क SMS पर रोक, पैरामिलिट्री तैनात, ड्रोन से निगरानी

हरियाणा में आज सुबह 10 बजे से नूंह (मेवात) के पांडव कालीन महादेव मंदिर (नलहड़) से ब्रजमंडल जलाभिषेक यात्रा का आयोजन होगा। यह यात्रा फिरोजपुर झिरका के झिरकेश्वर महादेव मंदिर से होते हुए पुन्हाना के सिंगार श्रृंगेश्वर महादेव मंदिर तक पहुंचेगी। 80 किमी की इस शोभायात्रा को संपन्न करने के लिए प्रशासन ने आयोजकों को 5 घंटे की अनुमति दी है। इस 5 घंटे की यात्रा के लिए जिला प्रशासन ने बड़े पैमाने पर प्रबंध किए हैं। जिले में 2 हजार से ज्यादा सुरक्षाकर्मियों की तैनाती की गई है। 2 दर्जन से अधिक जगहों पर नाके लगाए गए हैं। प्रशासन की कोशिश है कि जिले में पिछले साल की भांति कोई वारदात न हो। प्रशासन ने इंटरनेट बंद कियापिछले साल यात्रा के दौरान हुई हिंसा को ध्यान में रखते हुए एहतियात के तौर पर प्रशासन ने जिले में मोबाइल इंटरनेट बंद कर दिया है। प्रशासन के आदेशानुसार 21 जुलाई शाम 6 बजे से 22 जुलाई शाम 6 बजे तक 24 घंटे के लिए मोबाइल इंटरनेट बंद है। इस अवधि में बल्क SMS भेजने पर भी रोक लगी है। साथ ही डोंगल इंटरनेट भी नहीं चलेगा। सुरक्षा के लिहाज से पुलिस के साथ पैरामिलिट्री फोर्स और कमांडोज तैनात किए गए हैं। ड्रोन के जरिए पूरे नूंह और अरावली की पहाड़ियों की निगरानी की जा रही है। हरियाणा पुलिस लगातार फ्लैग मार्च निकाल रही है। यहां जमीन से आसमान तक सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किए गए हैं। जिला मजिस्ट्रेट बोले- इंटरनेट का मिसयूज हो सकता हैनूंह में इंटरनेट बंद करने को लेकर जिला मजिस्ट्रेट धीरेंद्र खड़गट ने कहा- इंटरनेट सेवाओं का मिसयूज कर भड़काऊ सामग्री, झूठी अफवाहों का प्रसार किया जा सकता है। इसके परिणामस्वरूप जिले में सार्वजनिक संपत्तियों व सुविधाओं को नुकसान और कानून एवं शांति व्यवस्था भंग हो सकती है। मोबाइल इंटरनेट से वॉट्सऐप, फेसबुक, ट्विटर आदि विभिन्न सोशल मीडिया माध्यमों से गलत सूचना व अफवाह फैलाई जा सकती हैं। भीड़ को इकट्ठा कर आगजनी, बर्बरता या किसी प्रकार की हिंसा हो सकती है। सार्वजनिक और निजी संपत्तियों को नुकसान पहुंचाया जा सकता है। ऐसा न हो, इसके लिए प्रशासन ने यह कदम उठाया है। उन्होंने बताया कि सार्वजनिक सुविधा व लोगों की बुनियादी घरेलू जरूरतों को समझते हुए पर्सनल SMS, मोबाइल रिचार्ज, बैंकिंग SMS, वॉयस कॉल, कॉर्पोरेट और घरेलू ब्रॉडबैंड और लीजलाइनों द्वारा मिलने वाली इंटरनेट सेवाओं को छूट दी गई है। अरावली की पहाड़ियों पर भी नजर, बाहरी गाड़ियों की वीडियोग्राफीनूंह में पुलिस और पैरामिलिट्री जवानों की तैनाती की गई है। घुड़सवार दस्ते भी ड्यूटी पर मुस्तैद किए गए हैं। अरावली की पहाड़ियों पर भी कमांडोज तैनात किए गए हैं। पुलिस यहां फ्लैग मार्च और सर्च ऑपरेशन चला रही है। नूंह पुलिस नूंह शहर के अलावा नल्हरेश्वर मंदिर, अरावली पर्वत, बड़कली चौक, झिरकेश्वर मंदिर सहित श्रृंगेश्वर मंदिर (सिंगार) व यात्रा समापन स्थलों तक की निगरानी कर रही है। नूंह SP बोले- 2 हजार से ज्यादा सुरक्षाकर्मी तैनातनूंह SP विजय प्रताप ने कहा कि यात्रा को सफल बनाने के लिए करीब 2 हजार सुरक्षाकर्मी तैनात किए गए हैं। इसमें RAF की 3 कंपनियां भी शामिल हैं, जो रेंज से मिली हैं। इसके अलावा पूरे यात्रा मार्ग समेत आसपास के इलाके की ड्रोन से वीडियोग्राफी करवाई गई है। पूरे दलबल के साथ शाम को फ्लैग मार्च भी निकाला गया। SP ने बताया कि शहर में कुल 23 जगहों पर नाके लगाए गए हैं। इन सभी नाकों पर सख्ती से चेकिंग और वीडियोग्राफी कराई जाएगी। इस दौरान यह सुनिश्चित किया जाएगा कि कोई भी बाहरी व्यक्ति कोई हथियार या लाठी-डंडा लेकर न आए। ट्रैफिक डायवर्ट किया गयायात्रा के दौरान भारी वाहनों के लिए ट्रैफिक डायवर्ट कर दिया गया है। पुलिस प्रवक्ता कृष्ण कुमार ने बताया कि ब्रजमंडल जलाभिषेक यात्रा के दौरान भारी वाहनों का नूंह जिले में एंट्री बंद रहेगी। 1. अलवर से सोहना-गुरुग्राम जाने वाले भारी वाहन फिरोजपुर झिरका के अंबेडकर चौक से मुंबई एक्सप्रेस-वे से वाया KMP रेवासन होते हुए सोहना/गुरुग्राम जाएं। जिन भारी वाहनों को सोहना-गुरुग्राम से अलवर की तरफ जाना है, वह वाया KMP रेवासन से मुंबई एक्सप्रेस-वे होते हुए अंबेडकर चौक फिरोजपुर झिरका से अलवर की तरफ जाएं। 2. जिन भारी वाहनों को तावडू से अलवर की तरफ जाना है, वह वाया KMP रेवासन से मुंबई एक्सप्रेस-वे होते हुए अंबेडकर चौक फिरोजपुर झिरका से अलवर की तरफ जाएं। 3. जिन भारी वाहनों को पलवल, होडल व अलीगढ़ (उत्तर प्रदेश) से अलवर जाना है, वह वाया KMP होते हुए मुंबई एक्सप्रेस-वे से अंबेडकर चौक फिरोजपुर झिरका से अलवर की तरफ जाएं। ये वाहन यात्रा समाप्त होने के बाद ही नूंह आएंनूंह पुलिस के अनुसार जिन भारी वाहनों को पलवल, होडल व अलीगढ़ ( उत्तर प्रदेश) से नूंह, जाना है, वह ब्रजमंडल जलाभिषेक यात्रा समाप्त होने के बाद ही नूंह आएं। जिन भारी वाहनों को जयपुर से नूंह आना है, वह वाया मुंबई एक्सप्रेस-वे से KMP रेवासन होते हुए ब्रजमंडल जलाभिषेक यात्रा समाप्त होने बाद ही नूंह आएं। जिन भारी वाहनों को पुन्हाना से नूंह आना है, वह यात्रा समाप्त होने ही नूंह आएं। जिन भारी वाहनों को गुरुग्राम से नूंह या तावडू से नूंह आना हैं वह यात्रा समाप्त होने उपरांत ही नूंह आएं। जलाभिषेक यात्रा में शामिल होने वाले 12 संतयात्रा में 12 संत शामिल होंगे। इनमें अखिल भारतीय संत समिति के महामंत्री महामंडलेश्वर महंत विजय दास भैया जी महाराज, स्वामी धर्मदेव महाराज पटौदी, अखिल भारतीय संत समाज के जितेंद्रानंद सरस्वती, दिल्ली से महामंडलेश्वर दाती महाराज, मुरथल से महामंडलेश्वर बाबा दयानंद सरस्वती, परशुराम दास महाराज, महाराज राम तीर्थदास, रूड़की से महामंडलेश्वर यतेंद्रानाथ सरस्वती, रोहतक से स्वामी कृष्णानंद, गुरुग्राम से महामंडलेश्वर सेवादास, छुडानी धाम से स्वामी ब्रह्मस्वरूप और स्वामी वेद बिहारी दास शामिल हैं। 2 गुटों में हुए टकराव के बाद भड़की हिंसानूंह में ब्रजमंडल यात्रा के दौरान पिछले साल दंगा भड़क गया था। इस दौरान 2 गुटों में हुए टकराव के बाद 3 दर्जन से ज्यादा गाड़ियों को आग लगा दी गई। पुलिस पर भी पथराव किया गया। गुरुग्राम पुलिस के तत्कालीन कमिश्नर कला रामचंद्रन के अनुसार, हिंसा में 2 होमगार्ड जवानों की मौत हो गई जबकि 10 पुलिसवाले घायल हुए। कहा जा रहा है कि एक होमगार्ड जवान की मौत भीड़ की तरफ से चली गोली लगने से हुई। हिंसा में कई लोग और पुलिसवाले घायल हो गए। उपद्रवियों ने नूंह के साइबर थाना पर भी हमला कर दिया। उपद्रवियों ने पथराव किया और बाहर खड़ी गाड़ियों में आग लगा दी। हंगामे को देख पुलिसकर्मियों को जान बचाकर भागना पड़ा। मेवात के कस्बे नगीना और फिरोजपुर-झिरका में भी कई जगह आगजनी की गई। इससे पहले उपद्रवियों ने स्कूल बस में भी तोड़फोड़ की थी। बस को उपद्रवी लूट ले गए और थाने को तोड़ने के लिए उसकी दीवार में टक्कर मार दी। मंदिरों में भी तोड़फोड़ की गईनूंह में भड़की हिंसा की चिंगारी मंदिरों तक भी पहुंची। उपद्रवियों ने कई जगह मंदिरों में तोड़फोड़ करने के अलावा आगजनी की कोशिश की। नूंह सिटी में पलड़ी रोड श्मशान घाट के पास काली माता मंदिर में उपद्रवियों ने खूब तोड़फोड़ की। भीड़ इतनी बेकाबू थी कि उसने मंदिर के आसपास के घरों पर भी जमकर पत्थर बरसाए ताकि वहां से कोई बाहर न निकल सके। 4 लोगों के नाम सामने आएइस हिंसा में गौसेवक बिट्टू बजरंगी के अलावा 3 और बड़े नाम सामने आए थे। जिनमें मोनू मानेसर, अशोक बाबा और फिरोजपुर झिरका सीट से कांग्रेस विधायक मामन खान का नाम शामिल था। इन दंगों में 7 लोगों की मौत हुई थी। 61 FIR हुईं, करीब 450 लोग गिरफ्तार किए गए। 17 लोगों को छोड़कर बाकी सभी को जमानत मिल गई। हालांकि, मोनू मानेसर नासिर-जुनैद हत्याकांड में अब भी जेल में है। इंटरनेट बंद करने का आदेश...

दैनिक भास्कर 22 Jul 2024 5:30 am

रायपुर में फायरिंग मामले में 6 गिरफ्तार:हरियाणा के अमनदीप को दिया था गैंगस्टर साव ने फायरिंग का जिम्मा

छत्तीसगढ़ में रायपुर स्थित पीआरए ग्रुप के कॉर्पोरेट ऑफिस के बाहर फायरिंग करने वालों पर पुलिस ने बड़ी कार्रवाई की है। पुलिस ने अमन साव गैंग के 6 गुर्गों को हरियाणा और झारखंड में छापा मारकर गिरफ्तार कर लिया है। इसमें फायरिंग कराने वाला मास्टरमाइंड अमन दीप वाल्मिकी भी शामिल है। उसी ने ​हरियाणा से 2 शूटर को फायरिंग के लिए भेजा था, जो घटना के बाद से ही फरार हैं। दोनों की पुलिस तलाश कर रही है। जो लोग पकड़े गए हैं उन्होंने शूटर्स को बाइक, पैसा, पिस्टल और अन्य चीजों की व्यवस्था कराई थी। पुलिस की पड़ताल में खुलासा हुआ है कि पीआरए ग्रुप के पार्टनर्स को धमकाने के लिए गैंग ने गोली चलाई। गैंग कारोबारी से रंगदारी चाहता है। वह 60 करोड़ से ज्यादा की मांग कर रहे हैं। हालांकि इस संबंध में उन्होंने कारोबारियों को कोई मेल या पर्चा नहीं भेजा है। पुलिस ने झारखंड के तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। हरियाणा में पकड़े गए आरोपियों को सोमवार को रायपुर लाया जाएगा। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि झारखंड की जेल में बंद गैंगस्टर अमन साव ने हरियाणा सिरसा के अमनदीप वाल्मिकी उर्फ अम्मू (28) को इस फायरिंग के लिए सुपारी दी थी। अमनदीप ने अलग-अलग लोगों से संपर्क कर जिम्मेदारी बांट दी। झारखंड गुमला के संदीप यादव और लोहरदगा के शाहिद अंसारी को बाइक चोरी करने का काम दिया गया। दोनों ने 30 जून को रांची से बाइक चोरी की। इसी बाइक से वे 11 जुलाई को रायपुर पहुंचे। उसके बाद रांची के शाहिद अंसारी ने दोनों शूटर्स के खाते में एडवांस रकम जमा की। रवि सेन ने अपने नाम से नया सिम कार्ड खरीदा और लक्ष्मण को दिया। लक्ष्मण ने वह सिम शूटर तक पहुंचाया। फायरिंग करने वाले शूटर 10 जुलाई को हरियाणा से रायपुर पहुंचे। उसी शाम स्टेशन के सामने स्थित वेलकम होटल के कमरा नंबर-207 में ठहरे। तीन दिन तक दोनों ने पीआरए ग्रुप के पार्टनर की रेकी की। 13 जुलाई की सुबह 8 बजे शूटर्स ने होटल छोड़ दिया। दोनों अमलीडीह गए। जहां कारोबारी का पीछा करते हुए पीआरए ग्रुप के दफ्तर तक पहुंचे। वहां दो हवाई फायर किए। इस पर निजी सुरक्षा कर्मियों ने भी जवाबी फायरिंग की थी। दोनों शूटर्स वहां से स्टेशन पहुंचे। स्टेशन से टैक्सी लेकर कुम्हारी गए। वहां से बस से भिलाई के रास्ते भाग गए। गिरफ्तार लोगों में झारखंड के गुमला निवासी संदीप यादव (23) व लोहरदगा निवासी शाहिद अंसारी (22) व रांची निवासी शाहिद अंसारी (25) के अलावा हरियाणा के सिरसा का रवि सेन (23), लक्ष्मण दास बाजीगर (24) शामिल है। अमन के खिलाफ प्रोडक्शन वारंट रायपुर में कोयला व्यापारी और सड़क ठेकेदार से रंगदारी वसूलने के लिए धमकाने वाले झारखंड के गैंगस्टर अमन साव के खिलाफ रायपुर की कोर्ट ने पेशी के लिए प्रोडक्शन वारंट जारी किया है। आदेश के तहत साव को झारखंड से लाकर 22 जुलाई को कोर्ट में पेश किया जाना है। रायपुर पुलिस उसे लाने की कोशिश कर चुकी है, पर दूसरी जेल में शिफ्ट हो जाने से आदेश तामील नहीं हो सका।

दैनिक भास्कर 22 Jul 2024 5:29 am

6 हजार पंचायत सचिवों को मिलेगा लाभ:पंचायत सचिव अब सरकारी कर्मी होंगे, समिति 30 दिन में देगी रिपोर्ट

छत्तीसगढ़ के पंचायत सचिवों की नौकरी सरकारी होने जा रही है। पंचायत सचिवों के शासकीयकरण को लेकर सरकार ने समिति गठित कर दी है। पंचायत विभाग के सचिव को समिति का प्रमुख बनाया गया है। यह समिति 30 दिन के भीतर सरकार को रिपोर्ट सौंपेगी। प्रदेश में लगभग 6000 पंचायत सचिव हैं। पंचायत दिवस के दिन सीएम विष्णुदेव साय ने पंचायत सचिवों के कार्यक्रम में उनके सरकारीकरण का वादा किया था। जारी आदेश के मुताबिक पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के सचिव राजेश सिंह राणा को समिति का अध्यक्ष बनाया गया है। समिति में पंचायत विभाग की संचालक प्रियंका ऋषि महोबिया तथा सचिव और वित्त नियंत्रक मो. यूनूस को भी सदस्य बनाया गया है। 57 दिन हड़ताल पर थे सचिवपंचायत सचिव इस मांग के लिए 57 दिनों तक हड़ताल पर थे। इस दौरान गांव के पंचायतों में होने वाले काम-काज ठप थे। भाजपा ने सभी से वादा किया था कि सरकार बनेगी तो उनका शासकीयकरण किया जाएगा।

दैनिक भास्कर 22 Jul 2024 5:27 am

मटेरियल टेस्टिंग लैब सवालों के घेरे में:अफसरों ने घटिया निर्माण सामग्री के सैंपल भी पास किए; 4 जिलों में 158 करोड़ से बनी 7 सड़कें सालभर में टूट गई

प्रदेश में एक साल पहले बनाई गई 7 सड़कों में घटिया निर्माण सामग्री के कारण मैटेरियल टेस्टिंग लैब सवालों के घेरे में है। भास्कर की टीम चार जिलों की इन 7 सड़कों की टेस्टिंग रिपोर्ट लेकर मौके पर पहुंची तो निर्माण और क्वालिटी से जुड़ी कई खामियां सामने आई। नतीजा-सीकर, नीमकाथाना, जालोर, भीलवाड़ा में 6 माह से सालभर पहले तक 158 करोड़ से बनी 7 सड़कें पहली बारिश में बिखरने लगीं। चौंकाने वाली बात ये है कि अफसरों ने निर्माण सामग्री को स्टैंडर्ड मापदंड का बताकर सड़कों को पास कर दिया था। घटिया निर्माण पर ठेकेदारों पर सिर्फ पैनल्टी लगाई जा रही है। सड़कों में क्वालिटी को लेकर इश्यू है तो इसे दिखवाएंगे। मामले आप बता दीजिए। टीम से क्रॉस वेरिफिकेशन कराएंगे।डीआर मेघवाल, सेक्रेटरी, पीडब्ल्यूडी इन उदाहरणों से घटिया सामग्री से सड़क निर्माण के खेल को आसानी से समझ सकते हैं... केस 1. निंबी जोधा-लक्ष्मणगढ़नेछवा होते हुए सीआरआईएफ मद में 7.61 करोड़ रुपए की लागत से 14 किमी की रोड बनाई गई। आरक्षित दर 12.13 करोड़ की तुलना में 36% कम रेट पर टेंडर जारी किया गया। बेस वर्क कमजोर होने से जाजोद सहित कई जगह सड़क में कटाव हो चुका है। सरफेस उखड़ने लगा है। लैब टेस्टिंग रिपोर्ट क्वालिटी कंट्रोल टीम सीकर ने पिछले साल 28 मार्च, 28 अगस्त और क्वालिटी कंट्रोल एसई जयपुर ने विजिट के दौरान 21 जुलाई व 12 अक्टूबर को सैंपलिंग करवाई। जांच रिपोर्ट में डब्ल्यूएमएम के सभी सैंपल स्टैंडर्ड मापदंड के बताए गए। केस 2. गोरिया-श्यामगढ़ रोड (सीकर) पुरोहित का बास होते हुए एक साल पहले 14.38 करोड़ में ये रोड बनाई गई। अब 21 किमी की रोड में जगह-जगह कट लग चुके हैं। एक साल में ही कई जगह पैचवर्क हो चुका है। सड़क का काम मयंक एंटरप्राइजेज ने आरक्षित दर से 9.90% कम रेट में लिया था। लैब रिपोर्ट पिछले साल क्वालिटी कंट्रोल एसई जयपुर ने 11 अक्टूबर व सीकर टीम ने 29 सितंबर को सैंपलिंग की। सैंपल स्टैंडर्ड के बताए गए। केस 3. टऊंका- भीम (भीलवाड़ा) बागोर, भेमिला, ज्ञानगढ़, मांडल होते हुए 64 किमी रोड 62.58 करोड़ में बनाई गई। एक साल में कई जगह पैचवर्क हो चुके हैं। मेवासा, करेड़ा में कई जगह डामर रोड टूट चुकी है। मैसर्स बीपी मोदी फर्म ने प्रोजेक्ट आरक्षित दर 85 करोड़ से 27 फीसदी कम रेट में लिया। लैब रिपोर्ट पिछले साल 5 मई व 11 जुलाई को क्वालिटी कंट्रोल टीम द्वारा रोड के सैंपल लिए और उन्हें स्टैंडर्ड के मुताबिक पास बताया गया। केस 4. सांचोर-रानीवाड़ा (जालौर) मंडार होते हुए 40 किमी रोड बनाई गई। इस रोड के लिए 27 करोड़ का टेंडर जारी किया गया था। नरेश इंफ्रा प्रालि ने 30 जुलाई 2023 को इसका काम पूरा किया। सड़क से डामर उखड़ने लगी है। सरफेस खराब होने लगा है। लैब रिपोर्ट रिपोर्ट में सड़क के बीसी मैटेरियल को स्टैंडर्ड का माना गया। 12 जुलाई 2023 को निरीक्षण में सुरक्षा मापदंड, ट्रैफिक डायवर्जन और साइन बोर्ड लगाने की हिदायत दी गई थी। एक्सपर्ट व्यू : टेस्टिंग रिपोर्ट में छुपाते हैं सामग्री की खामियां पीडब्ल्यूडी से रिटायर्ड एक्सईएन पूर्ण सिंह बताते हैं कि कई बार ऑफिसर मैटेरियल टेस्टिंग में आने वाली खामियों को छुपा देते हैं। अमूमन डामर सड़क में जीएसबी, डबल्यूबीएम, बीएम और बीसी की चार लेयर होती है। उदाहरण के लिए निंबी जोधा-लक्ष्मणगढ़ रोड पर चैनेज नंबर 77/825 की डब्ल्यूएमएम सैंपल रिपोर्ट में 45 एमएम मोटी गिट्‌टी का रिजल्ट 96.19% व 22.4 एमएम मोटी गिट्‌टी का रिजल्ट 64.52% बताया गया। ये स्टैंडर्ड श्रेणी में आता है।

दैनिक भास्कर 22 Jul 2024 5:26 am

चार राज्यों के नक्सल क्षेत्रों से 15 दिनों तक पड़ताल:फोर्स को छूट ‘जंगल में घुसो और मारो...’ नक्सलियों के पास 2 रास्ते-सरेंडर करें, नहीं तो एनकाउंटर होगा

छत्तीसगढ़/ओडिशा/महाराष्ट्र और झारखंड के सीमाई जिलों से देश में नक्सलियों के खिलाफ निर्णायक लड़ाई शुरू हो चुकी है। इसकी पड़ताल के लिए भास्कर ओडिशा, झारखंड, महाराष्ट्र और छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित उन इलाकों में पहुंचा, जहां फोर्स के ऑपरेशन चल रहे हैं। इन सभी राज्यों में से केंद्र सरकार का फोकस छत्तीसगढ़ पर है, क्योंकि नक्सल प्रभावित अन्य राज्यों की तुलना में सबसे ज्यादा 1500 से अधिक हथियारबंद नक्सली यहीं हैं। उनके मददगार सर्वाधिक हैं। 2011 गांवों में इनकी जनताना सरकार है। इसलिए नक्सलियों के सफाए के लिए सरकार आक्रामक रणनीति अपना रही है। फोर्स को निर्देश हैं कि ‘घुसकर मारो...।’ भास्कर से गृह विभाग, पुलिस के अफसरों ने कहा, नक्सली सरेंडर करें, नहीं तो एनकाउंटर के लिए तैयार रहें। भास्कर टीम छत्तीसगढ़ के अबूझमाढ़ के अंदर तक पहुंची, जहां एक समय में नक्सलियों के डर से जाना प्रतिबंधित था। वहां फोर्स का मनोबल अब बढ़ा हुआ है। अबूझमाड़ के सुरेंद्र कोर्राम ने बताया कि फोर्स हमें सुरक्षा दे रही है। मेरा गांव नक्सलमुक्त हो गया है। नक्सल प्रभावित क्षेत्रों के अंदर स्कूल, स्वास्थ्य केंद्र, राशन दुकानें भी खुल रही हैं। कई गांवों में तो सड़क बन रही है। बिजली पहुंच रही है। मोबाइल-इंटरनेट की सुविधा मिल रही है। यह सब पुलिस कैंपों के खुलने से संभव हो रहा है। एक अधिकारी ने बताया कि अकेले छत्तीसगढ़ में 110 पुलिस कैंप खुल चुके हैं, 20 और जल्द खुलेंगे। इससे लोगों का रुख और बदलेगा। वहीं, महाराष्ट्र के गढ़चिरौली के वीरेंद्र ने बताया कि स्थानीय लोगों का विश्वास जीतने के लिए पुलिस कैंप में स्वास्थ्य केंद्र खोले जा रहे हैं। फोर्स के डॉक्टर ग्रामीणों का इलाज कर रहे हैं। ऑपरेशन वाले उन इलाकों से, जहां जाना मुश्किल था बस्तर में लाल आतंक कम हुआ, गढ़चिरौली में अब नक्सलियों की तुलना में फोर्स ​के ज्यादा मददगार भास्कर टीम फोर्स के साथ कुछ किमी तक जंगल में अंदर गई, मगर सुरक्षा के लिहाज से अंदरूनी इलाकों में जाने की इजाजत नहीं मिली। सूरज ढलने के पहले अबूझमाढ़ से निकल जाने को कहा जाता था, हम डोंडरीबेड़ा से सूर्यअस्त के बाद निकले। बस्तर में नक्सलियों के खिलाफ ऑपरेशन तेज हो गया है। सबसे ज्यादा ऑपरेशन अभेद माने जाने वाले अबूझमाढ़ में हो रहे हैं, जो कभी लाल आंतक के साए में था। मगर, बीते 6 महीने से यहां का नजारा बदला हुआ है। अब पहले जैसी नक्सलियों की दहशत नहीं है। भास्कर अबूझमाढ़ के अंदर डोंडरीबेड़ा कैंप तक पहुंचा। रास्ते में कई गांव पड़े। ग्रामीणों से बात की, वे हर मुद्दे पर खुलकर बोल रहे हैं। स्कूल, कॉलेज, अस्पताल और बाजार सब खुल रहे हैं, क्योंकि इन क्षेत्रों में पुलिस कैंप खुल चुके हैं। जो ग्रामीण अब धीरे धीरे पुलिस के सहयोगी बन रहे हैं। महाराष्ट्र के गढ़चिरौली और छत्तीसगढ़ के नारायणपुर जिले की सीमा लगी हुई है। इस सीमा में 110 वर्ग किमी का ग्रे-एरिया है, जिसका 80% हिस्सा छत्तीसगढ़ की सीमा में आता है। इसी एरिया में है, अबूझमाढ़। एक समय में यह नक्सलियों का गढ़ था, मगर महाराष्ट्र के सी-60 कमांडो अपनी सीमा में नक्सलियों को घुसने नहीं दे रहे, घुसते ही एनकाउंटर कर रहे हैं। यहां 1200 कमांडर तैनात हैं। आधुनिक हथियार से लैस लंबे कद के कमांडो ने कहा- ‘पहले नक्सलियों का सूचना तंत्र मजबूत था, आज हमारा है। हमारा एरिया नक्सलमुक्त हो चुका है। हम छत्तीसगढ़ सीमा के अंदर घुसकर नक्सली मार रहे हैं। तो अबूझमाढ़ के अंदर 1000 से अधिक हथियारों, आधुनिक उपकरणों और ड्रोन से लैस जवान दिन-रात सर्चिंग कर रहे हैं। यकीन मानिए, अबूझमाढ़ के अंदर 60 किमी का क्षेत्र जहां फोर्स कार्रवाई कर रही है, लोग नक्सलियों से भयभीत नहीं हैं।’ किरण कोर्राम कहते हैं- ‘पहले नक्सलियों ने एक घर से एक व्यक्ति को उनके साथ आने का फरमान दिया था। मगर, जब से फोर्स जंगल में घुसकर एनकाउंटर कर रही है, नक्सलियों ने दबाव डालना कम कर दिया है। हम सुरक्षित हैं। लेकिन यह भी सच्चाई है कि कैंप के आगे का क्षेत्र नक्सलियों के कब्जे में है।’ डोंडरीबेडा के आगे एक गांव के सरपंच ने नाम न छापने की शर्त पर कहा- ‘हम फोर्स के आने का इंतजार कर रहे हैं, ताकि हमारा गांव नक्सलमुक्त हो सके। अब भी हमें लेवी देनी पड़ती है।’ (कैंप व फोर्स की जानकारियां सुरक्षा-गोपनीयता के चलते प्रकाशित नहीं की जा रही हैं) छत्तीसगढ़ में इस साल शुरू हुए एनकाउंटर का सिलासिला जारी...15 अप्रैल 2024 को कांकेर के जंगलों में 29 नक्सलियों का एनकाउंटर नक्सलवाद पर सबसे बड़ी स्ट्राइक थी। तब से लगातार एनकाउंटर जारी हैं। 6 महीनों में 145 नक्सली मारे जा चुके हैं। 526 सरेंडर कर चुके हैं। 633 गिरफ्तार हुए। तेलंगाना, आंध्र, ओडिशा, झारखंड में नक्सल मूवमेंट कम है। जो है, वह छत्तीसगढ़ से लगी सीमाओं में है। यही वजह है कि केंद्र से छत्तीसगढ़ को अतिरिक्त बल-बजट दिया जा रहा है। इंफ्रास्ट्रक्टर मजबूत किया जा रहा है। छत्तीसगढ़ में इस साल शुरू हुए एनकाउंटर का सिलासिला जारी... छत्तीसगढ़ -प्रभावित जिले-18बस्तर, दंतेवाडा, नारायणपुर, सुकमा समेत प्रदेश के 7 जिले अति नक्सल प्रभावित हैं। इनमें 1500 नक्सल कैडर हैं। इनके सफाए के लिए विशेष तौर पर बनी डीआरजी यूनिट समेत 65 हजार जवानों को तैनात किया गया है, जिनमें से अधिकांश जवान बस्तर संभाग में है। डीआरजी (डिस्ट्रि​क्ट रिजर्व गार्ड) का गठन 2008 में हुआ। शुरुआत में कांकेर और नारायणपुर में अभियान में इन्हें शामिल किया गया। आज यही नक्सल ऑपरेशन को लीड कर रही है। इसमें स्थानीय युवाओं को जगह दी जाती है, क्योंकि वे पूरे इलाके और स्थानीय संस्कृति से जुड़े हैं। खास बात यह है कि इन जवानों का परिवार नक्सली हिंसा से पीड़ित है। बस्तर में नक्सलियों के खिलाफ माहौल बना है, क्योंकि लगातार विकास हो रहा है। नक्सली कमजोर पड़े हैं। यही वजह है कि बड़ी संख्या में वे आत्मसमर्पण कर रहे हैं। देखिए, अगर गोली चलेगी तो जवाब तो देना ही होगा। -विवेकानंद सिन्हा, एडीजी नक्सल ऑपरेशन, छत्तीसगढ़ महाराष्ट्र- अब कुल नक्सल प्रभावित जिले- 2 गोंदिया और गढ़चिरौली ही नक्सल प्रभावित हैं। राज्य में आज 70 नक्सली ही बचे। वर्ष 2015 के बाद कोई एंबुस नहीं हुआ। हालांकि 1200 जवान गढ़चिरौली में तैनात हैं। इनमें 1000 सी-60 यूनिट के हैं। नक्सलियों के खिलाफ 1990 में पुलिस में से 60 जवानों का चयन कर सी-60 को खड़ा किया गया। राज्य में सी-60 ही नक्सलियों से लोहा लेती है। इसके सभी जवान नक्सल प्रभावित क्षेत्रों के होते हैं। नक्सली मूवमेंट छत्तीसगढ़ से है। अगर, नक्सली हमारी सीमा में घुसते हैं तो मारे जाते हैं। महाराष्ट्र में इनका जनसंगठन नहीं है। -संदीप पाटील, आईजी नक्सल ऑपरेशन, महाराष्ट्र ओडिशा - अब कुल माओवाद प्रभावित जिले- 10कंधमाल समेत 10 जिलों में हथियारबंद नक्सली मौजूद हैं। इनके सफाए के लिए 50 हजार से अधिक जवान तैनात हैं। फोर्स को एसओजी(स्पेशल ऑपेरशन ग्रुप) लीड कर रहा है। ये ओडिशा पुलिस का विशेष दल है, जिसे विशेष ट्रेनिंग देकर नक्सलियों के खिलाफ उतारा गया है। इस दल में 1800 कमांडो हैं, जो जंगल युद्ध और गोरिल्ला युद्ध में माहिर हैं। कमांडो की अधिकतम उम्र 35 वर्ष है। ओडिशा में नक्सली घटनाएं कम हैं। कैजुअल्टी जीरो। छत्तीसगढ़ के नक्सलियों का यहां मूवमेंट। ओडिशा में 16 नक्सली कैडर हैं।-देवदत्त सिंह, एडीजी नक्सल ऑपरेशन, ओडिशा

दैनिक भास्कर 22 Jul 2024 5:25 am

खतरनाक स्थिति:व्यस्त सड़कें, सघन आबादी में खुले डीपी-ट्रांसफॉर्मर से खतरा, मेंटेनेंस का करोड़ों का बजट, फिर भी सुधार नहीं

शहर में सघन आबादी क्षेत्रों, आवासीय कॉलोनियों, सडक के किनारों पर बिजली के ट्रांसफॉर्मर लगे हैं। इनसे लगी डीपी या कट आउट की पेटियां खुली पड़ी हैं। इनके आसपास सुरक्षा ग्रिल या जालियां भी नहीं हैं। पश्चिम क्षेत्र बिजली कंपनी का इन पर ध्यान नहीं हैं। इनके खुले तारों से कंरट लगने या बारिश के कारण आसपास फैलने का खतरा बना रहता है। कई स्थानों पर तो यह ट्रांसफॉर्मर ऐसी जगह लगे हैं कि ट्रैफिक में भी बाधा बन रहे हैं। कंपनी की यह लापरवाही किसी भी दिन बड़े हादसे की वजह बन सकती है। शहर में यह हालात एक दो जगह नहीं है, बल्कि 13 हजार से ज्यादा स्थानों में पर लगी डीपी में 20 से 30 फीसदी के यही हाल हैं। डर इस बात का है कि इन खतरनाक डीपी के आसपास दुकानें हैं, लोगों की आवाजाही होती है और बड़ी संख्या में वाहन पार्क होते हैं। बिजली कंपनी इन खुली डीपी को बंद करने के लिए गेट तो लगा नहीं पाई, इतना भी नहीं किया कि इनके आसपास खतरे के बोर्ड लगा दें, ताकि लोग सावधान रहें। कई स्थानों पर तो पेड़ के शाखाओं, पत्तों में ये डीपी छुप गई हैं। खुद कंपनी के कर्मचारी मानते हैं कि इस वजह से भी कई बार ट्रिपिंग की स्थिति बनती है। शहर में शायद ही कोई इलाका होगा, जहां अचानक बिजली ट्रिपिंग नहीं हो रही हो। अनेक स्थानों पर आवाजाही में खतरा बन रहे ट्रांसफॉर्मर और बेतरतीब विद्युत लाइनें नगर निगम और बिजली कंपनी के बीच समन्वय नहीं होने से खतरनाक स्थिति में पहुंच गई हैं। इन इलाकों में लापरवाहीलापरवाही के उदाहरण रिंग रोड, तिलक नगर, चंदननगर, बीआरटीएस पर विजय नगर, एलआईजी, इंडस्ट्री हाउस, रेसकोर्स रोड, रणजीत हनुमान मंदिर, बंबई बाजार, जूनी इदौर, एमआर- 5, निपानिया, लसूड़िया मोरी, तलावली चांदा, तीन इमली, सांवेर रोड, पालदा, बाणगंगा सहित अनेक क्षेत्रों में देखे जा सकते हैं। यह लापरवाही स्मार्ट मीटर के नाम पर उपभोक्ता वसूली में स्मार्ट बनने और आधुनिक नेटवर्क का दावा कर रही कंपनी के आधुनिकीकरण और मेंटेनेंस की पोल भी खोल रही है। 3 बिंदुओं से समझें लापरवाही1. जालियां नहीं लगी- सघन इलाकों में ट्रांसफॉर्मर के आसपास जाली लगाकर सुरक्षा की जाना चाहिए, लेकिन अधिकांश डीपी खुली हैं। जाली के लिए जगह की कमी का तर्क दिया जाता हैं। 2. पेड़ों से टकरा रही लाइनें- शहर में अनेक स्थानों पर ट्रांसफॉर्मर और डीपी के आसपास पेड़ होने से टहनियां लाइनों में उलझी हुई हैं। अनेक स्थानों पर बेल की हरियाली से घिरे हैं। 3. खतरा है, ये बोर्ड भी नहीं– बिजली लाइनों, ट्रांसफॉर्मर व डीपी के आसपास ‘यहां खतरा है, इसके बोर्ड लगाना चाहिए, वह भी नहीं लगे हैं। 50 से ज्यादा स्थानों पर ट्रैफिक में बाधाशहर में एक नहीं 50 से ज्यादा स्थानों पर ट्रांसफॉर्मर और इनकी डीपी ट्रैफिक में बाधा बनी हुई हैं। कंपनी अफसरों का कहना हैं, नगर निगम से सूचना और आवेदन मिलने पर इनको शिफ्ट करते हैं। कंपनी अपने स्तर पर नहीं हटाती। समाधान - - आरएस गोयल, पूर्व मुख्य अभियंता जहां जरूरत लगती है, डीपी हटाते हैं: बिजली कंपनी^शहर में बिजली वितरण नेटवर्क का आधुनिकीकरण कर रहे हैं। ट्रांसफॉर्मर और डीपी का ध्यान रखा जाता है। जहां इनको हटाने की मांग आती हैं, निगम के साथ मिलकर शिफ्ट करते हैं। कहीं बाधा है तो इनको भी हटाएंगे। - मनोज शर्मा, मुख्य अभियंता, बिजली कंपनी

दैनिक भास्कर 22 Jul 2024 5:17 am

करनाल में पुलिसकर्मी पर चढ़ाई गाड़ी:हालत गंभीर, आरोपी गिरफ्तार, SP ने अस्पताल पहुंचकर जाना हालचाल

हरियाणा में करनाल के रामनगर क्षेत्र में काछवा नहर पुल के पास एक क्रेटा गाड़ी ने फिल्मी स्टाइल में पुलिसकर्मी को टक्कर मार दी। पुलिसकर्मी गाड़ी के बोनट पर जा गिरा और बाद में सड़क पर गिरने से घायल हो गया।पुलिसकर्मी ने क्रेटा चालक को रूकने का इशारा किया था। हादसे में घायल पुलिसकर्मी को अस्पताल में भर्ती करवाया गया। पुलिस ने एक्शन लेते हुए रविवार देर शाम को कार सवार दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। आज दोनों आरोपियों को अदालत में पेश कर पुलिस रिमांड पर लिया जाएगा। एक्शन सीन की तरह टक्कर पुलिस ने रविवार रात रामनगर क्षेत्र में काछवा नहर पुल के पास नाका लगाया हुआ था। सुबह करीब 3:30 बजे एक संदिग्ध क्रेटा कार आई। ड्यूटी पर तैनात पुलिसकर्मी मनोज ने चालक को गाड़ी रोकने का इशारा किया, लेकिन चालक ने गाड़ी न रोकते हुए फिल्मी स्टाइल में सिपाही मनोज को टक्कर मार दी। मनोज बोनट पर तो गिरा ही और उसके बाद वह सड़क पर जा गिरा। आरोपी क्रेटा चालक मौके से फरार हो गया। गनीमत रही कि जहां पर मनोज गिरा, वहां पीछे से कोई वाहन नहीं आ रहा था, अन्यथा बड़ा हादसा हो सकता था। मनोज गंभीर रूप से घायल हो चुका था और चोटों की वजह से कराह रहा था। अन्य साथी पुलिसकर्मियों ने उसे करनाल के कल्पना चावला मेडिकल कॉलेज में भर्ती करवाया। पुलिस कप्तान ने की घायल पुलिसकर्मी से मुलाकात घटना की सूचना मिलते ही पुलिस अधीक्षक मोहित हांडा घायल सिपाही मनोज से मिलने मेडिकल कॉलेज पहुंचे। उन्होंने मनोज को ढांढस बंधाया और डॉक्टरों से बात कर बेस्ट इलाज उपलब्ध कराने का आश्वासन दिया। उन्होंने मनोज के परिजनों से भी मुलाकात की और उन्हें बताया कि मनोज अब खतरे से बाहर है। आरोपियों की गिरफ्तारी पुलिस कप्तान मोहित हांडा ने इस घटना को गंभीरता से लेते हुए रामनगर थाना प्रबंधक को आदेश दिए कि वे अपने क्षेत्र में सर्च अभियान चलाकर गाड़ी और आरोपी चालक की तलाश करें। पुलिस ने सभी पेट्रोलिंग बूथों को सूचित किया और साहस दिखाते हुए क्रेटा कार चालक और उसके सहयोगी को गिरफ्तार कर लिया। अपराध पर नकेल एसपी मोहित हांडा ने बताया कि जिले में अपराध नियंत्रण के दृष्टिकोण से रात में जगह-जगह नाके लगाए जाते हैं। इस घटना में सिपाही मनोज पर जानलेवा हमला हुआ है, लेकिन पुलिस की तत्परता से आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। उन्होंने सिपाही मनोज और उनकी टीम की सराहना की और आश्वासन दिया कि आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

दैनिक भास्कर 22 Jul 2024 5:16 am

पहले सोमवार से सावन की शुरुआत, महाकाल मंदिर में भीड़:3 लाख से अधिक श्रद्धालुओं के आने की उम्मीद, 1 घंटे में दर्शन का दावा; शाम को सवारी

आज सावन का पहला सोमवार है और खास बात यह है कि श्रावण माह (सावन) की शुरुआत भी सोमवार से हुई है। महाकाल मंदिर में श्रद्धालुओं की लंबी-लंबी कतारें लगी हुई हैं। मंदिर प्रशासन का दावा है कि भक्तों को 1 घंटे में दर्शन हो रहे हैं। यानी कतार में लगे भक्त को गर्भगृह तक आने और यहां से आगे जाने में 1 घंटे का ही समय लग रहा है। भगवान महाकाल की भस्म आरती के लिए रविवार रात 2.30 बजे ही महाकाल मंदिर के पट खोल दिए गए। सोमवार दिनभर में 3 लाख से अधिक श्रद्धालुओं के आने उम्मीद है। शाम 4 बजे सवारी निकाली जाएगी। महाकाल भक्तों का हाल जानने निकलेंगे। इस बार श्रावण में 5, भादौ में 2 सवारी निकाली जाएंगी। शाही सवारी 2 सितंबर को निकलेगी। इस बार श्रावण माह में 5 सोमवार आएंगे। माह का समापन भी सोमवार को ही होगा। इन 29 दिन में 65 लाख से अधिक श्रद्धालुओं के आने की संभावना है। कलेक्टर नीरज सिंह के मुताबिक, रोज 2 से 3 लाख श्रद्धालुओं के आने की उम्मीद है। 9 अगस्त को नागपंचमी के दिन 8 लाख श्रद्धालु आ सकते हैं। जल अर्पित कर सकेंगे श्रद्धालुश्रावण - भादौ माह में भक्तों की संख्या को देखते हुए जल पात्र रखा गया है। जल अर्पित करने के लिए ट्रे की संख्या बढ़ाई गई है। श्रद्धालुओं द्वारा अर्पित किया गया जल पाइप के जरिए मंदिर के गर्भगृह में लगे अभिषेक पात्र के माध्यम से भगवान श्री महाकालेश्वर को समर्पित होगा। इसके अलावा दर्शन के दौरान भी जल अर्पण के लिए गणेश मण्डप में भी पटलों पर स्टील का पात्र रखा गया है। आज मनमहेश रूप में दर्शन देंगे महाकाल आज पहली सवारी में भगवान महाकाल मनमहेश के रूप में दर्शन देंगे। सबसे पहले सभा मंडप में पालकी पूजन होगा। पुलिस बैंड और सशस्त्र बल की टुकड़ी गार्ड ऑफ ऑनर देगी। सवारी श्री महाकालेश्वर मंदिर से गुदरी चौराहा, बक्षी बाजार, कहारवाड़ी से होते हुए रामघाट शिप्रा तट पहुंचेगी। यहां पूजन-अर्चन होगा। इसके बाद सवारी रामानुजकोट, मोढ़ की धर्मशाला, कार्तिक चौक, खाती समाज मंदिर, सत्यनारायण मंदिर, ढाबा रोड, टंकी चौराहा, छत्री चौक, गोपाल मंदिर, पटनी बाजार, गुदरी बाजार होते हुए मंदिर लौटेगी। सुरक्षा में 5 ड्रोन, 2000 से अधिक पुलिस जवान पुलिस अधीक्षक प्रदीप शर्मा ने बताया कि 2000 से अधिक का पुलिस बल और वॉलंटियर्स तैनात किए गए हैं। 5 ड्रोन से सवारी मार्ग की निगरानी होगी। पार्किंग व्यवस्था किस पार्किंग में कितनी कैपेसिटी डायवर्सन प्लान / प्रतिबंधित मार्ग (सवारी निकलने के कारण दोपहर 12 बजे से) इन मार्गों पर जाने से बचें

दैनिक भास्कर 22 Jul 2024 5:14 am

एमजीएम ने मांगे 30 लाख रु., कोर्ट का आदेश- पेपर लौटाएं

महात्मा गांधी मेमोरियल मेडिकल कॉलेज में पोस्ट ग्रेजुएशन (पीजी) के लिए एडमिशन लेने वाली छात्रा को निजी कारणों से कोर्स बीच में ही छोड़ना पड़ा। छात्रा ने सीट छोड़ने के बाद कॉलेज में जमा अपने दस्तावेज मांगे तो उससे 30 लाख रुपए बॉण्ड का उल्लंघन करने पर जमा करने के लिए कहा गया। छात्रा ने इस पर आपत्ति ली कि केंद्र सरकार इस नियम को पहले ही खत्म कर चुकी है। मध्यप्रदेश सरकार ने भी इसे लागू कर दिया। इसके बावजूद पैसों की डिमांड कैसे की जा सकती है। कॉलेज प्रशासन ने इसे अनसुना करते हुए 30 लाख की डिमांड यथावत रखी। इस पर छात्रा ने अधिवक्ता आदित्य सांघी के माध्यम से हाई कोर्ट में चुनौती दी थी। हाई कोर्ट ने कॉलेज प्रशासन को आदेश दिए हैं कि छात्रा के जमा दस्तावेजों को लौटाया जाए। प्रशासनिक जज एसए धर्माधिकारी, जस्टिस गजेंद्र सिंह की खंडपीठ ने इस मामले की सुनवाई की। याचिका में उल्लेख किया गया कि मध्यप्रदेश सरकार ने 2019 में नियम बनाया था कि पीजी कोर्स बीच में छोड़ने पर छात्र को बॉण्ड का उल्लंघन करने पर 30 लाख रुपए जमा कराना होंगे। इस नियम के बाद संसद में इस विषय पर चर्चा हो चुकी है।

दैनिक भास्कर 22 Jul 2024 5:11 am

कोर्ट से जीते पर विभागीय नियमों में उलझे:इंदौर सहित प्रदेश के चारों महानगरों में अब वरिष्ठ जिला पंजीयक का पद समाप्त

इंदौर रजिस्ट्रार कार्यालय में एक ही बैच के दो अधिकारियों के बीच उठा वरिष्ठता का विवाद इतना बढ़ गया कि वाणिज्यिक कर विभाग ने अब इंदौर सहित चारों महानगरों में वरिष्ठ जिला पंजीयक का पद ही खत्म कर दिया है। अब जिस पंजीयक या वरिष्ठ जिला पंजीयक को जो क्षेत्र मिला है, वहां के अधिकार उसके पास होंगे। विभाग से मिलने वाले आदेश, गाइड लाइन बनाने या लागू करने के लिए जरूर वह पंजीयक अधिकृत होगा, जो अन्य पंजीयकों से वरिष्ठता में आगे है। वाणिज्यिक कर विभाग की उप सचिव वंदना शर्मा द्वारा जारी आदेश के मुताबिक इंदौर में अब दो वरिष्ठ जिला पंजीयक और दो पंजीयक हैं, लेकिन सभी को अपने-अपने क्षेत्र ही संभालना है। दरअसल, इंदौर में पदस्थ वरिष्ठ जिला पंजीयक दीपक शर्मा और डॉ. अमरेश नायडू के बीच लंबे समय से क्षेत्राधिकार को लेकर कानूनी लड़ाई चल रही थी। शर्मा ने इस मामले में हाई कोर्ट की शरण ली और हाई कोर्ट ने आदेश किए कि विभाग इस पर पुनर्विचार करे। इस पर विभाग के प्रमुख सचिव अमित राठौर ने इंदौर के अलावा भोपाल, जबलपुर और ग्वालियर के लिए भी वरिष्ठता का क्रम क्षेत्र के हिसाब से बांट दिया। इसके आदेश भी जारी कर दिए। पूरे मामले में इंदौर में अब शर्मा के पास जैसा चार्ज पहले था, वही फिर से रह गया है। नायडू की वरिष्ठता के कारण उन्हें फिर वे विशेषाधिकार अधिकृत तौर पर मिल गए हैं। आदेश में यह भी लिखा प्रमुख सचिव ने पंजीयकों के क्षेत्राधिकार, पदस्थापना में संशोधन राज्य शासन द्वारा किया जा सकेगा। गाइड लाइन का निर्माण अब जो पंजीयक है, उनमें वरिष्ठ जिला पंजीयकों में जो वरिष्ठ होगा, वह अधिकृत या उत्तरदायी होगा। वित्तीय शक्तियों की पुस्तक 2012 के मुताबिक जिले में पदस्थ सभी जिला पंजीयकों, वरिष्ठ जिला पंजीयकों में जो वरिष्ठ होगा, वह कार्यालय प्रमुख घोषित किया जाता है। जो वरिष्ठ होगा वह सेवा पुस्तिका का संधारण, विभागीय अधिकारियों से अपेक्षित जिला स्तर पर समन्वय व अन्य काम करेगा। जो अन्य जिले के प्रभारी होंगे वे राज्य लोक सूचना अधिकारी के लिए उत्तरदायी होंगे। वरिष्ठ उप पंजीयक-उप पंजीयक एवं कर्मचारियों के मध्य प्रशासनिक कार्यों, कार्य विभाजन व अवकाश स्वीकृति के लिए उनके अधीक्षण व नियंत्रण भी संबंधित पंजीयक के अधीन होगा। उस क्षेत्र के पंजीयक, वरिष्ठ उप पंजीयक अपने अधीन उप पंजीयकों का निरीक्षण और ऑडिट कर सकेंगे। पहले यह थी व्यवस्था अब यह स्ट्रक्चर होगा बड़े महानगरों में

दैनिक भास्कर 22 Jul 2024 5:10 am

150 गांवों में 2 लाख की आबादी परेशान:खंडार में बिजली अव्यवस्था 20 साल पुरानी ​स्थिति में, एक घंटे भी निर्बाध नहीं मिल रही

निगम अधिकारियों ने बताया कि 132 केवी जीएसएस खंडार से 33 केवी के गोठड़ा-पादड़ा, खंडार, तलावड़ा, बहरावंडा खुर्द, खंडेवला व बहरावंडा कलां 6 फीडर निकल रहे हैं। 33 केवी जीएसएस खंडार से 11 केवी के गोठड़ा, बरनावदा, मेई खुर्द, खंडार कस्बा, पीएचईडी आदि 5 फीडर निकल रहे हैं। लोड की सबसे ज्यादा समस्या गोठड़ा-पादड़ा फीडर पर चल रही है। यह फीडर हेवी लोडेड चल रहा है। इसी से पूरे क्षेत्र की बिजली व्यवस्था गड़बड़ा रही है। निगम ने बताया कि एक तार ठीक नहीं होता उससे पहले ही दूसरा तार टूट जाता है। खास बात, कृषि फीडरों पर लोड अधिक चलने से 33 केवी जीएसएस पर वोल्टेज भी डाउन हो रहे हैं। इससे खंडार कस्बा सहित अन्य फीडरों पर 11 हजार वोल्टेज की जगह 10 हजार वॉल्टेज ही मिल रहे हैं। इससे कृषि के साथ-साथ आबादी की बिजली भी प्रभावित है। इसी से बार-बार ट्रिपिंग की समस्या हो रही है।

दैनिक भास्कर 22 Jul 2024 5:10 am

वाहनों से अवैध वसूली का खुलासा:डीएसपी को वाहनों से अवैध वसूली करते मिले थे पुलिसकर्मी, एसपी ने कांस्टेबल किया लाइन हाजिर

डीग जिले में पुलिस के द्वारा अवैध वसूली करने की ऑडियो वीडियो लगातार सामने आ रही है। यहां तक की पूर्व में डीएसपी के द्वारा रात्रि चैकिंग के दौरान पुलिसकर्मी अवैध वसूली करते हुए भी पाए गए थे। डीएसपी के द्वारा पुलिस कर्मियों के विरुद्ध रपट भी डाली गई थी, लेकिन पुलिस की वसूली रुकने का नाम नहीं ले रही है। कोतवाली थाने का कांस्टेबल रंगलाल मीणा एवं चालक नंदराम की वार्ता की एक ऑडियो वायरल हुई है। जिसमें गाड़ियों के निकलने को लेकर दोनों की वार्ता हो रही है। एसपी ने कांस्टेबल रंगलाल को लाइन हाजिर कर दिया है। गत दिनों कांस्टेबल रंगलाल मीणा की दो ऑडियो वायरल हुई थी। जिसमें साइबर ठगों के मुकदमे से नाम निकाले जाने को लेकर वार्तालाप किया गया था। एसपी के निर्देश पर डीग सीओ के द्वारा जांच की जा रही है। कुछ दिन बाद ही दूसरी ऑडियो सामने आ गया। रंगलाल विवादों में चल रहा है। पूर्व में लोगों के द्वारा परिवाद भी दर्ज किए गए थे, यहां तक की साइबर ठगों से वार्तालाप की ऑडियो भी वायरल हो गई थी। शिकायत एवं ऑडियो वायरल होने के बाद भी कार्रवाई नहीं हो पाई। वह अधिकारियों में अच्छी पकड़ बताता है। डीग डीएसपी प्रेम बहादुर ने 20 मई रात को गश्त करते हुए पुलिस कर्मियों को अवैध वसूली करते हुए पकड़ा गया, जिसे उन्होंने अपनी रपट में पूरा खुलासा किया है। डीग बस स्टैण्ड के सामने वाले तिराहे पर गाडी में एएसआई राजवीर सिह, चालक वीरपाल, शाहबद्वीन, विश्राम कांस्टेबल भूसा वाले ट्रैक्टरों की चेंकिंग करते हुए मिले। इनको समझाया कि कस्बे में चोरी हो रही हैं। आप वसूली कर रहे हो। इन्हें कस्बे में अन्दर गश्त करने के निर्देश दिए। सीओ बहज वाले रास्ते पर चैक करता हुआ पुनः बस स्टैण्ड पहुंचा तो गाडी पुनः उसी स्थान के समीप ही दस मीटर दूरी पर खड़ी मिली ओर एएसआई राजवीर सिंह ट्रैक्टर के पास दौड़कर रुपये ले ही रहा था। पूर्व में समझाने के उपरान्त भी थाना जाप्ता मुख्य रूप से रात में गश्त न करके मुख्य तिराहे व हाइवे पर रातभर वसूली करते रहते है। पीछे से पूरा कस्बा गश्त रहित रहने पर रात को चोरियां होती रहती है। बहज चौकी पहुंचा तो वहां पर गोवर्धन की ओर से आने वाले तूड़ी के ट्रैक्टर के आगे भी बैरियर लगाकर दोनों ओर से रास्ता जाम होने पर मौके पर पहुंचा तो 30 साल का व्यक्ति वसूली कर रहा था। जो डीएसपी को वर्दी में देख कर भाग गया।वापस आकर चौकी प्रभारी रविन्द्र सिंह एएसआई, ओमवीर सिंह कांस्टेबल को जगाकर पूछा तो बोले कि कोई बात नहीं मैं सुबह आठ बजे आपसे मिल लूगां। नंदराम कांस्टेबल: रंगलाल भैया नंदराम बोल रहा हूं. कछु गयो का रंगलाल कांस्टेबल: अभी तो कछु ना निकले भाई साहब एक बूगा निकलो है पहले से नंदराम कांस्टेबल: वह तो निकल गयो हम पेते बाजार में हम कार्रवाई कर रहे थे। रंगलाल कांस्टेबल: अब तो कछु ना है वा के संग ही दो डंपर निकल गई। डीएसपी ने समझाइश कर गश्त चैक करते हुए थाने के सामने श्री नीलकण्ठ मन्दिर के पास पहुंचे तो गाडी 112 में कांस्टेबल जगदीश सोता हुआ मिला। रात्रि डयूटी में लापरवाही व अनुशासनहीनता, कर्तव्यहीनता व वसूली करने के बारे में उच्चाधिकारियों को अवगत कराया। ^कांस्टेबल रंगलाल को लाइन हाजिर कर मामले की जांच कराई जा रही है। - राजेश मीणा, एसपी डीग।

दैनिक भास्कर 22 Jul 2024 5:06 am

मौसम का हाल:इंदौर और आसपास मजबूत सिस्टम बना, 2 दिन अच्छी बारिश के आसार

झड़ी के बजाय एक-दो दिन के सिस्टम बन रहे, 4 साल से यही ट्रेंड सावन का महीना सोमवार से शुरू हो रहा है, लेकिन सावन की अगवानी रविवार को हो गई। सुबह 6 बजे से बारिश का दौर शुरू हुआ जो शाम 4 बजे तक जारी रहा। इस दौरान 11 मिमी बारिश हुई। कुछ देर के लिए सूरज हल्का सा झांका ही था कि बादलों की ओट ने उसे घेर लिया। पिछले साल 21 जुलाई तक 15 इंच पानी बरस गया था। इस बार 10 इंच के करीब आंकड़ा है। अभी जुलाई के 10 दिन बचे हैं। मानसून सक्रिय हुए 28 दिन हो चुके हैं। दिनभर मूसलधार बारिश का एक भी दौर अब तक नहीं आया है। अभी तालाबों के जलस्तर में खास सुधार नहीं हुआ है। मौसम विशेषज्ञ अजयकुमार शुक्ला का कहना है कि 10-15 सालों से बारिश के चक्र में बदलाव दिखने लगा है। अब झड़ी के बजाय 1-2 दिन के स्ट्रांग सिस्टम किसी न किसी एरिया में एक्टिव हो जाते हैं, जिसकी वजह से 5-7 इंच तक पानी बरस जाता है। इस तेज बारिश की वजह से ही जिलों में बारिश का कोटा पूरा हो रहा है। इंदौर में 2020 से इस तरह की तेज बारिश का दौर जारी है। 2020 में 5 इंच, 2021 में 4 इंच, 2022 में 6 इंच, 2023 में 11 इंच पानी एकमुश्त बरस गया था। दिन के तापमान में 4 डिग्री सेल्सियस की कमी आई जुलाई में तापमान में काफी उतार-चढ़ाव महसूस हुआ है। शनिवार को तापमान 30.1 डिग्री था, जो सामान्य से 1 डिग्री अधिक था। वहीं रविवार को तापमान 26.6 डिग्री दर्ज किया गया, जो सामान्य से 4 डिग्री कम रहा। 12 माह में गर्मी का दायरा 5 माह का हुआ साल के 12 महीनों में अब गर्मी का दायरा बढ़ता जा रहा है। मार्च से गर्मी शुरू होती है और जुलाई खत्म होने तक महसूस हो रही है। इसी साल का उदाहरण है। करीब 10 इंच पानी बरस चुका है, लेकिन जुलाई के 20 में 16 दिन अधिकतम तापमान सामान्य से 1-3 डिग्री तक अधिक रहा है। बारिश के दिनों में भी गर्मी महसूस होने की बड़ी वजह मानसून हर दिन नहीं बरसना, 6 से 7 दिन की झड़ी नहीं लगना है। लगातार पानी गिरने से मौसम में ठंडापन आ पाता है, लेकिन कमजोर मानसून होने से धूप निकल रही है। हलके बादल भी छाए रहते हैं, जिससे उमस महसूस होती है। इस कारण तापमान औसत से अधिक दर्ज हो रहा है।

दैनिक भास्कर 22 Jul 2024 5:05 am

महराजगंज में ईटहिया शिवालय सजकर तैयार, आज से होगा जलाभिषेक::मिनी बाबा धाम से प्रसिद्ध है मंदिर, सीसीटीवी और ड्रोन कैमरे से होगी मेले की निगरानी

महराजगंज में मिनी बाबा धाम के नाम से प्रसिद्ध पंचमुखी इटहिया शिव मंदिर में आज से लेकर 19 अगस्त तक चलने वाले श्रावण मास मेले को लेकर शिवालय परिसर पूरी तरह से सज धजकर तैयार है। मंदिर परिसर में शिव भक्तों के लिए सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए है और चप्पे-चप्पे पर पुलिस की कड़ी निगरानी होगी। मेले की सुरक्षा व्यवस्था सीसीटीवी और ड्रोन कैमरे से भी होगी और प्रोजेक्टर के माध्यम से इसे दिखाया भी जाएगा। मंदिर के मुख्य पुजारी ध्यान गिरी, कन्हैया गिरी ने बताया कि सोमवार से सावन का पवित्र महीना शुरू हो रहा है। श्रावण मास में शिव पूजन का विशेष महत्व होता है इसलिए प्रत्येक सोमवार को व्रत,पूजा और जलाभिषेक से भगवान शिव प्रसन्न होते है। श्रावण सोमवार को विल्व पत्र, गाय का दूध, दही, घी, शहद, गन्ने का रस, फूल, भांग, धतूरा और गंगाजल से जलाभिषेक अति उत्तम और लाभप्रद माना जाता है। सीसीटीवी और ड्रोन कैमरे से होगी मेले की निगरानीपंचमुखी इटहिया शिव मंदिर में श्रावण मास में लगने वाले भारी भीड़ को देखते हुए प्रशासन द्वारा मंदिर परिसर की निगरानी में कुल 24 सीसीटीवी कैमरे सहित एक ड्रोन कैमरे से निगेहबानी की जाएगी। जिसे प्रोजेक्टर के माध्यम से दिखाया भी जायेगा। मंदिर परिसर में महिला और पुरुष के प्रवेश और निकासी के साथ कुल 9 बैरिकेडिंग बनाए गए है। साथ ही महिलाओं की सुरक्षा के लिए एंटी रोमियो सहित महिला दरोगा और पुलिसकर्मियों की भी तैनाती की गई है। सुरक्षा में कई थानों की पुलिस लगाई गई निचलौल सीओ अनुज कुमार सिंह ने बताया कि मेले की सुरक्षा व्यवस्था में संपूर्ण सावन मेले के दौरान 2 थाना इंचार्ज, उपनिरीक्षक 20, महिला उपनिरीक्षक 5,हेड कॉन्स्टेबल 45, कॉन्स्टेबल 80, महिला कॉन्स्टेबल 25, ट्रैफिक पुलिस 10, दमकल कर्मी 2, पीएसी 1 प्लाटून के अतिरिक्त प्रत्येक सोमवार को इंस्पेक्टर/थानाध्यक्ष 11, उपनिरीक्षक 10, महिला उपनिरीक्षक 10, हेड कांस्टेबल 25,कांस्टेबल 40, महिला कॉन्स्टेबल 20, ट्रैफिक पुलिस 10 के अलावा होमगार्ड्स की भी ड्यूटी लगाई जाएगी।

दैनिक भास्कर 22 Jul 2024 5:03 am

उदयपुर-चित्तौड़गढ़ नेशनल हाइवे 76 खस्ताहाल होने का मामला:सिक्सलेन पर दुर्घटनाओं को कम करने के लिए घनोली, भूतपुरा ब्लैक स्पॉट चिन्हित

उदयपुर-चित्तौड़गढ़ नेशनल हाइवे 76 पर हो रहे लगातार हादसों, खस्ताहाल सड़क से वाहनधारी और लोग परेशान है। इसको लेकर भास्कर में उदयपुर-चित्तौड़गढ़ हाईवे दो साल में टूटा, 20 डेंजर जोन, एक साल मंे 150 हादसों में 100 की जान गई, 300 घायल, 10 पैचवर्क हो रहे शीर्षक से खबर छपने के बाद एनएचएआई हरकत में आया और संज्ञान लिया। रविवार को एनएचएआई प्रोजेक्ट डायरेक्टर हरीश चंद्रा ने गलत बयानबाजी करने वाले संबंधित व्यक्तियों पर तुरंत प्रभाव से कार्रवाई करने को लेकर टाटा कंपनी के प्रोजेक्ट हेड सूर्य प्रताप सिंह को निर्देशित किया है। साथ ही सिक्सलेन पर दुर्घटनाओं को कम करने के लिए घनौली और भूतपुरा को ब्लैक स्पॉट चिन्हित कर वीयूपी-पीयूपी बनाए जाना प्रस्ता​वित किया। वहीं वाना गांव में 5 वर्ष से लंबित वीयूपी और सर्विस रोड के आवंटन की प्रक्रिया को शीघ्र शुरू करने के निर्देश ​दिए। वहीं टोल प्रोजेक्ट हेड सूर्य प्रताप को टोल पर एंबुलेंस, क्रेन और पेट्रोलिंग की सुविधा सुनिश्चित करने को पाबंद किया। इसके साथ ही प्रोजेक्ट डायरेक्टर चंद्रा ने अनियमितताओं को लेकर जुर्माने के लिए उच्चाधिकारियों को लिखा है। उन्होंने आमजन से भी अपील की है कि टोल फ्री हेल्पलाइन नंबर 1033 पर कोई भी व्यक्ति राजमार्ग पर दुर्घटना या सड़क में किसी खामी की शिकायत 24*7 कर सकता है। टोल प्लाजा पर सीयूजी नंबर 8130007143 नंबर दिया गया है। इस नंबर को टोल पर 24*7 चालू रखना टोल प्लाजा की जिम्मेदारी है।

दैनिक भास्कर 22 Jul 2024 5:03 am

शहर में पहली बार:अब डामर नहीं सीमेंट से होगा पैचवर्क, बारिश में भी काम हो सकेगा, 2 घंटे में ट्रैफिक भी शुरू

शहर में पहली बार सीमेंट की सड़कों पर सीमेंट से पैचवर्क होगा। अभी सीमेंट की सड़कों पर भी डामर से ही पैचवर्क करते हैं, लेकिन वह हल्की सी बारिश में फिर उखड़ जाता है। पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर इसकी शुरुआत होगी। नगर निगम ने इसके लिए 1 करोड़ रुपए के टेंडर किए हैं। अगर काम अच्छा रहा तो सितंबर के बाद होने वाले पैचवर्क में कांक्रीट का ही इस्तेमाल किया जाएगा। शहर में सड़कों का नेटवर्क 3851 किमी है। इसमें 350 किमी डामर की सड़कें हैं। अब जितनी नई सड़कें बन रही हैं, वह सीमेंट की ही बनाई जा रही हैं। सीमेंट की सड़क पर सीमेंट से पैचवर्क के लिए पिछले दिनों महापौर पुष्यमित्र भार्गव की अध्यक्षता में एमआईसी ने प्रस्ताव को मंजूरी दी है। राजस्थान के कई शहरों में सीमेंट की सड़कों का पैचवर्क इसी तकनीक से किया जा रहा है। हर साल 15 करोड़ खर्च हो रहे नगर निगम के अफसरों का दावा है कि बारिश के पहले जून तक 3 करोड़ रुपए से तीन एजेंसियों ने पैचवर्क किया है। हर साल सड़कों के पैचवर्क पर ही 15 से 20 करोड़ खर्च किए जाते हैं। 2 साल से सड़कों की मरम्मत का काम भी ठीक से नहीं हो पा रहा है, क्योंकि निगम ठेकेदारों को भुगतान नहीं कर रहा था। पिछले साल तीन एजेंसियों को काम दिया था, लेकिन भुगतान नहीं होने के कारण कई महीनों तक काम नहीं हुआ। गड्‌ढे भरवाने जोनल कार्यालय पर शिकायत करें इन दिनों हल्की बारिश हो रही है, लेकिन इतने में ही सड़कों के पैचवर्क धुल गए हैं। जगह-जगह गड्ढे हो चुके हैं। कई प्रमुख सड़कों पर रेस्टोरेशन का ऐसा काम किया गया है कि बारिश होते ही गड्ढे फिर से नजर आने लगे हैं। बॉम्बे हॉस्पिटल की रोटरी के पास बड़ा गड्ढा है। रोबोट चौराहा से एमआर-9 चौराहा तक सड़क उखड़ी है। ड्रेनेज लाइन, पानी की लाइन, स्टॉर्म वाटर लाइन, आईटीएमएस सहित बार-बार हो रही खुदाई के कारण सड़कें सही नहीं हैं। अगर किसी वार्ड या जोन में सड़क पर गड्ढा दिखाई दे तो जोनल अफसर या पार्षद से संपर्क कर शिकायत कर सकते हैं। निगम उन्हें गिट्‌टी-मुरम से अस्थायी तौर पर ठीक करवाएगा। समय और क्वालिटी दोनों का फायदाइस पद्धति से समय और क्वालिटी दोनों का फायदा है। बारिश में भी पैचवर्क करने में दिक्कत नहीं आएगी। 2 घंटे में ही आवाजाही शुरू हो सकेगी। इससे पहले मधुमिलन चौराहे पर प्रयोग के तौर पर इसी तरीके से पैचवर्क किया था। वह बहुत अच्छी स्थिति में है।- पुष्यमित्र भार्गव, महापौर

दैनिक भास्कर 22 Jul 2024 5:02 am

उन्नाव में पुलिस को चकमा देकर भागा आरोपी:40 मिनट तक गलियों में ढूंढती रही पुलिस, रिमांड के लिए कोर्ट लेकर जा रही थी

उन्नाव में नाबालिग किशोरी को बहला फुसलाकर भगा ले जाने के आरोप में अचलगंज पुलिस एक आरोपी को गिरफ्तार की। उसे रिमांड के लिए न्यायालय ले जा रही थी। उसके पहले फोटोकॉपी कराने के दौरान पुलिस कर्मियों को चकमा देकर आरोपी भाग निकला। उन्नाव की गलियों में 40 मिनट तक पुलिस ढूंढती रही। जिसके बाद उसे दोबारा पकड़ा और न्यायालय में पेश किया। सोहरामऊ थाना क्षेत्र के सूबेदार खेड़ा गांव का रहने वाला गुड्डू पुत्र नवाब पर अचलगंज थाना क्षेत्र के रहने वाली एक नाबालिग किशोरी ने बहला फुसलाकर भगाने का आरोप लगाया था। इसके बाद पुलिस ने गंभीर धारा में मुकदमा दर्ज किया और आरोपी की तलाश में एक पुलिस टीम का गठन किया। रविवार को अचलगंज थाना पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया। जेल भेजने से पहले पुलिसकर्मी उन्नाव न्यायालय परिसर में रिमांड लेने के लिए जा रहे थे। इसी दौरान हिरासत में लेकर आए सिपाही एक फोटो कॉपी की दुकान पर फोटोकापी कराने लगे। इसी दौरान गुड्डू चकमा देकर वहां से भाग निकला। पुलिस पर उठे सवालआरोपी के भागने पर पुलिसकर्मी परेशान हो गए और उन्होंने उन्नाव शहर कोतवाली पुलिस को इसकी जानकारी दी। इसके साथ ही अन्य टीमों ने 40 मिनट तक उसे गलियों में ढूंढा। देर शाम विकास भवन के बाहर से उसे पकड़ लिया इसके बाद न्यायालय के समक्ष पेश किया न्यायालय ने उसे रिमांड देने के बाद जेल भेज दिया। आरोपी के भागने के बाद पुलिस की सतर्कता पर सवाल खड़े हुए हैं।

दैनिक भास्कर 22 Jul 2024 5:01 am

एक व्यक्ति को हेरोइन के साथ किया काबू

थाना सिटी पुलिस ने एक व्यक्ति को हीरोइन के साथ किया गिरफ्तार। आरोपी की पहचान मनप्रीत सिंह उर्फ मनी पुत्र गरमेल सिंह निवासी गांव जोहला के रूप में हुई है। पुलिस ने आरोपी पर मामला दर्ज कर लिया है। एएसआई गुरमेल सिंह से मिली जानकारी के अनुसार जब वह पुलिस पार्टी के साथ गस्त के दरमियान सिविल हॉस्पिटल के पास जा रहे थे तो सामने से फैक्ट्री के पास से एक युवक आ रहा था। जब मैं गाड़ी से नीचे उतरा तो उसे युवक ने अपने हाथ में पकड़ा लिफाफा सड़क की साइड में फेंक दिया और तेज तेज चलने लगा कर्मचारियों की मदद से उसको पड़कर जब लिफाफे की तलाशी ली गई, तो उसमें से 3 ग्राम हीरोइन बरामद की गई।

दैनिक भास्कर 22 Jul 2024 5:00 am

गुरु पूर्णिमा महोत्सव:भक्तों को प्रसाद में गुरु ने दिए पौधों के बीज, इनसे तैयार होगी वाटिका

रेसकोर्स रोड स्थित खेल प्रशाल में हजारों की संख्या में उपस्थित समग्र दिगंबर जैन समाज बंधुओं ने रविवार को गुरु पूर्णिमा महोत्सव मनाया। मुनि प्रमाण सागर महाराज ने धर्मसभा को संबोधित करते हुए कहा, अज्ञानता रूपी अंधकार से जीवन को प्रकाश की दिशा में ले जाने वाला, जो आत्मा को परमात्मा बना दे, वह गुरु है। गुरु के प्रति समर्पण भाव ही सच्चे शिष्य की पहचान है। पलसीकर कॉलोनी स्थित सद्‍गुरु अण्णा महाराज संस्थान में सद्‍गुरु अण्णा महाराज ने भक्तों को आशीर्वचन दिए। उन्होंने भक्तों को प्रसाद के रूप में औषधीय और उपयोगी पौधों के बीजों का वितरण करते हुए आग्रह किया कि बीजों को अपने घरों में गमले में रोप दें। जब बीज अंकुरित हो जाएं तब पौधे की वर्षभर उचित देखभाल करें और अगले वर्ष की गुरु पूर्णिमा के पूर्व तैयार पौधे को वापस सौंप दें। वर्षभर बाद सभी पौधों को भूमि में उचित स्थान पर लगाकर एक वाटिका तैयार की जाएगी। उन्होंने कहा प्रकृति को हम कुछ देंगे तभी वह हमें कुछ लौटाएगी।

दैनिक भास्कर 22 Jul 2024 5:00 am

अद्भुत संयोग में सावन आज से:शुरुआत और समापन दोनों सोमवार को, प्रीति और सर्वार्थ सिद्धि योग से होगा आगाज

सावन मास आज से शुरू हो रहा है। इस बार सावन माह में एक अद्भुत संयोग यह रहेगा कि इस माह की शुरुआत भोलेनाथ के प्रिय दिवस सोमवार से होगी और समापन भी सोमवार को ही होगा। इस माह में इस बार पांच सोमवार रहेंगे। 22 जुलाई सोमवार को श्रावण मास का शुभारंभ होगा और 19 अगस्त सोमवार को रक्षाबंधन पर समापन होगा। ज्योतिर्विद पंडित हरिनारायण व्यास मन्नासा के अनुसार इस बार सावन में खास बात यह भी रहेगी कि 22 जुलाई को सावन श्रवण नक्षत्र, प्रीति और सर्वार्थ सिद्धि योग में रहेगा। वैसे इस माह में खरीदारी के लिए कई अन्य शुभ योग भी रहेंगे। सावन माह का अंतिम दिन 19 अगस्त को होगा, तब इस दिन शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा तिथि रहेगी, जो अत्यंत शुभ होती है। इस दिन शोभन योग रहेगा। श्रावण मास में भोलेनाथ ही नहीं बल्कि महिलाओं के लिए मंगला गौरी पूजन के भी चार दिन मिलेंगे। श्रावण में चार मंगलवार मंगला गौरी यानी मां पार्वती की भी पूजा होगी। इस बार सावन का महीना 22 जुलाई से शुरू होगा और इसका समापन 19 अगस्त को होगा। मान्यता है कि सावन सोमवार व्रत रखने से भोलेनाथ प्रसन्न होते हैं और सुख-समृद्धि प्राप्त होती है।

दैनिक भास्कर 22 Jul 2024 4:59 am

किडनी ट्रांसप्लांट गिरोह:इंदौर के अस्पतालों में कॉर्डिनेटर रह चुका सरगना संदीप, पुलिस ने अस्पतालों से रिकॉर्ड मांगा

दिल्ली क्राइम ब्रांच ने किया था किडनी की खरीद-फरोख्त करने वाले गिरोह का भंडाफोड़ दिल्ली में उजागर हुए किडनी ट्रांसप्लांट रैकेट की लिंक इंदौर से भी जुड़ गई है। गिरोह का सरगना संदीप आर्य कुछ समय के शहर के दो अस्पतालों में कॉर्डिनेटर रहा। बाद में वह नौकरी छोड़कर एनजीओ में चला गया, लेकिन जितने समय वह यहां रहा, उस दौरान यहां हुए किडनी ट्रांसप्लांट का रिकॉर्ड दिल्ली क्राइम ब्रांच ने अस्पतालों से मांगा है। दिल्ली पुलिस के मुताबिक, संदीप इंदौर के अलावा फरीदाबाद, गुरुग्राम, बड़ौदा के निजी अस्पतालों में भी कॉर्डिनेटर का काम कर चुका है। इंदौर में भंवरकुआं क्षेत्र के दो अस्पतालों में पांच-छह महीने रहा। पुलिस ये पता कर रही है कि इंदौर के अस्पतालों में हुए किडनी ट्रांसप्लांट में संदीप की भूमिका क्या थी और कहीं उसने यहां भी किडनी खरीद-फरोख्त कर ट्रांसप्लांट तो नहीं करवाया। अगर करवाया तो कितने ट्रांसप्लांट हुए, उसमें मरीज कौन थे, कितना पैसा भुगतान हुआ और अस्पतालों की इसमें क्या भूमिका है। दस्तावेज मिलने के बाद और भी खुलासे होने की उम्मीद है। एक किडनी ट्रांसप्लांट पर करीब 45 लाख रुपए खर्च होते थे, जिसमें संदीप का कमीशन 8 लाख रुपए बनता था। उसने ये पैसे देवेंद्र झा के खाते में जमा कराए। 11 अस्पतालों में 34 किडनी ट्रांसप्लांट करवा चुका संदीप और उसके गिरोह ने पुलिस पूछताछ में 5 राज्यों के करीब 11 प्राइवेट अस्पतालों में 34 किडनी ट्रांसप्लांट के ऑपरेशन करवाना कबूला है। पुलिस इन सभी अस्पतालों में पड़ताल कर रही है। अब तक संदीप के अलावा विजय कुमार कश्यप उर्फ सुमित, देवेंद्र झा, पुनीत कुमार, मोहम्मद हनीफ शेख, चीका प्रशांत, तेज प्रकाश और रोहित खन्ना उर्फ नरेंद्र आदि को आरोपी बनाया है। इंद्रप्रस्थ अपोलो अस्पताल दिल्ली की डॉ. विजया कुमारी को भी टीम गिरफ्तार कर चुकी है। ऐसे बना रैकेटआरोपी मोहम्मद हनीफ शेख निवासी मुंबई का संदीप से सोशल मीडिया के जरिए परिचय हुआ था। संदीप को अपनी किडनी बेचने के बाद से वह उसी के साथ गिरोह का सदस्य बनकर काम करने लगा। इसके लिए उसे एक डोनर पर 1 लाख कमीशन मिलता था। इसके अलावा बांग्लादेशी नागरिक रसेल भी जसोला विहार से पकड़ा गया था। रिसीवर और डोनर दोनों बांग्लादेशी नागरिक थे। विजया कुमारी ने नोएडा के एक नामी अस्पताल में 15 से ज्यादा किडनी अवैध तरीके से ट्रांसप्लांट की थी।

दैनिक भास्कर 22 Jul 2024 4:58 am

ठगी का मामला:नॉमिनी का नाम अपडेट करने मांगा आधार, ओटीपी बताते ही 10 लाख उड़े

रायसेन में साइबर ठगी की घटनाएं लगातार बढ़ती जा रही है। इस बार साइबर ठगी का शिकार रायसेन के सेवानिवृत नगर पालिका के स्वास्थ्य अधिकारी पीके चावला हुए हैं। साइबर ठगों ने फर्जी ट्रेजरी आफिस बनकर फोन लगाया। फिर पेंशन खाते में नॉमिनी का नाम जोड़ने के नाम पर आधार कार्ड और बैंक की डिटेल लेकर उनके खाते से 2 बार में करीब 10 लाख रुपए की राशि को उड़ा लिया। ठगी का शिकार होने के बाद उनके द्वारा साइबर सेल के साथ कोतवाली थाने में अपनी शिकायत दर्ज कराई है। इस ठगी की घटना के बाद साइबर सेल और कोतवाली पुलिस ने तुरंत एक्शन लेकर खाते और एटीएम को ब्लॉक करवा दिया है और मामले की जांच शुरू की गई है। तीन दिन पहले 18 जुलाई को भी एक शिक्षिका के साथ ठगी की वारदात हुई थी।

दैनिक भास्कर 22 Jul 2024 4:54 am

कारोबारी को स्कूटी से गिराया, चाकू मार 3 बदमाश ‌

भास्कर न्यूज | पानीपत असंध रोड अंडरपास के पास बिशन स्वरूप कॉलोनी से स्कूटी पर मॉडल टाउन जा रहे बिस्कुट कंपनी के एजेंसी संचालक गगनदीप वालिया को बुलेट सवार तीन बदमाशों ने धक्का मारकर गिरा लिया। फिर उनसे बैग छीनने की कोशिश की। वालिया ने तीन-चार मिनट तक संघर्ष किया। इस दौरान आसपास से गुजर रहा कोई राहगीर मदद के लिए आगे नहीं आया। बाद में बदमाश उनकी बाजू पर चाकू मारकर 1.28 लाख रुपए लूट ले गए। मॉडल टाउन के रहने वाले गगनदीप वालिया ने जीआरपी में दी शिकायत में बताया विशन स्वरूप कॉलोनी स्थित गोदाम को शनिवार रात करीब 8 बजे बंद कर स्कूटी से निकले थे। अंडरपास के पास सिल्वर रंग की बुलेट पर तीन युवक खड़े देख शक हुआ। सभी की उम्र तकरीबन 25 से 30 साल थी। उन्होंने एक तरफ से निकलने की कोशिश की। तभी बदमाश ने धक्का मारकर गिरा दिया और बैग छीनने की कोशिश की। उन्होंने बैग नहीं छोड़ा तो बदमाश ने मुंह पर मुक्का मार दिया। एक बदमाश ने बाईं बाजू पर चाकू से वार कर दिया और बैग की चेन खोल उसमें से 1.28 लाख रुपए निकाल लिए। सूचना पर डॉयल 112 पुलिस मौके पर पहुंच गई। एएसआई कर्मबीर सिंह ने बताया कि केस दर्ज कर लिया है।

दैनिक भास्कर 22 Jul 2024 4:54 am

ई-रिक्शा चालक ने वृद्धा को कोल्ड ड्रिंक में नशा पिला सोने के गहने लूटे

भास्कर न्यूज | पानीपत अशोक विहार कालोनी मार्केट के प्रधान कुलदीप वर्मा की 62 वर्षीय चाची विद्या देवी को एक ई-रिक्शा चालक ने कोल्ड ड्रिंक में नशा पिलाकर सवा तोले सोने के गहने लूट लिए। विद्या देवी करनाल की कर्ण विहार कॉलोनी में रहती हैं। रविवार को गुरु पूर्णिमा पर ससुराल में दीप जलाने आईं थी। सुबह 8:30 बजे ईको वैन से पानीपत पुराने बस अड्डे पर उतरीं। वहां ई-रिक्शा में मिले दो बदमाशों ने गर्मी अधिक होने की बात कह कोल्ड ड्रिंक पीने को दी। जिसे पीते ही वो बेहोश हो गईं। बदमाश सोने की 5 ग्राम की बाली, 4 ग्राम की अंगूठी, 3 ग्राम का लॉकेट और 44 सौ रुपए कैश ले गए और बुजुर्ग को अड्डे के बाहर फेंक गए। दूसरे ई रिक्शा वाले ने परिवार को कॉल कर घटना की जानकारी दी। बदमाश एक सीसीटीवी कैमरे में दिख रहे हैं। बेसुध हालत में बुजुर्ग महिला।

दैनिक भास्कर 22 Jul 2024 4:54 am

यमुना पुल पर बनाए निगरानी पॉइंट, 25 से हरिद्वार हाईवे पर भारी वाहन होंगे बंद

भास्कर न्यूज | पानीपत/सनौली आज से सावन का महीना शुरू हो रहा है। 25 जुलाई से शुरू होने वाली कांवड़ यात्रा को लेकर जिला पुलिस से लेकर धार्मिक संस्थाओं व समाजसेवियों ने व्यापक इंतजाम शुरू कर लिए हैं। सोमवार से हरिद्वार की ओर जाने वाली रोडवेज बसों को करनाल-देवबंद वाया रुड़की होकर गुजारा जाएगा। इसके साथ ही पानीपत-यूपी के यमुना पुल पर निगरानी पॉइंट बना दिए हैं। यमुना पर बने पुराने पुल को दोनों तरफ से बांस-बल्लियां लगाकर पूरी तरह से बंद कर दिया है। 25 जुलाई से हरिद्वार हाईवे पर भारी वाहन प्रतिबंधित रहेंगे। ट्रैफिक पुलिस के 131 जवान व 138 होमगार्ड व्यवस्था संभालेंगे। हरिद्वार से जल लेकर रविवार से ही कावंड़िए आना शुरू हो गए । सनौली यमुना पुल के पास चौकी किनारे उनके आराम की व्यवस्था कर दी गई है। सनौली से पानीपत की तरफ हर 50 मीटर की दूरी पर शिविर बनाए जा रहे हैं। वहीं, सनौली टोल टैक्स से पहले डिवाइडर के बीच के गैप को बल्लियां लगा कम कर दिया है। ताकि डाक कांवड़ियों को परेशानी का सामना न करना पड़े। एसपी अजीत सिंह शेखावत ने कहा कि कांवड़ यात्रा को देखते हुए 25 जुलाई से शिव रात्रि तक सनौली रोड पर भारी वाहनों का प्रवेश प्रतिबंधित रहेगा। इसके लिए जल्द ही रूट डायवर्जन जारी कर दिया जाएगा। ट्रैफिक पुलिस के साथ-साथ संबंधित थानों की पुलिस भी तैनात की जाएगी। उपद्रवियों से सख्ती से निपटा जाएगा। नए पुल से ही होगा आवागमन: सनौली पुलिस ने यमुना पर बने पुराने पुल को दोनों तरफ से बांस-बल्लियां लगाकर बंद कर दिया है। इस पुल से कांवड़ियों को भी नहीं गुजरने दिया जाएगा। सभी को नए पुल होकर ही रवाना किया जाएगा। इसके साथ ही यमुना पुल पर दोनों तरफ की व्यवस्थाओं पर बारीकी से नजर रखने के लिए िनगरानी पॉइंट बना दिए गए हैं। इन पर सशत्र पुलिस बल को तैनात किया जाएगा। 25 से 2 अगस्त तक खोला जाएगा संजय चौक का कट जींद, रोहतक, सिरसा, हिसार, िभवानी, जींद, राजस्थान की तरफ से आने वाले डाक व पैदल कांवड़ियों के लिए एसपी अजीत सिंह शेखावत ने असंध नाके से लेकर संजय चौक व बबैल नाके तक ट्रैफिक पुलिस के 131 मुलाजिमों व 138 होमगार्ड की ड्यूटी लगा दी है। संजय चौक का कट भी 25 जुलाई से लेकर 2 अगस्त तक खोल दिया जाएगा। ताकि डीजे आदि लेकर आने वाले कांवड़ियों को परेशानी न हो।

दैनिक भास्कर 22 Jul 2024 4:54 am

बावल सब डिवीजन के प्रधान बने अनिल रिस्क अलाउंस शुरू करने की मांग की

रेवाड़ी| बावल सब डिवीजन स्थित 33 केवी सब-स्टेशन में अनुबंधित विद्युत कर्मचारी संघ हरियाणा संबंधित भारतीय मजदूर संघ की बैठक का आयोजन किया गया, जिसमे सब डिवीजन कार्यकारिणी का गठन किया गया। बैठक में 40 से अधिक कर्मचारी उपस्थित रहे। बैठक की अध्यक्षता जिला सह सचिव कपिल ने की और मंच का संचालन जिला कार्यकारिणी सदस्य नरेश यादव ने किया। विशेष रूप से प्रदेश कार्यालय सचिव नरेन्द्र यादव उपस्थित रहे। जिला सह सचिव कपिल ने कहा कि प्रधान पद के लिए अनिल एएलएम, उप प्रधान पद के लिए विष्णु एएलएम व नवल एसए, सचिव पद के लिए नरेन्द्र एसए, संगठन करता लोकेश एएलएम, कोषाध्यक्ष आशीष एएलएम, प्रेस सचिव धर्मेंद्र डीईओ, कार्यकारिणी सदस्य जगत सिंह एसए व राजपाल एसए चुने गए। जिला सह सचिव ने कहा कि सभी अनुबंधित विद्युत कर्मचारियों को पक्का किया जाए। जोखिम भरे कार्य को देखते हुए रिस्क अलाउंस दिया जाए। प्रदेश कार्यालय सचिव नरेन्द्र यादव ने बताया कि 29 जुलाई को करनाल मे प्रदर्शन किया जाएगा और सरकार अगर मांगें नहीं मानती है तो प्रदर्शन को अनिश्चितकालीन धरने में तब्दील किया जाएगा। इस मौके पर पदाधिकारी उपस्थित रहे।

दैनिक भास्कर 22 Jul 2024 4:53 am

सरकार के इशारे पर जांच एजेंसियां कांग्रेस नेताओं के खिलाफ कर रही काम : दीपेंद्र

भास्कर न्यूज | रेवाड़ी/बावल कांग्रेसी सांसद दीपेंद्र हुड्डा ने बावल शहर की दुर्दशा का सवाल पूछते हुए कहा कि यहां सड़कें टूटी पड़ी हैं, दूषित पेयजल की आपूर्ति से लोग परेशान हैं, जलनिकासी की हालत खराब है। बावल में कांग्रेस सरकार ने आईएमटी बनाई, लेकिन 10 साल में यहां कोई नई इंडस्ट्री क्यों नहीं आई, भाजपा सरकार इसका जवाब दे। रविवार को बावल शहर में हरियाणा मांगे हिसाब पदयात्रा के दौरान जनसभाओं को संबोधित करते हुए दीपेंद्र हुड्डा ने ये सवाल उठाए। उनके साथ पूर्व सांसद राजबब्बर व विधायक चिरंजीव राव सहित अन्य राजनेता भी थे। हरियाणा मांगे हिसाब अभियान के तहत रविवार को सातवें दिन सांसद दीपेंद्र हुड्डा के नेतृत्व में पदयात्रा बावल शहर विधान सभा क्षेत्र में चौ. चरण सिंह कृषि विश्वविद्यालय गेट के सामने से शुरू होकर रेवाड़ी मोड़ मोहल्ला जटवाड़ा, न्यू सब्जी मंडी गेट, शहीद भगत राम चौक, सर छोटूराम चौक, अंबेडकर पार्क तक चली। इस दौरान उन्होंने कहा कि एम्स निर्माण की हालत सबके सामने है। मनेठी सब-तहसील की बिल्डिंग की रिपेयर तक नहीं करवा पाई भाजपा सरकार। ये सरकार काम चवन्नी का और घोषणा 10 रुपये की करती है। कांग्रेस सरकार ने हरियाणा के 4 शहरों को मेट्रो से जोड़ा, बीजेपी सरकार 10 साल में मेट्रो का एक खंबा भी क्यों नहीं बनवा पाई? उन्होंने आगे कहा कि जब से हरियाणा मांगे हिसाब अभियान शुरु हुआ है, बीजेपी सरकार के इशारे पर ईडी, सीबीआई जैसी सरकारी जांच एजेंसियों ने भी कांग्रेस नेताओं के खिलाफ समानान्तर अभियान शुरु कर दिया है। लेकिन बीजेपी सरकार इस गलतफहमी में न रहे कि कांग्रेस सवाल पूछना बंद कर देगी। उन्होंने पेपर लीक, बेरोजगारी, महंगाई सहित अन्य मुद्दे उठाए। इस मौके पर राजस्थान विधान सभा के विधायक ललित यादव, पूर्व मंत्री जगदीश यादव, पूर्व मंत्री जसवंत बावल, पूर्व सीपीएस अनीता यादव, कांग्रेसी नेता मुकेश जूली, डॉ. पवन कुमार, नपा चेयरमैन वीरेंद्र सिंह महलावत, दिव्यांशु बुद्धिराजा, सोनू हुड्डा, महावीर मसानी, जयदीप धनखड़, डॉ. अनिल आदि मौजूद थे।

दैनिक भास्कर 22 Jul 2024 4:53 am

कैंप में 122 मरीजों का नि:शुल्क जांचा स्वास्थ्य

रेवाड़ी| यादव कल्याण सभा की ओर से गढ़ी बोलनी रोड स्थित श्रीकृष्ण भवन में फ्री चिकित्सा शिविर का आयोजन किया गया। सभा प्रवक्ता प्रो. सतीश यादव ने बताया कि इस बार शिविर में 122 मरीजों ने निशुल्क ओपीडी सेवाएं प्राप्त की व उन सभी को फ्री दवाइयां प्रदान की गई। शिविर में डॉ. एसपी यादव, डॉ. आत्म प्रकाश यादव, डॉ. सुनील यादव, डॉ. रमेश यादव व डॉ. योगेन्द्र यादव ने विभिन्न रोग की ओपीडी सेवाएं प्रदान की। कैंप में डॉ. यशपाल यादव, आनंद यादव व बिक्रम आदि ने विशेष सहयोग किया।

दैनिक भास्कर 22 Jul 2024 4:52 am

जन्माष्टमी व गोगा मेला पर होगी प्रतिस्पर्धा व जागरण

नाहड़ | गांव दड़ौली(रेवाड़ी) में गोगा मेला पर होने वाले उत्सव एवं दक्षिण हरियाणा के सबसे बड़े दंगल के लिए रविवार को कमेटी सदस्यों एवं ग्राम पंचायत की एक विशेष मीटिंग का आयोजन किया गया जिसमें सर्व सम्मति से कुछ महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए। कार्यक्रम की अध्यक्षता अनूप यादव सरपंच ग्राम पंचायत दड़ौली ने की। समिति सदस्यों का गठन कर ओमप्रकाश प्रधान, हरीश उप प्रधान तथा बलवीर शास्त्री को खजांची नियुक्त किया गया। मेले के अवसर पर 27 अगस्त को प्रो कबड्डी 28 तारीख को कुश्ती करवाई जाएगी। कमेटी प्रधान ने बताया कि जन्माष्टमी रात्रि जागरण तथा गोगा के दिन मेले का आयोजन किया जाएगा। इस अवसर पर सुरेंद्र मामड़िया जिला पार्षद, एडवोकेट महेंद्र सिंह, कर्ण महाशय, धर्मपाल पंच, कैप्टन सतबीर सिंह, अनिल कुमार उपस्थित रहे।

दैनिक भास्कर 22 Jul 2024 4:52 am

मानसून सीजन शुरू होने के बाद भी साफ नहीं किए नाले, पार्षद के आरोप- पूरा कमीशनबाजी का खेल

शहर में 17 मुख्य नाले, आधे भी साफ नहीं भास्कर न्यूज | रेवाड़ी मानसून सीजन शुरू हो चुका है, मगर शहर के बरसाती नालों की सफाई नहीं हो पाई है। नगर पार्षदों ने भी इसके खिलाफ आवाज उठानी शुरू कर दी है। पार्षदों का कहना है कि नालों की सफाई को लेकर बड़ा खेल होता रहा है। सीधे तौर पर आरोप लगाए कि कमिशन बाजी के चलते नाले साफ ही नहीं किए जाते। प्रशासन के उच्च अधिकारी फील्ड में निकलते हैं तो इक्का-दुक्का नालों की सफाई कर दी जाती है। अन्यथा कुछेक नालों की गाद निकाल कर ही खाना पूर्ति कर ली जाती है। बारिश का सीजन शुरू हुए महीना भर हो चुका है, जबकि पीडब्ल्यूडी की सड़कों के नालों की सफाई शुरू भी नहीं हो पाई है। ऐसे में नगर परिषद की कार्यशैली एक बार फिर सवालों में है। बता दें कि पुराने नालों के साथ ही पीडब्ल्यूडी की सड़कों के साथ बने नालों की सफाई का काम भी नगर परिषद के जिम्मे है, जिन्हें टेंडर करके साफ कराना होता है। 50% काम भी नहीं हुआ, बारिश होते ही जलभराव तय जून के अंत में बरसाती सीजन शुरू हो गया था। मानसून की बारिश में शहर में जगह-जगह जलभराव हुआ। मुख्य बाजारों के साथ ही सरकुलर रोड पर भी पानी भरा। जबकि नाले साफ हों तो सरकुलर रोड का पानी हाथों-हाथ निकलता है तथा घंटेभर में तो रोड क्लियर हो जाता है। इस बार जब भी ठीक बारिश हुई है, नाईवाली चौक के आसपास सरकुलर रोड पर जलभराव हो रहा है। जो कि नालों के साफ नहीं होने का बड़ा प्रमाण है। सरकुलर रोड अपने आप में शहर की लाइफलाइन है। इसके नाले साफ नहीं होने का अर्थ है 50% भी काम नहीं हुआ। यानी अब भी तेज बारिश हुई तो जलभराव तय है। समाधान : ठेकेदार ने काम नहीं किया तो पेमेंट नहीं होगी ^नालों की सफाई कराई जा रही है। इसमें किसी प्रकार की खानापूर्ति नहीं करने देंगे। यदि ठेकेदार काम नहीं करेगा तो उसकी पेमेंट ही नहीं की जाएगी। नालों की सफाई की पार्षद खुद मॉनिटरिंग कर सकते हैं। कहीं शिकायत है तो बताएं, उसे दूर कराएंगे। - पूनम यादव, चेयरपर्सन, नगर परिषद। 28 लाख का टेंडर, ये पैसा कहां जाएगा : चंदन यादव वार्ड नंबर 13 से पार्षद चंदन यादव का कहना है कि पिछली बार 17 लाख रुपए तथा इस बार 28 लख रुपए का टेंडर नालों की सफाई के लिए छोड़ गया है। नाले साफ करा नहीं रहे तो यह पैसा कहां जाएगा? कमाल की बात है कि नालों की सफाई हकीकत में की ही नहीं जाती, केवल कुछ जगह गाद निकाल कर छोड़ दिया जाता है। अब भी नए बनाए गए नालों में से सीमेंट व कंक्रीट निकालकर बाहर डाल दी गई। नाले गंदगी से अटे पड़े हैं। पूरा खेल कमीशन बाजी का है। हाउस की बैठक में गड़बड़ी का उठाएंगे मुद्दा : प्रवीण वार्ड नंबर 3 के पार्षद प्रवीण चौधरी का कहना है कि नालों की सफाई में भारी गड़बड़ी है। जरा सी बरसात होने पर ही बाजार का हाल देख लीजिए, हकीकत पता लग जाएगी। नालों को जैसे मर्जी सीवर लाइन में जोड़ दिया गया है, ताकि काम न करना पड़े और बिना नाले साफ किए ही काम चल सके। इनकी सफाई के नाम पर केवल लीपापोती की जाती है। ये भी तय है कि बिना काम करे ठेकेदार की पेमेंट भी कर दी जाएगी। क्योंकि पेमेंट अप्रूवल कमेटी में से आवाज उठाने वाले सदस्य तो बाहर कर दिए गए हैं। हाउस की बैठक में सवाल उठाएंगे।

दैनिक भास्कर 22 Jul 2024 4:52 am

शिवकुमार बने हरियाणा प्राइमरी टीचर एसोसिएशन रेवाड़ी के ब्लॉक प्रधान

रेवाड़ी | गांव ढालियावास स्थित राजकीय प्राथमिक मॉडल संस्कृति पाठशाला में हरियाणा प्राइमरी टीचर्स एसोसिएशन के राज्य उप प्रधान धर्मेंद्र यादव की अध्यक्षता में हरियाणा प्राइमरी टीचर्स एसोसिएशन की रेवाड़ी खंड की कार्यकारिणी का पुनर्गठन किया गया। जिसमें बतौर पर्यवेक्षक जिला प्रधान नरेश चौहान उपस्थित रहे। पूर्व प्रधान कविता सिंह चौहान ने अपने पद से त्यागपत्र दिया। सदस्यों ने सर्वसम्मति से नई कार्यकारिणी का गठन किया, जिसमें शिवकुमार को खंड प्रधान की जिम्मेवारी दी गई और नरेश शर्मा को सचिव की जिम्मेवारी सौंपी गई। जिला प्रधान नरेश चौहान ने पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलवाई। जिला कार्यकारिणी के चुनाव इसी सप्ताह में ही कराए जाएंगे। जिले की कार्यकारिणी बनाई जाएगी, वह राज्य स्तर के चुनाव में अपनी भागीदारी सुनिश्चित करेगी। एसोसिएशन प्राथमिक शिक्षकों की मांगों को पुरजोर तरीके से रखती आ रही है और भविष्य में भी संगठन हमेशा शिक्षा और शिक्षक को बचाने के लिए तत्पर रहेगा। इस अवसर पर मास्टर अमित कुमार, अनिल कुमार, सुषमा, दिव्या शर्मा, सुशील कुमार, राधा रानी, कविता रानी, दीपक कुमार, सुनीता कुमारी, नीतू कुमारी, विजय कुमार, संतोष गुप्ता, विनीता कुमारी, रेणु कुमारी, रविंद्र कुमार, प्रदीप आदि मौजूद थे।

दैनिक भास्कर 22 Jul 2024 4:52 am

अंधड़ में 5 फीट की ऊंचाई पर अटकी हाईमास्ट लाइट, करंट लगने का खतरा

रेवाड़ी | शहर के सेक्टर-1 स्थित जिला सचिवालय के निकट कॉलोनी में लाइट खंभे से टूटकर नीचे लटक रही है, जिसके कारण कॉलोनी में अधिकतर क्षेत्र में अंधेरा ही रहता है और लाइट सिर्फ बहुत सीमित क्षेत्र में ही उजाला कर पाती है। इससे कॉलोनी निवासियों को परेशानी होती है। यह लाइट करीब 20 फीट ऊपर होनी चाहिए, मगर करीब 5-6 फीट पर ही जल रही है। स्थानीय निवासियों का कहना है कि पिछले दिनों तेज अंधड़ व बारिश में लाइट खंभे पर ऊपर से टूटकर नीचे गिर गई और नीचे की साइड जाकर अटक गई, जिसके कारण लाइट पिछले लंबे समय से इसी तरह खंभे पर नीचे लटक रही है। इसके पास ही गाड़ियां पार्क की जाती हैं, जहां लोगों का आना-जाना लगा रहता है। अगर किसी दिन लाइट टूटकर जमीन या गाड़ियों के पास गिरी तो करंट से भी बड़ा हादसा भी हो सकता है। इसी तरह से एक लाइट राव तुलाराम पार्क में भी लटक रही है, जिससे हादसे होने का खतरा रहता है और रात के समय पूरे पार्क में उजाला नहीं हो पाता है।

दैनिक भास्कर 22 Jul 2024 4:52 am

मिड-डे मील कर्मियों ने की 28 हजार वेतन की मांग

रेवाड़ी| शहर के सुभाष पार्क में श्रमिक संगठन एआईयूटीयूसी से संबंधित मिड-डे मील कार्यकर्ता यूनियन का सम्मेलन आयोजित हुआ, जिसकी अध्यक्षता यूनियन की जिला नेत्री मुनेश भाड़ावास ने की। मुख्य वक्ता एआईयूटीयूसी के राज्य प्रधान कामरेड राजेंद्र सिंह एडवोकेट ने कहा कि मिड-डे मील कर्मियों को महज 7 हजार रुपए प्रति माह मिलता है और वो भी तीन-तीन महीने तक नहीं मिलता। मिड-डे मील कार्यकर्ताओं ने पक्का कर्मचारी करने, न्यूनतम वेतन 28000/- रुपए प्रति माह देने, मानदेय हर महीने की सात तारीख तक जारी करने, मानदेय साल में 10 महीने की बजाय पूरे 12 महीने का देने, रिटायरमेंट की उम्र 65 वर्ष करने, रिटायरमेंट पर एकमुश्त 5 लाख रुपए की आर्थिक सहायता देने, वर्दी के पैसे बढ़ाकर 2500/- रुपए सालाना करने की मांग की। इस दौरान जिला कमेटी का गठन भी किया गया, जिसमें भतेरी देवी अलावलपुर को जिला प्रधान, बरखा दड़ौली, बीना पाल्हावास, सुनीता अहरोद, सुमन बुड़ाना को उपप्रधान, मुनेश सुम्माखेड़ा को जिला सचिव, भतेरी पाल्हावास को सहसचिव, मुनेश भाड़ावास को कोषाध्यक्ष व मिथलेश बेरियावास को सहसचिव चुना गया।

दैनिक भास्कर 22 Jul 2024 4:52 am

‘मेरा स्कूल स्मार्ट स्कूल’:सरकारी प्राथमिक व माध्यमिक स्कूल के 96 हजार छात्रों के लिए बनाया ई-कंटेंट

प्रदेश में देवास पहला जिला बना देवास जिले के 1665 सरकारी प्राथमिक व माध्यमिक स्कूल के 96 हजार 700 विद्यार्थी स्मार्ट टीवी पर ई-कंटेंट के माध्यम से पढ़ाई कर रहे हैं। इसमें कक्षा पहली से आठवीं तक की पुस्तकों के ज्ञान को आडियो-विजुअल के जरिए शिक्षक विद्यार्थियों को समझा रहे हैं। ई-कंटेंट में प्रत्येक कक्षा, विषय व पाठ्यक्रम के अनुसार स्मार्ट करिकुलम भी बनाया गया। ऐसा करने वाला प्रदेश में देवास पहला जिला बन गया है। स्मार्ट क्लासेस से प्राथमिक व माध्यमिक स्कूलों में कक्षा पांचवीं-आठवीं का रिजल्ट भी सुधर गया है। फरवरी 2023 में प्रशासन ने जनभागीदारी से ‘मेरा स्कूल स्मार्ट स्कूल’ अभियान की शुरुआत की थी। ग्राम पंचायतों के पंच-सरपंच व सरकारी स्कूलों के शिक्षकों ने राशि एकत्रित कर स्मार्ट क्लासेस बनाना व टीवी लगवाना शुरू किया। देवास कलेक्टर ऋषव गुप्ता बताते हैं कि तत्कालीन डाइट प्राचार्य राजेंद्र सक्सेना ने शिक्षकों की टीम के साथ मिलकर कक्षा, विषय व पाठ्यक्रम के लिए करिकुलम का चयन किया। ऐसा है ई-कंटेंट शिक्षक विषय के पाठ का वाचन करते हैं। उन्हें समझाते हैं और फिर स्मार्ट टीवी पर क्लिक करते ही पाठ खुल जाता है। वीडियो पर पाठ को पढ़ाने के दौरान विद्यार्थियों को विजुअलाइज करके समझाया जाता है। सुनने व देखने से विद्यार्थी तेज गति से समझते हैं।

दैनिक भास्कर 22 Jul 2024 4:51 am

एक गुरु ही हमें गोबिंद से मिलाने का काम करते हैं'

करनाल | गुरु पूर्णिमा पर श्री कृष्ण गऊशाला में हवन किया गया। जेसीआई गोल्ड संस्था के पदाधिकारियों व सदस्यों ने परिवार सहित हवन में आहुतियां डालकर पहली रोटी गाय के नाम अभियान की शुरुआत की। साथ ही गायों की पूजा, सेवा और सहायता के लिए प्रेरित किया गया। संपूर्ण कार्यक्रम श्री कृष्ण गऊशाला के प्रधान सुनील गुप्ता की देखरेख में हुआ। प्रधान सुनील गुप्ता ने कहा कि गुरु पूर्णिमा देश में हर्षोल्लास से मनाई जाती है। यह पावन दिन हम सबको अपने गुरुजनों की पूजा करने का अवसर प्रदान करता है। गुरु के बिना जीवन अधूरा है। एक गुरु ही हमें गोबिंद से मिलाने का काम करते हैं। कार्यकारी अध्यक्ष डॉ. एसके गोयल ने कहा कि स्वामी ज्ञानानंद महाराज के सानिध्य में ही श्री कृष्ण गऊशाला का संचालन किया जा रहा है।

दैनिक भास्कर 22 Jul 2024 4:51 am

गढ़ी भरल में नगर खेड़े पर हवन किया

करनाल | घरौंडा नगर खेड़े सहित गांव गढ़ी भरल और बजीदा में हवन कर भंडारा लगाया गया। विधायक हरविंद्र कल्याण ने श्रद्धालुओं के साथ नगर खेड़े पर मत्था टेका और प्रसाद ग्रहण किया। इस अवसर पर नगरपालिका चेयरमैन हैप्पी गुप्ता, भंवर राणा, अनिल ठकराल, संजय, सरपंच जयराज, रिंकू, मंजू, राजसिंह उपस्थित रहे।

दैनिक भास्कर 22 Jul 2024 4:51 am

श्री कृष्ण कृपा धाम सेक्टर-9 में गुरु पूजा उत्सव श्रद्धा व उल्लास के साथ मनाया

भास्कर न्यूज | करनाल श्री कृष्ण कृपा धाम सेक्टर-9 में गीता मनीषी महामंडलेश्वर स्वामी ज्ञानानंद महाराज के सानिध्य में गुरु पूजा उत्सव श्रद्धा व उल्लास के साथ मनाया गया। स्वामी ज्ञानानंद ने कहा कि देश को इंतजार है कि संसद और विधानसभाओं में वेद व्यास की प्रतिमा स्थापित होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि यह दिन जरूर आएगा। उन्होंने कहा कि हमें अपनी संस्कृति की तरफ लौटना होगा। सनातन संस्कृति को विश्व में गौरवशाली स्थान अवश्य मिलेगा। आज लोगों को आपसी मतभेद भूलकर राष्ट्र को एकजुट रख कर मजबूत करना चाहिए। उन्होंने कहा कि सनातन संस्कृति में वेद व्यास जी का महत्वपूर्ण स्थान हैं। मानसिक दबाव को दूर करने के लिए गीता का पाठ करना अति आवश्यक है। गीता पाठ से व्यक्ति का मनोबल बढ़ता है। उन्होंने कहा कि प्राचीन संस्कृति और देश के सनातन वैभव की जानकारी बच्चोंं को देने के लिए पाठ्यक्रम में बदलाव जरूरी है। स्वामी ने कहा कि देश में एक समान कानून होना चाहिए। गुरु पूजा के महत्व पर प्रकाश डालते हुए महाराज ने कहा कि गुरु परमात्मा से मिलने का एकमात्र रास्ता है। गुुरु के बिना ज्ञान नहीं मिल सकता। संसार का मोह भगवान की ओर नहीं जाने देता। जीवन संसार की मोह माया में उलझा रहता है। कार्यक्रम में पूर्व मेयर रेणु बाला गुप्ता, बृज गुप्ता, तिलक राज अरोड़ा, भाजपा जिला अध्यक्ष योगेंद्र राणा, मुख्यमंत्री के ओएसडी संजय बठला, पूर्व मंत्री शशीपाल मेहता, हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग के सदस्य कपिल अत्रेजा, ओमप्रकाश अरोड़ा, नवीन बत्तरा, शाम बत्तरा, संजय बत्तरा, शाम अरोड़ा, मुलख राज, रमेश गुप्ता, खुर्शीद आलम, मुकेश दुआ, सूरज दुआ, पाररुल वाली, अशोक टुटेजा, पिंकी बत्रा, कर्मचंद खुराना मौजूद रहे।

दैनिक भास्कर 22 Jul 2024 4:51 am

एक सवाल : वेस्ट को खाने के चक्कर में कुत्तों के झुंड गलियों में घूमते रहते हैं, लोग परेशान

भास्कर न्यूज | करनाल शहर के अंदर से स्लाटर हाउस को शिफ्ट करने के लिए काछवा रोड पर पश्चिमी यमुना नहर किनारे स्लाटर हाउस बनाया गया है, फिर भी आवासीय क्षेत्र में स्थापित बकरा मार्केट चल रही है। जहां पर जानवरों को हलाल भी किया जाता है। पहले जब बकरा मार्केट स्थापित हुई थी, तब यह क्षेत्र आवासीय क्षेत्र से हटकर था, लेकिन वर्तमान में यह क्षेत्र आवासीय क्षेत्र के अंतर्गत आ गया है। इसलिए यहां पर बकरा मार्केट लोगों के लिए परेशानी बनने लगती है। सबसे ज्यादा परेशानी यहां पर जानवरों की स्लाटरिंग से है। जबकि नगर निगम की ओर से काछवा रोड पर स्लाटर हाउस बनाया गया है, जहां पर इक्का दुक्का लोग ही जानवरों की स्लाटरिंग के लिए जाते हैं। जबकि मीट के लिए अधिकतर जानवरों की स्लाटरिंग बकरा मार्केट में ही की जा रही है। इस कारण से यहां पर वेस्ट को खाने के चक्कर में कुत्तों के झुंड घूमते रहते हैं। वहीं, नालियों में वेस्ट जाने से क्षेत्र में बदबू रहती है। इससे लोग परेशान हैं। निवर्तमान पार्षद ईश गुलाटी का कहना कि जिस स्थान पर बकरा मार्केट है, वह स्थान अब आवासीय क्षेत्र में आ गया है। यहां पर स्लाटरिंग नहीं होनी चाहिए। स्लाटरिंग के लिए नगर निगम ने काछवा रोड पर स्लाटर हाउस बनाया हुआ है। इसी स्थान पर मीट मार्केट भी तैयार की गई थी। लेकिन यहां पर बनाई गई मीट मार्केट ठप पड़ी हुईं है। लोगों का नगर निगम से सवाल है कि जब मीट मार्केट तैयार की हुई है तो वहां पर बकरा मार्केट की दुकानों को शिफ्ट क्यों नहीं किया जा रहा है। दूसरी ओर हांसी रोड पर नाला चौक पर मीट-मछली मार्केट डेवलप हो गई है। एक तरफ शराब के ठेके खुले हैं और दूसरी तरफ मीट की दुकानें बन गई हैं। इस तरफ भी नगर निगम प्रशासन को ध्यान देना चाहिए।

दैनिक भास्कर 22 Jul 2024 4:51 am

मॉर्निंग न्यूज ब्रीफ:बाइडेन राष्ट्रपति चुनाव नहीं लड़ेंगे; इकोनॉमिक सर्वे आज, बजट कल; केंद्रीय मंत्री बोले- कांवड़ रूट पर पहचान लिखने का फैसला वापस हो

नमस्कार, कल की बड़ी खबर अमेरिका के राष्ट्रपति चुनाव से जुड़ी रही, जो बाइडेन ने डेमोक्रेटिक पार्टी के कैंडिडेट के तौर पर अपनी उम्मीदवारी वापस ले ली है। एक खबर कांवड़ यात्रा को लेकर यूपी सरकार के आदेश से जुड़ी रही, NDA सरकार के मंत्री ने इस आदेश को वापस लेने की बात कही है। लेकिन कल की बड़ी खबरों से पहले आज के प्रमुख इवेंट्स, जिन पर रहेगी नजर... अब कल की बड़ी खबरें... 1. बाइडेन राष्ट्रपति चुनाव नहीं लड़ेंगे, डेमोक्रेटिक पार्टी से कमला हैरिस की उम्मीदवारी का समर्थन किया जो बाइडेन अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव नहीं लड़ेंगे। उन्होंने डेमोक्रेटिक पार्टी के कैंडिडेट के तौर पर अपनी उम्मीदवारी वापस ले ली है। 81 साल के बाइडेन ने एक लेटर में कहा कि उन्होंने देश और पार्टी के हित में ये फैसला लिया है। उन्होंने डेमोक्रेटिक पार्टी के अगले प्रेसिडेंशियल कैंडिडेट के तौर पर उपराष्ट्रपति कमला हैरिस के नाम का समर्थन किया है। दरअसल, अमेरिका में 28 जून को हुई प्रेसिडेंशियल डिबेट के बाद डेमोक्रेटिक पार्टी के नेता मांग कर रहे थे कि वह उम्मीदवारी छोड़ दें। पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा ने भी बाइडेन को प्रेसिडेंशियल रेस से बाहर होने को कहा था। इसके बाद बाइडेन ने कहा था कि अगर डॉक्टर मुझे अनफिट या किसी बीमारी से ग्रसित पाते हैं तो मैं प्रेसिडेंशियल रेस से बाहर हो जाऊंगा। बाइडेन 18 जुलाई को कोरोना पॉजिटिव हुए थे। अमेरिका के इतिहास में पहली बार ऐसा हुआ: अमेरिकी के इतिहास में ऐसा पहली बार है, जब कोई मौजूदा राष्ट्रपति इतनी देर से चुनावी रेस से बाहर हुआ है। कमला हैरिस समेत कई दावेदारों के पास डेमोक्रेटिक नेशनल कन्वेंशन के करीब 4 हजार डेलीगेट्स का समर्थन हासिल करने के लिए कुछ ही हफ्ते होंगे। कन्वेंशन 19 अगस्त से 22 अगस्त तक शिकागो में होना है। माना जा रहा है कि डेमोकेट्रिक पार्टी जल्द ही कमला हैरिस को राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार घोषित कर सकती है।पूरी खबर यहां पढ़ें... 2. सर्वदलीय बैठक में 44 पार्टियां शामिल हुईं, कांग्रेस ने डिप्टी स्पीकर पद की मांग रखीसंसद के मानसून सत्र और बजट से पहले पार्लियामेंट हाउस में ऑल पार्टी मीटिंग हुई। इसमें BJP समेत 44 पार्टियों ने हिस्सा लिया। राजनाथ सिंह की अध्यक्षता में हुई बैठक में कांग्रेस, AAP, AIMIM, YSRCP ने भी हिस्सा लिया। कांग्रेस ने लोकसभा के डिप्टी स्पीकर का पद मांगा है। साथ ही कहा कि NEET मामले में लोकसभा में चर्चा हो। JDU ने बिहार और YSR कांग्रेस ने आंध्र प्रदेश को विशेष दर्जा देने की मांग की है। क्यों बुलाई जाती है सर्वदलीय बैठक: विपक्ष और सरकार के बीच कुछ मुद्दों को लेकर हमेशा टकराव की स्थिति बनी रहती है, इसलिए संसद में हंगामा होता है और सत्र ठीक से नहीं चल पाता। संसद की कार्यवाही में बाधा न पहुंचे और उससे पहले कई मुद्दों पर आम राय बन जाए, इसके लिए संसद सत्र की शुरुआत से पहले सर्वदलीय बैठक बुलाई जाती है। संसद का मानसून सत्र 22 जुलाई से शुरू हो रहा है। यह 12 अगस्त तक चलेगा। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण 23 जुलाई को सदन में बजट पेश करेंगी।पूरी खबर यहां पढ़ें... 3. केंद्रीय राज्य मंत्री जयंत चौधरी बोले- क्या धर्म पूछकर हाथ मिलाएंगे, यूपी सरकार नेमप्लेट वाला फैसला वापस ले RLD चीफ और केंद्रीय राज्य मंत्री जयंत चौधरी ने यूपी में कांवड़ यात्रा मार्ग पर मौजूद दुकानों पर दुकानदारों के नाम लिखवाने के फैसले को वापस लेने की मांग की है। जयंत ने कहा, ‘अब कहां-कहां लिखें, अपना नाम। क्या अपने कुर्ते पर भी लिख लें कि नाम देखकर हाथ मिलाओगे मुझसे। मैकडॉनल्ड्स और हमारे यहां खतौली में बर्गर किंग है, अब ये लोग क्या नाम लिखेंगे। बहुत से ब्रांड हैं और बड़ी कंपनियां हैं, जो इस नाम से संचालित होती हैं, क्या अब कुर्ते पर भी नाम लिखवाया जाएगा।’ किस आदेश पर विवाद है: दरअसल, यूपी सरकार ने 19 जुलाई को आदेश दिया था कि कांवड़ यात्रा के रूट की दुकानों, होटलों और ढाबों में मालिक अपना और स्टाफ का नाम लिखवाएं, ताकि कांवड़ियों में कन्फ्यूजन न हो। सरकार का कहना है कि कांवड़ यात्रियों की शुचिता बनाए रखने के लिए यह फैसला लिया है। इसके अलावा, हलाल सर्टिफिकेशन वाले प्रोडक्ट बेचने वालों पर भी कार्रवाई होगी।पूरी खबर यहां पढ़ें... 4. हरियाणा के नूंह में बृजमंडल यात्रा से पहले मोबाइल इंटरनेट बंद, पैरामिलिट्री तैनात हरियाणा के नूंह में सोमवार को बृजमंडल यात्रा निकाली जाएगी। प्रशासन ने रविवार शाम 6 बजे से सोमवार शाम 6 बजे तक 24 घंटे के लिए मोबाइल इंटरनेट बंद कर दिया गया है। एक साथ बहुत सारे यानी बल्क SMS भेजने पर भी रोक लगाई गई है। डोंगल इंटरनेट भी नहीं चलेगा। सुरक्षा के लिहाज से पुलिस के साथ पैरामिलिट्री फोर्स और कमांडोज भी तैनात किए गए हैं। इंटरनेट बैन क्यों लगाया गया: पिछले साल नूंह में ही बृजमंडल यात्रा के दौरान जमकर हिंसा हुई थी। जिसमें 7 लोगों की मौत हुई और 150 से ज्यादा गाड़ियां फूंक दी गई थी। इस बार ऐसी घटना न हो, इसके लिए सरकार और प्रशासन ने पुख्ता बंदोबस्त किए हैं। प्रशासन और बृजमंडल शोभा यात्रा कमेटी मिलकर यात्रा निकालेंगे। इसमें किसी को भी हथियार, यहां तक कि डंडे लाने की परमिशन भी नहीं होगी।पूरी खबर यहां पढ़ें... 5. विमेंस एशिया कप में भारत की लगातार दूसरी जीत, UAE को 78 रन से हराया डिफेंडिंग चैंपियन भारत ने विमेंस एशिया कप में लगातार दूसरी जीत हासिल की। टीम ने UAE को 78 रन से हराया। इस जीत से भारतीय टीम ने सेमीफाइनल की दावेदारी मजबूत कर ली है। टीम इंडिया का अगला मैच 23 जुलाई को नेपाल से होगा। टीम इंडिया ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 201 रन बनाए। जवाबी पारी में UAE की टीम 20 ओवर में 7 विकेट पर 123 रन ही बना सकी। मैच के हाईलाइट्स: भारतीय टीम की कप्तान हरमनप्रीत कौर ने 66 रन और रिचा घोष ने 64 रन बनाए। दीप्ति ने अपने कोटे के चार ओवर में 23 रन देकर 2 विकेट लिए। विकेटकीपर बैटर रिचा घोष प्लेयर ऑफ द मैच चुनी गईं। उन्होंने नाबाद 64 रन की पारी खेली, फिर UAE की कप्तान ईशा ओझा को स्टंप किया। UAE की कविशा एगोडागे ने 2 विकेट लिए। साथ ही 32 बॉल पर नाबाद 40 रन की पारी खेली।पूरी खबर यहां पढ़ें... 6. केरल में निपाह वायरस से संक्रमित 14 साल के लड़के की मौत, एंटीबॉडी देने में देर हुई थीकेरल के मलप्पुरम में निपाह वायरस से पीड़ित 14 साल के लड़के की मौत हो गई। पीड़ित को दिल का दौरा पड़ने के बाद वेंटिलेटर सपोर्ट पर रखा गया था, लेकिन उसकी मौत हो गई। केरल की हेल्थ मिनिस्टर वीना जॉर्ज ने बताया कि संक्रमित लड़के को ऑस्ट्रेलिया से मिली मोनोक्लोनल एंटीबॉडी दी गई थी। प्रोटोकॉल के मुताबिक संक्रमित होने के 5 दिन के अंदर इसे दिया जाता है। इस मामले में संक्रमित लड़के को एंटीबॉडी देने में देर हो गई थी। निपाह के लिए कोई वैक्सीन नहीं: 2018 के बाद से 5वीं बार केरल में निपाह का संक्रमण फैला है। इसके बाद 2019, 2021 और 2023 में भी इसके केस मिले थे। इसके लिए अभी तक कोई वैक्सीन नहीं बनी है। निपाह संक्रमित चमगादड़ों, सूअरों या लोगों के शरीर से निकले लिक्विड के संपर्क में आने से फैलता है। निपाह से संक्रमित लोगों में से 75% मामलों में संक्रमित व्यक्ति की मौत हो जाती है।पूरी खबर यहां पढ़ें... 7. MP में दो महिलाओं को जिंदा गाड़ने की कोशिश, पुलिस बोली- दोनों पर मुरम पलट दी गई मध्यप्रदेश के रीवा में जमीन के झगड़े में एक पक्ष के लोगों ने दूसरे पक्ष की दो महिलाओं को जिंदा गाड़ने की कोशिश की। आरोपियों ने डंपर से महिलाओं पर मुरम डाल दी। इससे एक महिला कमर तक और दूसरी गले तक मुरम के ढेर में दब गई। बाद में फावड़े से मुरम हटाकर दोनों को बाहर निकाला गया। एक महिला बेहोश हो गई। पुलिस के मुताबिक, महिलाएं विरोध कर रही थीं। डंपर से मुरम पलट दी, जिसमें दो महिलाएं दब गईं। रास्ता बनाने को लेकर झगड़ा था: दोनों पक्षों के बीच जमीन पर रास्ता बनाने को लेकर विवाद है। दोनों के घर आसपास हैं। एक पक्ष ने रास्ता बनाने का प्रयास किया। इसके लिए हाईवा में मुरम भरकर लाई गई थी। दो महिलाओं ने जब रास्ता बनाने का विरोध किया तो ड्राइवर ने तेजी से मुरम पलट दी।खबर यहां पढ़ें... 8. बांग्लादेश के सुप्रीम कोर्ट ने आरक्षण बढ़ाने का फैसला पलटा, रिजर्वेशन 56% से घटाकर 7% कीबांग्लादेश के सुप्रीम कोर्ट ने सरकारी नौकरियों में 56% आरक्षण देने के ढाका हाईकोर्ट के फैसले को पलट दिया है। कोर्ट ने आरक्षण को 56% से घटाकर 7% कर दिया। इसमें से स्वतंत्रता सेनानियों के परिवार वालों को 5% आरक्षण मिलेगा जो पहले 30% था। बाकी 2% में एथनिक माइनॉरिटी, ट्रांसजेंडर और दिव्यांग शामिल होंगे। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि 93% नौकरियां मेरिट के आधार पर मिलेंगी। हिंसक प्रदर्शन में 115 लोगों की मौत हुई: बांग्लादेश सरकार ने 2018 में अलग-अलग कैटेगरी को मिलने वाला 56% आरक्षण खत्म कर दिया था, लेकिन 5 जून 2024 को वहां की हाईकोर्ट ने सरकार के फैसले को पलटते हुए दोबारा आरक्षण लागू कर दिया। इसके विरोध में 1 जुलाई को आंदोलन शुरू हुआ, जो 15 जुलाई को हिंसक हो गया। इस हिंसा में 115 लोग मारे जा चुके हैं।पूरी खबर यहां पढ़ें... आज का कार्टून By मंसूर नकवी... कुछ अहम खबरें हेडलाइन में… अब खबर हटके... डॉक्टर्स ने लड़की के सिर से 77 सुईयां निकालीं, तांत्रिक ने चुभोईं थीं ओडिशा में 19 साल की लड़की के सिर से डॉक्टर्स ने 77 सुईयां निकाली हैं। मामला संभलपुर का है। मां की मौत के बाद से अक्सर बीमार रहने वाली लड़की ने 2021 में एक तांत्रिक से मदद मांगी थी। तांत्रिक ने जादू-टोने के लिए लड़की सिर में सुईयां चुभाईं। परिवार को इसकी जानकारी तब मिली, जब लड़की ने सिर दर्द की शिकायत की। पुलिस ने तांत्रिक को गिरफ्तार कर लिया है। भास्कर की एक्सक्लूसिव स्टोरीज, जो सबसे ज्यादा पढ़ी गईं… आपका दिन शुभ हो, पढ़ते रहिए दैनिक भास्कर ऐप… मॉर्निंग न्यूज ब्रीफ को और बेहतर बनाने के लिए हमें आपका फीडबैक चाहिए। इसके लिए यहां क्लिक करें...

दैनिक भास्कर 22 Jul 2024 4:50 am

अंतिम आदेश जारी करने की मांग:भोजशाला की सर्वे रिपोर्ट पर 30 को सुनवाई करेगा सुप्रीम कोर्ट

भोजशाला की सर्वे रिपोर्ट हाई कोर्ट में प्रस्तुत किए जाने के बाद हिंदू फ्रंट फॉर जस्टिस ने सुप्रीम कोर्ट में अंतरिम आवेदन पेश कर दिया है। इसमें मांग की है कि सुप्रीम कोर्ट सुनवाई कर अंतिम आदेश जारी करे। सुप्रीम कोर्ट ने सर्वे को जारी रखने के आदेश दिए थे, लेकिन सर्वे रिपोर्ट आने के बाद किसी तरह का फैसला नहीं लेने की बात कही थी। 30 जुलाई को सुप्रीम कोर्ट इस मामले की सुनवाई करेगा। हिंदू फ्रंट फॉर जस्टिस के अधिवक्ता विष्णुशंकर जैन, विनय जोशी ने सुप्रीम कोर्ट में दायर अर्जी में उल्लेख किया है कि आर्कियोलॉजी सर्वे ऑफ इंडिया ने 98 दिन सर्वे करने के बाद रिपोर्ट पेश कर दी है। सुप्रीम कोर्ट में सर्वे को रोके जाने को लेकर जो अर्जी दायर की गई थी, उसकी अंतिम सुनवाई कर निर्णय पारित किया जाए। हाई कोर्ट में आज सुनवाई इधर, हाई कोर्ट में सर्वे पेश हो जाने के बाद सोमवार को सुनवाई होगी। एएसआई की ओर से 15 जुलाई को रिपोर्ट पेश कर दी गई थी। वहीं जैन समाज ने भी भोजशाला पर दावा किया है। भोजशाला में कालांतर में जैन गुरुकुल होने की बात याचिका में कही गई थी। एएसआई की रिपोर्ट याचिकाकर्ताओं को भी सौंपी जाएगी।

दैनिक भास्कर 22 Jul 2024 4:49 am

समस्याओं की बारिश...:शहर की 300 कॉलोनियों में हर बार जलभराव की 1000 शिकायतें, पर निगम 15 साल में भी नहीं ढूंढ पाया समाधान

रहवासियों की शिकायतें इधर से उधर होती रहती हैं ट्रांसफर नगर निगम की नजरअंदाजी का खामियाजा काॅलोनियों में रहने वाले लोगों को उठाना पड़ रहा है। शहर में 300 से ज्यादा कॉलोनियां ऐसी हैं, जहां 15 सालों से मानसून में जलभराव हो रहा है। मानसून के आगाज से लेकर सितंबर के अंत तक सामान्य बारिश होने पर नगर निगम में 1000 से ज्यादा शिकायतें पहुंचती हैं। वहीं, ज्यादा बारिश होने पर यह आंकड़ा बढ़कर कई गुना हो जाता है। लेकिन समस्या है कि इसका कोई हल नहीं। यहां के रहवासियों ने बताया कि सीएम हेल्पलाइन में जब भी जलभराव से संबंधित कोई शिकायत की गई तो इसे नगर निगम में ट्रांसफर कर दिया जाता है। नगर निगम कर्मचारी टेंपरेरी काम करके चले जाते हैं। इसके बाद सीएम हेल्पलाइन से शिकायतों को बंद कर दिया जाता है। जलभराव की समस्या को लेकर जनप्रतिनिधि, पार्षद, नगर निगम और सीएम हेल्पलाइन तक में शिकायत करते हैं, लेकिन सुधार देखने को नहीं मिलता है। राजहर्ष कॉलोनी, कोलार : शिकायत पर सुनवाई नहींकोलार के ललिता नगर स्थित राजहर्ष कॉलोनी में पिछले 4 साल से बरसात में जलभराव हो रहा है। यहां के रहवासियों का कहना है कि नगर निगम से लेकर सीएम हेल्पलाइन तक में शिकायत कर चुके हैं। समस्या दूर करने की बजाय सीएम हेल्पलाइन की शिकायत नगर निगम को ट्रांसफर कर दी जाती है। इसके बाद नगर निगम के कर्मचारी सिर्फ गड्ढों में गिट्टी डालकर चले जाते हैं। जलभराव को रोकने के लिए कोई ठोस सुधार नहीं किया जाता है और सीएम हेल्पलाइन से शिकायत बंद कर दी जाती है। नालियों की सफाई समेत ड्रेनेज की व्यवस्था नहीं की जाती। नतीजतन बारिश में परेशान होना पड़ता है। विश्वकर्मा नगर में नालियां चोक, सफाई नहीं होतीविश्वकर्मा नगर फेस-2 में पारस मंदिर के पास हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी में पिछले 8 सालों से जलभराव हो रहा है। कॉलोनी वालों का कहना है कि हल्की सी बारिश में पूरी कॉलोनी में पानी भर जाता है। बारिश का यह पानी घरों में भी भरता है। सड़कें खराब हो रही हैं। नगर निगम में शिकायत करने के बाद उनकी तरफ से कोई कार्रवाई नहीं की जाती है। कॉलोनी की नालियां चोक होने से जलभराव की दिक्कत आ रही है। इसके अलावा नालियां खुली होने से सांप भी बड़ी संख्या में निकल रहे हैं। जरा सी बारिश में अवधपुरी की युगांतर कॉलोनी के घरों में घुस जाता है पानी अवधपुरी में विद्यासागर स्थित युगांतर कॉलोनी में हल्की बारिश में ही जलभराव हो जाता है। यहां करीब 250 मकान हैं। यहां के रहवासी अजय कुमार ने बताया कि पिछले 15 साल से हर बरसात में ऐसा ही जलभराव होता है। पानी घरों में भर जाता है। नालियां चोक होने के कारण बारिश का पानी बाहर नहीं निकल पाता है। बरसात में 2 से 3 महीने तक पूरी कॉलोनी में जलभराव रहता है। इसे लेकर नगर निगम में कई बार शिकायत कर चुके हैं। लेकिन, कभी कोई सुधार नहीं हुआ है। समाधान - छोटी नालियों से लेकर नाले तक की पूरी सफाई हो^शहर में होने वाले जलभराव का सबसे बड़ा कारण पानी की सही निकासी नहीं होना है। इसके लिए नालों से लेकर छोटी नालियों की पूरी तरह सफाई होना जरूरी है। नालियों के चोक होने का एक बड़ा कारण पन्नी (पॉलीथीन) हैं। यही पन्नियां कचरे के साथ नालों में जाती हैं और नालों को चोक कर देती हैं। इन पर प्रतिबंध होने के बाद भी इनके इस्तेमाल में कमी नहीं आई है। पन्नी के इस्तेमाल पर जल्द से जल्द रोक लगनी चाहिए, जिससे नालों के चोक होने के मामलों में भी कमी आएगी। कॉलोनी और अन्य सड़कों का निर्माण पानी की निकासी को ध्यान में रखते हुए करना चाहिए। इसके अलावा नगर निगम अमले को बरसात के मौसम में तैनात रहना चाहिए और उसकी संख्या में बढ़ोतरी होनी चाहिए। इससे एक समय में कई जगहों की जलभराव की समस्या का समाधान किया जा सके।आरबी राय, रिटायर्ड एक्जीक्यूटिव इंजीनियर, पीएचई

दैनिक भास्कर 22 Jul 2024 4:45 am

नीति आयोग की रिपोर्ट...:शहरी विकास, सस्ती ऊर्जा और साफ जल देने में मप्र बेहतर, शिक्षा और लैंगिक समानता में औसत

आर्थिक विकास और गरीबी हटाने की योजनाओं में भी मध्यप्रदेश का प्रदर्शन अच्छा हाल ही में जारी की गई नीति आयोग की सस्टेनेबल डेवलपमेंट रिपोर्ट में मप्र शहरी विकास, स्वच्छ ऊर्जा और साफ जल उपलब्ध कराने जैसे क्षेत्रों में बेहतर रहा है। ये रिपोर्ट देश के अलग-अलग राज्यों में हो रही प्रगति के आधार पर जारी की गई है। वहीं प्रदेश अच्छी शिक्षा, लैंगिक समानता और जलवायु परिवर्तन के मामले में औसत प्रदर्शन ही कर सका है। साल 2020-21 में मप्र 62 अंकों के साथ परफॉर्मर राज्यों की श्रेणी में शामिल था। जबकि 2023-24 की रिपोर्ट में अब प्रदेश फ्रंट रनर राज्य बन गया है। मप्र ने 100 में से 67 अंक हासिल किए हैं। रिपोर्ट की मानें तो मप्र शहरी-सामुदायिक विकास, जिम्मेदारी के साथ उत्पादन, न्यायिक संस्थानों की स्थापना, जनता को स्वच्छ ऊर्जा और साफ पीने का पानी देने में अच्छा प्रदर्शन कर रहा है। इसी तरह आर्थिक विकास की योजनाओं को लागू करने में भी प्रदेश का प्रदर्शन अच्छा रहा है। गरीबी हटाने से संबंधित योजनाओं के क्रियान्वयन में भी राज्य का प्रदर्शन अच्छा माना गया है। प्रदेश ने 1.36 करोड़ व्यक्तियों को बीते सालों में गरीबी से बाहर निकाला है। स्वास्थ्य सुविधाओं में सुधार, संस्थागत प्रसव 98% तकनीति आयोग की रिपोर्ट के मुताबिक प्रदेश में स्वास्थ्य सुविधाओं में लगातार सुधार हो रहा है। प्रदेश में कुल पैदा होने वाले बच्चों में अस्पतालों में पैदा होने वाले बच्चों का प्रतिशत 98.48 हो चुका है। 9 से 11 महीने के आयु समूह में 93.19 प्रतिशत बच्चों का पूरी तरह टीकाकरण हो चुका है। इसी तरह महिला और पुरुषों की जनसंख्या का अनुपात 950 से बढ़कर अब 956 हो चुका है। इन बिंदुओं पर पिछड़ेहालांकि रिपोर्ट में बताया गया है कि कई ऐसे क्षेत्र हैं जिनमें मध्यप्रदेश अभी भी औसत दर्जे से नीचे है। इनमें भुखमरी हटाने के उपाय, अच्छी शिक्षा देने की योजनाओं का क्रियान्वयन, महिला पुरुषों में समानता लाने की योजनाएं शामिल हैं।

दैनिक भास्कर 22 Jul 2024 4:42 am

पुलिस महानिदेशक और सेशन जज को किया सम्मानित

करनाल | स्थानीय बैंक्वेट हाल में अखिल भारतीय रोड़ महासभा के तत्वावधान में आयोजित सम्मान समारोह में रोड़ समाज के विभिन्न सामाजिक संगठनों ने हरियाणा पुलिस महानिदेशक (आईजी) अशोक कुमार चौहान, हापुड़ के जिला एवं सत्र न्यायधीश मलखान सिंह, अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश संदीप चौहान, जिला उपभोक्ता आयोग सोनीपत के अध्यक्ष विजय सिंह को सम्मानित किया। घरौंडा के विधायक हरविंद्र सिंह कल्याण, पूंडरी के विधायक रणधीर सिंह गोलन, भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष वेदपाल, चेयरमैन धर्मवीर मिर्जापुर, पूर्व विधायक मक्खन सिंह, महासभा के पूर्व प्रधान नसीब सिंह, जिला बार एसोसिएशन के अध्यक्ष संदीप स्टौंडी एवं वरिष्ठ एडवोकेट चौधरी शक्ति सिंह, कन्या गुरुकुल अंजनथली के प्रधान ऋषि पाल, रोड़ एम्पलाइज एसोसिएशन के प्रधान सूरजभान, कोट मोहल्ला के प्रधान राजबीर चौहान, रामकिशन, प्रोफेसर भाग सिंह आर्य ने अतिथियों का स्वागत करते हुए कहा कि उन्होंने अपने समाज और प्रदेश का नाम रोशन किया है। ये युवाओं के लिए प्रेरणा के स्रोत हैं। पूरे रोड़ समाज को उन पर गर्व है। समाज की उन्नति एवं विकास के लिए सभी को एकजुट होकर काम करना चाहिए। इस अवसर पर हरियाणा, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, चंडीगढ़ व दिल्ली से रोड़ समाज के लोग मौजूद रहे।

दैनिक भास्कर 22 Jul 2024 4:39 am

कई बार पत्र लिखे, नहीं मिल सकी जगह:टीएंडसीपी; 5 जिलों में खुलने थे ऑफिस, सिर्फ धार में खुल पाया

टाउन एंड कंट्री प्लानिंग संचालनालय द्वारा दो साल पहले 5 जिलों में नए कार्यालय खोलने की प्लानिंग की गई थी। हालांकि सिर्फ धार जिले में ही कार्यालय खुल पाया है। धार के अलावा टीएंडसीपी ने टीकमगढ़, सीहोर, मुरैना और बालाघाट में जिला कार्यालय खोलने की कवायद दो साल पहले शुरू की थी। सभी जिलों में कलेक्टरों को पत्र लिखकर कार्यालय के लिए जगह देने की सिफारिश की गई थी। सिर्फ धार में जिला प्रशासन ने कार्यालय के लिए जगह दी और वहां कार्यालय डेढ़ साल पहले शुरू कर दिया गया है। 4 अन्य जिलों में जगह न मिलने से कार्यालय नहीं खुल सके हैं। टीएंडसीपी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि धार के अलावा वर्तमान में कुल 35 जिला कार्यालय काम कर रहे हैं। संचालनालय की योजना है कि सभी जिलों में एक-एक कार्यालय खोल दिया जाए। अधिकारी ने कहा कि धार के अलावा बचे हुए 4 जिलों के लिए जिलों को लगातार पत्र लिखे जा रहे हैं। हालांकि उन्होंने ये भी स्वीकार किया कि टीएंडसीपी में अधिकारियों की कमी है। वर्तमान में जबलपुर, उज्जैन आदि के प्रभारी अधिकारी संचालनालय भोपाल में पदस्थ हैं। अभी भोपाल -इंदौर के मास्टर प्लान बनाने की प्रक्रिया चल रही है। जिलों में ऑफिस से फायदेजिलों में टीएंडसीपी कार्यालय होने से कॉलोनी सहित अन्य निर्माण की अनुमति के लिए संभागीय कार्यालय के चक्कर नहीं काटने पड़ेंगे। इससे समय की बचत भी होगी और कार्य का फीडबैक भी लिया जा सकेगा।

दैनिक भास्कर 22 Jul 2024 4:39 am

मवेशी तस्करी के आरोप में पिटाई के मामले में केस दर्ज

जमशेदपुर| गोविंदपुर थाना क्षेत्र के घोड़ाबांधा थीम पार्क में मवेशी तस्करी के आरोप में दो युवकों की पिटाई मामले में अज्ञात 8-10 लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। टेल्को बारीनगर निवासी मो. गुलफ़ाम ने यह केस दर्ज कराया है। जानकारी हो कि शनिवार की दोपहर थीम पार्क में मवेशी तस्करी के आरोप में कुछ लोगों ने मो. गुलफ़ाम और उसके एक साथी की लाठी-डंडे से जमकर पिटाई की थी।

दैनिक भास्कर 22 Jul 2024 4:39 am

आगाज के सदस्यों ने चंद्रकोणा गुरुद्वारा में मत्था टेका

जमशेदपुर | गुरु पूर्णिमा पर प. बंगाल के चंद्रकोना गुरुद्वारा साहिब में आगाज संस्था के सदस्यों ने पवित्र सरोवर में स्नान कर मत्था टेक आशीर्वाद लिया। इस दौरान गुरुद्वारा साहिब में सरबत का भला के लिए अरदास की गई। मौके पर इंदरजीत सिंह, मलविंदर सिंह, राजदीप सिंह, गुरबचन सिंह राजू, अवतार सिंह, गुरदयाल सिंह, अभय मोहंती, रोहित कुमार, गुरप्रीत सिंह, रंजीत सिंह व सनी सिंह मौजूद थे।

दैनिक भास्कर 22 Jul 2024 4:39 am

पुरानी सब्जी मंडी रोड पर की स्ट्रीट लाइट लगाने की मांग, रात को छा जाता है अंधेरा

भास्कर न्यूज | करनाल पुरानी सब्जीमंडी रोड पर स्ट्रीट लाइटें लगवाने की मांग की है। इनके न होने के कारण यहां पर रात को अंधेरा छा जाता है। इससे खास तौर पर पैदल चलने वाले राहगीरों को परेशानी का सामना करना पड़ता है। यह समस्या पिछले एक महीने से है। लेकिन नगर निगम प्रशासन का इस तरफ कोई ध्यान नहीं है। व्यापारियों का कहना है कि इस सड़क पर तुरंत स्ट्रीट लाइट की व्यवस्था की जानी चाहिए। यह बाजार के निकट का मुख्य मार्ग है, जहां से हर दिन हजारों की संख्या में वाहनों का आवागमन रहता है। पास में ही रणबीर हुड्‌डा पार्क है, जहां पर हर रोज कई मजदूर इकट्‌ठा होते हैं। इस कारण से इस सड़क से काफी संख्या में पैदल लोगों का आवागमन रहता है। दूसरा पास में ही आगे-पीछे सब्जी मंडी लगती हैं। इस वजह से देर तक लोग फल सब्जियों की खरीदारी करके इस सड़क से आवागमन करते हैं। व्यापार मंडल के अध्यक्ष कृष्ण लाल तनेजा व प्रमोद गुप्ता ने जल्द यहां पर स्ट्रीट लाइटें लगाई जाएं, ताकि सड़क पर अंधकार न रहे। क्या आपके आसपास सड़कें खोदकर छोड़ दी गई हैं? नाले खुले हैं? आबादी में कचरा डंप होता है? स्ट्रीट लाइट नहीं जलतीं? अतिक्रमण हैं? नशेड़ियों- अपराधियों का जमावड़ा है? तो भास्कर को व्हाट्सएप 96717 16541-96 71716539 या ईमेल आईडी karnalbhask r@gmail.com पर बताएं। हम आपकी समस्या सिस्टम तक पहुंचाएंगे और उसे दुरुस्त कराएंगे।

दैनिक भास्कर 22 Jul 2024 4:39 am

महिलाओं को जल्द ही नाइट शिफ्ट में मिलेगा काम, फैक्ट्री एक्ट में बदलाव का ड्राफ्ट तैयार

कंपनियां, श्रम विभाग, ट्रेड यूनियनों व महिला श्रम संगठन से हो चुकी है रायशुमारी झारखंड की महिलाओं को औद्योगिक इकाइयों और मैन्युफैक्चरिंग कंपनियों में नाइट ड्यूटी करने का अवसर जल्द मिलने वाला है। श्रम, नियोजन, कौशल व प्रशिक्षण विभाग ने महिलाओं को राज्य की बड़ी कंपनियों में पुरुषों की तरह नाइट शिफ्ट में काम करने का मौका देने के लिए मसौदा तैयार किया है। इस मसौदे के आधार पर औद्योगिक इकाइयों और कंपनियों पर लागू होने वाले फैक्ट्री एक्ट में बदलाव किया जा सकता है। जानकारी के मुताबिक, श्रम विभाग ने मैन्युफैक्चरिंग कंपनियों, ट्रेड यूनियनों, महिला संगठनों, श्रम कानूनों के जानकारों के साथ रायशुमारी के बाद 2023 में मसौदा तैयार किया था। अब इस मसौदे को कुछ संशोधनों के साथ दोबारा झारखंड कैबिनेट को भेजा जाएगा। देश में अभी हिमाचल प्रदेश, ओडिशा, आंध्र प्रदेश व उत्तर प्रदेश सरकार ने हाल में कारखाना अधिनियम, 1948 की धारा 66(1)(बी) के आवेदन से कारखानों को छूट देने की शर्तों को अधिसूचित किया है। राज्यपाल से अनुमोदन के बाद राष्ट्रपति के पास भेजा जाएगा इन बिंदुओं पर खास फोकस झारखंड की महिलाएं काम करने के मामले में देश में तीसरे स्थान पर झारखंड में लगभग 36.4% महिलाएं कहीं न कहीं काम कर रही हैं। इस मामले में राज्य की महिलाएं देश में तीसरे स्थान पर हैं। देश में सबसे अधिक 51% महिलाएं हिमाचल प्रदेश में और 44.9% महिलाएं गोवा में कामकाज करती हैं। यह आंकड़ा केन्द्रीय रोजगार एवं श्रम मंत्रालय की ओर से संसद में पूछे गए सवाल के जवाब में दिया गया है। नियम बदलने से इन कंपनियों में मिल सकता है काम का मौका: टाटा स्टील, टाटा मोटर्स, तार कंपनी, टिनप्लेट, आदित्यपुर औद्योगिक क्षेत्र की इकाइयां। 2023 में भेजा गया था प्रस्ताव, पर गृह मंत्रालय ने लौटा दिया था फैक्ट्री एक्ट में महिलाओं के नाइट शिफ्ट के प्रस्ताव को स्टेट कैबिनेट व राज्यपाल से अनुमोदित कराकर गृह मंत्रालय को भेजा गया था। फरवरी में गृह मंत्रालय ने इस मसौदे पर आपत्ति की थी। कहा- फैक्ट्री एक्ट (कारखाना अधिनियम) 1948, सेक्शन (खंड) 66(1)(बी) के अनुसार किसी भी महिला से किसी कारखाने में सुबह 6 बजे से शाम 7 बजे के बीच ही काम लेने की अनुमति है। इसलिए नाइट शिफ्ट में महिलाओं से उनकी अनुमति के बिना काम नहीं लेने का नियम जुड़ना चाहिए। इसके बाद पुन: इस नियम और सुरक्षा के बिंदुओं को जोड़कर मसौदा तैयार किया गया है।

दैनिक भास्कर 22 Jul 2024 4:39 am

जमशेदपुर कार्निवाल इंटरनेशनल ट्रेड फेयर 2024 का ब्रोशर लांच

जमशेदपुर । जयपाल सिंह मुंडा विकास समिति एवं ऐएन रैंकिंग्स द्वारा संयुक्त रूप से आयोजित जमशेदपुर कार्निवाल इंटरनेशनल ट्रेड फेयर 2024 का ब्रोशर होटल अलकोर में लांच किया गया। मौके पर कोल्हान के पूर्व डीआईजी राजीव रंजन सिंह, मनोज सिंह खादी ग्राम उद्योग सदस्य, बबुआ सिंह उपाध्यक्ष, राजा सिंह निदेशक नेशनल इलेक्ट्रॉनिक्स, सुंदर सिंह चेयरमैन आस्था प्रमोटर्स एंड डेवेलपर्स, मिराज जी बाबा फर्नीचर के निर्देशक, समाजसेवी सह उधोगपति श्रवण दास व भाजपा जिला कार्यसमिति सदस्य सुनिल सिंह मौजूद थे। 20 सितंबर से 30 सितंबर 2024 तक स्थानीय गोपाल मैदान, बिष्टुपुर में ट्रेड फेयर होने जा रहा है। जमशेदपुर कार्निवाल इंटरनेशनल ट्रेड फेयर 2024 में एक ही छत के नीचे 4 प्रकार के अलग-अलग उत्पादों के स्टॉल लगेंगे जिसमें प्रॉपर्टी एक्सपो, ऑटोमोबाइल एक्सपो, इलेक्ट्रॉनिक एक्सपो, फर्नीचर एक्सपो आदि मुख्य रूप से उपलब्ध होंगे। जयपाल सिंह मुंडा विकास समिति के निदेशक हरी राम टुडू एवं ऐएन रैंकिंग्स के संचालक ने कहा कि ट्रेड फेयर का मुख्य उद्देश्य व्यापार नेटवर्किंग, व्यापार प्रचार एवं कुटीर उद्योग से संबंधित अनुभवी एवं दक्ष कारीगरों को एक बेहतर प्लेटफॉर्म उपलब्ध कराना है।

दैनिक भास्कर 22 Jul 2024 4:39 am

पार्क में नहीं खेलने देने पर अभिभावकों में रोष

करनाल| नगर निगम की ओर से शहर के पार्कों को आमजन के लिए करोड़ों रुपए खर्च करके सुंदर बना रही है। वहीं कुछ बच्चों को पार्क में जाने से रोका जा रहा है। यह मामला सेक्टर-13 पार्क नंबर-2 का है, जहां शाम के समय दो प्रवासी बच्चों को पार्क में जाने से सिक्योरिटी गार्ड ने रोक दिया। गरीब बच्चों के अभिभावक कपिल, नागेश, संतोष, मनोहर, काशी ने समाजसेवी इंद्रजीत धमीजा को शिकायत दी और बच्चों को रोकने वालों के खिलाफ प्रशासन से एफआईआर दर्ज करवाने की मांग की। वहीं, जब उन्होंने खुद पार्क एसोसिएशन के सदस्यों से बात की तो उन्होंने सफाई की बात कही और कहा कि ये बच्चे पार्क में क्यों खेलेंगे। पार्क के गार्ड से बात की तो उसने कहा कि एसोसिएशन ने मना किया हुआ है। बच्चों के अभिभावकों में भी रोष है। नगर निगम के अतिरिक्त निगम आयुक्त धीरज कुमार ने बताया सेक्टर-13 पार्क में अगर इस तरह की घटना हुई है यह गलत है, इसकी जांच करवाई जाएगी।

दैनिक भास्कर 22 Jul 2024 4:39 am

तकनीकी कारणों से नहीं हो पाया समाज का निबंधन

राष्ट्रीय सूढ़ी समाज की बैठक रविवार को हाता में सुबोध चंद्र मंडल की अध्यक्षता में आयोजित हुई। बैठक में राष्ट्रीय सूढ़ी समाज के झारखण्ड प्रदेश अध्यक्ष सनत मंडल ने कहा- राष्ट्रीय सूढ़ी समाज का गठन 27 सितंबर 2019 को हुआ है। तकनीकी कारणों से समाज का निबंधन नहीं हो पाया है। निबंधन की प्रक्रिया चल रही है। राष्ट्रीय सूढ़ी समाज के बैनर तले झारखंड के विभिन्न जिलों के अलावा आठ राज्यों में कार्यक्रम चल रहे हैं। पिछले दिनों जमशेदपुर रीगल मैदान और पोटका में विशाल महासम्मेलन का आयोजन हुआ था। जिसमें 7000 से अधिक समाज के सदस्य शामिल हुए थे। उन्होंने कहा- विभिन्न राज्यों में आयोजित सामाजिक, धार्मिक एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम में राष्ट्रीय सूढ़ी समाज बढ़-चढ़ कर हिस्सा लेता है। लेकिन कुछ साथी राष्ट्रीय सूढ़ी समाज के नाम से एक ट्रस्ट बनाकर स्वयं को असली एवं दूसरे को नकली बता रहे हैं। अगर उनको समाज का ही काम करना है तो दूसरे नाम से भी रजिस्ट्रेशन कर सकते थे।

दैनिक भास्कर 22 Jul 2024 4:39 am

हरियाणा विद्यालय अध्यापक संघ के आंदोलन में लेंगे हिस्सा

करनाल | शिक्षक तबादला संघर्ष समिति के पदाधिकारियों ने कहा कि प्रदेशभर के हजारों शिक्षक ट्रांसफर का इंतजार कर रहे हैं। तबादला संघर्ष समिति के राज्य प्रधान कृष्ण कुमार बैठक को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि सरकार और विभाग ऑनलाइन ट्रांसफर पॉलिसी के जो बड़े-बड़े विज्ञापन देती है। मगर सरकार अपनी इस ड्रीम पॉलिसी की रक्षा नहीं कर पा रही है, क्योंकि प्रदेशभर के हजारों शिक्षक तबादलों की बाट जोह रहे हैं। उन्होंने मांग की कि यदि सरकार ट्रांसफर ड्राइव नहीं चलाना चाहती तो एक दिन के लिए एडजस्टमेंट ड्राइव ही चलाकर हजारों शिक्षकों की समस्या का समाधान कर सकती हैं। शिक्षक तबादला संघर्ष समिति ने यह भी निर्णय लिया कि हरियाणा विद्यालय अध्यापक संघ द्वारा आगामी 31 जुलाई को किए जा रहे सीएम आवास के घेराव का समर्थन करती है और इस आंदोलन में हिस्सा लेगी। इस अवसर पर डॉक्टर करनैल सिंह, डॉक्टर प्रदीप कुमार, ईश्वर सिंह, कुलदीप कुमार, ओमप्रकाश सिंहमार, रामनिवास संगोही, ऋषिराज नरवाल उपस्थित रहे।

दैनिक भास्कर 22 Jul 2024 4:39 am

संस्था नीलकंठ में लगाएगी भंडारा, सामग्री रवाना की

करनाल | श्री शिव शक्ति सेवादार चैरिटी संस्था की ओर से 13वां विशाल भंडारा नीलकंठ पैदल मार्ग ऋषिकेश हरिद्वार में 31 जुलाई तक लगाया जाएगा। रविवार को मुख्यमंत्री के ओएसडी संजय बठला ने नारियल हरी झंडी दिखाकर खाद्य सामग्री के ट्रकों व सेवादारों को रवाना किया। साथ में श्री सेवा समिति आश्रम के चेयरमैन रामा मदान व हैप्पी सिंह विशेष रूप से मौजूद रहे।

दैनिक भास्कर 22 Jul 2024 4:39 am

बीएड 2023 बैच के फर्स्ट सेमेस्टर की परीक्षा 26 जुलाई से 2 अगस्त तक

जमशेदपुर | कोल्हान विश्वविद्यालय की आेर से अलग अलग सेमेस्टर के परीक्षा की तिथि घोषित की गई है। बीएड सत्र 2023-25 के पहले सेमेस्टर की परीक्षा 26 जुलाई से 2 अगस्त को होगी। प्रथम व द्वितीय पेपर की परीक्षा सुबह 10 बजे से दोपहर एक बजे तक चलेगी। चौथे व पांचवें पेपर की परीक्षा सुबह 10 बजे से 11.30 बजे तक होगी। एमए इन मास कम्युनिकेशन (सत्र 2021-23) के चौथे सेमेस्टर की परीक्षा 29 से 31 जुलाई तक होगी। 29 जुलाई को 13वें व 31 जुलाई को 14वें पेपर की परीक्षा होगी। परीक्षा दोपहर 2 बजे से शाम 5 बजे तक चलेगी।

दैनिक भास्कर 22 Jul 2024 4:39 am

निरीक्षण खत्म, अब सिर्फ दस्तावेजों के आधार पर शिक्षण संस्थानों को मान्यता

एक जनवरी से लागू हो जाएगी नई व्यवस्था गाइडलाइन जारी नेशनल असेसमेंट एंड एक्रिडिएशन काउंसिल (नैक) ने ग्रेडिंग सिस्टम खत्म कर नई व्यवस्था लागू की है। इसकी विस्तृत गाइडलाइन भी जारी कर दी गई है। नए सिस्टम में निरीक्षण की व्यवस्था पूरी तरह खत्म कर दी गई है। सिर्फ दस्तावेजों के आधार पर यूनिवर्सिटी-कॉलेजों को एक्रिडिएशन मिलेगा। नई व्यवस्था में सात के बजाय कुल 10 मापदंड होंगे। जानकारों का कहना है- यूनिवर्सिटी, सरकारी-निजी व ऑटोनोमस कॉलेज जिन बिंदुओं पर दावा करेंगे, उसका प्रमाण भी देना होगा। फैकल्टी की संख्या के साथ उनके नाम, आधार संख्या और कॉलेज कोड का प्रमाण भी देना होगा। इंफ्रास्ट्रक्चर की जानकारी फोटो-वीडियो के साथ देनी होगी। प्रोफेसरों की रिसर्च की जानकारी भी अपलोड करनी होगी। नई व्यवस्था एक जनवरी 2025 से लागू होगी। कोल्हान विवि के 11 कॉलेजों के नैक की अवधि हो चुकी है पूरी कोल्हान विवि के 11 कॉलेजों की नैक अवधि पूरी हो चुकी है। इनमें से तीन ने नैक के लिए आवेदन कर दिया है। ऐसे में इन कॉलेजों को मूल्यांकन पुरानी व्यवस्था के तहत होगा। जो कॉलेज दिसंबर से नैक के लिए आवेदन करेंगे, उनका मूल्यांकन नई व्यवस्था के तहत होगा। ऐसे मिलता था ग्रेड सीजीपीए ग्रेड अब ऐसे मूल्यांकन : हर मापदंड के लिए अंक तय मापदंड यूनिवर्सिटी ऑटोनोमस कॉलेज कुल 850 900 787 मापदंड ज्यादा कठिन हो गए अभी तक ऐसे होता था मूल्यांकन अभी तक कॉलेज व विवि को कुल 8 श्रेणियों में परखा जाता है। नैक 4 सीजीपीए से लेकर 1.5 से कम सीजीपीए के आधार पर शिक्षण संस्थानों का मूल्यांकन करता है। सीजीपीए तय करता है कि कौन सबसे बेहतर संस्थान है। इसमें 70 प्रतिशत मूल्यांकन संस्थानों की सेल्फ स्टडी रिपोर्ट से और 30 प्रतिशत भौतिक सत्यापन से किया जाता था। अब 2 चरण में मूल्यांकनप्रक्रिया हो जाएगी पूरी हायर एजुकेशनल इंस्टीट्यूट्स में नई व्यवस्था दो चरणों में लागू होगी। अगले चार महीनों यानी दिसंबर तक बाइनरी मान्यता (मान्यता प्राप्त या गैर-मान्यता प्राप्त) प्रणाली और मैच्युरिटी-आधारित ग्रेड मान्यता के तहत संस्थानों को एक से लेकर पांच तक लेवल में शामिल किया जाएगा। पहले चरण में यह बताया जाएगा कि कोई संस्थान मान्यता प्राप्त है अथवा नहीं। दूसरे चरण में उसे लेवल 1 से 5 तक के स्तर पर आंका जाएगा। इससे संस्थान अच्छा प्रदर्शन करने के लिए प्रेरित होंगे। जिस संस्थान का परफॉर्मेंस जिस क्षेत्र में जितना अच्छा होगा, उसे उसके मुताबिक 1 से 5 तक रेटिंग दी जाएगी। स्टूडेंट्स और पैरेंट्स समझ सकेंगे कि संस्थान एडमिशन लेने के योग्य है या नहीं।

दैनिक भास्कर 22 Jul 2024 4:39 am

लोगों को यातायात नियमों के प्रति जागरूक किया

करनाल | रोटरी क्लब करनाल मिडटाउन की ओर से सेक्टर-6 बाइपास पर लोगों को यातायात नियमों के प्रति जागरूक किया गया। वाहन चालकों से आह्वान किया कि सड़क पर वाहन चलाते समय नियमों का पालन जरूर करें। वाहनों पर नाइट रिफ्लेक्टर भी लगाए गए। ट्रैफिक पुलिस का सहयोग मिला। प्रोजेक्ट डायरेक्टर की भूमिका विनोद कालरा ने निभाई। प्रधान अनिल गुप्ता ने कहा कि देश में लापरवाही से वाहन चलाने के कारण रोजाना दुर्घटनाएं होती हैं। यदि यातायात नियमों की पालना की जाए तो दुर्घटनाओं को काफी हद तक कम किया जा सकता है। इस अवसर पर एजी रंजन शर्मा, सचिव डॉ. महेश मेहरा, डॉ. वीएस रैना, सुभाष नारंग, आईएन जगिया, विनोद कालरा, दिनेश, अंजू शर्मा, डॉ. पीके जैन, डॉ. विक्रम मित्तल मौजूद रहे।

दैनिक भास्कर 22 Jul 2024 4:39 am

दलित संगठन एकजुट होकर करें बुराइयों का विरोध'

करनाल | सारस्वत ब्राह्मण धर्मशाला में दलित अधिकार मंच हरियाणा द्वारा आयोजित दो दिवसीय राज्य स्तरीय कार्यशाला का आयोजन किया गया। मुख्य वक्ता कवि बादल सरोज रहे। कार्यशाला की अध्यक्षता मंच सदस्य सोहन दास व ओमप्रकाश सिंहमार ने की। संचालन रामकुमार बहबलपुरिया ने किया। बादल सरोज ने कहा कि यह दौर कॉरपोरेट पूंजी का है। जिसमें इंसानी संवेदनाओं को बेचकर व सभी संसाधनों को हड़प कर मुनाफा कमाया जा रहा है। उन्होंने आह्वान किया कि बुराइयों के खिलाफ संघर्ष करने के लिए सभी दलित संगठनों व दलित कार्यकर्ताओं को व्यापक मंच बनाकर संगठित होने की जरूरत है। हमें एकजुट होकर संघर्ष करना होगा।

दैनिक भास्कर 22 Jul 2024 4:39 am

जेटेट के लिए कल से 22 अगस्त तक ऑनलाइन कर सकेंगे रजिस्ट्रेशन, 2.30 घंटे की होगी परीक्षा

राज्य में 8 साल बाद झारखंड एकेडमिक काउंसिल द्वारा झारखंड टीचर्स एलिजिबिलिटी टेस्ट (जेटेट) के लिए प्रक्रिया शुरू की गई है। अर्हता रखने वाले अभ्यर्थी 23 जुलाई से 22 अगस्त तक ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं। कक्षा 1 से 5 और 6 से 8 के लिए अलग-अलग परीक्षाएं होंगी। कक्षा एक से पांच और कक्षा 6 से 8 के लिए 2.30 घंटे की परीक्षा होगी। पहले यह परीक्षा तीन घंटे की होती थी। शिक्षक पात्रता परीक्षा में राज्य सरकार द्वारा निर्धारित 15 भाषाओं में से किसी एक में परीक्षा दे सकते हैं। शिक्षक पात्रता परीक्षा ओएमआर शीट पर होगी। सभी विषयों के प्रश्न ऑब्जेक्टिव और बहुविकल्पीय होंगे। इसमें नेगेटिव मार्किंग नहीं होगी। इससे पहले 2016 में जेटेट आयोजित की गई थी। केटेगरी वाइज शुल्क केटेगरी वाइज न्यूनतम अंक जेटेट में सामान्य वर्ग के अभ्यर्थियों को न्यूनतम 60 अंक लाने होंगे। इसके अलावा हर पेपर में उन्हें कम से कम 40 अंक लाना अनिवार्य होगा। एससी-एसटी, आदिम जनजाति और दिव्याग कोटि के अभ्यर्थियों को हर पेपर में कम से कम 30-30 अंक जरूरी होंगे। अत्यंत पिछड़ा व पिछड़ा वर्ग के अभ्यर्थियों को हर पेपर में न्यूनतम 35-35 अंक जरूरी होंगे।

दैनिक भास्कर 22 Jul 2024 4:39 am

ट्रक की चपेट में आने से सोनारी के युवक की मौत

जमशेदपुर | कपाली थाना क्षेत्र के डोबो मेन रोड सिंह होटल के पास रविवार रात बाइक सवार युवक ने खड़े ट्रक में पीछे से टक्कर मार दी। सूचना पाकर पुलिस पहुंची और युवक को एमजीएम अस्पताल ले गई। वहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। मृतक सागर यादव सोनारी का निवासी थी। सूचना मिलने पर सागर के परिजन भी अस्पताल पहुंचे। थानेदार सोनू कुमार ने बताया- युवक बाइक से सोनारी की तरफ लौट रहा था।

दैनिक भास्कर 22 Jul 2024 4:39 am

नाके पर ड्यूटी दे रहे सिपाही को कार ने मारी टक्कर, हालत गंभीर, चालक पर केस

घायल हुए पुलिस कर्मचारी मनोज को मिलने के लिए एसपी मोहित हांडा पहुंचे। एसपी ने परिवार के लोगों से बातचीत की गई। उन्होंने कहा कि मनोज खतरे से बाहर है। इस मामले में दो आरोपी गौरव व अमन वासी रामनगर को गिरफ्तार किया है। भास्कर न्यूज | करनाल काछवा रोड पर पुलिस नाके पर ड्यूटी दे रहे पुलिस कर्मचारी मनोज को कार ने टक्कर मार दी। पुलिस ने आरोपी चालक के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। ड्यूटी दे रहे सिपाही सलिंद्र कुमार ने बताया कि काछवा रोड नजदीक सैन चौक रामनगर में वह नाके पर ड्यूटी दे रहा था। उसके साथ सिपाही मनोज, सिपाही प्रह्लाद व सिपाही राजेंद्र भी तैनात थे। हम सभी नाके पर अपनी-अपनी पोजिशन में खड़े हुए थे। इसी दौरान एक करेटा कार चालक अपनी कार को बाइपास नहर के साथ-साथ झिलमिल ढाबा की तरफ से चलाता हुआ आया, जिसने आगे नाके को देखकर अपनी कार को वापस घुमा लिया। अपनी कार को नाके से पहले सैन चौक पर चक्कर लगाने लगा। उसके बाद वही चालक अपनी करेटा कार को सैन चौक से नाका की तरफ लेकर आया तो वहां पर तैनात उसके साथी सिपाही मनोज ने उस कार को शक के आधार पर चेक करने की नीयत से टार्च से रुकने का इशारा किया। उस चालक ने अपनी कार से उसको सीधी टक्कर मार दी। टक्कर लगने से सिपाही मनोज पहले कार के बोनट और फिर सड़क पर जाकर गिरा। सिपाही मनोज के सड़क पर गिरने के बाद उसी चालक ने दोबारा अपनी कार से सिपाही मनोज को टक्कर मारी। कार चालक के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाए।

दैनिक भास्कर 22 Jul 2024 4:39 am

लोयोला स्कूल टेल्को को सीआईसीएसई से मान्यता, बोर्ड परीक्षा दे सकेंगे बच्चे

जमशेदपुर | लोयोला स्कूल टेल्को को सीआईसीएसई से मान्यता मिल गई है। लोयोला स्कूल को दिसंबर 2022 में आरटीई मान्यता के साथ यूडीआईएसई कोड मिला। इस मान्यता के दो महीने बाद, झारखंड सरकार ने बोर्ड की संबद्धता प्राप्त करने के लिए स्कूल को अनापत्ति (एनओसी) दे दी थी। सीआईएससीई के संबद्धता विभाग ने 18 जुलाई, 2024 को स्कूल को अंतिम संबद्धता प्रदान की है। इससे अभी स्कूल अपने बच्चों को 10वीं की बोर्ड परीक्षा लिखने के लिए पंजीयन करा सकता है।

दैनिक भास्कर 22 Jul 2024 4:39 am

ई-विद्यावाहिनी की खामियां दूर की जाए ग्रेड-4 में जल्द प्रोन्नति मिले : शिक्षक संघ

झारखंड प्राथमिक शिक्षक संघ (पूर्वी सिंहभूम) की बैठक रविवार को संघ के जिलाध्यक्ष अरुण कुमार सिंह की अध्यक्षता में हरिजन मध्य विद्यालय (भालूबासा) में हुई। अरुण कुमार सिंह ने कहा- प्राथमिक शिक्षकों का सेवाकाल हमेशा से जटिल और विवादित रहा है। इस कारण सहायक शिक्षक एक ही वेतनमान पर सेवानिवृत्त हो रहे हैं। इसकी मुख्य वजह शिक्षा विभाग की प्रोन्नति प्रक्रिया है। बैठक में संघ की ओर से प्रोन्नति प्रक्रिया की जटिलता और ई-विद्यावाहिनी एप की तकनीकी खामियों को दूर करने की मांग की गयी। तय किया गया- शिक्षकों की अलग अलग समस्याओं को लेकर संघ का प्रतिनिधिमंडल डीएसई व डीसी से मिलेगा। बैठक में संघ की ओर से पीतम सोरेन, बलराम प्रसाद, सुधीर चंद्र मुर्मू, रमाकांत शुक्ला, रासबिहारी सिंह, देवेंद्र प्रसाद सिंह, अरुण दत्त, चंद्र बदन सिंह, संतोष शर्मा, सोमेन्दु आदि उपस्थित थे। प्राथमिक शिक्षक संघ की ये हैं प्रमुख मांगें वर्तमान समय में ग्रेड 7 (प्रधानाध्यापक) पद में प्रोन्नति पर हाईकोेर्ट द्वारा रोक लगाई गई है। लेकिन ग्रेड-4 को इससे मुक्त रखा गया है। ऐसे में विभाग शीघ्र ग्रेड-4 पद पर शिक्षकों को प्रोन्नति दे। ई-विद्यावाहिनी एप में तकनीकी खामियों के कारण तथा ग्रीष्मावकाश के बाद विद्यालय खुलने के दिन जिले के कुछ शिक्षक अवकाश पर थे। उनका 8 जून 2024 को बायोमेट्रिक अटेंडेंस नहीं बन पाया। इस कारण शिक्षकों के पूरे माह का वेतन निकासी एवं व्ययन पदाधिकारी द्वारा रोका गया है। इसे सही किया जाए। डीएसई द्वारा जिले के निकासी एवं व्ययन पदाधिकारियों को 7 जुलाई तक वार्षिक वेतन वृद्धि देने का आदेश निर्गत किया गया था। लेकिन कुछ प्रखंडों में उक्त आदेश की अवहेलना कर वार्षिक वेतन वृद्धि नहीं दी गई है। इसे अविलंब दिया जाए। शिक्षकों को गैर शैक्षणिक कार्यों में लगाए जाने से शिक्षा व्यवस्था पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ रहा है। साथ ही शिक्षक तनाव में रहते हैं। ऐसे में शिक्षकों को गैर शैक्षणिक कार्यों से मुक्त रखा जाए।

दैनिक भास्कर 22 Jul 2024 4:39 am

एनआईएएमटी रांची से एमटेक के लिए 15 अगस्त तक कर सकेंगे आवेदन

जमशेदपुर | नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ एडवांस्ड मैन्युफैक्चरिंग टेक्नोलॉजी (एनआईएएमटी) रांची में एमटेक (सेल्फ फिनांस) कोर्स में नामांकन की प्रक्रिया चल रही है। इसके लिए आवेदन करने की अंतिम तिथि 15 अगस्त निर्धारित है। अभ्यर्थियों के साथ इंट्रैक्शन 31 अगस्त को होगा। इसमें चार डिर्पाटमेंट के पांच विषयों के लिए आवेदन कर सकते हैं। जिसमें फाउंड्री-फोर्ज टेक्नोलॉजी, मैन्युफैक्चरिंग इंजीनियरिंग, इंवायरमेंटल इंजीनियरिंग, मेटेरियल इंजीनियरिंग (नैनो टेक्नोलॉजी) शामिल है।

दैनिक भास्कर 22 Jul 2024 4:39 am

एमटीएमएच की स्वर्ण जयंती पर 55 लोगों ने किया रक्तदान

जमशेदपुर | मेहरबाई टाटा मेमोरियल अस्पताल (एमटीएमएच) की स्वर्ण जयंती पर रविवार को रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया। इसमें 55 लोगों ने रक्तदान किया। मौके पर सिविल सर्जन डॉ जुझार माझी, डॉ कोशी भरघेसे, टी. दीपक, संजय चौधरी, अमरप्रीत सिंह काले, राजकुमार सिंह, शिव शंकर सिंह, दिनेश कुमार, बंटी सिंह, सतीश शर्मा, अल्पना भट्टाचार्य आदि मौजूद थीं।

दैनिक भास्कर 22 Jul 2024 4:39 am

टीएसटीआई बर्मामाइंस में दो दिन चोरी का प्रयास

जमशेदपुर| बर्मामाइंस स्थित टीएसटीआई (टाटा स्टील टेक्निकल इंस्टिट्यूट) में दो दिनों से लगातार चोरी का प्रयास हो रहा है। सात-आठ की संख्या में युवक रॉड व अन्य सामान लेकर शाम छह से सात बजे के बीच परिसर में घुसकर चोरी की घटना को अंजाम देकर भाग जाते हैं। इसकी जानकारी देने पर भी स्थानीय पुलिस कोई कार्रवाई नहीं कर रही है। संस्थान के आनंद पाठक ने बताया- बदमाशों ने शनिवार को बाथरूम की दीवार तोड़ दी और एसी का आउटडोर ले जाने का प्रयास किया।

दैनिक भास्कर 22 Jul 2024 4:39 am

सीए इंटरमीडिएट की सितंबर परीक्षा के लिए कल तक जमा कर सकेंगे शुल्क

जमशेदपुर | सीए इंटरमीडिएट की सितंबर परीक्षा के लिए ऑनलाइन आवेदन की प्रकिया 20 जुलाई को समाप्त हो गई है। अब 23 जुलाई तक शुल्क जमा किए जा सकते हैं। सीए इंटरमीडिएट के पहले ग्रुप की परीक्षा 12 से 17 सितंबर तक और दूसरे ग्रुप का पेपर 19 से 23 सितंबर तक होगा। इंटरमीडिएट के एक ग्रुप के लिए आवेदन शुल्क 1500 रुपए और दोनों ग्रुप के लिए फीस 2700 रुपए है। विलंब शुल्क 600 रुपए है। इसी तरह फाउंडेशन के लिए आवेदन प्रक्रिया 28 जुलाई से शुरू होगी।

दैनिक भास्कर 22 Jul 2024 4:39 am

अखिल तैलिक साहू महासभा के शिविर में 296 की जांच

जमशेदपुर | साकची गुरुद्वारा के गोविंद भवन में रविवार को अखिल भारतीय तैलिक साहू महासभा के जिलाध्यक्ष राकेश साहू के नेतृत्व में निःशुल्क स्वास्थ्य जांच शिविर का आयोजन किया गया। इसमें 296 लोगों ने स्वास्थ्य जांच कराई। पूर्व सांसद डॉ अजय कुमार व साकची गुरुद्वारा के प्रधान निशान सिंह ने शिविर का शुभारंभ किया। वहीं, शिविर में विधवा पेंशन, वृद्धा पेंशन, विकलांग पेंशन के लिए 90 फॉर्म भरवाए गए।

दैनिक भास्कर 22 Jul 2024 4:39 am

सैदपुरा कॉलोनी में तीन माह से अधूरा पड़ा गलियों का निर्माण कार्य

भास्कर न्यूज | करनाल सैदपुरा कॉलोनी में इंटरलॉकिंग टाइलों से गलियों में होने वाला निर्माण कार्य पिछले तीन माह से लटका पड़ा है। ठेकेदार ने सिर्फ दो गलियों में काम किया है, वह भी पूरा नहीं हुआ। कई गलियों में तो काम तक शुरू नहीं हो पाया है। ठेकेदार की ओर से गलियों के निर्माण में ढील बरती जा रही है। ठेकेदार के काम में देरी का खामियाजा कॉलोनी के लोग भुगत रहे हैं। दो गलियों में भी 20 फीसदी कार्य अधूरा पड़ा हुआ है। पार्षद की मांग पर नगर निगम की ओर से सैदपुरा कॉलोनी में गलियों के निर्माण के लिए 22 लाख रुपए का टेंडर किया गया था। ठेकेदार की ओर से गलियों के निर्माण कार्य में लापरवाही बरती जा रही है। बीच-बीच में काम बंद कर दिया जाता है। कॉलोनी वासियों ने ठेकेदार पर मनमानी के आरोप लगाए हैं। सैदपुरा में जगह-जगह से नालियां व गलियां क्षतिग्रस्त हैं, लेकिन उनकी मेंटेनेंस का कार्य शुरू नहीं हो पाया है।

दैनिक भास्कर 22 Jul 2024 4:38 am

सामान्य तबादले न होने पर जेबीटी ने मुख्यमंत्री आवास पर किया प्रदर्शन

राजकीय प्राथमिक शिक्षक संघ के बैनर सीएम आवास का घेराव के लिए जेबीटी टीचरों ने तोड़े बेरिकेड्स। भास्कर न्यूज | करनाल राजकीय प्राथमिक शिक्षक संघ के बैनर तले रविवार को प्रदेशभर के जेबीटी मांगों को लेकर करनाल के सेक्टर-12 फव्वारा पार्क में इकट्ठा हुए। दोपहर 2 बजे सीएम आवास का घेराव करने के लिए पार्क से निकले। दोपहर को तीन बजे सीएम आवास का घेराव किया। जहां पुलिस बल बेरिकेड्स लगाकर तैनात रहा। जेबीटी ने पिछले 8 साल से सामान्य तबादले न होने से रोष जाहिर करते हुए बेरिकेडस तोड़ दिए और पुलिस के साथ हल्की धक्का-मुक्की की गई। इसके बाद तहसीलदार ने जेबीटी प्रधान तरुण सुहाग समेत कमेटी के पदाधिकारी मिले। तहसलीदार की ओर से रविवार रात को सीएम से मांगों को लेकर बातचीत करने का आश्वासन दिया गया। जिसके बाद जेबीटी सीएम आवास वापस फव्वारा पार्क में आ गए। जेबीटी टीचर राजकीय प्राथमिक शिक्षक संघ ने एलान किया उनकी मांगों को जल्द पूरा नहीं किया तो वह सीएम आवास पर महापड़ाव डालेंगे। इस अवसर पर राजकीय प्राथमिक शिक्षक संघ हरियाणा के सरंक्षक जगजीत सिंह, महासचिव राजेश शर्मा, कोषाध्यक्ष सुनील यादव, चेयरमैन देवेंद्र दहिया, संयोजक सुनील ब्यास, मुख्य सलाहकार संजय यादव, वरिष्ठ उपप्रधान इश्म सिंह भारती पदाधिकारी मौजूद रहे।

दैनिक भास्कर 22 Jul 2024 4:38 am

एक सवाल . गलियों में भरे गंदे पानी से कब मिलेगी निजात

हिसार | न्यू मॉडल टाउन एरिया में जागृति स्कूल के पीछे सीवरेज लाइन के चोक होने की समस्या बढ़ गई है। एरिया में जगह-जगह सीवरेज लीक हैं, इनका बदबूदार पानी जगह-जगह फैला है, जिसके कारण गलियों से गुजरना भी मुश्किल हो चुका है। तस्वीर में दिख रहा फैला यह पानी बरसात का नहीं है, सीवरेज के बैक मारने से यह पानी सड़कों पर फैला है। क्षेत्र के लोगों द्वारा बार-बार शिकायतों के बाद भी समस्या का समाधान नहीं हो पा रहा है। सुपर सकर मशीन से सफाई की मांग की है।

दैनिक भास्कर 22 Jul 2024 4:38 am

दिल्ली रोड बंद, 900 मीटर की जिस सड़क पर रूट डायवर्ट किया वहां 4 ब्रेकर और 19 गड्‌ढे

दिल्ली रोड जिंदल पुल से उतरते ही सातरोड की तरफ डायवर्ट किया हुआ है। यह आगे एक किलोमीटर तक बंद है। क्योंकि इस रोड को साउथ बाइपास पर बनाए जा रहे रेलवे ओवरब्रिज के लेवल पर डेढ़ मीटर ऊंचा उठाकर बनाना है। क्योंकि पुल से उतरते हुए ढलान अधिक बन रही थी। ऐसे में यहां जंक्शन बनाया जा रहा है। दोनों तरफ 150-150 मीटर ऊंचा उठाने को लेकर इस पर काम चल रहा है। जब तक यह प्रोजेक्ट पूरा नहीं हो जाता तब तक यह रूट डायवर्ट रहेगा। बनाया जाएगा जंक्शन, करीब डेढ़ से दो माह तक बंद रहेगा यह रोड ^नगर निगम अधिकारियों को लिखा गया था। अब दोबारा फिर नगर निगम को सूचित किया जाएगा। जहां रोड उखाड़ी हुई है इस रोड पर सुधार सोमवार को करवाया जाएगा।'' -दलबीर राठी, एसडीओ, बीएंडआर। भास्कर न्यूज | हिसार साउथ बाइपास पर बन रहे आरओबी के चलते दिल्ली रोड को बंद करके सातरोड के अंदर से वाहनों का रूट डायवर्ट किया गया है। मगर नगर निगम व बीएंडआर के अधिकारियों की लापरवाही देखिए कि यहां इतने गड्ढे व ब्रेकर हैं कि इसकी वजह से पूरे दिन जाम के हालात बने रहते हैं। हांसी व दिल्ली की तरफ जाने के लिए इसी मार्ग से होकर वाहन जाते व आते हैं। सूर्य नगर अंडर पास बंद होने के कारण लाइन के आर-पार आने जाने के लिए भी शहर के लोगों को इसी रूट का सहारा लेना पड़ रहा है। मगर अधिकारी इसकी तरफ कोई ध्यान नहीं दे रहे हैं। यह रोड दिल्ली रोड से दोबारा कनेक्ट होने के बीच में 900 मीटर का है। करीब एक किलोमीटर लंबे इस रोड पर 19 मेनहोल ऐसे हैं जिनका लेवल सड़क लेवल पर नहीं हैं। इन गड्‌ढों के अलावा यहां चार ब्रेकर बनाए गए हैं। दो जगह से रोड भी टूटी हुई है। छोटे से लेकर बड़े अधिकारी शहर से बाहर जाते समय इसी रोड से गुजरते हैं। मगर आज तक किसी ने यह जहमत नहीं उठाई कि इनके लेवल को ठीक करवाया जाए।

दैनिक भास्कर 22 Jul 2024 4:37 am

रविंद्र पन्नू बॉक्सिंग टीम के मेंटर, ओलंपिक में भाग लेंगे

भास्कर न्यूज | हिसार दक्षिण हरियाणा बिजली वितरण निगम के खेल अधिकारी रविंद्र पन्नू भारतीय बॉक्सिंग की ओलंपिक टीम के मेंटर के रूप पेरिस ओलंपिक में हिस्सा लेंगे। वे हरियाणा बॉक्सिंग संघ के महासचिव के पद पर भी कार्य कर रहे हैं। रविंद्र पन्नू नारनौंद कस्बे के गांव पूठी सैमण से संबंध रखते हैं। उन्होंने बताया कि भारत की बॉक्सिंग टीम में छह खिलाड़ियों में से चार खिलाड़ी हरियाणा से हैं। उन्होंने बताया कि बॉक्सिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया के तत्वावधान में भारतीय टीम लगातार इंडिया कैंप में एवं पिछले कुछ दिनों से जर्मनी में कड़ी मेहनत कर रही है। ओलंपिक को लेकर टीम की पूरी तैयारी है। उनके चयन पर हरियाणा बॉक्सिंग संघ के अध्यक्ष मेजर सत्यपाल सिंह सिंधु और डीएचबीवीएन के एमडी फूलचंद मीणा ने उनको शुभकामनाएं प्रदान की हैं।

दैनिक भास्कर 22 Jul 2024 4:37 am

बदलती पसंद:हवा में उड़ रहे माननीय, 28% ने कम कर दी रेल यात्रा

1300 विधायकों-पूर्व विधायकों को मुफ्त रेलवे कूपन देती है विधानसभा, इनका उपयोग कम हुआ विंध्य और चंबल के नेता ही ऐसे, जो अभी भी रेलयात्रा को तरजीह देते हैं मप्र विधानसभा द्वारा दिए जाने वाले मुफ्त रेलवे कूपन के प्रति विधायकों और पूर्व विधायकों का माेह कम हो रहा है। बीते 5 साल में इनमें से 28 फीसदी ने रेलवे कूपन से यात्रा करना कम कर दिया है। दरअसल, इन्हें हवाई यात्रा ज्यादा रास आ रही है। भोपाल और मालवा क्षेत्र के कई विधायक तो अब कूपन ही नहीं लेते। लेते भी हैं तो इस्तेमाल कम करते हैं। विंध्य और चंबल के विधायक जरूर रेलयात्रा ही पसंद करते हैं। यह खुलासा दैनिक भास्कर द्वारा सूचना के अधिकार में विधानसभा से ली गई जानकारी के बाद हुआ। इसमें पता चला कि मप्र विधानसभा द्वारा पूर्व और वर्तमान विधायक मिलाकर करीब 1300 नेताओं को रेलवे कूपन जारी किए जाते हैं। इसमें राज्य के भीतर असीमित यात्राओं की सुविधा है। वहीं राज्य के बाहर वर्तमान विधायक एक वित्तीय वर्ष में 10 हजार किमी और पूर्व विधायक 4 हजार किमी तक यात्रा कर सकते हैं। पिछले 5 साल में 1300 में से 4 फीसदी नेताओं ने कूपन नहीं लिए। वहीं 12 फीसदी ने कूपन लिए, लेकिन इस्तेमाल नहीं किए। क्षेत्रवार बात करें तो सबसे अधिक यात्रा विंध्य के नेताओं ने की है। चुरहट के पूर्व विधायक शरदेंदु तिवारी, खंडवा के पूर्व विधायक देवेंद्र वर्मा, मनगंवा की पूर्व विधायक शीला त्यागी, सिंहावल के पूर्व विधायक कमलेश्वर पटेल, रीवा क्षेत्र से राजेंद्र मिश्रा और सेंवढ़ा के पूर्व विधायक राधेलाल बघेल ने पांच साल में 500 बार तक टिकट बुक कराई हैं। वहीं नए विधायक सड़क यात्रा पसंद करते हैं। डॉ. यादव ने की 179 रेल यात्राएं, हेमंत कटारे ने 350डॉ. मोहन यादव ने बीते पांच साल में मंत्री रहते हुए 179 बार कूपन से टिकट लिए। इसमें 90 टिकट दिल्ली के हैं। पांच साल में 5.84 लाख उनकी यात्राओं पर खर्च हुआ है। खास बात यह कि बचे कूपन केवल इन्होंने ही जमा किए हैं। नेता प्रतिपक्ष उमंग सिंघार की एक भी रेल यात्रा का विवरण विधानसभा में नहीं है। उन्होंने कूपन लिए, लेकिन विवरण जमा नहीं किए। जबकि उपनेता प्रतिपक्ष हेमंत कटारे ने पांच साल में 350 से अधिक बार कूपन से टिकट बुक कराए और इस पर विधानसभा ने 7 लाख खर्च किए। भोपाल-इंदौर में हवाई यात्रा पसंदभोपाल में हवाई यात्रा के मामले में सबसे आगे मंत्री विश्वास सारंग हैं। दूसरे नंबर पर मंत्री कृष्णा गौर और तीसरे नंबर पर विधायक रामेश्वर शर्मा हैं। इनके बाद नंबर आता है पीसी शर्मा, आरिफ मसूद, विष्णु खत्री का। इंदौर में सबसे अधिक हवाई यात्रा ​कैलाश विजयवर्गीय करते हैं। इंदौर से एकमात्र पूर्व विधायक सुदर्शन गुप्ता ने पांच साल में 70 बार रेल टिकट बुक करवाया। रमेश मेंदोला, संजय शुक्ला, मालिनी गौड़, विशाल पटेल, महेंद्र हार्डिया और उषा ठाकुर ने ज्यादातर हवाई यात्रा की है या फिर सड़क मार्ग से। रेल यात्रा में भोपाल में उमाशंकर आगेभोपाल में पूर्व विधायक उमाशंकर गुप्ता ने सबसे ज्यादा 266 बार रेल टिकट बुक करवाए हैं। दूसरे नंबर पर ध्रुवनारायण सिंह ने 96 बार टिकट बुक कराए। मंत्री विश्वास सारंग ने पांच साल में 43, आरिफ मसूद ने 18 और विष्णु खत्री ने महज 17 बार टिकट बुक कराए। गौरतलब है कि विधायकों और पूर्व विधायकों को विधानसभा की तरफ से विकल्प मिलता है कि वे राज्य के बाहर के लिए दिए गए 30 हजार रुपए कीमत वाले कूपन से रेल या हवाई यात्रा कर सकते हैं। लेकिन नेता रेल की ही यात्रा कूपन के जरिए करते हैं। इनकी ज्यादातर हवाई यात्राएं दिल्ली की रहती हैं।

दैनिक भास्कर 22 Jul 2024 4:37 am

लॉन टेनिस कोच योगेश सेना के जवानों को देंगे ट्रेनिंग

भास्कर न्यूज | हिसार दक्षिण पश्चिमी कमान टेनिस टीम के प्रशिक्षण के लिए सीनियर टेनिस खिलाड़ी योगेश कोहली को सेना में कोच के रूप में नियुक्त किया गया है। सैन्य स्टेशन पर जवानों को टेनिस की ट्रेनिंग देंगे। उनकी नियुक्ति 2024-2025 के टेनिस कैंप के लिए की गई है जिसमें दक्षिण पश्चिमी कमान टेनिस टीम को सैन्य स्टेशन पर 22 जुलाई से 22 अगस्त तक वे प्रशिक्षण प्रदान करेंगे। सीनियर टेनिस खिलाड़ी योगेश कोहली को 25 वर्षों का कोचिंग अनुभव है। उनके सर्वश्रेष्ठ इंटरनेशनल टेनिस रैंकिग पूरे विश्व में 141 व भारत में 2 रही है।

दैनिक भास्कर 22 Jul 2024 4:37 am

जिले के खिलाड़ी कैश अवार्ड के आवेदन में नहीं दिखा रहे रुचि

कैश अवार्ड के लिए विभाग की वेबसाइट पर भी आवेदन कर सकते हैं खिलाड़ी कैश अवॉर्ड में मिलता है ये पुरस्कार भास्कर न्यूज | हिसार खेल विभाग ने खिलाड़ी प्रोत्साहन भत्ता के लिए 30 जुलाई तक आवेदन मांगे हैं मगर खिलाड़ी इसमें रुचि नहीं दिखा रहे हैं। खेल विभाग के अधिकारियों ने बताया कि 122 खिलाड़ियों ने ही आवेदन किए हैं। जिले में 3500 से अधिक खिलाड़ी हैं। इसमें एक हजार से अधिक नेशनल और इंटरनेशनल खिलाड़ी हैं मगर खिलाड़ी प्रोत्साहन भत्ता लेने में रुचि नहीं दिखा रहे हैं। 2023 से 2024 के मार्च तक के नेशनल लेवल पर मेडल लाने वाले खिलाड़ी भी शामिल हैं। खेल प्रोत्साहन स्वरूप मिलने वाले खेल अवॉर्ड एवं उनकी राशि को लेकर खिलाड़ी इंतजार कर रहे थे। मगर अब आवेदन करने का समय दिया तो खिलाड़ी आवेदन नहीं कर रहे हैं। आवेदन की अंतिम 9 दिन शेष बचे हैं। खेल विभाग में प्रत्येक साल कैश अवॉर्ड के लिए 400 आवेदन, एससी स्कॉलरशिप के लिए 400 और जनरल स्कॉलरशिप के लिए 400 आवेदन आते थे। मगर इस बार 1200 में से सिर्फ 122 फार्म आए हैं। खेल विभाग के अधिकारियों ने बताया कि विभाग में कैश अवॉर्ड के लिए 59 आवेदन, एससी स्कॉलरशिप के लिए 17 और जनरल स्कॉलरशिप के लिए 46 खिलाड़ियों ने आवेदन किए हैं। पुरस्कार राशि की घोषणा में राज्य सरकार ने ऐलान किया था कि ओलंपिक, एशियाई और एशियाड के साथ देश और राज्य में होने वाली प्रतियोगिताओं के लिए नकद पुरस्कार दिए जाएंगे। सरकार ने 2019 के खेल नीति को संशोधित करके इन पुरस्कारों की घोषणा की थी। इस नीति के तहत, स्वर्ण पदक के लिए 25 हजार, रजत के लिए 15 हजार और कांस्य पदक के लिए 10 हजार रुपए की नकद पुरस्कार राशि की घोषणा की थी। खेल विभाग की तरफ से राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रतिभा दिखाने वाले खिलाड़ियों को नकद पुरस्कार और छात्रवृत्ति देने के लिए आवेदन मांगे गए हैं। खेल विभाग में 30 जुलाई तक आवेदन देने होंगे। 1 जनवरी 2023 से 31 मार्च 2024 तक राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पदक हासिल करने वाले ही पात्र होंगे। जिले के ये खिलाड़ी महाबीर स्टेडियम स्थित जिला खेल अधिकारी कार्यालय में 30 जुलाई तक आवेदन जमा करवा सकते हैं। इसके साथ खिलाड़ी खेल विभाग की वेबसाइट पर आवेदन कर सकते हैं।

दैनिक भास्कर 22 Jul 2024 4:36 am

कई यूनियनों के प्रतिनिधि सावित्री जिंदल से मिले

भास्कर न्यूज | हिसार नगर की दो दर्जन से अधिक एसोसिएशनों, यूनियनों व प्रतिष्ठित लोगों ने रविवार को पूर्व मंत्री सावित्री जिंदल से उनके निवास पर मुलाकात कर बस स्टैंड शिफ्ट न करवाने की मांग की। पूर्व मंत्री को सौंपे गए ज्ञापन में कहा गया कि बस स्टैंड के आसपास की सभी मार्केटों बस स्टैड के कारण ही चलती हैं। बस स्टैंड से रोज हजारों लोगों का आना-जाना रहता है। इनमें भारी संख्या में छात्र भी शामिल हैं। आसपास के क्षेत्र में लगभग पांच हजार दुकानदारों की रोजी-रोटी सीधे-सीधे बस स्टैंड से जुड़ी है। सरकार की योजना इसे दूसरी जगह शिफ्ट करने की है। विभिन्न एसोसिएशनों व यूनियनों से जुड़े दर्जनों लोगों ने ज्ञापन में कहा है कि जनहित में बस स्टैंड को यहां से बदला न जाए। इसे यहीं पर ही रहने दिया जाए, ताकि हजारों दुकानदारों व उनके परिवारों का पालन-पोषण होता रहे। पूर्व मंत्री सावित्री जिंदल ने लोगों को विश्वास दिलाया है कि वे इस बारे में बात करेंगी। इस अवसर पर राजगुरु मार्केट के प्रधान रवि मेहता, प्रधान मंगल ढालिया, पूर्व पार्षद टीनू जैन, मदनलाल पपनेजा, प्रधान राजू तंवर, प्रधान मनोज अरोड़ा, प्रधान ओमप्रकाश मलिक और अनिल अरोड़ा आदि लोग शामिल रहे। हिसार |शहर के बस स्टैंड को शिफ्ट किए जाने को लेकर शहर का एक बड़ा वर्ग इसके पक्ष में नहीं है। इसके लिए जनसंपर्क अभियान के तहत रामपुरा मोहल्ला में बैठक की गई। निवर्तमान पार्षद अमित ग्रोवर की अध्यक्षता में हुर्ई बैठक में शहर की समस्याओं को लेकर विचार-विमर्श किया। मीटिंग में बस स्टैंड को शिफ्ट किए जाने को लेकर प्रतिक्रिया व्यक्त की गई। उन्होंने कहा कि बस स्टैंड को शहर से दूर स्थानांतरित किया जा रहा है। इसमें शहरवासियों को परेशानियों का सामना करना पड़ेगा। इसके साथ राजगुरु मार्केट, क्लॉथ मार्केट, तलाकी गेट, नागोरी गेट मार्केट, आर्य समाज मार्केट सहित व्यापारियों का भी नुकसान है। हिसार के आसपास के गांवों से ऋषि नगर स्थित अस्पतालों में इलाज के लिए लोग आते हैं। ग्रोवर ने कहा कि इस बस स्टैंड को व्यवस्थित करके नए सिरे से बनाया जा सकता है इसके लिए शहरवासियों से राय ली जाएगी। इस अवसर पर रामपुरा मोहल्ला रेजिडेंट्स वेलफेयर एसोसिएशन की 21 सदस्य कमेटी का गठन गया। जिसमें विकेश ग्रोवर, जगदीश नागपाल, संजय सेठी, परवीन पाहवा, मनोज शर्मा, दीपक सिन्हा, अमन अत्री, नरेश, कपिल पाहवा, सुनील, सुंदर, कमल, कमल भुटानी, महेश हंस, ललित कथूरिया, जितेंद्र चावला राजू, शुभम, आशीष और संजय सहित आदि लोग मौजूद रहे।

दैनिक भास्कर 22 Jul 2024 4:36 am