किर्गिज्स्तान में जम कर हो रही पाकिस्तानी छात्रों की पिटाई, पाक सरकार के साथ अब ‘उम्माह’को ही दे रहे गाली: अपने खर्च पर भागना पड़ा लाहौर

एक तरफ तो किर्गिज्स्तान में पाकिस्तानियों की जान पर बन आई है, तो अब एक्स पर मुस्लिम उम्माह को लेकर गुस्सा देखा जा रहा है।

ऑप इंडिया 19 May 2024 3:41 pm

फंदे से लटकी मिली तेलुगु एक्टर की लाश: 5 दिन से लिख रहे थे अवसाद भरे पोस्ट, कार एक्सीडेंट में हो गई थी पार्टनर पवित्रा की मौत

तेलुगु टीवी के एक्टर चंद्रकांत ने आत्महत्या कर ली है। कहा जा रहा है कि वे अपनी पार्टनर की मौत से दुखी थे और डिप्रेशन में आ गए थे।

ऑप इंडिया 19 May 2024 3:38 pm

सीतामढ़ी: माता सीता की जन्मस्थली का क्यों नहीं हुआ अयोध्या जैसा विकास? | Ground Report

Lok Sabha Election: सीतामढ़ी में पांचवें चरण में 20 मई को मतदान है.

क़्विंट हिन्दी 19 May 2024 3:37 pm

कौन हैं 84 साल के वो भारतीय बुजुर्ग, जो बने UK के सबसे अमीर शख्स: ₹3.37 लाख करोड़ की संपत्ति, 75 साल पहले बिजनेस की दुनिया में रखा था कदम

मई 2023 में अपने बड़े भाई श्रीचंद हिंदुजा के निधन के बाद उन्होंने ग्रुप के चेयरमैन के पद का कार्यभार सँभाला। उन्होंने मुंबई के जय हिन्द कॉलेज से स्नातक किया था।

ऑप इंडिया 19 May 2024 3:04 pm

पहले कांग्रेस फिर जमशेदपुर में JMM पर पीएम मोदी

पीएम नरेंद्र मोदी ने झारखंड के जमशेदपुर में कांग्रेस और झारखंड मुक्ति मोर्चा पर जमकर निशाना साध दिया है. पीएम मोदी ने बोला है कि कांग्रेस और जेएमएम वालों को विकास के कोई मतलब है ही नहीं. इनको केवल भ्रष्टाचार और झूठ बोलने से मतलब है. पीएम मोदी ने अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए कहा है कि कांग्रेस और जेएमएम ने अपने घरों में काली कमाई का अंबार लगा कर रखा हुआ है. पीएम मोदी ने ये भी बोला है कि कांग्रेस और जेएमएम जैसी पार्टियों ने हमारे झारखंड को हर अवसर पर लूटा है. कांग्रेस भ्रष्टाचार की जननी है. कांग्रेस और JMM वालों को विकास का क, ख, ग, घ… भी नहीं मालूम है. इनके मुद्दे गरीब की संपत्ति का एक्स-रे करना, SC-ST-OBC का आरक्षण छीनना, मोदी जी को रोज नई-नई गालियां देना है. इससे आगे और कुछ ये लोग नहीं सोच सकते. JMM ने आदिवासियों और सेना की जमीनें हड़पीं: खबरों का कहना है कि अपनी बात को जारी रखते हुए पीएम मोदी ने बोला है कि जेएमएम ने झारखंड में जमीन घोटाला किया. इन्होंने गरीब आदिवासियों की जमीनें हड़प ली, सेना की जमीनें हड़पीं. इनके घरों से जो नोटों के पहाड़ बरामद हुए हैं, वे पैसे आपके हैं. मोदी इन बेईमानों के ठिकानों से पैसा बरामद करवा ली है. मैं इन पैसों को सरकार की तिजोरी में ले जाने के लिए बरामद नहीं कर रहा हूं. मैं रास्ता खोज रहा हूं, ये सारे पैसे जिनके हैं, मैं उन गरीबों को इसे लौटाऊंगा. ये मोदी की गारंटी है. कांग्रेस-JMM को भ्रष्टाचार और वसूली से मतलब: कांग्रेस पार्टी उद्यम करने वालों को देश का दुश्मन भी कहती है. उसके नेता खुलेआम कहते हैं, जो कारोबारी हमें पैसा नहीं देते, हम उन पर हमला करते हैं यानी कांग्रेस और JMM जैसे दलों को देश के उद्योगों से मतलब नहीं है. उन्हें अपने भ्रष्टाचार और वसूली से ही matlab है. कांग्रेस के शहजादे आए दिन उद्योगों, उद्योगपतियों और निवेश का विरोध तक कर rhe है. आने वाले दिनों में कौन उद्योगपति उनके राज्य मे जाकर पूंजी निवेश करेगा? उन राज्यों के नौजवानों का क्या होगा? परिवारवादी पार्टियों से झारखंड को बचाना है: पीएम ने बोला है कि कांग्रेस जैसे दलों ने कभी आपकी परवाह नहीं की. इन लोगों ने 60 वर्ष तक ‘गरीबी हटाओ’ का झूठा नारा दे डाला है। ये मोदी है, जिसने 25 करोड़ गरीबों को गरीबी से बाहर निकाला. कांग्रेस के शहजादे वायनाड से भागकर चुनाव लड़ने रायबरेली गए हैं. वे सबको कहते घूम रहे हैं कि ये मेरी मम्मी की सीट है. कोई 8 वर्ष का बच्चा स्कूल में पढ़ने जाता है, तब भी वो ये नहीं कहता है कि ये मेरे पापा का स्कूल है, भले ही उसके पापा वहां पढ़े हों. ये परिवारवादी लोग संसदीय सीटों का वसीयतनामा लिख रहे हैं. ऐसी परिवारवादी पार्टियों से झारखंड को बचाकर रखना जरुरी है. भारत का ऐसा जादुई जंगल, जो रात में चमकता है! ये हैं भारत में बिकने वाली 3 सबसे महंगी बाइक्स, कीमत इतनी है कि आप खरीदेंगे ऑडी-बीएमडब्ल्यू BEML में नौकरी पाने का सुनहरा मौका, 160000 तक मिलेगी सैलरी

न्यूज़ ट्रॅक लाइव 19 May 2024 2:50 pm

120 लोगों की हुई घर-वापसी, छत्तीसगढ़ में ‘श्री वनवासी राम कथा’में जुटी श्रद्धालुओं की भारी भीड़: जशपुर राजघराने के लाल ने पाँव पखार कर सनातन धर्म में किया स्वागत

प्रबल प्रताप सिंह जूदेव द्वारा मुख्य अतिथि के रूप में 50 परिवारों की घर-वापसी का कार्यक्रम कराया गया। उन्होंने इन लोगों के पाँव भी पखारे।

ऑप इंडिया 19 May 2024 12:35 pm

'धाकड़' सरकार से अब भारत के दुश्मन कांप रहे : पीएम मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पाकिस्तान का परोक्ष रूप से जिक्र करते हुए कहा कि भारत के दुश्मन अब कुछ भी करने की योजना बनाने से पहले '100 बार' सोचते हैं

देशबन्धु 19 May 2024 10:44 am

‘कॉन्ग्रेस के मेनिफेस्टो में मुस्लिम’ : सिर्फ इतना लिखने पर ‘भीखू म्हात्रे’ को कर्नाटक पुलिस ने गिरफ्तार किया, बोलने की आजादी का गला घोंट लोकतंत्र बचा रही INDI?

सोशल मीडिया इन्फ्लूएंसर 'भीखू म्हात्रे' नाम के फिक्शनल नाम से एक्स पर अपनी राय रखते हैं। उन्होंने कॉन्ग्रेस के मेनिफेस्टो पर अपनी बात रखी थी।

ऑप इंडिया 19 May 2024 9:14 am

पश्चिम बंगाल में 4 मंदिरों में तोड़फोड़, मूर्तियों को तोड़ा : एक ही रात में प्लानिंग के तहत किया गया हमला? सड़क पर उतरा हिंदू समुदाय

पश्चिम बंगाल में शुक्रवार (17 मई 2024) की रात को एक साथ 4 हिंदू मंदिरों को तहस नहस किया गया। मंदिरों में रखी मूर्तियों को तोड़ डाला गया।

ऑप इंडिया 18 May 2024 10:36 pm

क्या जर्मन लोग काम पर सुस्त हो गए हैं?

लंबे समय से जर्मन लोग मेहनती, जिम्मेदार, भरोसेमंद और काम में बहुत अच्छे माने जाते रहे हैं. लेकिन एक हालिया रिसर्च कहती है कि जर्मन लोग कम घंटे काम कर रहे हैं. वैसे यह इस कहानी का पूरा सच नहीं है.

देशबन्धु 18 May 2024 10:12 pm

'मुंबई के आरे में मेट्रो जल्दी आ गई, लेकिन आदिवासियों को अब भी बेहतर सड़कों का इंतजार'

मुंबई में मतदान की तारीख नजदीक आने के साथ ही शहर के सबसे बड़े हरित क्षेत्र आरे के 27 आदिवासी गांवों को बुनियादी सुविधाओं का इंतजार है.

क़्विंट हिन्दी 18 May 2024 7:46 pm

रेप, जबरन निकाह, गर्भपात… बहरीन में नौकरी करती थी UP की हिंदू लड़की, कर्नाटक के सैफुद्दीन ने पहले दोस्ती की फिर जबरन बनाया मुस्लिम

उत्तर प्रदेश की हिंदू लड़की का बहरीन में कर्नाटक के निवासी सैफुद्दीन ने बलात्कार किया।

ऑप इंडिया 18 May 2024 7:08 pm

एक्शन में CM मोहन यादव, अब उठाए ये बड़े कदम

भोपाल: म ध्य प्रदेश के सीएम डॉ. मोहन यादव प्रदेश में विकास को लेकर एक्शन मोड में आ गए हैं. एक ओर लोकसभा चुनाव में अपनी पार्टी के लिए दूसरे राज्यों में प्रचार अभियानों में सम्मिलित हो रहे हैं वहीं राज्य के विकास कार्यों को लेकर बैठक पर बैठक कर रहे हैं. सीएम मोहन यादव ने राज्य में विकास कार्यों को रफ्तार देने के लिए वरिष्ठ अफसरों के साथ बैठक की तथा जल्दी से जल्दी सभी कार्यों को निपटाने का निर्देश दिया. सीएम के साथ हुई बैठक में मुख्य सचिव, प्रमुख सचिव, वित्त विभाग उपस्थित रहे. वरिष्ठ अफसरों के साथ हुई इस बैठक के चलते मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव ने आगामी वर्षों के विकास कार्यों के रौडमैप पर विस्तार से चर्चा की है. उन्होंने अफसरों को निर्देश दिया कि वे रोडमैप के अनुसार, कार्य को अंजाम दें. जानकारी के अनुसार, इस बैठक में आगामी पांच वर्षों में जीएसडीपी दोगुना करने की योजना पर मंथन किया गया है. राजस्व स्रोत एवं खनन राजस्व को 50000 करोड़ तक ले जाने का लक्ष्य रखा गया है. बैठक में मुख्यमंत्री मोहन यादव की ओर से दूसरे प्रदेशों में स्थित राज्य सरकार की संपत्तियों को लाभदायक एवं राजस्व प्राप्त करने वाला बनाने पर भी जोर दिया गया है. सीएम मोहन यादव ने कहा कि शहरी क्षेत्रों की क्षेत्रीय योजना और नए क्षेत्रों का नियोजित विकास जैसे विषयों पर गंभीरता से काम करना आवश्यक हैं. उन्होंने अफसरों को निर्देश दिया कि जैसे ही लोकसभा का चुनाव संपन्न हो जाएगा, सभी अपने अपने विभाग के विकास कार्यों को आगे बढ़ाने में जुट जाएं. आत्महत्या करने से पहले ‘औरत’ बना लड़का! इस हाल में मिला शव बच्चे की हत्या की धमकी देकर शेख ने किया मॉडल का बलात्कार, धर्म परिवर्तन का भी डालता था दबाव 8 दिन पहले मंदिर के लिए निकली थी हिंदू लड़की, अब तक नहीं मिली, परिजन बोले- 'निकाह-धर्मांतरण की नीयत से निजामुद्दीन ने किया किडनैप'

न्यूज़ ट्रॅक लाइव 18 May 2024 5:50 pm

‘जमीन में गाड़ दो’: गुजरात सरकार के आदेश पर मदरसे का सर्वे करने पहुँचे शिक्षक पर हमला, 100+ लोग एक साथ टूट पड़े

बापूनगर स्मृति विद्यालय के आचार्य संदीप पाटिल की भी ड्यूटी लगी है। वो सुल्तान मोहल्ला के मदरसे में सर्वे करने पहुँचे थे। तभी भीड़ ने उन पर हमला बोल दिया।

ऑप इंडिया 18 May 2024 5:44 pm

‘बहुत बकरों की कुर्बानी दी, अब तेरे बेटे का रेतूँगा गला’: बच्चे की हत्या की धमकी दे मॉडल से रेप करता था शेख, इस्लाम कबूलने का डाल रहा था दबाव

काशान ने मॉडल के बच्चे के गले पर छुरा रखकर धमकाया था कि वो बच्चे का गला काट देगा।

ऑप इंडिया 18 May 2024 3:53 pm

प्रज्वल रेवन्ना मामले पर आई पूर्व PM एचडी देवेगौड़ा की प्रतिक्रिया, बोले- 'मेरा पोता दोषी है तो...'

नई दिल्ली: JDS सांसद प्रज्वल रेवन्ना के खिलाफ लगे यौन शोषण के इल्जामों पर अपनी चुप्पी तोड़ते हुए पार्टी सुप्रीमो तथा पूर्व पीएम एचडी देवेगौड़ा ने शनिवार को कहा कि यदि उनका पोता आरोपी पाया जाता है तो उसके विरुद्ध की जाने वाली कार्यवाही पर उन्हें कोई आपत्ति नहीं है। प्राप्त एक रिपोर्ट के अनुसार, उन्होंने यह भी कहा कि उनके बेटे और जद (एस) MLA एचडी रेवन्ना, जो एक महिला के यौन उत्पीड़न एवं अपहरण के आरोपों का सामना कर रहे हैं, के खिलाफ मामले 'बनाए गए' थे। उन्होंने मामला अदालत में विचाराधीन होने की वजह से आगे टिप्पणी करने से परहेज किया। मीडिया को संबोधित करते हुए एचडी देवेगौड़ा (92) ने कहा, '।।। मैं उन चीजों पर टिप्पणी नहीं करना चाहता जो रेवन्ना के सिलसिले में कोर्ट में चल रही हैं। प्रज्वल रेवन्ना विदेश चले गए हैं, उसी सिलसिले में कुमारस्वामी (गौड़ा के दूसरे बेटे और कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री) ने हमारे परिवार की तरफ से कहा है कि देश के कानून के मुताबिक कार्रवाई करना सरकार का कर्तव्य है। इससे ​​(यौन शोषण के मामले) कई लोग जुड़े हुए हैं, मैं किसी का नाम नहीं लेना चाहता। कुमारस्वामी ने कहा है कि जो भी लोग इस मामले में सम्मिलित हैं, उन सभी के खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए तथा पीड़ित महिलाओं के साथ न्याय हो उनको और मुआवजा मिले।' हाल ही में एचडी देवेगौड़ा ने अपना जन्मदिन नहीं मनाने के फैसले का ऐलान किया था तथा अपने शुभचिंतकों और पार्टी कार्यकर्ताओं से अनुरोध किया था कि वे जहां हैं, वहीं से उन्हें शुभकामनाएं भेजें। प्रज्वल रेवन्ना (33) पर महिलाओं का यौन शोषण करने के कई आरोप हैं। इस मामले ने राजनीतिक तूफान खड़ा कर दिया है। सत्तारूढ़ कांग्रेस एवं भाजपा-जद(एस) के बीच आरोप-प्रत्यारोप का दौर जारी है। प्रज्वल कथित तौर पर 27 अप्रैल को जर्मनी के लिए रवाना हुआ था तथा अब भी फरार है। उसके खिलाफ इंटरपोल ब्लू कॉर्नर नोटिस जारी किया गया है। वह हासन लोकसभा क्षेत्र से BJP-जद(एस) गठबंधन के संयुक्त उम्मीदवार था, जहां 26 अप्रैल को मतदान हुआ था। यह पूछे जाने पर कि क्या उनके परिवार को बदनाम करने तथा राजनीतिक रूप से बदनाम करने का षड्यंत्र किया गया था, देवेगौड़ा ने कहा, 'यह सच है।।। जो कुछ भी हुआ है, उसमें कई लोग सम्मिलित हैं, मैं नाम नहीं लूंगा। कुमारस्वामी इस पर बताएंगे कि क्या कार्रवाई करनी है।' बीजेपी नेता और वकील जी देवराजे गौड़ा ने आरोप लगाया है कि प्रज्वल रेवन्ना से जुड़े वीडियो वाले पेन ड्राइव को सर्कुलेट करने के पीछे कर्नाटक के डिप्टी सीएम डीके शिवकुमार हैं। इस बारे में एचडी देवेगौड़ा ने कहा कि कुमारस्वामी इन सबका जवाब देंगे। एचडी देवे गौड़ा ने कहा, 'हमने मीडिया में देखा है कि देवराजे गौड़ा ने क्या कहा है। कुमारस्वामी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष के रूप में इन सब पर सक्रिय तौर पर प्रतिक्रिया दे रहे हैं, वह बोलेंगे, मैं इस वक़्त नहीं बोलूंगा। मैंने लोकसभा चुनावों के लिए प्रचार किया है तथा 4 जून को नतीजे घोषित होने के पश्चात् मैं आपसे (मीडिया) मिलूंगा।' गौड़ा ने अपने घर के पास डेरा डाले मीडियाकर्मियों से भी वहां से चले जाने का अनुरोध किया। उन्होंने कहा, 'मैं इस बारे में आपके मालिकों (मीडिया कंपनियों के मालिक) से भी अपील करता हूं।' हादसे का शिकार हुई भक्तों को अयोध्या ले जा रही बस, लहूलुहान हुए दर्जनों यात्री BEML में नौकरी पाने का सुनहरा मौका, 160000 तक मिलेगी सैलरी पुलिस लॉकअप में जीजा-साली ने कर दी ऐसी हरकत, मचा बवाल

न्यूज़ ट्रॅक लाइव 18 May 2024 3:50 pm

‘₹100 करोड़ का ऑफर, ₹5 करोड़ एडवांस’: कॉन्ग्रेस नेता शिवकुमार की पोल खुली, कर्नाटक सेक्स सीडी में PM मोदी को बदनाम करने का दिया था टास्क

BJP नेता देवराजे गौड़ा ने कहा है कि पीएम मोदी को बदनाम करने के लिए कर्नाटक के डेप्यूटी सीएम डीके शिवकुमार ने उन्हें 100 रुपए का ऑफर दिया था।

ऑप इंडिया 18 May 2024 3:08 pm

‘जिसे कहते हैं अटाला मस्जिद, उसकी दीवारों पर त्रिशूल-फूल-कलाकृतियाँ’: ​कोर्ट पहुँचे हिंदू, कहा- यह माता का मंदिर

जौनपुर की अटाला मस्जिद पर हिंदुओं ने दावा पेश किया है। इसे माता का मंदिर बताया है। मस्जिद की दीवारों पर हिंदू चिह्न होने की बात कही है।

ऑप इंडिया 18 May 2024 3:06 pm

सुप्रीम कोर्ट से केंद्र को लगा जोर का झटका धीरे से

देश की शीर्ष अदालत ने दो मामलों में केंद्र सरकार को जोर का झटका धीरे से देते हुए यह जाहिर कर दिया कि कानूनों की मनमानी व्याख्या अपनी सुविधा के हिसाब से नहीं की जा सकती। सुप्रीम कोर्ट के ईडी की गिरफ्तार करने की शक्तियों को सीमित करने के साथ ही दूसरे मामले में एक वरिष्ठ पत्रकार की गिरफ्तारी को अवैध करार देने से केंद्र को यह झटका लगा है। इन दोनों मामलों में दिए गए फैसलों से बेशक केंद्र की भाजपा सरकार को व्यापक राजनीतिक नुकसान नहीं हो किन्तु इसके दूरगामी परिणाम अवश्यंभावी होंगे। परिणाम यह होगा कि ईडी अब आसानी से किसी के खिलाफ गिरफ्तारी की कार्रवाई नहीं कर सकेगी। इसी तरह पुलिस खिलाफ खबर पर किसी पत्रकार को भी आसानी से गिरफ्तार नहीं कर सकेगी। ईडी की कार्रवाई में कितने कानूनी तथ्य हैं, यह देखने के लिए सुप्रीम कोर्ट ने अधिनस्थ अदालतों को रैफ्री की भूमिका दी है। गौरतलब है कि लंबे अर्से से विपक्षी दल केंद्रीय एजेंसियों पर भेदभाव के आरोप लगाती रहीं हैं। विपक्षी दलों का आरोप है केंद्र सरकार राजनीतिक रंजिशवश इन एजेंसियों को दुरुपयोग कर रही है। एक याचिकाकर्ता ने दिसंबर 2023 में पंजाब और हरियाणा हाई कोर्ट के एक आदेश को चुनौती दी थी। याचिकाकर्ता का सवाल था कि अगर विशेष अदालत ने मनी लॉन्ड्रिंग मामले में व्यक्ति विशेष के आरोपों को संज्ञान में ले लिया है, तो क्या तब भी उसे बेल के लिए सेक्शन 45 की दोहरी शर्तों को पूरा करना होगा। इस मामले में दिए गए सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद धन-शोधन निवारण अधिनियम, 2002 (पीएमएलए) प्रावधानों के तहत जमानत की कड़ी शर्तों को संतुष्ट करने की जरूरत नहीं है। अगर आरोपी समन द्वारा विशेष अदालत के समक्ष पेश होता है, तो यह नहीं माना जा सकता कि वह हिरासत में है। अगर अदालती समन के चलते पेश होने के बाद ईडी आरोपी की हिरासत चाहती है, तो उसे विशेष अदालत में आवेदन देना होगा। अदालत केवल उन कारणों के साथ हिरासत देगी, जो संतोषजनक हो और जिनमें हिरासत में लेकर पूछताछ की जरूरत हो। जस्टिस अभय एस ओक और जस्टिस उज्जल भुइयां की बेंच ने यह फैसला सुनाया है। बेंच ने कहा है कि अगर किसी मामले में ईडी ने किसी आरोपी को गिरफ्तार किए बिना चार्जशीट दाखिल की और अदालत ने इस पर संज्ञान लेकर उसे समन किया तो ऐसे व्यक्ति को पीएमएलए के तहत जमानत के लिए दोहरी शर्तों को पूरा करने की आवश्यकता नहीं है। इसे भी पढ़ें: Amethi LokSabha Election: यादगार होगी स्मृति ईरानी की जीत! पीएमएलए को पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार के दौरान 2002-03 में लाया गया था। बाद में मनमोहन सिंह के नेतृत्व वाली यूपीए सरकार के दौरान 1 जुलाई, 2005 को इसे लागू किया गया। उस वक्त इस कानून को ब्लैक मनी के फ्लो को रोकने के उद्देश्य से बनाया गया था। पीएमएलए कानून के तहत सबसे पहले झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री सीएम मधु कोडा के खिलाफ कार्रवाई की गई थी। इसके बाद साल 2010 में 2जी स्पेक्ट्रम घोटाला, कोयला घोटाला समेत कई बड़े घोटालों में इस कानून के तहत कार्रवाई हुई। फिर साल 2012 में तत्कालीन वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने इसमें संशोधन भी किया था। बीते कुछ सालों में इस एक्ट में और भी कई बदलाव किए गए हैं। ईडी की शक्तियां सीमित करने के साथ केंद्र सरकार को दूसरा झटका लगा न्यूज क्लिक के फाउंडर संपादक प्रबीर पुरकायस्थ की गिरफ्तारी को लेकर। सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद न्यूज क्लिक के फाउंडर प्रबीर पुरकायस्थ को रिहा कर दिया गया। न्यूजक्लिक फाउंडर पुरकायस्थ को पोर्टल के माध्यम से राष्ट्र-विरोधी प्रचार को बढ़ावा देने के लिए कथित चीनी फंडिंग के मामले में गिरफ्तार किया गया था। पुरकायस्थ के खिलाफ आरोप लगाया गया कि न्यूजक्लिक को चीन के पक्ष में प्रचार के लिए कथित तौर पर धन मिला था। देश की सबसे बड़ी अदालत ने यूएपीए मामले में उनकी गिरफ्तारी और रिमांड को गलत माना। कोर्ट का यह फैसला अपने आप में एक नजीर है। इसका असर आने वाले दिनों में दूसरे फैसलों पर भी दिख सकता है। दरअसल सुप्रीम कोर्ट ने इस फैसले के जरिए किसी की गिरफ्तारी के लिए पुलिस के सामने एक साफ-साफ लकीर खींच दी है। कोर्ट ने साफ कहा कि गिरफ्तारी के वक्त पुलिस को इसका आधार लिखित तौर पर देना होगा। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि जीवन और व्यक्तिगत स्वतंत्रता का अधिकार संविधान के अनुच्छेद 20, 21 और 22 के तहत सबसे अटूट मौलिक अधिकार है। इसे भी किसी तरह नजरअंदाज या अनदेखा नहीं किया जा सकता है। सुनवाई के दौरान कोर्ट की कही इस बात का स्पष्ट संदेश है कि हर नागरिक के लिए जीवन और व्यक्तिगत स्वतंत्रता का अधिकार की अपनी विशेष अहमियत है। इस मामले की सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि यूएपीए या अन्य कानून के तहत किसी भी शख्स की गिरफ्तारी से पहले अब पुलिस को पहले लिखित में ये बताना जरूरी होगा कि उसकी गिरफ्तारी किस आधार पर की जा रही है। इसके लिए लिखित में भी सूचित करना होगा। कोर्ट ने सुनवाई के दौरान ये भी साफ कर दिया है कि किसी भी इंसान के लिए कानूनी कार्रवाई एक जैसी होनी चाहिए और उसे किसी हाल में नजरअंदाज नहीं किया जा सकता। न्यायमूर्ति बी. आर. गवई और न्यायमूर्ति संदीप मेहता की पीठ ने कहा कि गिरफ्तारी के ऐसे लिखित आधारों की एक कॉपी गिरफ्तार किए गए शख्स को बिना किसी अपवाद के जल्द से जल्द दी जानी चाहिए। कोर्ट की इस टिप्पणी से ये साफ हो गया कि गिरफ्तार शख्स को हर हाल में जल्द से जल्द गिरफ्तारी के लिखित आधारों की एक कॉपी मिलनी चाहिए, ताकि उसे अपने खिलाफ हो रही कार्रवाई की पूरी जानकारी हो। जस्टिस बीआर गवई की अध्यक्षता वाली पीठ ने कहा कि इस निष्कर्ष पर पहुंचने में कोई झिझक नहीं है कि लिखित रूप में गिरफ्तारी के लिए रिमांड कॉपी नहीं दी गई, जिसके चलते गिरफ्तारी अवैध है। जस्टिस बीआर गवई की अध्यक्षता वाली पीठ ने जो कहा उससे इस बात की रिमांड की कॉपी ना मिलने पर गिरफ्तारी को भी अवैध साबित किया जा सकता है। कोर्ट ने मौलिक अधिकार पर अतिक्रमण करने के किसी भी प्रयास को अस्वीकार कर दिया। कोर्ट ने कहा कि इस प्रकार, संविधान के अनुच्छेद 20, 21 और 22 द्वारा ऐसे मौलिक अधिकार का उल्लंघन करने के किसी भी प्रयास से सख्ती से निपटना होगा। कोर्ट की इस टिप्पणी से भी साफ हो रहा है कि अगर ऐसा होता है तो उसे इंसान के मौलिक अधिकार का हनन माना जाएगा। फैसला लिखते हुए, न्यायमूर्ति मेहता ने कहा कि पुरकायस्थ की गिरफ्तारी, उसके बाद पिछले साल 4 अक्टूबर का रिमांड आदेश और दिल्ली उच्च न्यायालय का 15 अक्टूबर का रिमांड को वैध करने का आदेश, कानून के विपरीत था और इसलिए इसे रद्द कर दिया गया। इस मामले की सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि यूएपीए या अन्य अपराधों के आरोप में गिरफ्तार किए गए किसी भी व्यक्ति को गिरफ्तारी के आधार के बारे में लिखित रूप में सूचित किया जाना मौलिक और वैधानिक अधिकार है। किसी को भी ऐसे ही नहीं उठा सकते। सुप्रीम कोर्ट के इन दोनों आदेशों से स्पष्ट है कि पुलिस और केंद्रीय एजेंसियां आंख बंद करके कोई कार्रवाई नहीं कर सकेंगी। न्यूज क्लिक के फाउंडर की गिरफ्तारी के अवैध करार देने से यह भी साफ हो गया है कि सरकार विरोधी खबरें लिखने-दिखाने पर राजनीतिक दल सरकारी मशीनरी का इस्तेमाल दुर्भावनावश नहीं कर सकती। शीर्ष कोर्ट के इस फैसले से निश्चित तौर पर प्रेस की आजादी से एक बड़ा डर समाप्त हो गया है। - योगेन्द्र योगी

प्रभासाक्षी 18 May 2024 2:13 pm

Amethi LokSabha Election: यादगार होगी स्मृति ईरानी की जीत!

कभी कांग्रेस की खानदानी सीट मानी जाने वाली अमेठी से 2019 में पहले भाजपा की स्मृति ईरानी से चुनाव हारना और अब 2024 में राहुल गांधी का पलायन करना नि:संदेह यह बताने को काफी है कि राहुल गांधी स्मृति ईरानी से टक्कर लेने का साहस नहीं दिखा सके। अलवक्त्ता कांग्रेस ने राहुल गांधी की बजाय अर्से तक गांधी परिवार के अमेठी, रायबरेली में चुनाव प्रबन्धक एवं वफादार सिपहसालार रहे किशोरी लाल शर्मा को चुनाव मैदान में उतारकर प्रत्यक्ष: यह जताने की कोशिश की हैं कि गांधी परिवार अमेठी से अपने पुराने रिश्ते को बरकरार रखना चाहता है। कांग्रेस के रणनीतिकारों को उम्मीद थी कि चूंकि राहुल गांधी पड़ोस की गांधी परिवार की खानदानी सीट रायबरेली से चुनाव लड़ रहे हैं सो किशोरी लाल शर्मा को इसका लाभ मिलना तय है। यही नहीं चूंकि उत्तर प्रदेश में इंडिया गठबंधन के तहत रायबरेली व अमेठी सीट कांग्रेस के खाते में गई अतएवं दोनो ही सीटों पर गठबंधन की प्रमुख भागीदार सपा के वोटों का लाभ मिलना तय है। इसे भी पढ़ें: Prayagraj की जनता क्या बदलने वाली है राज? Chunav Yatra के दौरान हमने जो देखा वो सचमुच चौंकाने वाला था कांग्रेस के रणनीतिकार भले ही अपनी रणनीति से संतुष्ट हो। भले ही गांधी परिवार अपनी साख बचाने की कोई भी दलील दे पर सच्चाई यही है कि राहुल गांधी ने अमेठी सीट से चुनाव लड़ना कतई उचित नहीं समझा। उन्हें परिवार की 2019 में अपनी हारी खानदानी सीट अमेठी से मम्मी श्रीमती सोनिया गांधी की जीती रायबरेली कहीं ज्यादा सुरक्षित लगी। जहां तक अमेठी सीट पर स्मृति ईरानी के मुकाबले में किशोरी लाल शर्मा को मैदान में उतारने की बात है तो उनके उतारने से अमेठी में न तो कोई उत्साह की लहर है न तो उन्हे अमेठी हाथोहाथ लेने को तैयार है। समर्पित कांग्रेसजनों और पदाधिकारियों तथा कार्यकर्ताओं के अलावा न तो कोई बड़ा कांग्रेसी नेता उनके पक्ष में दिखाई दे रहा है और न ही उन्हे गांधी परिवार से कोई विशेष तरजीह दी जा रही है। यदि ऐसा न होता तो श्री शर्मा के नामांकन के मौके पर प्रियंका गांधी अवश्य मौजूद रहती। जबकि वह पड़ोस में यानी रायबरेली में अपने भाई राहुल के नामांकन के अवसर पर जोश-ओ-खरोश के साथ उपस्थित थी। यह मान लिया जाये कि भाई के नाते प्रियंका की प्राथमिकता राहुल गांधी थे तो भी प्रियका के रॉबर्ट वाड्रा तो उपस्थित रह ही सकते थे। जहां तक इंडिया गठबंधन के प्रमुख दल सपा व अन्य के कांग्रेस प्रत्याशी को समर्थन मिलने का सवाल है, हालात बता रहे हैं कि सपा समर्थक खासकर यादव समाज के लोगों का रूझान कांग्रेस प्रत्याशी की तुलना में भाजपा प्रत्याशी की ओर कहीं ज्यादा है। जिस तरह मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव, स्मृति ईरानी के जुलूस से लेकर नामांकन पत्र दाखिल करने के मौके पर उपस्थित रहे और उन्होने पड़ोस के सुल्तानपुर में अपनी सुसराल बताकर अपने को यहां का दामाद बताकर अपना हक जताया। उससे भी यादव विरादरी का अधिकाधिक वोट श्रीमती ईरानी को मिलना ही मिलना है। यहां यह भी कम गौरतलब नहीं है कि अमेठी के जिन दो सीटों पर सपा विधायकों का कब्जा है उनमें से एक गौरीगंज के सपा विधायक सपा से लगभग प्रत्यक्ष भी न भी सही अप्रत्यक्ष रूप से नाता तोड़ चुके हैं। उनका पूरा परिवार हाल ही में भाजपा में शामिल हो चुका है। ज्ञात रहे सपा विधायक राकेश प्रताप सिंह गौरीगंज सीट से लगातार तीन बार चुनाव जीतकर एक रिकार्ड बना चुके हैं। उनका इस सीट के मतदाताओं पर काफी अच्छा प्रभाव माना जाता है। ऐसे में उनके समर्थकों का अधिकाधिक वोट कांग्रेस के श्री शर्मा की बजाय भाजपा की श्रीमती ईरानी को मिलना तय माना जा रहा है। सपा की दूसरी विधान सभा सीट अमेठी पर भी ऐसा ही नजारा दिखने को मिल रहा है। यहां से सपा विधायिका महाराजी देवी का बेटा और बेटी सहित पूरा कुनबा ही श्रीमती ईरानी के पक्ष में चुनाव प्रचार करने में जुटा हुआ है। ज्ञातव्य है महाराजी देवी के पति गायत्री प्रजापति भ्रष्टाचार के आरोपों के चलते एक अर्से से जेल में बंद है और उन्हे लगता है कि भाजपा की शरण में जाने से उनके पति व परिवार को राहत मिल सकती है। महाराजी देवी प्रजापति ओबीसी से आती हैं और उनकी बिरादरी कुम्हारों के अलावा उनके खास समर्थक मानी जाने वाली जातियों मौर्य, नाई आदि का भी भरपूर समर्थन भाजपा प्रत्याशियों को मिलना तय माना जा रहा है। जानकार सूत्रों का कहना है कि यहां पर यह भी कम काबिलेगौर नहीं है कि जब 2019 में कांग्रेस प्रत्याशी राहुल गांधी को सपा-बसपा गठबंधन का पूरा समर्थन प्राप्त था तब भी भाजपा प्रत्याशी स्मृति ईरानी को ओबीसी के 70 फीसदी मतदाताओं का समर्थन हासिल हुआ था और कुर्मी तथा कौरी जाति का तो 80 फ ीसदी से अधिक समर्थन मिला था। भाजपा प्रत्याशी के समर्थन में एक और महत्वपूर्ण बात यह बतायी जा रही है और वो है बसपा का सपा से अलग होकर स्वतंत्र चुनाव लड़ना। समझा जा रहा है कि ओबीसी जाति के रवि प्रकाश मौर्य भाजपा व कांग्रेस दोनों को नुकसान पहुंचा सकते हैं। हालांकि यह तथ्य भी सामने आ रहा है कि बसपा के चलते मुस्लिम व दलित वोटों में बंटवारा तय है। जिसका खामियाजा कांग्रेस को ही भुगतना पड़ेगा। राम मंदिर बनने के बाद से दलित परिवारों का ज्यादा से ज्यादा समर्थन भाजपा को मिलना सुनिश्चित है। जहां तक मुस्लिम मतों का सवाल है कुछ हद तक मुस्लिम महिलाओं का वोट भी भाजपा प्रत्याशी के खाते में जा सकता है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के स्मृति ईरानी के समर्थन में अब तक दो-दो बार रैलिया करने से उदासीन मतदाताओं में जोश देखने को मिल रहा है। उपरोक्त तमाम तथ्यों, हालातों के अलावा स्मृति ईरानी का अमेठी के लोगों के बीच रहकर उनके सुख दुख में शामिल होना और क्षेत्र के उतरोत्तर विकास के लिये हर संभव प्रयास करना उनकी जीत को और पुख्ता बनाता है। अब तो यहां तक दावे किये जाने लगे हैं कि इस बार भाजपा प्रत्याशी स्मृति कम से कम दो लाख वोटों से कांग्रेस प्रत्याशी किशोरी लाल शर्मा को पराजित करने में सफल होगी। - शिव शरण त्रिपाठी

प्रभासाक्षी 18 May 2024 2:09 pm

सामने आई स्वाति मालीवाल की मेडिकल रिपोर्ट, हुई ये पुष्टि

नई दिल्ली: स्वाति मालीवाल की मेडिकल रिपोर्ट आ गयी है। दिल्ली एम्स के ट्रॉमा सेंटर में उनका मेडिकल हुआ था। MLC में उनकी आंख, चेहरे एवं पैर में चोट की पुष्टि हुई है। स्वाति मालीवाल की मेडिकल रिपोर्ट में स्पष्ट है कि उनके बाएं पैर में चोट आई है। दाहिनी आंख के नीचे भी चोट के निशान मिले हैं। मेडिकल रिपोर्ट के अनुसार, मालीवाल के शरीर में कुल 4 जगह चोट के निशान मिले हैं। वह जब मेडिकल कराने के लिए हॉस्पिटल पहुंची थीं तो उन्होंने कहा- उनके सिर में भी चोट लगी है। बता दें कि स्वाति मालीवाल ने दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल के PA विभव कुमार पर अपने साथ मारपीट करने का इल्जाम लगाया है। उनके अनुसार, दिल्ली मुख्यमंत्री के आधिकारिक आवास पर उनके साथ मारपीट की गई। स्वाति मालीवाल ने दिल्ली पुलिस में जो FIR दर्ज कराई थी, उसमें उन्होंने विभव कुमार पर उनके पेट, छाती एवं पेल्विस एरिया में पैरों से चोट पहुंचाने का आरोप लगाया था। वही इस बीच दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल के आवास से एक नया वीडियो सामने आया है, जिसमें सिक्योरिटी गार्ड स्वाति मालीवाल का हाथ पकड़कर उन्हें बाहर ले जाते नजर आ रहे हैं। यह वीडियो 13 मई का बताया जा रहा, जिस दिन AAP की राज्यसभा सांसद मालीवाल ने सीएम के सहयोगी विभव कुमार पर हमला करने का इल्जाम लगाया था। वही इस घटना से राजनीतिक तूफान खड़ा हो गया है। नशा मुक्ति केंद्र से घर लौटे शख्स का खूनी खेल, माता-पिता का कर दिया ये हाल तमिलनाडु के झरने में अचानक आ गई बाढ़, बह गया 17 साल का लड़का नूंह में हुआ दर्दनाक हादसा, यात्रियों से भरी बस में लगी भयंकर आग, 10 ज़िंदा जले

न्यूज़ ट्रॅक लाइव 18 May 2024 1:50 pm

‘जो भारत के सैनिकों को रेपिस्ट बताता है, उसका बढ़िया इलाज कर दिया है’: कन्हैया कुमार को दिल्ली में पड़े थप्पड़, कभी बिहार में भी हर दूसरे दिन पिट रहे थे

दिल्ली में चुनाव प्रचार के दौरान कन्हैया कुमार को एक युवक ने थप्पड़ मारे। बिहार में भी उन्हें इसी तरह के विरोध का सामना करना पड़ा था।

ऑप इंडिया 18 May 2024 1:30 pm

दिल्ली में गर्मी ने दिखाने लगी तेवर, तापमान 47 डिग्री पार, मौसम विभाग ने किया यूपी-राजस्थान में भीषण गर्मी का अलर्ट, जानें आपके जिले में कैसा रहेगा आने वाले दिनों में मौसम ?

देश के कई राज्यों में भीषण गर्मी का प्रकोप जारी है. दिल्ली और उत्तर प्रदेश में तेज धूप से लोगों का बुरा हाल है. उत्तर पश्चिम भारत और बिहार में लू चलने की संभावना है, जबकि दक्षिण भारत में भारी बारिश हुई है। दिल्ली में तापमान 47 डिग्री सेल्सियस के पार पहुंच गया.....

समाचार नामा 18 May 2024 10:47 am

पुलिस जिसे खोज रही थी नगरी-नगरी-द्वारे-द्वारे… वो घूम रहा था गुरुद्वारे: ‘तारक मेहता का उल्टा चश्मा’वाले गुरुचरण सिंह लौटे घर

तारक मेहता का उल्टा चश्मा सीरियल में सोढ़ी का विख्यात किरदार निभाने वाले गुरुचरण सिंह आखिरकार 25 दिन बाद घर लौट आए हैं।

ऑप इंडिया 18 May 2024 10:34 am

लोकसभा चुनाव के लिए चांदनी चौक और उत्तर-पश्चिम दिल्ली में आज चुनावी रैलियां करेंगे राहुल गांधी

कांग्रेस नेता राहुल गांधी आज दिल्ली के चांदनी चौक में चुनावी रैली करेंगे। दिल्ली की 7 लोकसभा सीटों के लिए 25 मई को चुनाव होना है

देशबन्धु 18 May 2024 10:31 am

जानें कौन हैं वो शख्स जिसने सबके सामने कन्हैया कुमार को मारी थप्पड़? कांग्रेस उम्मीदवार बोले-आरोपियों का BJP से लिंक

हमने उसे सबक सिखाया है. उन्होंने नारे लगाए थे, भारत तुम्हारे टुकड़े होंगे. अफ़ज़ल हम शर्मिंदा हैं, क्योंकि तेरा कातिल ज़िंदा है। कोई भी देश को टुकड़े-टुकड़े नहीं कर सकता. अभी तो हम जीवित हैं. कन्हैया कुमार को अब दिल्ली में घुसने नहीं दिया जाएगा.....

समाचार नामा 18 May 2024 10:26 am

पाकिस्तानी पढ़ने गए थे किर्गिस्तान, अब मारे जा रहे, लड़कियों के साथ हो रहा रेप: कोस रहे अपने PM शहबाज और मरियम नवाज को

किर्गिस्तान के बिश्केक में स्थानीय लोगों ने हमला किया। बॉयज हॉस्टल में पाकिस्तानी छात्रों को मारा जा रहा। गर्ल्स हॉस्टल के दरवाजे तोड़ कर...

ऑप इंडिया 18 May 2024 10:19 am

स्वाति मालीवाल बन गई INDI गठबंधन में गले की फाँस? राहुल गाँधी की रैली के लिए केजरीवाल को नहीं भेजा गया न्योता, प्रियंका कह चुकी हैं- कॉन्ग्रेस AAP महिला सांसद के साथ

दिल्ली में आयोजित होने वाली राहुल गाँधी की रैली में शामिल होने के लिए AAP प्रमुख अरविंद केजरीवाल को न्योता नहीं दिया गया है।

ऑप इंडिया 18 May 2024 9:20 am

‘अनुच्छेद 370 को हमने कब्रिस्तान में गाड़ दिया, इसे वापस नहीं लाया जा सकता’: PM मोदी बोले- अलगाववाद को खाद-पानी देने वाली कॉन्ग्रेस ने भगवा आतंक का झूठ गढ़ा

पीएम मोदी ने कहा, आजादी के बाद गाँधी जी की सलाह पर अगर कॉन्ग्रेस को भंग कर दिया गया होता, तो आज भारत कम से कम पाँच दशक आगे होता।

ऑप इंडिया 17 May 2024 10:10 pm

Jaunpur Loksabha: BJP के समर्थन में क्यों आए धनंजय सिंह, जानिए इस सीट पर क्या बन रहे सियासी समीकरण?

Jaunpur Politics: जौनपुर लोकसभा में कुल 10 प्रतिशत ठाकुर, 9 प्रतिशत ब्राह्मण, 12 प्रतिशत यादव, 8 प्रतिशत कुशवाहा-मौर्या,16 प्रतिशत अनुसूचित वर्ग, 13 प्रतिशत मुसलमान हैं.

क़्विंट हिन्दी 17 May 2024 9:31 pm

कानपुर में अंकित बनकर फैज मलिक ने हिंदू नाबालिग से की रेप, ब्लैकमेल कर मुस्लिम बनने का डालता दबाव: MP में आशु बन जनजातीय महिला की आबरू लूटता रहा सुलेमान

फैज मलिक ने लड़की के हाथों को कई जगह से काटा भी है। लड़की अनाथ है। उसके माता-पिता नहीं हैं।

ऑप इंडिया 17 May 2024 8:30 pm

स्वाति मालीवाल पर AAP का यूटर्न: पहले पार्टी ने कहा कि केजरीवाल के पीए विभव ने की बदतमीजी, अब महिला सांसद के आरोप को बता रही फर्जी

कल तक स्वाति मालीवाल के साथ खड़ा रहने का दावा करने वाली आम आदमी पार्टी ने अब यू टर्न ले लिया है और विभव कुमार के बचाव में खड़ी है।

ऑप इंडिया 17 May 2024 8:22 pm

अरविंद केजरीवाल और हवाला ऑपरेटर के बीच हुई थी चैटिंग: ED ने सुप्रीम कोर्ट को दी जानकारी, पूरक आरोप पत्र में मुख्यमंत्री और AAP आरोपित

ED ने सुप्रीम कोर्ट में एक पूरक चार्जशीट दाखिल की और बताया कि सीएम केजरीवाल के हवाला ऑपरेटरों के साथ व्यक्तिगत चैट का पता चला है।

ऑप इंडिया 17 May 2024 6:50 pm

स्वाति मालीवाल के साथ मारपीट को AAP ने बताया BJP की साजिश, कहा –सुरक्षाकर्मियों को धमकाया था, बिभव ने भी कराई क्रॉस FIR

स्वाति मालीवाल ने दिल्ली पुलिस को जो एफआईआर की है, उसके फैक्टशीट के मुताबिक, स्वाति मालीवाल ने कहा है कि उनकी बेरहमी से पिटाई की गई। उनको मुक्के मारे गए, घूँसे मारे गए। उनसे बोला नहीं जा रहा था। उन्होंने शिकायत में लिखा है कि उनका सर टेबल पर मारा गया, जो फट गया। उनके कपड़े फाड़े गए। लेकिन जो वीडियो सामने आया है, वो उनके दावे के एकदम विपरीत है।

ऑप इंडिया 17 May 2024 6:45 pm

कौन है छोटी सी बच्ची लवली, कितना कठिन है उसका संघर्ष, गौतम अडानी को मदद के लिए क्यों आना पड़ा आगे: जानिए सब कुछ

गौतम अडानी ने कहा कि वो लवली के इलाज और पढ़ाई का खर्च उठाएँगे, ताकि बच्ची और उसके परिवार की मदद हो सके।

ऑप इंडिया 17 May 2024 5:55 pm

CM अरविंद केजरीवाल चाहते थे ‘कम्प्रोमाइज’, सोनी को जहर खाकर देनी पड़ी थी जान: अब स्वाति मालीवाल पर भी वही नीचता दिखा रही AAP और उसके पोषित पत्रकार

स्वाति मालीवाल के साथ जो हुआ उससे सवाल उठता है कि जब एक महिला सांसद सीएम आवास में सुरक्षित नहीं है तो सामान्य महिलाएँ क्या उम्मीद करें।

ऑप इंडिया 17 May 2024 5:33 pm

जिस सैफ से जुनैद के थे समलैंगिक संबंध उसका गला रेता, फिर खुद की भी काटी नस: कहा- उसके साथ रहना चाहता हूँ, UP के बाराबंकी का मामला

उत्तर प्रदेश के बाराबंकी में जुनैद नाम के एक युवक ने सैफ नाम के एक दूसरे युवक का चाकू से गला रेत दिया। दोनों के बीच समलैंगिक संबंध था।

ऑप इंडिया 17 May 2024 5:27 pm

'जरा बताइए तो, कोई इतना बच्चा पैदा करता है?', लालू यादव पर पर्सनल हुए CM नीतीश

पटना: बि हार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार शुक्रवार को पूर्व मुख्यमंत्री लालू यादव को लेकर पर्सनल हो गए। नीतीश कुमार ने लालू यादव को लेकर कहा कि जरा बताइए तो, कोई इतना बच्चा पैदा करता है? एक बेटे की चाहत में 9-9 बच्चा पैदा कर दिया। उन्होंने कहा कि उनको (लालू यादव को) बेटा पैदा नहीं हो रहा था तो 9-9 पैदा कर दिया। तथा उसके पश्चात् अब उसको नेता बनाने के लिए दिन रात लगे रहते हैं। बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने परिवारवाद को लेकर लालू पर निशाना साधते हुए कहा कि हमलोग भी राजनीति में हैं किंतु हम लोगों ने कभी अपने परिवार को आगे नही बढ़ाया। आगे उन्होंने कहा कि उनको (लालू यादव को) देखिए, अपने परिवार के लिए कैसे परेशान रहते हैं। नीतीश कुमार ने यह बयान बिहार के मोतिहारी में दिया है। गौरतलब है कि भाजपा के नेता भी लालू यादव और विपक्षी इंडिया ब्लॉक को परिवारवाद के मुद्दे को लेकर हमलावर हैं। हाल ही में पीएम नरेंद्र मोदी ने भी हाजीपुर में चुनावी रैली में राजद एवं कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा था कि इनको अपने बेटों को सेट करने की चिंता है, ये आपके बच्चों की चिंता क्या करेंगे। गौरतलब है कि नीतीश कुमार 2 दिन ब्रेक के पश्चात् 1 दिन पहले ही सक्रीय हुए हैं। नीतीश कुमार को पीएम नरेंद्र मोदी के नामांकन में सम्मिलित होने के लिए 14 मई को वाराणसी जाना था किन्तु उनकी तबीयत बिगड़ गई। मुख्यमंत्री नीतीश की तबीयत ख़राब होने के बाद उनके सभी कार्यक्रम रद्द कर दिए गए थे। 14 और 15 मई को ब्रेक के पश्चात् नीतीश कुमार 16 मई से ही फिर से एक्टिव हुए हैं। मुख्यमंत्री नीतीश ने एक दिन पहले शिवहर में जदयू उम्मीदवार लवली आनंद एवं पूर्वी चंपारण में भाजपा उम्मीदवार राधेमोहन सिंह के लिए चुनावी जनसभा को संबोधित किया था। अब रूस में भारतीयों के लिए होगी वीज़ा फ्री एंट्री ! बड़ा समझौता करने जा रहे दोनों देश CRPF काफिले पर हमला करने वाले हिज्बुल मुजाहिदीन के 6 आतंकियों पर चलेगा मुकदमा, सुप्रीम कोर्ट ने दी इजाजत 'मैं 12 साल का था तब से यहाँ आ रहा, आपसे बरसों का रिश्ता..', पारंपरिक सीट अमेठी पर भावुक हुए राहुल गांधी

न्यूज़ ट्रॅक लाइव 17 May 2024 4:50 pm

प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो की कनाडा में खिसक रही है जमीन, सर्वे में आए चौंकाने वाले नतीजे: हिंदू और सिखों में ही नहीं, मुस्लिम और यहूदियों में भी है नाराजगी

कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो की लोकप्रियता अब तक के सबसे निचले स्तर पर पहुँच गई है। हर धर्म में उनके विरोधी बढ़े हैं।

ऑप इंडिया 17 May 2024 4:21 pm

बंगाल BJP उम्मीदवार गंगोपाध्याय ने CM ममता के खिलाफ की आपत्तिजनक टिप्पणी, TMC ने किया ईसी का रूख, जानें पूरा मामला

देश में लोकसभा चुनाव 2024 को लेकर सियासी सरगर्मियां तेज हैं. राजनीतिक दलों के दिग्गज नेताओं के बीच जुबानी जंग जारी है. पश्चिम बंगाल की तमलुक लोकसभा सीट से बीजेपी उम्मीदवार और पूर्व जस्टिस अभिजीत गंगोपाध्याय ने सीएम ममता बनर्जी के खिलाफ....

समाचार नामा 17 May 2024 4:05 pm

जनता का रूझान साफ, 'फिर एक बार मोदी सरकार' के सकारात्मक एजेंडे की होगी जीत : रोहन गुप्ता

नई दिल्ली, 17 मई (आईएएनएस)। उत्तर प्रदेश के फतेहपुर में सपा प्रत्याशी नरेश उत्तम पटेल के समर्थन में चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने विवादित बयान दिया है। अखिलेश यादव ने भाजपा प्रत्याशी साध्वी निरंजन ज्योति पर निशाना साधते हुए उन्हें 'घटिया और खटारा इंजन' करार दे दिया है। जिसके बाद भाजपा हमलावर हो गई है।

समाचार नामा 17 May 2024 3:58 pm

मुंबई में जो गिरी थी होर्डिंग, उसके नीचे दबकर मरने वालों में अभिनेता कार्तिक आर्यन के आंटी-अंकल भी, आरोपित भावेश भिंडे गिरफ्तार: 16 की हुई थी मौत

मुंबई के घाटकोपर में तूफ़ान के कारण गिरी एक होर्डिंग के नीचे दब कर मरने वालों में बॉलीवुड अभिनेता कार्तिक आर्यन के अंकल-आंटी भी शामिल थे।

ऑप इंडिया 17 May 2024 3:53 pm

'महाराष्ट्र कभी गद्दारों को माफ नहीं करता', CM शिंदे पर उद्धव ठाकरे का हमला

मुंबई: देश में लोकसभा चुनाव के 4 चरणों के तहत मतदान हो चुका है। 5वें चरण के तहत 20 मई को मतदान है। सभी राजनीतिक दल चुनाव प्रचार में व्यस्त हैं। इस बीच शिवसेना (यूबीटी) के अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने महाराष्ट्र की राजनीति, चुनाव एवं विपक्षी गठबंधन पर खुलकर चर्चा की। इसके चलते उद्धव ठाकरे से पूछा गया कि महाराष्ट्र में अब तक के चुनाव में महाविकास अघाड़ी की क्या स्थिति है? इस पर उद्धव ने सीएम एकनाथ शिंदे का नाम लिए बगैर कहा कि मैं जहां-जहां जा रहा हूं, मुझे लोगों का प्यार मिल रहा है। एक बात और है कि महाराष्ट्र कभी गद्दारों को माफ नहीं करता। जिस पार्टी का निर्माण बालासाहेब ठाकरे ने किया था, उसे तोड़ने और चुराने का प्रयास करने वालों को महाराष्ट्र कभी माफ नहीं करेगा। लोगों में गुस्सा और आक्रोश हैं। इस प्रकार की भावना लोगों में नजर आ रही है। वही यह पूछने पर कि केवल सहानुभूति से काम नहीं चलता है। आपकी योजनाएं क्या हैं? जैसे भाजपा के पास पीएम डायरेक्ट ट्रांसफर की योजना है, जिसके बड़े स्तर पर लोग लाभार्थी हैं। इस पर उद्धव ठाकरे ने कहा कि डायरेक्ट ट्रांसफर की योजना है ना। प्रवर्तन निदेशालय का नोटिस जाता है तो आदमी सीधे ट्रांसफर होता है भाजपा में और इसका लाभार्थी होती है भाजपा। ये है डायरेक्ट ट्रांसफर और लाभार्थी की योजना। उन्होंने कहा कि यदि भाजपा के उम्मीदवारों की सूची देखें तो मेरी जानकारी के अनुसार, तकरीबन 125 लोग कांग्रेस से भाजपा में आए हैं। सिर्फ मुंबई की ही बात करें तो 6 में से 4 जगह पर बाहर से लाए गए प्रत्याशी हैं। उद्धव ठाकरे से जब देवेंद्र फडणवीस से जुड़ा सवाल पूछा गया तो उन्होंने दो टूक कहा कि मेरी लड़ाई देवेंद्र से नहीं है। मेरी लड़ाई दिल्ली में बैठे तानाशाह से है। देवेंद्र पहले अवश्य मुख्यमंत्री थे। मुख्यमंत्री के पद से हटने के बाद उन्होंने नारा दिया कि मैं वापस आऊंगा। वो वापस आए हैं लेकिन चपरासी बनकर। मैं ऐसे नेताओं को क्या जवाब दूं। वो मेरे कारण ही 5 वर्ष सत्ता में बैठे थे। भाजपा से गठबंधन के सवाल पर उद्धव ने कहा कि मैं कभी किसी तानाशाह का समर्थन नहीं करूंगा। उन्होंने मुझे और शिवसेना को खत्म करने का प्रयास किया। क्या मैं उनके साथ जा सकता हूं? ये चुनाव मेरे लिए नहीं बल्कि भाजपा के लिए करो या मरो का है। मेरे पिता ने कहा था कि कभी अपनी जुबान से मत पलटना। यह पूछने पर कि क्या वह दोबारा सीएम का पद स्वीकार करेंगे? इस पर उद्धव ठाकरे ने कहा कि मैं इसके सपने नहीं देखता मगर मैं अपनी जिम्मेदारी से पीछे नहीं हटूंगा। वे हिंदू-मुस्लिम करते हैं। उन्होंने मुसलमानों का डर दिखाया है। मगर हम मुस्लिमों को साथ लेकर चलते हैं। उद्धव ठाकरे ने कहा कि हमारे साथ धोखा हुआ है। लोगों को भी ठगा गया है। हम असली शिवसेना है। पीएम अपने दिल से पूछकर देखें कि असली शिवसेना कौन सी है, उन्हें जवाब मिल जाएगा। भविष्य में दोबारा महाराष्ट्र का सीएम बनने के सवाल पर उद्धव ने कहा कि मैं मुख्यमंत्री का सपने देखने वालों में से नहीं हूं। जब मैंने अपने करियर की शुरुआत की थी तो लोग बोलते थे कि मुझे भाषण देना भी नहीं आता है। मैंने मान लिया था कि मुझे भाषण देना नही आता। मेरे दादा-पिता ने कहा था कि तू कभी भाषण नहीं देना, लोगों से बात कर। मैं दिल से बात करता हूं। मैं मन की बात नहीं करता, दिल की बात करता हूं। मन सोचता है, दिल सोचता नहीं है। उद्धव ठाकरे ने बोला कि फिलहाल तो हमें भारत माता को तानाशाही तथा जुमलेबाजी से बचाना है। 'जज साहब चुनाव..', कहते रह गए कपिल सिब्बल, सुप्रीम कोर्ट ने हेमंत सोरेन की जमानत पर टाल दी सुनवाई ! पीड़ित महिलाओं को बयान बदलने के लिए धमका रहे TMC के गुंडे ! अब संदेशखाली में खुद कैंप लगाएगी CBI, तैनात होगा केंद्रीय बल केजरीवाल को जमानत देने वाले जस्टिस संजीव खन्ना होंगे देश के अगले CJI, जानिए उनके बारे में सबकुछ

न्यूज़ ट्रॅक लाइव 17 May 2024 3:50 pm

'मैं 12 साल का था तब से यहाँ आ रहा, आपसे बरसों का रिश्ता..', पारंपरिक सीट अमेठी पर भावुक हुए राहुल गांधी

अमेठी: 2 019 के लोकसभा चुनाव में भाजपा प्रत्याशी स्मृति ईरानी के हाथों अपनी पारम्परिक अमेठी सीट हारने के बाद बाद पहली बार राहुल गांधी ने अमेठी के लोगों से अपने रिश्तों पर बयान दिया है। अमेठी में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि मैं 12 वर्ष का था, तब से यहां आ रहा हूं। मैंने अमेठी का वह वक़्त भी देखा है, जब यहां बंजर खेत हुआ करते थे। टूटी हुई सड़कें हुआ करती थीं। मैंने अपनी आंखों से अमेठी में बदलाव होते देखा है। मैं अपने पिता के साथ यहां आया करता था। मुझे यह कहने में कोई हिचक नहीं है कि राजनीति में मैंने जो कुछ भी सीखा, वो अमेठी से ही सीखा है। बता दें कि, अमेठी सीट 1967 से ही कांग्रेस के पास रही है। जबकि राहुल का जन्म 1970 से हुआ। 1980 के बाद से केवल 2 साल (1996-1998) को छोड़ दें, तो इस सीट पर कांग्रेस उम्मीदवार संजय गांधी, राजीव गांधी, सोनिया गांधी चुनाव जीतते रहे हैं। अब राहुल यदि कह रहे हैं कि, उन्होंने अमेठी में बंजर खेत, टूटी सड़कें देखी हैं, तो वे अपनी ही पार्टी पर सवाल उठा रहे हैं कि उन्होंने इस क्षेत्र में कोई काम नहीं किया? क्योंकि काफी समय तक तो ये सीट कांग्रेस के ही कब्जे में रही। बहरहाल, फिलहाल राहुल गांधी अपनी पार्टी के पारम्परिक गढ़ को वापस पाने के लिए पुरजोर कोशिशें कर रहे हैं। उन्होंने जनसभा के दौरान भावुक लहजे में कहा कि ऐसा नहीं है कि मैंने अमेठी को छोड़ दिया है। मैं अमेठी का था, अमेठी का हूं और अमेठी का ही रहूंगा। यह रिश्ता एक दो वर्षों का नहीं है, बल्कि हमेशा का है। कल मैं रायबरेली का सांसद बन जाउंगा। मगर एक बात हमेशा याद रखना कि मैं जितना रायबरेली का रहूँगा, उतना ही अमेठी का भी रहूँगा। रायबरेली के लिए जो भी विकास योजनाएं आएंगी, वो पूरी अमेठी में आएंगी। अमेठी में आपके सांसद केएल शर्मा अवश्य होंगे, मगर मैं भी आपका सांसद हूंगा। रायबरेली में अगर दस रुपए आते हैं, तो भरोसा रखिए कि अमेठी में भी दस रुपए आएंगे। कांग्रेस नेता ने आगे कहा कि केएल शर्मा आपके उम्मीदवार हैं। आप इन्हे जीतकर संसद में पहुंचाइए, ये आपके मुद्दे उठाएंगे। केएल शर्मा में जरा भी अहंकार नहीं है। राहुल गांधी ने कहा कि राजीव गांधी जब यहां एक्टिव थे, तो उन्होंने नेताओं की एक टीम गठित की थी। उस टीम की काफी सारे लोग सरकार और संगठन के बड़े-बड़े पदों पर चले गए, मगर के एल शर्मा आपके बीच रह गए। उन्होंने चालीस वर्षों तक आपके साथ रिश्ता कायम रखा। आप इनके हाथों को मजबूत कीजिए। 'इस छूरे से कई बकरे हलाल किए हैं..', दूधमुंहे बच्चे पर चाक़ू रख मॉडल का रेप करता रहा काशान, इस्लाम कबूलने का दबाव 'जज साहब चुनाव..', कहते रह गए कपिल सिब्बल, सुप्रीम कोर्ट ने हेमंत सोरेन की जमानत पर टाल दी सुनवाई ! पीड़ित महिलाओं को बयान बदलने के लिए धमका रहे TMC के गुंडे ! अब संदेशखाली में खुद कैंप लगाएगी CBI, तैनात होगा केंद्रीय बल

न्यूज़ ट्रॅक लाइव 17 May 2024 3:50 pm

सरकारी कर्मचारी, पार्टी पदाधिकारी, सांसद, नेता कई अंजाम वही, केजरीवाल एंड कंपनी में स्वैग से नहीं लात-घूंसों से स्वागत का अंदाज बहुत पुराना है

मुझे दिल्ली के लोगों की सेवा करनी है, मैं अकेला कुछ नहीं कर सकता। मैं बहुत छोटा आदमी हूं। साधारण सी वेशभूषा में खुद को परिभाषित करने के लिए न जाने कितनी बार इन शब्दों का इस्तेमाल किया होगा। आप का उदय आशा की किरण के समान था। जिसे भारतीय राजनीति में आदर्शवाद की वापसी के रूप में देखा गया। इसमें बीजेपी और कांग्रेस के राष्ट्रीय विकल्प के रूप में उभरने की क्षमता भी कई वर्गों में नजर आई। लेकिन इतिहास की समझ की कमी, राष्ट्र के पुननिर्माण के लिए एक समग्र दृष्टिकोण की कमी के कारण आज पार्टी जिस स्थिति में है वो निराशा का कारण बन गई है। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पहली बार भ्रष्टाचार के खिलाफ आंदोलन (2011) करते हुए तिहाड़ जेल गए थे। वर्तमान में वह भ्रष्टाचार से जुड़े एक मामले की वजह से उसी तिहाड़ से बेल पर बाहर हैं। वहीं इस दौरान उनके आवास पर 13 मई को हुई घटना ने कई गंभीर सवाल खड़े कर दिए हैं। इसे भी पढ़ें: इन सब लोगों को बताऊंगी...13 मई की घटना का वीडियो आया सामने, CM आवास में स्वाति मालीवाल के साथ क्या हुआ था? स्वाति मालीवाल के साथ सीएम आवास में बदसलूकी सीएम हाउस में स्वाति मालीवाल के साथ हुई अभ्रदता का मामला लगातार बढ़ता जा रहा है। इसकी चपेट में केजरीवाल आ गए हैं। सवाल केजरीवाल की चुप्पी को लेकर है? एक तरफ एनसीडब्लयू की तरफ से नोटिस जारी कर केजरीवाल के पीए विभव कुमार को पूछताछ के लिए बुलाया गया है। वहीं दूसरी तरफ साढ़े चार घंटे स्वाति मालीवाल के घर पर जाकर उनका बयान दिल्ली पुलिस की तरफ से दर्ज किया गया। फिर धारा 354, 506,509 के तहत एफआईआर दर्ज की गई है। एम्स में ले जाकर उनका मेडिकल कराया गया। लेकिन ये मामला बेहद गंभीर है। घटना के तीन दिन बाद अपनी चुप्पी तोड़ते हुए स्वाति मालीवाल ने एक्स पर लिखा कि मेरे साथ जो हुआ वो बहुत बुरा था। मेरे साथ हुई घटना पर मैंने पुलिस को अपना स्टेटमेंट दिया है। मुझे आशा है कि उचित कार्यवाही होगी। पिछले दिन मेरे लिए बहुत कठिन रहे हैं। जिन लोगों ने प्रार्थना की उनका धन्यवाद करती हूँ। जिन लोगों ने करेक्टर असैनिनेशन करने की कोशिश की, ये बोला की दूसरी पार्टी के इशारे पर कर रही है, भगवान उन्हें भी खुश रखे। इसे भी पढ़ें: Swati Maliwal प्रकरण ने दिलाई संतोष कोली केस की याद, जब AAP कार्यकर्ता की मां ने केजरीवाल पर लगाए थे गंभीर आरोप संगीन मामलों में एफआईआर दर्ज एफआईआर आईपीसी की धारा 308 (गैर इरादतन हत्या का प्रयास) / 341 (गलत तरीके से रोकने के लिए सजा) / 354 बी महिला को निर्वस्त्र करने के इरादे से हमला या आपराधिक बल का प्रयोग / (506 आपराधिक धमकी के लिए सजा / 509 (शब्द, इशारा) या किसी महिला की गरिमा का अपमान करने के इरादे से किया गया कृत्य) के तहत दर्ज की गई है। एफआईआर की कॉपी से खुलासा हुआ है कि स्वाति मालीवाल को विभव कुमार ने सात से आठ थप्पड़ मारे, पेट पर वार किया। वो टेबल से टकराकर नीचे भी गिर गई। जिसको लेकर उनके सिर पर भी चोट आई। मालीवाल का एम्स ले जाकर मेडिकल करा लिया गया है। स्वाति मालीवाल की एक वीडियो फुटेज भी सामने आई जिसमें वो सही तरीके से चल भी नहीं पा रही हैं। पुलिस अब केजरीवाल के घर पर जाएगी और सीसीटीवी फुटेज भी खंगाला जाएगा। धक्के मारकर योगेंद्र यादव को किया गया बाहर मारपीट के आरोप इस पार्टी के ऊपर पहले भी लग चुके हैं। आज आम आदमी पार्टी के इतिहास पर नजर डालें तो पहले भी मारपीट के कलंक उनके ऊपर लग चुके हैं। 2015 में योगेंद्र यादव, प्रशांत भूषण और अरविंद केजरीवाल के बीच भयंकर बवाल छिड़ गया था। पार्टी दो फाड़ हो चुकी थी। आम आदमी पार्टी ने नेशनल एग्जीक्यूटिव की मीटिंग बुलाई थी। इस मीटिंग में क्या कुछ हुआ था खुद योगेंद्र यादव ने बताया था। उन्होंने आरोप लगाया था की मीटिंग में बाउंसर बुलाए गए और नेताओं से मारपीट की गई। योगेंद्र यादव ने तब चीख चीखकर कहा था कि राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में लोकतंत्र की हत्या हुई है। यहां मारपीट चल रही है। हमारे साथ नेशनल काउंसिल के मेंबर रमजान चौधरी है। इनको काउंसिल की मीटिंग में से घसीटकर बाउंसर ने लात मारी। उनकी हड्डी में चोट पहुंची है। धक्क-मुक्की हुई है, लोगों को मारा गया। चीफ सेक्रेटरी पर बरसाए गए लात और घूंसे अरविंद केजरीवाल के मुख्य सचिव अंशु प्रकाश की पिटाई का प्रकरण आपको याद होगा। साल 2018 में मुख्य सचिव अंशु प्रकाश ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर पिटाई करने का आरोप लगाया था। इस मामले में ओखला से विधायक अमानतुल्लाह खान और देवली से विधायक प्रकाश जरवाल को तिहाड़ जेल की हवा भी खानी पड़ी थी। आरोप लगे थे कि अंशु प्रकाश पर केजरीवाल की मौजूदगी में उनकी पार्टी के विधायकों ने हमला किया था। इस मामले में सीएम और डिप्टी सीएम समेत कुल 13 आरोपी थे, जिनमें से 11 को बरी करने का आदेश कोर्ट ने दिया था। दरअसल, फरवरी 2018 में दिल्ली के मुख्य सचिव आईएएश अंशु प्रकाश ने आरोप लगाया था कि 19-20 फरवरी की दरम्यानी रात को उन्हें सीएम केजरीवाल के आधिकारिक आवास पर एक बैठक के नाम पर बुलाया गया। इस बैठक में सीएम अरविंद केजरीवाल, डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया और आप विधायक अमातुल्लाह खान समेत अन्य कई विधायक मौजूद थे। 1986 बैच के आईएएस अंशु प्रकाश ने अपनी शिकायत में कहा था कि उन्हें आप सरकार के लिए किए जाने विज्ञापन को लेकर एक मीटिंग में बुलाया गया था। अंशु प्रकाश ने आरोप लगाया कि इसी बैठक में उनके साथ आप विधायक अमानतुल्लाह खान समेत अन्य ने उन पर हमला बोला। अंशु प्रकाश ने आरोप लगाया कि उनके मुंह और सर पर कई घूंसे मारे गए।

प्रभासाक्षी 17 May 2024 3:41 pm

Prayagraj की जनता क्या बदलने वाली है राज? Chunav Yatra के दौरान हमने जो देखा वो सचमुच चौंकाने वाला था

उत्तर प्रदेश का प्रयागराज क्षेत्र गंगा यमुना और सरस्वती का संगम स्थल है। प्रत्येक 12 वर्ष के अंतराल पर लगने वाले कुंभ मेले की आयोजन स्थली प्रयागराज ने देश को पंडित जवाहर लाल नेहरु, लाल बहादुर शास्त्री, हेमवंती नंदन बहुगुणा, जनेश्वर मिश्र और मुरली मनोहर जोशी जैसे राजनीतिज्ञ और अमिताभ बच्चन जैसा फिल्मी सुपर स्टार दिया है। इलाहाबाद के नाम से मशहूर इस क्षेत्र का नाम बदल कर उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने प्रयागराज कर दिया था। चूंकि इस क्षेत्र को पौराणिक काल में प्रयागराज ही कहा जाता था इसलिए योगी सरकार ने पुराना नाम बहाल कर दिया और इस क्षेत्र का पुराना सांस्कृतिक गौरव बहाल करने की दिशा में तमाम कदम उठाए जिससे इस क्षेत्र की सूरत बदलने लगी है। अगले साल होने वाले महाकुंभ के आयोजन से जुड़ी तैयारियों के चलते इस समय पूरे प्रयागराज में जहां तहां निर्माण कार्य चल रहे हैं जिसके चलते कुछ जगह नाराजगी भी दिखी क्योंकि जिनके अवैध निर्माण तोड़े गए हैं उनकी नजर में सरकार गलत काम कर रही है। कुछ समय पहले तक प्रयागराज में माफियाओं का आतंक हुआ करता था लेकिन अब पूरी तरह कानून का राज है जिसके चलते जनता निर्भीक होकर अपना जीवन जी पा रही है। लेकिन महंगाई और बेरोजगारी ऐसी बड़ी समस्याएं हैं जिसके चलते लोग सरकार से बेहद नाराज हैं और इस बार बदलाव करके देखना चाहते हैं। इसे भी पढ़ें: Amethi में Smriti Irani के खिलाफ नाराजगी देखकर भाजपा के होश उड़े हुए हैं हम आपको बता दें कि प्रयागराज में पिता की राजनीतिक विरासत को आगे बढ़ाने का प्रयास कर रहे भाजपा उम्मीदवार नीरज त्रिपाठी पूर्व राज्यपाल और पूर्व विधान सभा अध्यक्ष स्व. केशरी नाथ त्रिपाठी के बेटे हैं। उनका मुकाबला सपा के सांसद रहे रेवती रमण सिंह के बेटे उज्ज्वल रमन से है। बसपा यहां चुनावी मुकाबले को त्रिकोणीय बनाने का प्रयास कर रही है। ब्राह्मण बहुल इस क्षेत्र में नीरज त्रिपाठी को अपने पिता के नाम से पहचान, मोदी सरकार के कामकाज की बदौलत जनता का प्यार तो मिल ही रहा है साथ ही राम मंदिर और हिंदुत्व जैसे मुद्दे भी उनके पक्ष में माहौल बना रहे हैं। हालांकि पेपर लीक की घटनाओं के चलते युवाओं और महंगाई से परेशान लोगों की नाराजगी तथा बढ़ती बेरोजगारी जैसे मुद्दों से नीरज त्रिपाठी को जूझना भी पड़ रहा है। प्रभासाक्षी ने अपनी चुनाव यात्रा के दौरान पाया कि यहां गंगा पार और यमुना पार की जनता के लिए अलग अलग मुद्दे हैं। नैनी औद्योगिक क्षेत्र में कई उद्योग बंद हो चुके हैं। जनता का कहना है कि इसके पीछे सरकारी उदासीनता भी एक कारण है। लोगों ने कहा कि सरकार निवेश आमंत्रित करने के लिए करोड़ों रुपए खर्च करके अपने मंत्रियों को विदेशों में भेज रही है लेकिन स्थानीय उद्योगपतियों को सहूलियतें नहीं दे रही है। वैसे लगातार दो बार से भाजपा यहां जीत हासिल कर रही है लेकिन इस बार उसके पक्ष में लहर जैसी स्थिति देखने को नहीं मिली। लोग सरकार से जगह जगह सवाल कर रहे हैं। हर साल दो करोड़ नौकरी देने के वादे की याद दिला रहे हैं। महिलाएं सुरक्षित तो महसूस कर रही हैं लेकिन उनके किचन का बजट बिगड़ने से वह परेशान हैं। दूसरी ओर उज्ज्वल रमन पूरा जोर ग्रामीण इलाकों पर लगाए हुए हैं। उनका मानना है कि विधायक रहते हुए उन्होंने जिस तरह विकास कार्य करवाए उससे जनता प्रभावित है। प्रभासाक्षी से बातचीत में उन्होंने कहा कि उनके पिता और पूर्व सांसद रेवती रमण सिंह की ओर से किए गए कामों का लाभ भी उनको मिल रहा है। उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा सरकार ग्रामीण क्षेत्रों से मुंह मोड़ चुकी है इसलिए जनता इस बार मोदी योगी की जोड़ी को सबक सिखाने के लिए तैयार है। हम आपको बता दें कि कांग्रेस ने यह सीट गठबंधन के तहत समाजवादी पार्टी से ली है। हालांकि यहां कांग्रेस से ज्यादा समाजवादी पार्टी मजबूत है लेकिन फिर भी राहुल गांधी ने अखिलेश यादव से कह कर अपनी पार्टी के लिए यह सीट ली ताकि वह कांग्रेस को यहां मजबूत कर सकें। वैसे देखा जाए तो गठबंधन के तहत भले यह सीट चुनाव लड़ने के लिए कांग्रेस को मिली हो परंतु उम्मीदवार सपा का ही है। कांग्रेस उम्मीदवार उज्ज्वल रमन सपा नेता रेवती रमण सिंह के बेटे हैं और हाल ही में सपा छोड़कर कांग्रेस में शामिल हुए थे ताकि पार्टी के उम्मीदवार के रूप में चुनाव लड़ सकें। हालांकि राहुल गांधी ने छात्रों की नाराजगी को भुनाने के लिए यह सीट सपा से ले तो ली लेकिन उन्होंने इस बुनियादी चीज पर ध्यान नहीं दिया कि चाहे इलाहाबाद विश्वविद्यालय हो या यहां के अन्य शिक्षण संस्थान, उसमें पढ़ने के लिए ज्यादातर छात्र अन्य जिलों या राज्यों से आते हैं जोकि यहां के वोटर नहीं हैं। हम आपको बता दें कि प्रयागराज में ब्राह्मण, वैश्य और कायस्थ समाज का बाहुल्य है। चौथे नंबर पर यहां मुस्लिमों की आबादी है। प्रयागराज के कोरांव विधानसभा क्षेत्र में एससी, एसटी और अन्य पिछड़ी जातियों के मतदाताओं की संख्या ज्यादा है।

प्रभासाक्षी 17 May 2024 3:06 pm

शिवाजी महाराज के शासनकाल की आर्थिक नीतियां

इतिहास के किसी भी खंडकाल में भारतीय सनातन संस्कृति का अनुपालन करते हुए किए गए समस्त प्रकार के कार्यों में सफलता निश्चित मिलती आई है। ध्यान में आता है कि भारतीय आर्थिक दर्शन भी सनातन संस्कृति के अनुरूप ही रहा है। छत्रपति शिवाजी महाराज भी हमारे वेदों एवं पुराणों में वर्णित नियमों के अनुसार ही अपने राज्य में आर्थिक नीतियों का निर्धारण करते थे। अपनी रियासत के नागरिकों को किसी भी प्रकार का कष्ट नहीं हो और वे परिवार सहित अपने लिए दो जून की रोटी की व्यवस्था आसानी से कर सकें, इसका विशेष ध्यान आपके शासनकाल में रखा जाता था। उस खंडकाल में नागरिकों के लिए रोजगार हेतु कृषि क्षेत्र ही मुख्य आधार था। कृषि गतिविधियों के साथ साथ पशुपालन कर ग्रामों में निवासरत नागरिक अपने एवं अपने परिवार का भरण पोषण सहज रूप से कर पाते थे एवं अति प्रसन्नचित तथा संतुष्ट रहते थे, हालांकि कालांतर में व्यापार एवं उद्योग को भी बढ़ावा दिया जाने लगा था। विश्व के कई भागों में सभ्यता के उदय से कई सहस्त्राब्दी पूर्व, भारत में उन्नत व्यवसाय, उत्पादन, वाणिज्य, समुद्र पार विदेश व्यापार, जल, थल एवं वायुमार्ग से बिक्री हेतु वस्तुओं के परिवहन एवं तत्संबंधी आज जैसी उन्नत नियमावलियां, व्यवसाय के नियमन एवं करारोपण के सिद्धांतों का अत्यंत विस्तृत विवेचन भारत के प्राचीन वेद ग्रंथों में प्रचुर मात्रा में मिलता है। प्राचीन भारत में उन्नत व्यावसायिक प्रशासन व प्रबंधन युक्त अर्थतंत्र के होने के भी प्रमाण मिलते हैं। हमारे प्राचीन वेदों में कर प्रणाली के सम्बंध में यह बताया गया है कि राजा को अत्यधिक कराधान रूपी अत्याचार से विरत रहना चाहिए। कौटिल्य के अनुसार करों की अधिकता से प्रजा में दरिद्रता, लोभ, असंतोष, विराग आदि भाव उपजते हैं। राजा द्वारा, स्मृतियों द्वारा निर्धारित, कर के अतिरिक्त अन्य कर लगाया जाना निछिद्ध था। कर की मात्रा वस्तुओं के मूल्य एवं समय पर निर्भर होती थी। राजा सामान्यतया उपज का छठा भाग ले सकता था। हां आपत्ति के समय अतिरिक्त कर लगाने की केवल एक बार की छूट रहती थी। अनुर्वर भूमि पर भारी कर नहीं लगाया जाता था। कर सदैव करदाता को हल्का लगे, जिसे वह बिना किसी कठिनाई व कर चोरी के चुका सके। जिस प्रकार मधुमक्खी पुष्पों से बिना कष्ट दिए मधु लेती है, उसी प्रकार राजा को प्रजा से बिना कष्ट दिए कर लेना चाहिए। कर प्रणाली के माध्यम से आर्थिक असमानता एवं घाटे की वित्त व्यवस्था पर अंकुश लगाया जाता था। चुंगी को भी कर की श्रेणी में शामिल किया जाता था, जो क्रेताओं एवं विक्रेताओं द्वारा राज्य के बाहर या भीतर ले जाने या लाए जाने वाले सामानों पर लगती थी। राजा के पास राजकोष के लिए तीन साधन थे- उपज पर राजा का भाग, चुंगी एवं दंड। इस प्रकार राजकोष पर प्राचीन ग्रंथों में अत्यंत विस्तृत व व्यावहारिक विमर्श पाया जाता है। इसे भी पढ़ें: भारत सहित एशियाई देश वर्ष 2024 में विश्व की अर्थव्यवस्था में देंगे 60 प्रतिशत का योगदान शिवाजी महाराज के राज्य में प्रारम्भिक काल में व्यापार बहुत कम मात्रा में होता था और राज्य की अर्थव्यवस्था की स्थिति बहुत अच्छी नहीं थी। इस राज्य में उस समय चौथ एवं सरदेशमुखी, यह दो प्रकार के कर प्रचलन में थे। नागरिकों को राज्य में सुरक्षा प्रदान करने के एवज में चौथ नामक कर लगाया जाता था। इस प्रकार का कर अन्य रियासतों द्वारा भी अपने नागरिकों से वसूला जाता था, उस खंडकाल में यह एक सामान्य कर था, जिसके अंतर्गत किसानों एवं श्रमिकों को यह आश्वासन दिया जाता था कि राज्य पर किसी भी बाहरी आक्रमण के समय इन नागरिकों को प्रशासन द्वारा सुरक्षा प्रदान की जावेगी। दूसरी ओर, सरदेशमुखी नामक कर प्रचलन में था। इस कर प्रणाली के अन्तर्गत, राज्य द्वारा जमीन पर अर्जित की गई आय का 10 प्रतिशत हिस्सा कर के रूप में किसानों से वसूल किया जाता था। शिवाजी महाराज ने 1660 के दशक के शुरुआती वर्षों में ही उक्त वर्णित दोनों प्रकार के कर अपने नागरिकों से लेना शुरू कर दिए था। सरदेशमुखी कर वसूल करते समय प्रशासन द्वारा इस बात का ध्यान जरूर रखा जाता था कि जिन किसानों की जमीन कम उपजाऊ है, उनसे कर की वसूली कम दर पर की जाय ताकि इस श्रेणी के किसानों को अपने एवं परिवार के जीवन यापन में किसी भी प्रकार की परेशानी नहीं हो। कौन सी जमीन अधिक उपजाऊ एवं कौन सी जमीन कम उपजाऊ है, यह जानने के लिए समय समय पर सर्वेक्षण भी कराए जाते थे और इस सर्वेक्षण के परिणामों के आधार पर ही विभिन्न किसानों के लिए कर की दर निर्धारित की जाती थी। साथ ही कर की अधिकतम राशि भी निर्धारित की जाती थी एवं यह कुल उपज के एक तिहाई से अधिक नहीं रखी जाती थी। सरदेशमुखी मानक कर केवल उपज पर ही लगाया जाता था। शिवाजी महाराज के राज्य में खेती-बाड़ी ही राजस्व का मुख्य और लगभग इकलौता जरिया था, अतः शिवाजी महाराज का प्रशासन परती जमीन पर खेती करने वालों को उचित रियायतें भी प्रदान करता था। इन किसानों से कम दर पर कर लिया जाता था। कई बार तो पहले चार वर्षों के लिए प्रशासन द्वारा पट्टे पर दी गई जमीन पर किसानों से कोई किराया ही नहीं वसूला जाता था, पांचवें साल में आधा किराया वसूला जाता था और फिर उसके बाद पूरा किराया वसूला जाता था। शिवाजी महाराज के प्रशासन द्वारा उस खंडकाल में जारी एक सर्कुलर से यह पता चलता है कि शिवाजी महाराज द्वारा किसानों को आवश्यकता पड़ने पर ब्याज मुक्त ऋण भी प्रदान किया जाता था, ताकि किसान अपने कृषि कार्य को सुचारू रूप से जारी रख सकें। प्रशासन के नियमों के अनुसार किसानों से केवल मूलधन की राशि ही वापिस ली जाती थी और वह भी किश्तों में। शिवाजी महाराज के शासनकाल में कृषि क्षेत्र पर दबाव कम करने के उद्देश्य से नमक उद्योग को भी बढ़ावा दिया गया था एवं नमक उद्योग में राज्य ने भी अपना निवेश किया था। इससे किसानों के लिए यह आय का एक अतिरिक्त स्त्रोत बनकर उभरा था। शिवाजी महाराज के राज्य में प्रशासन द्वारा नमक उद्योग को बढ़ावा दिए जाने के पूर्व नमक का आयात पुर्तगाली व्यवसाईयों के माध्यम से होता था। राज्य में नमक के आयात को कम करने एवं अपने राज्य में उत्पादित नमक के उपयोग को बढ़ावा देने के उद्देश्य से पुर्तगाल से आयात किए जाने वाले नमक पर प्रशासन ने आयात कर को बढ़ा दिया था ताकि आयातित नमक की कीमत बाजार में अधिक हो जाए एवं राज्य के व्यापारी नमक आयात करने के लिए निरुत्साहित हों तथा स्थानीय नमक उत्पादनकर्ताओं के हित सुरक्षित हो सकें। इस प्रकार, आयात कर का चलन शिवाजी महाराज के शासन काल में ही प्रारम्भ हुआ था। शिवाजी महाराज के प्रशासन द्वारा नमक उद्योग को प्रदान की गई विशेष सुविधाओं के चलते कुछ समय पश्चात तो राज्य से नमक का निर्यात भी होने लगा था जिससे धीरे धीरे पानी के जहाज बनाने का उद्योग भी राज्य में फलने फूलने लगा था। कालांतर में पानी के जहाजों का इस्तेमाल राज्य में नौ सेना के लिए भी किया जाने लगा था। विशेष रूप से अरब सागर को नियंत्रित करने और अपने साम्राज्य के तटीय क्षेत्रों को सुरक्षित करने के उद्देश्य से शिवाजी महाराज ने एक दुर्जेय नौसैनिक बेड़ा बनाया था। इस प्रकार शिवाजी महाराज ने समुद्री सुरक्षा के सामरिक महत्व को बहुत पहिले ही समझ लिया था। आपकी नौसेना ने न केवल कोंकण तट को समुद्री खतरों से बचाया था, बल्कि हिंद महासागर के व्यापार मार्गों में यूरोपीय शक्तियों के प्रभुत्व को भी चुनौती दी थी। इतिहासकार श्री जदुनाथ सरकार अपनी एक पुस्तक में लिखते हैं कि शिवाजी महाराज के राज्य में विभिन्न आकार के लगभग 400 पानी के जहाज थे। हालांकि उस समय के एक अन्य प्रतिवेदन में यह संख्या 160 की बताई गई है। शिवाजी महाराज की नौ सेना ने पुर्तगालियों, डच एवं अंग्रेजों की नौसेना को निशाना बनाने में सफलता पाई थी। शिवाजी महाराज ने अपने राज्य एवं आज के महाराष्ट्र के पेन, पनवेल और कल्याण क्षेत्रों में पानी के जहाज बनाने के उद्योग प्रारम्भ किये थे। इन क्षेत्रों में पानी के जहाज बनाने के लिए पर्याप्त मात्रा में लकड़ी उपलब्ध थी। यहां पर निर्मित किए गए पानी के जहाज वजन में हलके होते थे एवं तेज गति से चलते थे। कुछ जहाज तो आकार में बहुत बड़े भी रहते थे, जिन पर आठ तोपें तक लादी जाती थीं। वर्ष 1663 आते आते शिवाजी महाराज के जहाज आज के यमन के शहरों तक जाने लगे थे। बाद के वर्षों में तो व्यापारिक जहाज आज के ईरान एवं ईराक के बसरा शहर तक भी गए थे। छत्रपति शिवाजी महाराज के शासनकाल में सरल कर प्रणाली के चलते नागरिकों की आर्थिक स्थिति समय के साथ साथ काफी सुदृद्ध होती चली गई क्योंकि नागरिकों द्वारा प्राकृतिक संसाधनों का भी अच्छा उपयोग किया जाने लगा था। अधिकतम नागरिक ग्रामों में ही निवास करते थे एवं कृषि क्षेत्र पर ही निर्भर थे। विभिन्न प्रकार की फसलें उगाकर गाय एवं भेड़ें पालते थे, जानवरों का शिकार करते एवं भेड़ों की ऊन से कपड़े बनते थे। इस खंडकाल में लगभग समस्त ग्रामों में नागरिकों की यही जीवन शैली थी। शिवाजी महाराज के शासनकाल में व्यापार के भी बढ़ावा दिया जा रहा था। मुख्य रूप से कपास, चमड़े से निर्मित उत्पाद एवं मसालों का निर्यात अन्य देशों को किया जाता था। भारत के पश्चिमी तट पर सूरत के बंदरगाह के माध्यम से अंतरराष्ट्रीय व्यापार किया जाता था। जबकि, सूती एवं रेशमी कपड़ों का घरेलू व्यापार भी किया जाता था। आज भी यह माना जाता है कि छत्रपति शिवाजी महाराज का राज्याभिषेक भारतीय इतिहास का एक महत्वपूर्ण मोड़ था, जिससे संप्रभु और शक्तिशाली हिंदू साम्राज्य की नींव पड़ी थी। यह साम्राज्य गुप्त, मौर्य, चोल, अहोम एवं विजयनगर साम्राज्य की ही तरह शक्तिशाली, सुसंगठित और सुशासित था। शिवाजी महाराज ने एक महान हिंदवी साम्राज्य की स्थापना कर न केवल हिंदुओं की सुप्त चेतना को जागृत किया था, बल्कि उन्हें संगठित करते हुए विभाजनकारी और दमनकारी इस्लामी शासन को खुली चुनौती भी दी। उन्होंने भारतीय अस्मिता, सनातन संस्कृति को पुनर्जीवित करने और मंदिरों के संरक्षण और निर्माण कार्य पर सर्वाधिक बल दिया। आज शिवाजी महाराज के राज्याभिषेक के 350 वर्ष पूर्ण होने के उपलक्ष में पूरे देश में विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किए जाने के प्रयास हो रहे हैं। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ द्वारा भी इसे एक पर्व के रूप में मनाए जाने का आह्वान किया है तथा संघ की देश भर में फैली शाखाओं द्वारा विभिन्न प्रकार के कार्यक्रम आयोजित किए जाने की योजना है। - प्रहलाद सबनानी सेवा निवृत्त उप महाप्रबंधक, भारतीय स्टेट बैंक के-8, चेतकपुरी कालोनी, झांसी रोड, लश्कर, ग्वालियर - 474 009

प्रभासाक्षी 17 May 2024 2:57 pm

BJP का बड़ा एक्शन, इन 2 नेताओं को 6 साल के लिए किया निष्कासित

शिमला: लोकसभा चुनाव के बीच हिमाचल प्रदेश में भाजपा ने बड़ा एक्शन लिया है। भाजपा ने पार्टी के खिलाफ काम करने के इल्जाम में अपने दो नेताओं को पार्टी से 6 वर्षों के लिए निष्कासित कर दिया है। लाहौल स्फीति में रामलाल मार्कण्डेय एवं धर्मशाला विधानसभा में राकेश चौधरी को निर्दलीय विधानसभा प्रत्याशी के रूप में चुनाव लड़ने की वजह से पार्टी से 6 वर्षों के लिए निष्कासित किया है। भारतीय जनता पार्टी ने दोनों नेताओं को पत्र जारी कर पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा दिया। प्रदेश अध्यक्ष राजीव बिन्दल ने लिखा, आप लाहौल स्फीति एवं धर्मशाला विधानसभा के उपचुनाव में पार्टी के अधिकृत उम्मीदवार के खिलाफ निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में चुनाव लड़ रहे हैं, जो अनुशासनहीनता के दायरे में आता है। इसलिए आपके विरुद्ध अनुशासनात्मक कार्रवाई करते हुए आपकी प्राथमिक सदस्यता को तुरंत प्रभाव से 6 वर्षों के लिए निष्कासित किया जाता है। बता दें कि हिमाचल में लोकसभा की 4 और विधानसभा की 6 सीटों पर उपचुनाव है। हिमाचल की 4 लोकसभा सीटों पर 51 उम्मीदवारों ने नामांकन भरा है। नामांकन की प्रक्रिया 7 मई से आरम्भ हुई थी, जो 14 मई दोपहर 3 बजे समाप्त हो गई थी। नामांकन वापसी की आखिरी दिनांक है आज यानी 17 मई है। इस उपचुनाव में लगभग 40 से अधिक उम्मीदवार निर्दलीय चुनाव लड़ रहे हैं। कई नेता अपनी-अपनी पार्टी से नाराज चल रहे हैं। इसको लेकर मान मनौव्वल का दौर जारी है। 1 जून को मतदान होगा। 4 जून को परिणाम आएंगे। ऊँगली का इलाज कराने के लिए भर्ती हुई थी बच्ची, डॉक्टर ने कर डाली जीभ की सर्जरी, केरल की घटना 'आपको ऐसे सांसदों की जरुरत, जो आपकी समस्याओं को संसद में उठाएं..', यूपी में बोले पीएम मोदी, कांग्रेस-सपा पर साधा निशाना शुगर, लिवर और दिल से जुड़ी बिमारियों की दवाएं हुईं सस्ती, सरकार ने घटाई 41 दवाओं की कीमत

न्यूज़ ट्रॅक लाइव 17 May 2024 2:50 pm

कौन है ‘हिटमैन’, स्वाति मालीवाल को क्यों करना चाहता है बदनाम? CM केजरीवाल के घर जिस दिन हुई मारपीट उसका पहला Video आया सामने, दिल्ली पुलिस लेगी संज्ञान

AAP राज्यसभा सांसद स्वाति मालीवाल के साथ हुई मारपीट के बाद उनकी सुरक्षाकर्मियों के साथ हुई बहस का एक कथित वीडियो वायरल हो रहा है।

ऑप इंडिया 17 May 2024 2:47 pm

PM मोदी ने रमजान में गाजा पर बंद करवाई थी बमबारी, विशेष दूत भेजा था इजरायल: इंटरव्यू में किया खुलासा, कहा- यहाँ मुझे मुस्लिमों को लेकर घेरते हैं

पीएम मोदी ने कहा कि रमजान के महीने में गाजा पर बमबारी रुकवाने के लिए अपने 'विशेष दूत' को इजरायल भेजा था और इजरायल ने बमबारी रोकी थी।

ऑप इंडिया 17 May 2024 2:41 pm

लंदन में समलैंगिक होना अपराध नहीं, इसलिए जाते हैं शाहरुख खान और करण जौहर: महिला सिंगर का दावा, कहा- गे एनकाउंटर में मेरे पूर्व पति भी थे शामिल

वायरल वीडियो में कहा जा रहा है कि शाहरुख खान और करण जौहर लंदन इसलिए जाते हैं क्योंकि वहाँ पर समलैंगिक होना लीगल है।

ऑप इंडिया 17 May 2024 2:33 pm

Swati Maliwal मारपीट मामले में Sitaraman ने केजरीवाल सरकार पर साधा निशाना, बोलीं-'ये सीएम क्या महिलाओं की सुरक्षा करेंगे जो...'

दिल्ली से राज्यसभा सांसद और आम आदमी पार्टी नेता स्वाति मालीवाल पर हुए हमले पर बीजेपी नेता लगातार प्रतिक्रिया दे रहे हैं. सीएम अरविंद केजरीवाल के पीएम विभव कुमार के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है. बीजेपी का कहना है कि अरविंद केजरीवाल....

समाचार नामा 17 May 2024 2:30 pm

गुजरात पुलिस ने किया बड़े आतंकी मॉड्यूल का भंडाफोड़, मौलवी की गिरफ्तारी से हुआ चौकाने वाला खुलासा, बताया भारत के बड़े नेताओं की जान थी खतरे में

गुजरात पुलिस ने एक बड़े आतंकवादी मॉड्यूल का भंडाफोड़ करने का दावा किया है, जो देश भर के प्रमुख राजनीतिक नेताओं को मारने की योजना बना रहा था। शुक्रवार को इस सफलता के बारे में मीडिया को जानकारी देते हुए गुजरात पुलिस कमिश्नर अनुपम सिंह....

समाचार नामा 17 May 2024 2:08 pm

नेपाल, प्रयागराज और उज्जैन भेजे जाएंगे माधवी राजे के अस्थि कलश

ग्वालियर: भाजपा नेता और केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया शुक्रवार को अपनी मां माधवी राजे सिंधिया की अस्थि संचय करने के लिए छत्री परिसर पहुंचे। सिंधिया परिवार के नजदीकी बाल खांडे ने बताया कि राजमाता की अस्थियां यूपी के प्रयागराज (इलाहबाद), पड़ोसी मुल्क नेपाल सहित उज्जैन भेजी जाएंगी। इससे पहले 9 दिन तक ग्वालियर के ही माधव बाग में अस्थि कलश रखे जाएंगे। राजपुरोहित चंद्रकांत शिंदे के अनुसार, राजमाता माधवी राजे सिंधिया की अंत्येष्टि के बाद शुक्रवार को उनका अस्थि संचय किया गया। सिंधिया परिवार के राजपुरोहितों ने राजसी परंपरा के तहत विधि-विधान से पूजन कराया। ज्योतिरादित्य सिंधिया ने विधि विधान से पूजन करने के पश्चात् अपनी माता की अस्थियां एकत्रित कीं। 3 कलशों में इन अस्थियों को रखा गया। यह सभी कलश राजसी परंपरा के तहत माधव बाग में 9 दिनों तक वृक्ष पर बांधे जाएंगे। 10वें दिन इन कलशों को उज्जैन, इलाहाबाद एवं महाराष्ट्र के सतारा जिले स्थित कान्हेरखेड़ गांव रवाना किया जाएगा। जहां राजसी परम्परा के तहत अस्थि विसर्जन किया जाएगा। ग्वालियर के पूर्व शाही परिवार की राजमाता माधवी राजे सिंधिया के पार्थिव शरीर की बृहस्पतिवार शाम मध्य प्रदेश के ग्वालियर में अंत्येष्टि की गई थी। 76 वर्षीय माधवी राजे का बुधवार प्रातः दिल्ली के AIIMS में निधन हो गया था एवं उनका पार्थिव शरीर बृहस्पतिवार को एक विशेष विमान से राष्ट्रीय राजधानी से ग्वालियर लाया गया था। मध्य प्रदेश के सीएम मोहन यादव, राज्य बीजेपी अध्यक्ष वीडी शर्मा, राज्य के मंत्री प्रह्लाद पटेल, कैलाश विजयवर्गीय, तुलसी सिलावट, प्रद्युम्न सिंह तोमर एवं पूर्व मंत्री नरोत्तम मिश्रा 'अम्मा महाराज की छत्री' में माधवी राजे के अंतिम संस्कार में सम्मिलित हुए थे। '2024 में बदलाव मांग रही जनता, कोई काम नहीं करती भाजपा..', तेजस्वी यादव का केंद्र पर हमला हिन्दू नेताओं को मारने की साजिश का भंडाफोड़, मौलवी सौहेल सहित 3 आतंकी गिरफ्तार 'आरक्षण ख़त्म कर देगी भाजपा..', कांग्रेस के आरोपों पर राजनाथ सिंह का दो टूक जवाब

न्यूज़ ट्रॅक लाइव 17 May 2024 1:50 pm

केरल का वामपंथी टेरर मॉडल: विजयन सरकार के 6 साल में 431 बम हमले, पर सजा किसी को नहीं, अधिकांश केस बंद क्योंकि CPIM से जुड़े हैं आरोपित

कम्युनिष्ट जिस केरल मॉडल का हौव्वा खड़ा करते हैं, उस केरल में जून 2016 से अगस्त 2022 तक के मौजूदा आँकड़ों में सीपीआई-एम के राज में 431 बम धमाके हो चुके हैं।

ऑप इंडिया 17 May 2024 1:11 pm

चेहरे पर अंदरुनी चोटें, ठीक से चल भी नहीं सकती… स्वाति मालीवाल से कब-किसने-कैसे की मारपीट: अब तक क्या-क्या हुआ, सब कुछ एक साथ

स्वाति मालीवाल के साथ बदसलूकी के मामले में पहले दिन से लेकर एफआईआर होने तक क्या-क्या हुआ, इस पर मीडिया में कई रिपोर्टें आ गई हैं।

ऑप इंडिया 17 May 2024 1:05 pm

'2024 में बदलाव मांग रही जनता, कोई काम नहीं करती भाजपा..', तेजस्वी यादव का केंद्र पर हमला

पटना: बि हार के पूर्व उपमुख्यमंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (RJD) नेता तेजस्वी यादव ने केंद्र की सत्ताधारी भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि देश की जनता 2024 में बदलाव चाह रही है। तेजस्वी यादव ने कहा कि, ''देश की जनता 2024 में बदलाव की मांग कर रही है। 'भारतीय जनता परेशान है, भारतीय जनता पार्टी से, क्योंकि वो कोई काम नहीं करते। वे केवल झूठ बोलते हैं। वे लोगों को बांटते हैं और नकारात्मक राजनीति करते हैं।” उन्होंने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह पर तंज कसते हुए कहा कि गृह मंत्री को शिक्षा, गरीबी और नौकरियों पर बात करनी चाहिए। तेजस्वी यादव ने कहा कि, बिहार के लोगों को अच्छी शिक्षा चाहिए। उन्हें अच्छे अस्पताल चाहिए। उन्हें नौकरियां चाहिए। उन्हें गरीबी और महंगाई से राहत चाहिए। उन्हें पलायन से राहत चाहिए। किसानों की एमएसपी पक्की होनी चाहिए और उनकी आय दोगुनी होनी चाहिए। अमित शाह को इन पर बात करनी चाहिए। गौरतलब है कि बिहार की 40 सीटों पर सभी सात चरणों में मतदान हो रहा है। 2019 में, भाजपा के नेतृत्व वाले NDA ने 40 में से 39 सीटें जीतकर राज्य में जीत हासिल की थी, जबकि कांग्रेस ने सिर्फ एक सीट जीती थी। राज्य की मजबूत ताकत RJD अपना खाता खोलने में विफल रही थी। राष्ट्रीय जनता दल (RJD), कांग्रेस और वामपंथी दलों सहित बिहार में विपक्षी गठबंधन ने चुनाव पूर्व घोषणा की थी कि RJD, उसका सबसे बड़ा घटक, राज्य की 40 लोकसभा सीटों में से 26 पर चुनाव लड़ेगा। NDA के हिस्से के रूप में, भाजपा और जदयू क्रमशः 17 और 16 सीटों पर चुनाव लड़ेंगे। चिराग पासवान की लोक जनशक्ति पार्टी (रामविलास) पांच सीटों पर और जीतन मांझी की हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा (HAM) और राष्ट्रीय लोक मोर्चा (RLM) एक-एक सीट पर चुनाव लड़ेगी। वोटों की गिनती 4 जून को होगी। इस कंपनी ने लॉन्च किया 1 रुपये का सबसे सस्ता रिचार्ज प्लान हिन्दू नेताओं को मारने की साजिश का भंडाफोड़, मौलवी सौहेल सहित 3 आतंकी गिरफ्तार 'आरक्षण ख़त्म कर देगी भाजपा..', कांग्रेस के आरोपों पर राजनाथ सिंह का दो टूक जवाब

न्यूज़ ट्रॅक लाइव 17 May 2024 12:50 pm

श्रीनगर पहुंचे Amit Shah ने की लोगों से मुलाकात, ST वर्ग में शामिल करने के लिए लोगों ने जताया शुक्रिया

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह दो दिवसीय दौरे पर श्रीनगर पहुंचे। लोकसभा चुनाव के बीच अपने दौरे में उन्होंने यहां विभिन्न समुदायों के प्रतिनिधियों से मुलाकात की. इस दौरान उनके विकास संबंधी मुद्दों पर भी चर्चा हुई. गुज्जर, बकरवाल, पहाड़ी और सिख समुदाय के लोग....

समाचार नामा 17 May 2024 12:37 pm

PM मोदी और केजरीवाल के रोड़ शो के बाद दिखा ये बड़ा अंतर, वायरल वीडियो में देखें पूरा सच

PM मोदी और केजरीवाल के रोड़ शो के बाद दिखा ये बड़ा अंतर, वायरल वीडियो में देखेंपूरा सच

समाचार नामा 17 May 2024 12:33 pm

स्वाति मालिवाल की मेडिकल रिपोर्ट में हुआ चौकाने वाला खुलासा, छाती और पेट पर कई अंदरूनी चोटें लगी

स्वाति मालीवाल से अभद्रता मामले पर आम आदमी पार्टी के नेता और मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल भी चुप्पी साधे हुए हैं. वह प्रेस कॉन्फ्रेंस आदि में स्वाति मालीवाल के सवालों का जवाब देने से बचते नजर आते हैं. स्वाति ने अपनी 7 पेज की एफआईआर में केजरीवाल....

समाचार नामा 17 May 2024 12:29 pm

पश्चिम बंगाल के मालदा में कुदरत का कहर, बिजली गिरने से 11 लोगों की मौत

पश्चिम बंगाल के मालदा में प्राकृतिक आपदा आ गई. चिलचिलाती गर्मी और चिलचिलाती धूप के बीच अचानक बदला मूड. आकाश में काले बादल छा गये और सर्वत्र अँधेरा छा गया। इसी अंधेरे के बीच शुरू हुआ कुदरत का कहर. तेज आंधी और मूसलाधार बारिश के बीच वज्रपात से पूरा मालदा थर्रा उठा.....

समाचार नामा 17 May 2024 12:16 pm

दिल्ली-NCR और महाराष्ट्र समेत अन्य राज्यों में इस दिन से आएगा मानसून, मौसम विभाग ने की भविष्यवाणी

इंतज़ार ख़त्म होने वाला है, देश में मानसून दस्तक देने वाला है। भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के ताजा अपडेट के मुताबिक, इस साल देश में मानसून समय पर प्रवेश करेगा और इस बार सामान्य से ज्यादा बारिश होने की संभावना है। आजकल देश के कई....

समाचार नामा 17 May 2024 12:12 pm

Air India का प्लेन हुआ हादसे का शिकार, बाल-बाल बची 180 यात्रियों की जान, मचा हड़कंप

एयर इंडिया के एक विमान के दुर्घटनाग्रस्त होने की खबर सामने आई है. यह घटना बीते दिन पुणे एयरपोर्ट पर हुई. जबकि 180 यात्रियों को बचा लिया गया, हवाई अड्डे के अधिकारियों, पायलटों और चालक दल के सदस्यों की जान चली गई। यात्री, पायलट और क्रू मेंबर्स.....

समाचार नामा 17 May 2024 12:04 pm

'बीच में जो घटनाक्रम हुआ उसके कारण वो कहीं के नहीं रहे', कमलनाथ पर शिवराज सिंह का तंज

छिंदवाड़ा: लोकसभा चुनाव 2024 के लिए मध्य प्रदेश की सभी 29 सीटों पर 4 चरणों में वोटिंग पूरी हो गई है। इस बार लोकसभा चुनाव में राज्य की छिंदवाड़ा सीट हॉट सीट बनी थी। ऐसे में छिंदवाड़ा सीट जीतने के लिए कांग्रेस-भाजपा ने एड़ी चोटी का जोर लगा दिया। फिलहाल इस सीट पर कांग्रेस का 40 वर्षों से कब्जा है, मगर इस बार भाजपा यहां जीत का दावा कर रही है। इस बीच छिंदवाड़ा सीट को लेकर पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Sivraj Singh Chouhan) का बड़ा बयान सामने आया है। दरअसल, अपने एक इंटरव्यू के चलते शिवराज सिंह चौहान ने मध्य प्रदेश की सभी 29 सीटें जीतने का दावा किया है। वहीं छिंदवाड़ा सीट पर भाजपा जीतेगी या नहीं? इस सवाल का जवाब देते हुए शिवराज ने कहा कि 'हम छिंदवाड़ा सीट अवश्य जीतेंगे। पिछली बार भी जब उनकी (कांग्रेस) की सरकार थी, तब भी हम केवल 37 हजार वोट से हारे थे। वहीं आज कांग्रेस कहीं नहीं है, कमलनाथ की विश्वसनीयता भी पूरी तरह से समाप्त हो गई है।' आगे उन्होंने कहा कि 'कांग्रेस के लोग ही कह रहे थे कि जब तुम (कमलनाथ) ही भाजपा की ओर जा रहे थे। दरअसल बीच में जो घटनाक्रम हुआ उसके कारण वो कहीं के नहीं रहे। वो न इधर के रहे न उधर के रहे। ऐसे में जनता अब उनपर भरोसा नहीं कर रही है, लोग भाजपा और प्रधानमंत्री मोदी के साथ है। इसलिए हम छिंदवाड़ा जीत रहे हैं।' वहीं कमलनाथ के भाजपा में आने के सवाल पर शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि 'उसकी गहराई मुझे पता नहीं हैं, मगर जनता में चारों ओर ये चर्चा थी कि उनका कांग्रेस से मोहभंग हो गया। कांग्रेस ने उनके साथ जो भी बर्ताव किया हो, मैं उसकी गहराई नहीं जानता हूं।'

न्यूज़ ट्रॅक लाइव 17 May 2024 11:50 am

पटना के स्कूल में भीड़ ने लगाई आग, गटर में मिला था 4 साल के बच्चे का शव: स्कूल जाने के बाद से था लापता, CCTV फुटेज से भी छेड़छाड़ का दावा

बिहार की राजधानी पटना के एक स्कूल में एक 4 वर्षीय छात्र का शव मिला। यह शव स्कूल के सीवर वाले कमरे से मिला।

ऑप इंडिया 17 May 2024 11:40 am

‘हम अछूत हैं इसलिए…’: स्विट्जरलैंड से आया एक दलित, 91 दिन राहुल गाँधी के साथ रहा, फिर समझ आया कॉन्ग्रेस को किसी के जीने-मरने से फर्क नहीं पड़ता

राहुल गाँधी की भारत जोड़ो न्याय यात्रा का सच एक दलित व्यक्ति ने मीडिया को बताया है। उन्होंने जानकारी दी है कि कॉन्ग्रेस के शीर्ष नेता कैसा दोहरा व्यवहार करते हैं।

ऑप इंडिया 17 May 2024 11:09 am

मौलवी अबु बक्र के 2 और साथी गिरफ्तार, एक के पास नेपाल की भी नागरिकता: पाकिस्तानी नंबर का भी इस्तेमाल, टारगेट थे नुपूर शर्मा-राजा सिंह जैसे हिंदुवादी नेता

हिंदू नेताओं की हत्या की साजिश रचने के मामले में गुजरात के सूरत से पकड़े गए मौलवी सोहेल अबू बक्र के दो और साथी पकड़े गए हैं।

ऑप इंडिया 17 May 2024 10:47 am

Amit Shah ने तोड़ी चुप्पी, बोलें अगर नहीं मिला बहुमत तो ये होगा BJP का प्‍लान-बी? देखें वायरल वीडियो में पूरा बयान

लोकसभा चुनाव के चार चरणों का मतदान पूरा हो चुका है. बीजेपी जहां बहुमत की उम्मीद कर रही है, वहीं इंडी गठबंधन ने भी वापसी की पूरी तैयारी कर ली है. इस बीच गृह मंत्री अमित शाह ने भी पार्टी के प्लान बी से अरविंद केजरीवाल की गिरफ्तारी पर बयान दिया है.....

समाचार नामा 17 May 2024 10:38 am

बिहार की राजधानी में बड़ा हादसा, मशहूर स्कूल के नाले में छात्र का शव मिलने से पूरे इलाके में सनसनी, गुस्साएं लोगों ने स्कूल में की तोड़फोड़ और लगाई आग

पटना के दीघा थाना क्षेत्र के रामजी चक स्थित स्कूल टाइनी टोट एकेडमी (Tiny ToT अकादमी) के नाले में एक बच्चे का शव मिलने से हड़कंप मच गया है. बच्चे की उम्र करीब 7 साल बताई जा रही है. वहीं, स्थानीय लोगों ने दीघा आशियाना मोड़ और दीघा राम जी....

समाचार नामा 17 May 2024 10:25 am

अमेरिकी प्रतिनिधि सभा में इजरायल को हथियार आपूर्ति से संबंधित विधेयक पारित

वाशिंगटन, 17 मई (आईएएनएस/डीपीए)। अमेरिकी संसद की प्रतिनिधि सभा ने एक विधेयक पारित किया है जो राष्ट्रपति जो बाइडन को इजरायल को रोकी गई हथियारों की आपूर्ति दोबारा शुरू करने के लिए बाध्य करता है।

समाचार नामा 17 May 2024 8:35 am

पूर्व न्यायाधीश अभिजीत गंगोपाध्याय के खिलाफ पुलिस कार्रवाई पर अंतरिम रोक

कोलकाता, 16 मई (आईएएनएस)। कलकत्ता उच्च न्यायालय ने गुरुवार को पूर्व न्यायाधीश और तमलुक लोकसभा क्षेत्र से भाजपा उम्मीदवार अभिजीत गंगोपाध्याय के खिलाफ इस महीने की शुरुआत में दर्ज एक केस में पश्चिम बंगाल पुलिस की कार्रवाई पर अंतरिम रोक लगा दी।

समाचार नामा 16 May 2024 8:44 pm

इंडिया गठबंधन पर अश्विनी चौबे का कटाक्ष : पप्पू, लप्पू, घप्पू या सप्पू, कौन बनेगा प्रधानमंत्री?

पटना, 16 मई (आईएएनएस)। भाजपा के वरिष्ठ नेता अश्विनी चौबे ने इंडिया गठबंधन पर जोरदार निशाना साधा है।

समाचार नामा 16 May 2024 8:33 pm

ईडी ने सुप्रीम कोर्ट को बताया, पूरक आरोप पत्र में सीएम केजरीवाल व 'आप' का नाम शामिल

नई दिल्ली, 16 मई (आईएएनएस)। अतिरिक्त सॉलिसिटर जनरल (एएसजी) एसवी राजू ने गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट को बताया कि प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) जल्द ही शराब घोटाले के आरोपों से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग मामले में एक पूरक आरोपपत्र दायर करेगा। इसमें दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और आम आदमी पार्टी (आप) को आरोपी बनाया जाएगा।

समाचार नामा 16 May 2024 8:03 pm

चार जून के बाद इंडी गठबंधन टूट कर बिखर जाएगा 'खटाखट खटाखट' : पीएम मोदी

प्रतापगढ़, 16 मई (आईएएनएस)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को एक चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए विपक्ष पर चुटकी ली।

समाचार नामा 16 May 2024 7:23 pm

मतदान प्रतिशत बढ़ाने के लिए चुनाव आयोग की अनूठी पहल, बीसीसीआई ने सहयोग का बढ़ाया हाथ

नई दिल्ली, 16 मई (आईएएनएस)। मतदान प्रतिशत बढ़ाने के लिए और मतदाताओं को प्रेरित करने के लिए चुनाव आयोग ने अनूठी पहल शुरू की है। आयोग के मुताबिक लोकसभा चुनाव 2024 में अब तक 66.95 प्रतिशत मतदान हुआ है। शुरुआती चार चरणों में लगभग 451 मिलियन लोगों ने मतदान किया है।

समाचार नामा 16 May 2024 7:22 pm

'भानुमति के कुनबे की तरह है INDI गठबंधन..', ऐसा क्यों बोले चिराग पासवान ?

पटना: दे श में चल रहे लोकसभा चुनाव के बीच LJP (रामविलास) प्रमुख और हाजीपुर लोकसभा सीट से उम्मीदवार चिराग पासवान ने इंडिया गुट पर तीखा हमला बोला और कहा कि वे अपनी नीति के बारे में स्पष्ट नहीं हैं। पासवान ने कहा कि, INDI गठबंधन की नीति स्पष्ट नहीं है। AAP दिल्ली में कांग्रेस के साथ चुनाव लड़ रही है और पंजाब में दोनों एक दूसरेके खिलाफ लड़ रहे है। अगर यह भानुमती का कुनबा नहीं है, तो क्या है? उन्होंने कहा कि, किसी के पास कोई नीति, इरादा या महत्वाकांक्षा नहीं है। हम (एनडीए) 400 का लक्ष्य बहुत आसानी से पार कर रहे हैं, यह भी तय है कि हमने इन चार चरणों में बहुमत हासिल कर लिया है। उन्होंने आगे कहा कि NDA ने चार चरणों के चुनाव में ही बहुमत दर्ज कर लिया है। उन्होंने आगे कहा कि, ''अब आने वाले मतदान चरणों में हमें पता चल जाएगा कि NDA की सीटों का ग्राफ और कितना बढ़ेगा।''गौरतलब है कि बिहार की 40 सीटों पर सभी सात चरणों में मतदान हो रहा है। 2019 में, भाजपा के नेतृत्व वाले NDA ने 40 में से 39 सीटें जीतकर राज्य में जीत हासिल की, जबकि कांग्रेस ने सिर्फ एक सीट जीती थी। राज्य में एक मजबूत ताकत राजद अपना खाता खोलने में विफल रही थी। राष्ट्रीय जनता दल (राजद), कांग्रेस और वामपंथी दलों सहित बिहार में विपक्षी गठबंधन, महागठबंधन (महागठबंधन) ने चुनाव से पहले घोषणा की थी कि RJD, उसका सबसे बड़ा घटक, राज्य की 40 लोकसभा सीटों में से 26 पर चुनाव लड़ेगा। एनडीए के हिस्से के रूप में, भाजपा और जदयू क्रमशः 17 और 16 सीटों पर चुनाव लड़ेंगे। चिराग पासवान की लोक जनशक्ति पार्टी (रामविलास) पांच सीटों पर और जीतन मांझी की हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा (HAM) और राष्ट्रीय लोक मोर्चा (RLM) एक-एक सीट पर चुनाव लड़ेगी। वोटों की गिनती 4 जून को होगी। कई बार जमानत मांगने के बाद अब के कविता ने उठाया बड़ा कदम, हाई कोर्ट ने CBI को जारी किया नोटिस 'पिछड़े वर्ग को आरक्षण देने की रिपोर्ट 1955 में आई, लेकिन कांग्रेस ने इसे वर्षों लटकाए रखा..', अमित शाह ने साधा निशाना आतंकी संगठन 'जैश-ए-मोहम्मद' पर कसा शिकंजा, जम्मू कश्मीर में NIA ने जब्त की कई संपत्तियां

न्यूज़ ट्रॅक लाइव 16 May 2024 6:50 pm

Interview: अखिलेश जिसे चाहेंगे वो बनेगा PM, संविधान-'निरहुआ'पर क्या बोले धर्मेंद्र यादव?

Dharmendra Yadav Interview: धर्मेंद्र यादव ने संविधान, पूर्वांचल, पिछली हार, बीजेपी के 400 पार के नारे समेत कई मुद्दों पर खुलकर की बात

क़्विंट हिन्दी 16 May 2024 6:36 pm

दादा क्यों हो रहे अधीर, न नौ मन तेल होगा न ‘दीदी’नाचेगी: फिर काहे का अविश्वास, काहे का बाहर से समर्थन

बदले घटनाक्रम में ममता बनर्जी ने कहा है कि उनकी पार्टी TMC केंद्र में सरकार बनाने के लिए विपक्षी इंडी (INDI) गुट को बाहर से समर्थन देगी।

ऑप इंडिया 16 May 2024 5:56 pm

तेज हुई जुबानी जंग, तेजस्वी यादव ने सम्राट चौधरी और चिराग पासवान को निशाने पर लिया

पटना, 16 मई (आईएएनएस)। बिहार के नेताओं के बीच जुबानी जंग तेज होती जा रही है। इसी कड़ी में राजद नेता तेजस्वी यादव ने बिहार के डिप्टी सीएम सम्राट चौधरी और चिराग पासवान को निशाने पर लिया है।

समाचार नामा 16 May 2024 4:42 pm

देश में महंगाई चरम पर है और महिलाएं परेशान हैं : प्रियंका गांधी

रायबरेली, 16 मई (आईएएनएस)। कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी ने रायबरेली में गुरुवार को एक जनसभा को संबोधित करते हुए भाजपा पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि देश में महंगाई चरम पर है और महिलाएं परेशान हैं।

समाचार नामा 16 May 2024 4:40 pm

विपक्ष की छाती पर मूँग दलती रहेगी मोदी-योगी की जोड़ी, केजरीवाल ने चली थी जो चाल उसे PM ने किया फुस्स: पूर्वांचल से किया वादा, संदेश पूरे देश को

केजरीवाल भ्रम फैला रहे हैं कि भाजपा की जीत होने पर योगी आदित्यनाथ को हटा दिया जाएगा। हालाँकि, पीएम मोदी परोक्ष रूप से इसका खंडन कर चुके हैं।

ऑप इंडिया 16 May 2024 4:30 pm

CAA को लेकर PM ने विपक्ष पर साधा निशाना, बोलें-इसे कोई खत्म नहीं कर सकता, इस 10 पॉन्ट्स में जानें पीएम मोदी के आजमगढ़ में संबोधन की बड़ी बातें

देश में लोकसभा चुनाव 2024 चल रहा है. आखिरी तीन चरणों में सभी राजनीतिक दलों ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी है. इसी क्रम में गुरुवार को उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ में एक जनसभा को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारत गठबंधन पर जमकर निशाना साधा......

समाचार नामा 16 May 2024 4:15 pm

बंगाल की इंच-इंच जमीन मुस्लिमों की… स्वतंत्र भारत में सुरसा की तरह बढ़ रहा ‘मजहबी जमींदार’: इस्लामी मुल्कों में वक्फ बोर्ड का नामलेवा नहीं, यहाँ बढ़ती ही जा रही प्रॉपर्टी

वक्फ बोर्ड का काम अल्लाह के नाम पर दान की गई संपत्ति की देख-रेख का होता है। नेहरू सरकार ने 1954 में एक्ट बनाकर इस बोर्ड को मजबूती दी थी। अब इसके नाम पर कब्जे होते हैं।

ऑप इंडिया 16 May 2024 3:37 pm

प्रीति बनी तीन तलाक पीड़िता रुबीना, प्रमोद कश्यप संग किया विवाह: वृंदावन की महिला ने बरेली में की घर वापसी

बरेली में रुबीना सैय्यद ने घर वापसी कर अपना नाम प्रीति रखा है। उन्होंने अपने प्रेमी प्रमोद कश्यप के साथ पूर्ण विधि-विधान से विवाह कर लिया है।

ऑप इंडिया 16 May 2024 3:11 pm

अभिषेक मनु सिंघवी को राज्यसभा भेजना चाहते हैं केजरीवाल, स्वाति मालीवाल से माँगा है इस्तीफा: रिपोर्ट में दावा, विभव कुमार को NCW ने बुलाया

दैनिक भास्कर ने एक रिपोर्ट में बताया है कि स्वाति मालीवाल घटना वाले दिन अपनी राज्यसभा सीट को लेकर बात करने गईं थी। दावों के अनुसार, मालीवाल से AAP ने सांसद पद से इस्तीफ़ा देने को कहा है।

ऑप इंडिया 16 May 2024 3:06 pm

Amethi में Smriti Irani के खिलाफ नाराजगी देखकर भाजपा के होश उड़े हुए हैं

उत्तर प्रदेश के अमेठी संसदीय क्षेत्र को इस बार फिर से स्मृति ईरानी बनाम राहुल गांधी के चुनावी मुकाबले की उम्मीद थी लेकिन यह उम्मीदें तब धराशायी हो गयीं जब कांग्रेस ने सोनिया गांधी के प्रतिनिधि के रूप में काम करने वाले केएल शर्मा को चुनाव में उतार दिया। स्मृति ईरानी ने इस पर कहा कि राहुल गांधी कहते हैं कि डरो मत लेकिन यहां से चुनाव लड़ने की उन्होंने हिम्मत नहीं दिखाई। दूसरी ओर कांग्रेस का कहना है कि जब केएल शर्मा ही स्मृति ईरानी को हरा सकते हैं तो राहुल गांधी को यहां से उतारने की जरूरत ही नहीं थी। हालांकि इस इलाके में घूमने के बाद हमें महसूस हुआ कि यदि कांग्रेस यहां से राहुल गांधी को उतारती तो नतीजा उसके पक्ष में जा सकता था क्योंकि यहां बड़ी संख्या में ऐसे लोग हैं जोकि गांधी परिवार से जुड़े रहे हैं और उनका कहना था कि हमने अपनी नाराजगी पिछले चुनाव में दिखा दी थी अगर इस बार राहुल यहां से आते तो हम उन्हें ही चुनते क्योंकि उनके परिवार ने इस क्षेत्र के लोगों के लिए काफी कुछ किया है। स्मृति ईरानी के लिए जहां भाजपा का पूरा आलाकमान प्रचार कर रहा है और प्रदेश पार्टी नेतृत्व से जुड़े लोगों ने भी अमेठी में भाजपा के किले को बचाने के लिए पूरा जोर लगाया हुआ है वहीं कांग्रेस ने राजस्थान के पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और पार्टी के तमाम नेताओं की फौज खड़ी कर रखी है ताकि केएल शर्मा यह सीट फिर से कांग्रेस की झोली में डाल सकें। इस क्षेत्र के चुनावी मुद्दों और माहौल को जानने के लिए जब प्रभासाक्षी की चुनाव यात्रा यहां पहुँची तो हमने पाया कि अधिकांश लोग यह मान रहे हैं कि स्मृति ईरानी यहां हमेशा सक्रिय रही हैं और छोटे बड़े कार्यकर्ताओं के यहां ही नहीं बल्कि आम लोगों के घर जाकर उनका दुख-दर्द दूर करने का प्रयास करती रही हैं। लोगों ने यह भी कहा कि स्मृति ईरानी ने केंद्र और राज्य सरकार की योजनाओं का लाभ भी बड़ी संख्या में लोगों को दिलाया है। लेकिन हमें कुछ लोग ऐसे भी मिले जोकि स्मृति ईरानी के व्यवहार की शिकायतें कर रहे थे। इन लोगों का कहना था कि वह गुस्से में रहती हैं और सबके सामने डांट देती हैं। हमने जब युवाओं से बात की तो अधिकांश युवा बेरोजगारी और पेपर लीक जैसे मुद्दों को लेकर सरकार से नाराज नजर आये। इन युवाओं का कहना था कि यह सही है कि मोदी जी ने कई बड़े काम किये हैं लेकिन युवा के लिए परीक्षा और नौकरी हासिल करना बेहद बुनियादी चीज है लेकिन पेपर लीक हो जा रहा है और भर्तियां निकल नहीं रही हैं। इस तरह की नाराजगी को दूर करने के लिए भाजपा संगठन के नेता तमाम प्रयास कर रहे हैं। भाजपा जानती है कि अमेठी से पहले भी एकाध बार अन्य प्रत्याशी जीतते रहे हैं लेकिन अगले चुनाव में यह सीट फिर गांधी परिवार के पास आ जाती है इसलिए पार्टी सारे समीकरण साधने में कोई कसर नहीं छोड़ रही है। इसे भी पढ़ें: यह चुनाव ऐसा प्रधानमंत्री चुनने का अवसर है जिस पर दुनिया रौब न जमा सके : PM Modi जब हमने लोगों से केएल शर्मा के बारे में पूछा तो सभी ने कहा कि यह सही है कि वह कांग्रेस के नेताओं और कार्यकर्ताओं को पहचानते हैं लेकिन वोट सिर्फ कांग्रेस के नेताओं और कार्यकर्ताओं को नहीं बल्कि पूरी जनता को देना है। लोगों ने कहा कि आम जनता से केएल शर्मा का कोई वास्ता नहीं है। वह यहां के गली-मोहल्लों को जानते होंगे लेकिन लोगों से उनका कोई सीधा संवाद नहीं है। कई लोगों ने बताया कि वह यहां तभी आया करते थे जब गांधी परिवार का कोई व्यक्ति यहां आने वाला हो। दूसरी ओर स्मृति ईरानी के बारे में लोगों का कहना था कि उन्हें सब जानते हैं और वह सबको जानने लगी हैं और अब तो उन्होंने अपना स्थायी आवास भी यहां पर बना लिया है जिससे जब भी कोई काम पड़ेगा तो हमें दिल्ली जाने की बजाय यहीं पर अपने जनप्रतिनिधि से मिलकर समस्या का समाधान निकलवाने का अवसर प्राप्त हो सकेगा। इस क्षेत्र में यादव और मुस्लिम मतदाता बड़ी संख्या में हैं जब हमने उनसे बात की तो उन्होंने कहा कि यादव समाज का सारा वोट समाजवादी पार्टी और कांग्रेस गठबंधन को नहीं बल्कि भाजपा को जायेगा क्योंकि उसने इस क्षेत्र के विकास के लिए कई काम किये हैं और कोरोना जैसी महामारी के समय सबका ध्यान रखा है। कई मुस्लिमों ने भी हमसे कहा कि यह एक धारणा है कि मुसलमान भाजपा को वोट नहीं करता। उन्होंने कहा कि जिस तरह बड़ी संख्या में मुस्लिमों को प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत पक्के घर मिले हैं और घर में नल से पानी आने लगा है वह हमारे लिए अकल्पनीय है और इसके लिए हम मोदी जी का साथ कभी नहीं छोड़ेंगे। बहरहाल, इस पूरे क्षेत्र का दौरा करने के बाद हमें साफ दिखा कि जहां भाजपा एक ओर स्मृति ईरानी को ढाई लाख वोटों के अंतर से जीत दिलाने के लिए दिन-रात लगी हुई है वहीं कांग्रेस के उम्मीदवार केएल शर्मा भी जीत हासिल करने के लिए जी-जान लगाये हुए हैं और शुरू में उनको जितना कमजोर प्रत्याशी समझा जा रहा था उतने कमजोर वह हैं नहीं। -नीरज कुमार दुबे

प्रभासाक्षी 16 May 2024 2:37 pm

Lok Sabha Election के बीच प्रियंका गांधी ने किया बड़ी घोषणा, बोलीं-अगर हमारी सरकार बनी तो हर महीने महिलाओं को मिलेंगे 8500 रुपये

देश में चल रहे लोकसभा चुनाव के बीच कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी ने गुरुवार को कहा कि अगर गठबंधन सरकार बनी तो भारत महिलाओं के सशक्तिकरण के लिए काम करेगा। उन्होंने कहा, देशभर में हमारी बहनें इंडिया अलायंस की सरकार बनाने के लिए उत्साह से तैयार....

समाचार नामा 16 May 2024 2:30 pm

भारत सहित एशियाई देश वर्ष 2024 में विश्व की अर्थव्यवस्था में देंगे 60 प्रतिशत का योगदान

वैश्विक स्तर पर आर्थिक क्षेत्र का परिदृश्य तेजी से बदल रहा है। अभी तक वैश्विक अर्थव्यवस्था में विकसित देशों का दबदबा बना रहता आया है। परंतु, अब अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष के एक अनुमान के अनुसार वर्ष 2024 में भारत सहित एशियाई देशों के वैश्विक अर्थव्यवस्था में 60 प्रतिशत का योगदान होने की प्रबल सम्भावना है। एशियाई देशों में चीन एवं भारत मुख्य भूमिकाएं निभाते नजर आ रहे हैं। प्राचीन काल में वैश्विक अर्थव्यस्था में भारत का योगदान लगभग 32 प्रतिशत से भी अधिक रहता आया है। वर्ष 1947 में जब भारत ने राजनैतिक स्वतंत्रता प्राप्त की थी उस समय वैश्विक अर्थव्यस्था में भारत का योगदान लगभग 3 प्रतिशत तक नीचे पहुंच गया था क्योंकि भारतीय अर्थव्यवस्था को पहिले अरब से आए आक्राताओं एवं बाद में अंग्रेजों ने बहुत नुक्सान पहुंचाया था एवं भारत को जमकर लूटा था। वर्ष 1947 के बाद के लगभग 70 वर्षों में भी वैश्विक अर्थव्यवस्था में भारतीय अर्थव्यवस्था के योगदान में कुछ बहुत अधिक परिवर्तन नहीं आ पाया था। परंतु, पिछले 10 वर्षों के दौरान देश में लगातार मजबूत होते लोकतंत्र के चलते एवं आर्थिक क्षेत्र में लिए गए कई पारदर्शी निर्णयों के कारण भारतीय अर्थव्यवस्था को तो जैसे पंख लग गए हैं। आज भारत इस स्थिति में पहुंच गया है कि वैश्विक अर्थव्यवस्था में वर्ष 2024 में अपने योगदान को लगभग 18 प्रतिशत के आसपास एवं एशिया के अन्य देशों यथा चीन, जापान एवं अन्य देशों के साथ मिलकर वैश्विक अर्थव्यवस्था में एशियाई देशों के योगदान को 60 प्रतिशत तक ले जाने में सफल होता दिखाई दे रहा है। भारत आज अमेरिका, चीन, जर्मनी एवं जापान के बाद विश्व की 5वीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन गया है। साथ ही, भारत आज पूरे विश्व में सबसे तेज गति से आगे बढ़ती अर्थव्यवस्था है। वित्तीय वर्ष 2023-24 में तो भारत की आर्थिक विकास दर 8 प्रतिशत से अधिक रहने की प्रबल सम्भावना बन रही है क्योंकि वित्तीय वर्ष 2023-24 की पहली तीन तिमाहियों में भारत की आर्थिक विकास दर 8 प्रतिशत से अधिक रही है, अक्टोबर-दिसम्बर 2023 को समाप्त तिमाही में तो आर्थिक विकास दर 8.4 प्रतिशत की रही है। इस विकास दर के साथ भारत के वर्ष 2025 तक जापान की अर्थव्यवस्था को पीछे छोड़ते हुए विश्व की चौथी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन जाने की प्रबल सम्भावना बनती दिखाई दे रही है। केवल 10 वर्ष पूर्व ही भारत विश्व की 11वीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था था और वर्ष 2013 में मोर्गन स्टैनली द्वारा किए गए एक सर्वे के अनुसार भारत विश्व के उन 5 बड़े देशों (दक्षिण अफ्रीका, ब्राजील, इंडोनेशिया, टर्की एवं भारत) में शामिल था जिनकी अर्थव्यवस्थाएं नाजुक हालत में मानी जाती थीं। इसे भी पढ़ें: आर्थिक क्षेत्र में नित नए विश्व रिकार्ड बनाता भारत आज भारत के सकल घरेलू उत्पाद का आकार 3.7 लाख करोड़ अमेरिकी डॉलर का हो गया है। साथ ही, वस्तु एवं सेवा कर के संग्रहण में लगातार तेज वृद्धि आंकी जा रही है, जिससे भारत के वित्तीय संसाधनों पर दबाव कम हो रहा है और भारत पूंजीगत खर्चों के साथ ही गरीब वर्ग के लिए चलाई जा रही विभिन्न योजनाओं के लिए वित्त की व्यवस्था आसानी से कर पा रहा है। केंद्र सरकार के बजट में न केवल वित्तीय घाटा कम हो रहा है बल्कि आने वाले समय में केंद्र सरकार को अपने सामान्य खर्च चलाने के लिए ऋण लेने की आवश्यकता भी कम पड़ने लगेगी। दूसरे, अंतरराष्ट्रीय बाजार में भारतीय रुपए की कीमत लगातार स्थिर बनी हुई है, जिससे विदेशी निवेशकों का भारतीय अर्थव्यवस्था पर विश्वास भी बढ़ रहा है और भारत में विदेशी निवेश भी लगातार बढ़ता जा रहा है। तीसरे, भारत में मुद्रा स्फीति पर भी तुलनात्मक रूप से नियंत्रण पाने में सफलता मिली है। अन्य देश अभी भी मुद्रा स्फीति की समस्या से जूझ रहे हैं। आर्थिक क्षेत्र में उक्त कारकों के चलते भारतीय अर्थव्यवस्था की विकास दर 8 प्रतिशत से अधिक बने रहने की प्रबल सम्भावनाएं बनी रहेंगी। इसके ठीक विपरीत, जापान एवं जर्मनी की आर्थिक विकास दर या तो मंदी के दौर से गुजर रहीं हैं अथवा विकास दर बहुत कम अर्थात एक-दो प्रतिशत से भी कम बनी हुई है। भारत के स्टील उद्योग, सिमेंट उद्योग एवं ऑटोमोबाइल निर्माण के क्षेत्र ने 10 प्रतिशत से अधिक की विकास दर हासिल कर ली है। डिजिटल आधारभूत ढांचे के निर्माण के क्षेत्र में तो भारत विश्व गुरु बन गया है और इससे आज भारत में 13400 करोड़ से अधिक के डिजिटल व्यवहार हो रहे हैं जो पूरे विश्व के डिजिटल व्यवहारों का 46 प्रतिशत है। जन-धन योजना के अंतर्गत खोले गए 50 करोड़ से अधिक बैंक खातों में आज 2.32 लाख करोड़ रुपए से अधिक की राशि जमा हो चुकी है, जो देश के आर्थिक विकास में अपना योगदान दे रही है। वर्ष 2013-14 से वर्ष 2022-23 के दौरान मुद्रा स्फीति की औसत दर 5 प्रतिशत की रही है जो वर्ष 2003-04 से वर्ष 2013-14 के दौरान औसत 8.2 प्रतिशत की रही थी। मुद्रा स्फीति कम रहने का सीधा लाभ देश के गरीब वर्ग को मिलता है। साथ ही, अब तो आर्थिक विकास के साथ ही भारत में रोजगार के भी पर्याप्त अवसर निर्मित होने लगे हैं। स्कोच नामक संस्थान द्वारा जारी एक प्रतिवेदन में बताया गया है कि भारत में वर्ष 2014 से वर्ष 2024 के दौरान 51.4 करोड़ व्यक्ति वर्ष के नए रोजगार निर्मित हुए हैं। इसमें केंद्र सरकार द्वारा किये गए सीधे प्रयासों के चलते 19.79 करोड़ व्यक्ति वर्ष के रोजगार के अवसर भी शामिल हैं। शेष 31.61 करोड़ व्यक्ति वर्ष रोजगार के अवसर अपने व्यवसाय प्रारम्भ करने के उद्देश्य से बैंकों से लिए गए ऋण के चलते निर्मित हुए हैं। स्कोच नामक संस्थान द्वारा उक्त प्रतिवेदन 80 संस्थानों पर की गई रिसर्च (केस स्टडी) के आधार पर जारी किया गया है। सूक्ष्म एवं लघु स्तर के ऋण लेने वाले व्यक्तियों ने रोजगार के करोड़ों नए अवसर निर्मित किए हैं। इस प्रतिवेदन के अनुसार औसतन प्रत्येक सूक्ष्म संस्थान 6.6 रोजगार के नए अवसर निर्मित करता है। अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष, विश्व बैंक के बाद अब मूडीज ने भी भारत में आर्थिक विकास के संदर्भ में बताया है कि आने वाले कुछ वर्षों तक भारत की आर्थिक विकास दर विश्व में सबसे अधिक बने रहने की प्रबल सम्भावना बनी रहेगी। इस प्रकार, एक के बाद एक विभिन्न वैश्विक आर्थिक संस्थान भारत में आर्थिक विकास दर के मामले में अपने अनुमानों को लगातार सुधारते/बढ़ाते जा रहे हैं। इस प्रकार, आगे आने वाले समय में भारत का वैश्विक अर्थव्यवस्था में योगदान भी लगातार बढ़ता जाएगा और सम्भव है कि कालचक्र में ऐसा परिवर्तन हो कि भारत एक बार पुनः वैश्विक स्तर पर अपने आर्थिक योगदान को 32 प्रतिशत के स्तर तक वापिस ले जाने में सफल हो। - प्रहलाद सबनानी सेवा निवृत्त उप महाप्रबंधक, भारतीय स्टेट बैंक के-8, चेतकपुरी कालोनी, झांसी रोड, लश्कर, ग्वालियर - 474 009

प्रभासाक्षी 16 May 2024 2:30 pm

मायावती ने उठाया महंगाई, बेरोजगारी का मुद्दा; बीजेपी 'बी टीम' होने का आरोप क्यों?

जिन मायावती पर बीजेपी की बी टीम होने का आरोप लगता रहा है उन्होंने अब महंगाई, बेरोजगारी जैसे मुद्दों को क्यों उठाया? जानिए, उन्होंने क्या कहा है।

सत्य हिंदी 16 May 2024 1:44 pm

जापान, सिंगापुर, ऑस्ट्रेलिया… सब पीछे, एशिया-प्रशांत में सबसे अधिक डाटा सेंटर क्षमता अब भारत के पास: जानिए क्या होता है डाटा सेंटर, कितना महत्वपूर्ण है ये

CBRE ने एक हालिया रिपोर्ट में कहा है कि 950 मेगावॉट के साथ भारत एशिया पैसिफिक में सबसे अधिक डाटा सेंटर क्षमता वाला देश है।

ऑप इंडिया 16 May 2024 1:41 pm