SENSEX
NIFTY
GOLD
USD/INR

Weather

33    C

INS Surat - Udaygiri : भिलाई के स्पेशल स्टील से बने हैं देश को मिले दो जंगी जहाज

आत्मनिर्भर भारत मिशन के तहत स्वदेशी तकनीक से बनाए दो युद्धपोत 'सूरत' व 'उदयगिरि' राष्ट्र को समर्पित करने के साथ ही समुद्र में भारत की युद्ध क्षमता और बढ़ गई है। स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड (सेल) ने भारत के स्वदेशी नौसेना युद्धपोतों आईएनएस उदयगिरि और आईएनएस सूरत के लिए 4300 टन विशेष स्टील की आपूर्ति की है। सेल द्वारा आपूर्ति किए जाने वाले स्टील में डीएमआर 249ए ग्रेड प्लेट्स और एचआर शीट्स शामिल हैं। स्टील की पूरी मात्रा सेल के छत्तीसगढ़ के भिलाई स्थित बीएसपी, बोकारो और राउरकेला स्टील प्लांट्स से सप्लाई की गई है। 1) यह भी पढ़ें : डेंगू से बचना है तो हर सप्ताह कूलर का पानी करें पूरा खाली बता दें कि मोदी सरकार में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने मंगलवार को मुंबई के मझगांव डॉक में दोनों युद्धपोतों को देश को समर्पित किया। दोनों ही युद्धपोतों की डिजाइन नौसेना के नेवल डिजाइन निदेशालय ने तैयार की है। आईएनएस उदयगिरि: आंध्रप्रदेश की एक पर्वतमाला के नाम पर 'उदयगिरि' प्रोजेक्ट 17ए फ्रिगेट का तीसरा जहाज है। यह लिएंडर क्लास एएसडब्ल्यू फ्रिगेट का नया अवतार है। बेहतर स्टील्थ फीचर्स, उन्नत हथियार, सेंसर, प्लेटफॉर्म मैनेजमेंट सिस्टम हैं। 2) यह भी पढ़ें : रूरल इंडस्ट्रियल पार्क में तब्दील हुआ 'वृंदावन' आईएनएस सूरत: यह प्रोजेक्ट 15बी डिस्ट्रॉयर का चौथा जहाज है। इसे ब्लॉक निर्माण पद्धति का उपयोग करके बनाया गया है। यह प्रोजेक्ट 17ए फ्रिगेट के तहत बनाया युद्धपोत है। उन्नत हथियारों, सेंसर और प्लेटफॉर्म मैनेजमेंट सिस्टम से लैस है। बता दें कि सेल ने इससे पहले भी आईएनएस विक्रांत, आईएनएस कमोर्टा सहित भारत की विभिन्न रक्षा परियोजनाओं के लिए विशेष गुणवत्ता वाले स्टील की आपूर्ति की है। 3) यह भी पढ़ें : कृषि में गोमूत्र के उपयोग को लेकर छत्तीसगढ़ में हो रही पहल

पत्रिका 17 May 2022 11:57 pm

SURAT NEWS: युवा ही जगा रहा युवा वर्ग में मताधिकार की अलख

सूरत. युवा हो और संडे को मौज-मस्ती, सैर-सपाटा और घूमना-फिरना ना हो, भला ऐसे हो सकता है, लेकिन ऐसा होता है और पूरे गुजरात में अकेले सूरत में एक युवा समूह ऐसा ही करता है। इस समूह के युवा रविवार को घर-परिवार को छोड़कर सूरत महानगर के विभिन्न क्षेत्र स्थित सोसायटी-अपार्टमेंट और गली-मोहल्ले में पहुंचते है और प्रशासनिक मशीनरी बनकर निर्वाचन विभाग को वोट करेगा युवा...अभियान के माध्यम से नए मतदाताओं को मतदाता सूची में शामिल करने में सहयोग करते हैं। ऐसे ही अग्रवाल विकास ट्रस्ट की युवा शाखा ने अभी तक 10 हजार से ज्यादा मतदाताओं को मताधिकार के योग्य बनने में योगदान दिया है। भारत सरकार प्रतिवर्ष नए मतदाताओं को मतदाता सूची में जोडऩे पर करोड़ों की राशि खर्च करती है और एक जनवरी को 18 वर्ष के होने वाले देश के भविष्य निर्माता युवा मतदाता को मताधिकार देने के लिए सरकारें एनरोलमेंट, लिट्रेसी व अवेयरनैस पर खास फोकस करती है। गुजरात की आर्थिक राजधानी सूरत महानगर में निर्वाचन विभाग की प्रशासनिक मशीनरी के सपोर्ट में युवाओं का एक संगठन अग्रवाल विकास ट्रस्ट युवा शाखा पूरी तरह से सक्रिय है और इसकी सक्रियता का ही परिणाम है कि गुजरात निर्वाचन विभाग द्वारा गठित डिस्ट्रिक्ट कमेटी ऑन इलेक्ट्रोल लिट्रेसी के 14 सदस्यों में से युवा शाखा एकमात्र गैरसरकारी संगठन है। 2017 में गुजरात विधानसभा चुनाव से चला अग्रवाल विकास ट्रस्ट युवा शाखा का 'वोट करेगा युवा अभियान ऐसा चला कि चलता ही जा रहा है। सूरत जिला निर्वाचन विभाग ने युवा शाखा का अभियान के प्रति मेहनत, लगन और समर्पण को देख विभागीय मुहिम के साथ जोड़ा था जो आज भी बदस्तूर जारी है। युवा शाखा वोट करेगा अभियान...के सिलसिले में बैठकें आयोजित कर आगे की योजना भी तैयार करती है। -एक ही दिन में साढ़े पांच हजार नए मतदाता राजस्थान पत्रिका के जागो जनमत अभियान से प्रेरित होकर 2017 में गुजरात विधानसभा चुनाव से ठीक पहले युवा शाखा ने मतदाता जागरुकता अभियान के रूप में वोट करेगा युवा...कार्यक्रम प्रारम्भ किया और इसे प्रशासनिक स्तर पर खूब सराहा गया। शाखा के युवा सदस्यों की अभियान के प्रति ललक देख निर्वाचन विभाग ने तब नए मतदाता पंजीकरण अभियान से जोड़ा और युवा शाखा ने गुजरात के कई शहर-कस्बों में अग्रवाल विकास ट्रस्ट व अन्य सामाजिक संगठनों के सहयोग मेगा अभियान छेड़ा और एक ही दिन में साढ़े पांच हजार नए मतदाताओं को मताधिकार से जोडऩे में सफलता पाई। इस सफलता के बाद नई दिल्ली में युवा शाखा की टीम को भारत सरकार के निर्वाचन विभाग ने आमंत्रित कर सम्मानित भी किया। -सामाजिक जागरुकता के उभरे दो पहलू रविवार को ही सूरत के अलथान क्षेत्र में आयोजित वोट करेगा युवा...अभियान के दौरान मताधिकार के प्रति सामाजिक जागरुकता के दो अहम पहलू भी उभरकर सामने आए। इसमें ऋषभ सोलंकी ने एक जनवरी 2022 को 18 साल की उम्र होने पर दूरदराज से कार्यक्रम स्थल पर आकर फॉर्म 6 भरा और नए मतदाता पंजीकरण अभियान का हिस्सा बना। वहीं, एक 56 वर्षीय व्यक्ति ने भी पूरे 38 वर्ष बाद देश का मतदाता होने का अधिकार जताने के लिए फॉर्म 6 भरा। मताधिकार के प्रति बेपरवाह लोगों को विभाग लेफ्टआउट वोटर्स के रूप में गिनता है और इनकी संख्या अकेले सूरत महानगर में ही हजारों की संख्या में है। इसकी दूसरी बड़ी वजह सूरत महानगर में फ्लोटिंग पोपुलेशन की सिच्युएशन को भी माना जाता है। -अच्छे समाज व अच्छे लोकतंत्र के लिए बेहतर प्रयास प्रशासन के साथ जुड़कर इस तरह से कोई एनजीओ काम नहीं करता है। अग्रवाल विकास ट्रस्ट युवा शाखा निंसदेह अच्छे समाज व अच्छे लोकतंत्र के लिए प्रशासन के साथ मिलकर बेहतर प्रयास करता है। यह सराहनीय है और सभी जगह पर अनुकरणीय भी है। एचआर कलेरिया , अतिरिक्त जिला निर्वाचन अधिकारी, सूरत -लोकतंत्र की मजबूती में निभा रहे हैं सामाजिक जिम्मेदारी वोट करेगा युवा...अभियान के माध्यम से लोकतंत्र की मजबूती के लिए सामाजिक जिम्मेदारी के निर्वहन का सिलसिला अग्रवाल विकास ट्रस्ट युवा शाखा पांच साल से लगातार जारी है। देश के भावि मतदाताओं का मतदान के अपने मौलिक अधिकार के प्रति उत्साह भी अभियान को गति दे रहा है। राहुल अग्रवाल , कार्यक्रम संयोजक, वोट करेगा युवा, अग्रवाल विकास ट्रस्ट युवा शाखा -रविवार को सैर-सपाटा नहीं, अभियान सही युवा शाखा के करीब 25 से 30 सदस्य प्रत्येक रविवार को सूरत महानगर की पांच-सात सोसायटियों में जाकर वोट करेगा युवा अभियान को अंजाम तक पहुंचाते हैं और यह सिलसिला गर्मी के दिनों में खास तौर पर किया जा रहा है। अवकाश के दिन कहीं घूमने-फिरने के बजाय युवा सोसायटी-अपार्टमेंट में टेबल-कुर्सी लगाकर एक जनवरी 2022 तक 18 वर्ष के हुए युवाओं को न्यू वोटर रजिस्ट्रेशन ड्राइव से निर्वाचन विभाग का फॉर्म 6 भरवाकर जोड़ते हैं। पिछले 5-6 सप्ताह में ही युवा शाखा ने शहर में 50 से ज्यादा स्थलों पर अभियान पूरा कर एक हजार से ज्यादा नए मतदाताओं को जोड़ा है जबकि यह अभियान पांच वर्ष से लगातार सूरत महानगर में अग्रवाल विकास ट्रस्ट युवा शाखा की ओर से जारी है। -मोटिवेशन के लिए अभियान में हरसंभव प्रयास युवा शाखा के सदस्य 18 वर्ष की उम्र के नए मतदाताओं के पंजीकरण व मतदान के लिए मतदाताओं को प्रेरित करने के लिए कई तरह के मोटिवेशनल कार्यक्रम भी करते हैं। इसमें चुनाव के दिनों में सर्वाधिक नुक्कड़ नाटक किए जाते हैं और इसके अलावा ड्राइंग कम्पीटिशन, टॉक शो, इन्फोर्मेशन सेंटर ऑपन फॉर वोटर्स, कवि सम्मेलन, वीडिय़ो सॉंग लांच आदि कार्यक्रम भी आयोजित किए जाते हैं। सूरत जिला निर्वाचन विभाग ने युवा शाखा का वार्ड, विधानसभा, लोकसभा स्तर पर मतदाता, निवार्चन संबंधी सभी जानकारी के लिए बूथ लेवल ऑफीसर से सीधा सम्पर्क जोड़ रखा है। 18 वर्ष के नए युवा मतदाता को जोडऩे के लिए फिलहाल एक जनवरी की ही कट ऑफ डेट लागू है हालांकि लोकसभा में पूरे वर्ष में चार टर्म कट ऑफ डेट का बिल पास हो चुका है और इसके लागू होते ही अभियान में अधिक गति आने की उम्मीद युवा शाखा जताती है।

पत्रिका 17 May 2022 8:53 pm

SURAT SPECIAL NEWS: खेत में उगाई घास, घास से निकाला तेल, कीमत उसकी ढाई हजार

सूरत. उपकार फिल्म का गीत मेरे देश की धरती सोना उगले, उगले हीरे-मोती...मेरे देश की धरती...सभी ने सुना होगा और धरती से सही मायने में हीरा-मोती निकालने की खेती सूरत जिले का किसान महेंद्र कापडिय़ा घास उगाकर कर रहा है। पढ़कर हास्यास्पद लग सकता है, लेकिन यह सच है। लखनऊ के कृषि प्रयोग व अन्वेषण केंद्र में करीब ढाई-तीन माह तक पामरोजा घास के बारे में भली-भांति सीख-समझकर लौटे सूरत जिले के युवा किसान ने सूरत जिले में मांगरोल तहसील स्थित दिणोद गांव स्थित अपने 80 बीघा खेत में केवल और केवल घास के बीज ही बोए। देखते ही देखते पामरोजा घास पूरे खेत में फैल गई और तीन महीने में पूरी तरह से तैयार भी हो गई। इसके बाद युवा किसान महेंद्र ने खेत पर ही लखनऊ के कृषि प्रयोग व अन्वेषण केंद्र से मंगाए बॉयलर व प्रोसेसर्स मशीन से तैयार पामरोजा घास से तेल निकालने का प्रयोग भी शुरू कर दिया। वे बताते हैं कि देश के कई हिस्सों में इस तरह की खेती हो रही है और यह खेती सस्ती लागत व कम सिंचाई की है तथा इससे मुनाफा भी अच्छा-खासा होता है। -आम के आम, गुठलियों के दाम...समान पामरोजा घास की एक ही बार बुवाई करनी होती है और इसे कम पानी से तैयार कर लिया जाता है। इसकी सार-संभाल व तुफान, सूखे आदि से भी नुकसान नहीं है। इतना ही नहीं तेल निकलने के बाद जो कचरा बचता है वो भी ईंघन के रूप में उपयोग होता है। महेंद्र कापडिय़ा , युवा किसान, दिणोद, तहसील मांगरोल, सूरत जिला -एक बार उगाओ, बार-बार पाओ किसान के मुताबिक एक बीघा जमीन में पामरोजा घास की एक टन से ज्यादा पैदावार पहले तीन महीने की थोड़ी-बहुत मेहनत से हो जाती है और पहली फसल के बाद सालभर में पांच बार यह पैदावार ली जा सकती है। खेत में एक बार पामरोजा घास बोने के बाद यह सात साल तक मामूली पानी की सिंचाई से उगती रहती है। एक टन पामरोजा घास से औसतन 8 लीटर तेल प्राप्त होता है और इसकी बाजार कीमत ढाई हजार रुपए से भी ज्यादा रहती है। पामरोजा घास के बीज सस्ती दर पर मिल जाते हैं और बॉयलर-प्रोसेसर्स मशीन 50 प्रतिशत सब्सिडी पर उपलब्ध हो जाती है। -यहां ज्यादा उपयोगी है इसका तेल पामरोजा घास से निकाले गए तेल का सर्वाधिक उपयोग कॉस्मेटिक उत्पाद कंपनियां करती है। इस तेल की खुशबू गुलाब के समान होती है और शेम्पू, परफ्यूम, सेंट समेत कई कॉस्मेटिक वस्तुएं बनाई जाती है। सूरत जिले के किसान महेंद्र के यहां उत्पादित तेल को ज्यादातर महाराष्ट्र की कॉस्मेटिक कंपनियां खरीदकर ले जाती है। इतना ही नहीं पामरोजा घास से तैयार तेल का उपयोग औषधीय तेल के रूप में भी कई हकीम-वैद्य करते हैं। उनके मुताबिक कमर, घुटना, हाथ-पैर के दर्द को दूर करने में यह तेल काफी उपयोगी साबित होता है। बॉयलर से तेल बनाने की विधि भी काफी सरल है।

पत्रिका 17 May 2022 8:40 pm

SURAT NEWS DAYRI: 64वें प्राकट्य दिवस के मौके पर रक्तदान शिविर

सूरत. अखिल भारतीय साधु समाज के अध्यक्ष व अग्नि अखाड़ा के सभापति स्वामी मुक्तानंद बापु के 64वें प्राकट्य दिवस के मौके पर लाल दरवाजा स्थित नारायण मठ में श्रीसमस्त गुजरात ब्रह्म समाज व राजगोर ब्राह्मण सेवा ट्रस्ट के संयुक्त उपक्रम में रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया। शिविर का आयोजन संत विश्वेश्वरानंद महाराज की अध्यक्षता में किया गया। इस अवसर पर अटलआश्रम के संत बटुकगिरी महाराज, गिरीश त्रिवेदी, प्रतिभा देसाई, हरि कथीरिया, दिनेश भट्ट, विनय शुक्ला, छोटू पांडे, ललित शर्मा समेत अन्य लोग मौजूद थे। सजेगा दरबार, गूंजेंगे भजन सूरत. श्रीराम जानकी परिवार, सूरत की ओर से भजन संध्या का आयोजन रविवार 22 मई को सिटीलाइट में महाराजा अग्रसेन भवन के पंचवटी हॉल में धूमधाम सेकिया जाएगा। परिवार के सदस्यों ने बताया कि भजन संध्या में सुबह 10 बजे से सुंदरकांड पाठ का आयोजन किया जाएगा और इसमें पाठवाचक नंदकिशोर शास्त्री, अहमदाबाद वाले सुंदरकाण्ड पाठ की प्रस्तुति देंगे। इसके बाद शाम चार बजे से भजन संध्या शुरू होगी और श्रीमेहंदीपुर बालाजी का दरबार सजाकर अखंड ज्योत प्रज्ज्वलित की जाएगी व छप्पन भोग परोसा जाएगा। भजन संध्या के दौरान कोलकाता के राज पारीक, स्थानीय मुकेश दाधीच आदि कलाकार भजनों की प्रस्तुति देंगे। भजन संध्या कार्यक्रम के सिलसिले में आयोजक श्रीराम जानकी परिवार ने सभी सदस्यों को विभिन्न जिम्मेदारियां सौंपी है। बालिकाश्रम में मनाया दिवस सूरत. लाड़की बालिकाश्रम के बच्चों के बीच सूरत जैन यूथ क्लब परिवार की ओर से रविवार को विशेष कार्यक्रम दिवस का आयोजन किया गया। इस अवसर पर बच्चों के मनोरंजन के लिए गीत-गायन की प्रस्तुति आमंत्रित विजय शाह व भावना चोरावाला ने दी। कार्यक्रम की शुरुआत में नवकार मंत्र का जाप किया गया और बाद में क्लब के प्रवीण बैताला, राहुल संकलेचा, मनीषा रांका, मुस्कान कोठारी, रश्मि जैन समेत अन्य ने संबोधित किया। कार्यक्रम के दौरान नेहा श्यामसुखा, सीमा बैंगानी, पिंकी सुराणा, उषा मालू समेत अन्य कई सदस्य व पदाधिकारी मौजूद थे।

पत्रिका 17 May 2022 8:22 pm

SURAT NEWS: गोल्डन ब्रिज पर होगा तीन रंग में रंगे तिरंगे का एहसास

golden bridge गुजरात की लाइफलाइन नर्मदा नदी पर भरुच में ब्रिटिशकाल में बना गोल्डन ब्रिज एक दिन पहले ही 142 साल का हुआ है और इसे जल्द ही केसरिया, सफेद व हरे तीन रंग के तिरंगे के रूप में रंगा जाएगा। नर्मदा मैया ब्रिज शुरू होने के बाद से ऐतिहासिक गोल्डन ब्रिज से वाहनों के आवागमन की उपयोगिता बिल्कुल घट गई है और इसकी सेवानिवृत्ति भी हो चुकी है। 141 साल पहले अंग्रेज सरकार ने भरुच में नर्मदा के दो किनारों को जोडऩे के लिए गोल्डन ब्रिज का निर्माण करवाया था। करीब 1300 मीटर लम्बे गोल्डन ब्रिज को बनाने में ब्रिटिश सरकार ने नदी में 25 स्पान पर पौने तीन लाख से ज्यादा रिवेट, 850 गर्डर व 25 उपयोग किया था। 2012 में गोल्डन ब्रिज को गोल्डन कलर से रंगा गया था और अब इसकी सेवानिवृत्ति होने पर तिरंगे का चोला पहनाया जाने की तैयारियां है। नर्मदा नदी पर गोल्डन ब्रिज के विकल्प के रूप में नया नर्मदा मैया ब्रिज बनकर तैयार हो गया है और करीब 10 माह से इसका उपयोग जारी है और इन बीते दस माह में गोल्डन ब्रिज से गिनती के वाहन गुजरे हैं। गोल्डन ब्रिज की वाहन परिवहन उपयोगिता खत्म होने पर इसे स्वदेशी प्रतीक के रूप में रखने के लिए भरुच की दो कलर कंपनियां गोल्डन ब्रिज को तिरंगे का आकर्षक रूप देने की तैयारियां कर चुकी है। इन कंपनियों के समक्ष यह प्रस्ताव स्थानीय विधायक दुष्यंत पटेल ने रखा था। तिरंगे के स्वरूप में गोल्डन ब्रिज सजकर देश में पहला ब्रिज बनकर जल्द दिखाई देगा। -यूं पड़ा नाम गोल्डन ब्रिज नर्मदा नदी पर 141 साल पहले निर्मित गोल्डन ब्रिज का नाम रखे जाने की भी दिलचस्प वजह रकी है। ब्रिज के निर्माण के दौरान तत्कालीन ब्रिटिश सरकार ने इस पर सोने का ताला लगाया था और इसके निर्माण में जो लागत आई थी, उससे बताया जाता है कि सोने का पुल बनकर तैयार हो सकता था। इसके अलावा भारत में पहला टोल टैक्स भी 1941-42 में गोल्डन ब्रिज पर ही लागू किया गया था, हालांकि देश की स्वतंत्रता के बाद गोल्डन ब्रिज से टोल टैक्स समाप्त कर दिया गया था। -141 वर्ष के एैतिहासिक ब्रिज पर एक नजर- -16 मई 1881 को कार्यरत गोल्डन ब्रिज आज भी कायम, -भरुच-अंकलेश्वर के बीच नर्मदा पर बना गोल्डन ब्रिज वर्ष 1965 व 1971 के भारत-पाकिस्तान की लड़ाई में देश के उत्तर छोर को दक्षिण से जोडऩे वाला एक मात्र पुल रहा। -गोल्डन ब्रिज की डिजाइन ब्रिटिश अभियंता सर जॉन हॉकशा ने बनाई थी। इसका निर्माण टी. व्हाइट व जीएम बैली ने किया था। -चीफ रेजिडेंट इंजीनियर एफ. मैथ्यू व रेजिडेंट इंजीनियर एचजे हारचेव ने 7 सितंबर 1878 को गोल्डन ब्रिज निर्माण की शुरुआत की थी।

पत्रिका 17 May 2022 8:13 pm

Surat/ पुरानी जींस-पैंट्स से बनाए स्कूल बैग्स, रक्षक ग्रुप के युवाओं की मुहिम

सूरत. दक्षिण गुजरात आदिवासी बहुल क्षेत्र है। यहां के अंदरूनी क्षेत्र के गांवों में अब तक कई तरह की सुविधाएं नहीं पहुंच पाई हैं। शिक्षा का भी बुरा हाल है। ऐसे में सूरत के युवाओं के एक ग्रुप ने यहां के बच्चों की सहायता के लिए एक अनोखी मुहिम शुरू की है। इसे नाम दिया है स्कूल बैग मुहिम। इस मुहिम के तहत ग्रुप के युवा पुरानी जींस और पैंट इकठ्ठी कर उसके स्कूल बैग बना रहे हैं। यह बैग स्कूली बच्चों को निशुल्क दिए जाएंगे। रक्षक ग्रुप ने स्कूल बैग की मुहिम शुरू की है। इसके स्थापक अध्यक्ष गौरव पटेल ने बताया कि जब हमने देखा दक्षिण गुजरात के डांग, तापी, वलसाड जैसे जिलों के दूरदराज गांवों में बच्चों के पास स्कूल बैग तक नहीं है, तो इसका विचार आया। ग्रुप के युवा अलग क्षेत्र में और अपने परिचितों से मुलाकात कर उनसे पुरानी जींस-पैंट इकठ्ठी कर उनसे स्कूल बैग तैयार करा रहे हैं। हमने 25000 बैग तैयार करने का लक्ष्य तय किया था। आगामी शिक्षा सत्र शुरू होने के साथ ही दक्षिण गुजरात के दूरदराज के आदिवासी बहुल गांवों के स्कूलों में बच्चों को निशुल्क वितरित किए जाएंगे। सोशल मीडिया पर अपील रक्षक ग्रुप की ओर से मुहिम में युवाओं से जुडऩे के लिए सोशल मीडिया पर अपील की जा रही है। इस अपील को अच्छा रिस्पांस मिल रहा है। आई सपोर्ट स्कूल बैग मुहिम की पोस्ट अपनी तस्वीरों के साथ युवा सोशल मीडिया पर अपलोड कर रहे हैं। दक्षिण गुजरात के स्कूलों में देने की तैयारी, मुहिम में जुड़ रहे युवा

पत्रिका 17 May 2022 8:08 pm

जानें स्वदेशी वारशिप 'सूरत' व 'उदयगिरि' की खासियतें, जिसका आज रक्षा मंत्री ने किया शुभारंभ

INS Surat-INS Udaygiri भारत में विकसित दो वारशिप का आज रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने शुभारंभ किया। उदयगिरि व सूरत को पहली बार मुंबई के मझगांव डाक में उतारा गया। गुजरात की राजधानी व आंध्र प्रदेश की पहाड़ की श्रृंखला के आधार पर इन दोनों के नाम रखे गए हैं।

जागरण 17 May 2022 4:33 pm

नौसेना के जहाज सूरत और उदयगिरि महासागरों पर बुलंदी से फहराएंगे भारत का ध्वज : रक्षामंत्री

– आने वाले समय में भारत सिर्फ अपने लिए ही नहीं, बल्कि दुनिया के लिए जहाज बनाएगा – अपनी क्षमताओं से देश को स्वदेशी जहाज निर्माण केंद्र बनाने का हमारे पास पूरा मौका नई दिल्ली (New Delhi), 17 मई . रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि आने वाले वर्षों में आईएनएस सूरत (Surat) और आईएनएस …

डेली किरण 17 May 2022 3:58 pm

इंडियन नेवी में जुड़े 2 नए फ्रंटलाइन वॉरशिप, जानिए INS सूरत और उदयगिरी के बारे में 5 बातें

नई दिल्ली, 17 मई: रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने मंगलवार (16 मई) को मुंबई में भारतीय नौसेना के विध्वंसक युद्धपोत (वॉरशिप) आईएनएस सूरत (INS Surat) ( INS Udaygiri) का शुभारंभ किया है। 'प्रोजेक्ट 15बी' कार्यक्रम के तहत वॉरशिप आईएनएस सूरत चौथा

वन इंडिया 17 May 2022 3:43 pm

INS Surat & Udaygiri: देश को मिले दो नए जंगी जहाज, ब्रह्मोस-बराक मिसाइलों से होंगे लैस - Aaj Tak

INS Surat & Udaygiri: देश को मिले दो नए जंगी जहाज, ब्रह्मोस-बराक मिसाइलों से होंगे लैस Aaj Tak रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने स्वदेश निर्मित दो युद्धपोत सूरत और उदयगिरी को किया लान्च दैनिक जागरण (Dainik Jagran) INS Surat: भारतीय नौसेना की बढ़ेगी ताकत, आ रहा है नया 'विध्वंसक' Aaj Tak Indian Navy हुई और ताकतवर, Rajnath Singh सिंह ने की दो स्वदेशी युद्धपोतों की लॉन्चिंग Amar Ujala Google समाचार पर पूरी खबर देखें

गूगल न्यूज़ 17 May 2022 2:35 pm

देश को मिले दो नए जंगी जहाज, खासियत जानकर हो जाएंगे हैरान

केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह INS Surat विध्वंसक और INS Udaygiri फ्रिगेट को लॉन्च किया. इनके आने से भारतीय नौसेना की ताकत बढ़ने वाली है. दोनों ही अत्याधुनिक हथियारों, राडार सिस्टम, सोनार सिस्टम से लैस हैं. आइए जानते हैं इसकी खासियत...

आज तक 17 May 2022 2:05 pm

INS Surat: दुनिया देखेगी भारत की समुद्री ताकत, आज भारतीय नौसेना को मिलेगा नया विध्वंसक

INS Surat:तीन ओर से समुद्र से घिरा भारत अपनी विशाल समुद्री सीमा की सुरक्षा के लिए लगातार भारतीय नौसेना को मजबूत बना रहा है। हिंद महासागर में चीन की तरफ से बढ़ती चुनौती को देखते हुए भारत नौसेना की ताकत को बढ़ाने में जुटा हुआ है। ये भी पढ़ें :-...

भारत खबर 17 May 2022 11:20 am

Indian Navy: भारतीय नौसेना की बढ़ेगी ताकत, राजनाथ सिंह आज मुंबई में करेंगे दो स्वदेशी युद्धपोतों को लॉन्च

भारतीय नौसेना (Indian Navy) की ताकत में और इजाफा होने वाला है। रक्षामंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) आज यानी 17 मई 2022 को मुंबई के मझगांव डॉक्स से दो नए विध्वंसक स्वदेशी फ्रंटलाइन युद्धपोतों को भारतीय नौसेना को समर्पित करेंगे। अधिकारियों ने कहा कि यह युद्धपोतों के निर्माण में महत्वपूर्ण मील का पत्थर होगा।जहाज सूरत (Surat) प्रोजेक्ट 15B कार्यक्रम के तहत बनने वाला चौथा और अंतिम विध्वंसक पोत है जो रडार को चकमा देने की सिस्टम से लैस होगा। दूसरा पोत उदयगिरि (Udaygiri) प्रोजेक्ट 17A फ्रिगेट कार्यक्रम का हिस्सा है।भारतीय नौसेना के एक अधिकारी ने कहा कि देश स्वदेशी युद्धपोत निर्माण के इतिहास में एक ऐतिहासिक घटना का गवाह बनेगा जब 17 मई को मुंबई के मझगांव डॉक्स लिमिटेड में भारतीय नौसेना के दो फ्रंटलाइन युद्धपोतों को एक साथ लॉन्च किया जाएगा।क्यों खास हैं ये युद्धपोत?प्रोजेक्ट 15B कैटेगरी के जहाज भारतीय नौसेना की अगली पीढ़ी के स्टेल्थ (रडार को चकमा देने में सक्षम) निर्देशित मिसाइल विध्वंसक हैं जिन्हें मुंबई में मझगांव डॉक्स लिमिटेड (एमडीएल) में बनाया जा रहा है। अधिकारी ने कहा कि ‘सूरत’ प्रोजेक्ट 15B विध्वंसक का चौथा जहाज है, जो पी15A (कोलकाता कैटेगरी) विध्वंसक के एक महत्वपूर्ण बदलाव की शुरुआत करता है।ये भी पढ़ें- टाटा ग्रुप के इन दो शेयरों ने 2 साल में दिया 340% तक का रिटर्न, क्या आपके पैसे भी हुए डबल?अधिकारी ने कहा कि सूरत जहाज को ब्लॉक निर्माण पद्धति का उपयोग करके बनाया गया है जिसमें दो अलग-अलग भौगोलिक स्थानों पर ढांचों का निर्माण शामिल है और इसे एमडीएल में एक साथ जोड़ा गया है। इस कैटेगरी का पहला जहाज 2021 में नौसेना में शामिल किया गया था। दूसरे और तीसरे जहाजों का जलावतरण हो चुका है और वे परीक्षण के विभिन्न चरणों में हैं।‘उदयगिरि’ पोत का नाम आंध्र प्रदेश की पर्वत श्रृंखला के नाम पर रखा गया है। यह प्रोजेक्ट 17A फ्रिगेट्स के तहत तीसरा पोत है। यह पी17 फ्रिगेट (शिवालिक कैटेगरी) का उन्नत वेरिएंट है जिसमें बेहतर हथियार और सेंसर लगी हैं। 15B और पी17A दोनों जहाजों का डिजाइन नौसेना डिजाइन निदेशालय द्वारा तैयार किया गया है।

मनी कण्ट्रोल 17 May 2022 10:58 am

SURAT NEWS: अपने-अपने राम...में राम नाम का यशोगान

सूरत. मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम के जीवन चरित्र का काव्य रचना के रूप में रामकथा मर्मज्ञ डॉ. कुमार विश्वास दो दिवसीय अपने-अपने राम...कार्यक्रम के दौरान 20 व 21 मई को सूरत में बखान करेंगे। कार्यक्रम का आयोजन उत्सव फाउंडेशन की ओर से उधना-मगदल्ला रोड स्थित वीर नर्मद दक्षिण गुजरात विश्वविद्यालय के एक्जीबिशन ग्राउंड पर किया जाएगा। दो दिवसीय अपने-अपने राम...कार्यक्रम की जानकारी में सोमवार को आयोजक उत्सव फाउंडेशन ने पत्रकार वार्ता में बताया कि प्रभु श्रीराम के जीवन चरित्र का बखान डॉ. कुमार विश्वास काव्य रचनाओं के माध्यम से 20 व 21 मई को सूरत में बड़े ही भावपूर्ण तरीके से करेंगे। सदियों के बाद आराध्यदेव मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्रीराम का पवित्र जन्मस्थली अयोध्याधाम में श्रीराम मंदिर का निर्माण साकार हो रहा है। ऐसे में शहरवासियों को प्रभु श्रीराम के जीवन चरित्र से राममय करने के उद्देश्य से दो दिवसीय अपने-अपने राम...कार्यक्रम का आयोजन 20 व 21 मई को शाम सात बजे से उधना-मगदल्ला रोड स्थित वीर नर्मद दक्षिण गुजरात विश्वविद्यालय के एक्जीबिशन ग्राउंड पर किया जाएगा। वार्ता के दौरान आयोजक उत्सव फाउंडेशन के हरि अरोरा, प्रकाश धोरियानी, बालकिशन अग्रवाल, ऋतु राठी, प्रकाश बिंदल, राहुल अग्रवाल समेत अन्य मौजूद थे। -श्रोताओं को होगी श्रीराम मंदिर की अनुभूति आयोजकों ने बताया कि दो दिवसीय अपने-अपने राम...कार्यक्रम के दौरान अयोध्याधाम में जारी श्रीराम मंदिर निर्माण की अनुभूति हजारों श्रोताओं को होगी। इसके लिए कार्यक्रम स्थल को श्रीराम मंदिर के अनुरूप तैयार किया जाएगा। वहीं, मंच पर रामकथा मर्मज्ञ डॉ. कुमार विश्वास के साथ 24 वाद्य संगीतज्ञों का दल विशेष रूप से मौजूद रहेगा। इसके अतिरिक्त गायक व संगीतज्ञ आदित्य गढ़वी भी अपनी विशेष प्रस्तुति कार्यक्रम के दौरान देंगे।

पत्रिका 16 May 2022 9:06 pm

INS Surat: भारतीय नौसेना की बढ़ेगी ताकत, आ रहा है नया 'विध्वंसक'

INS Surat: 17 मई 2022 को केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह आईएनएस सूरत को भारतीय नौसेना को समर्पित करेंगे. गुजरात के कपड़ा और हीरा शहर के नाम पर इसे नाम दिया गया है. जिससे गुजरात में काफी ज्यादा खुशी का माहौल है. आइए जानते हैं इसकी खासियत...

आज तक 16 May 2022 5:05 pm

SURAT NEWS DAYRI: एक शाम बेटियों के नाम...कार्यक्रम सम्पन्न

सूरत. अखिल भारतीय अग्रवाल संगठन महिला इकाई सूरत की ओर से महिला सशक्तिकरण अभियान के तहत एक शाम बेटियों के नाम कवि सम्मेलन का आयोजन शनिवार को वेसू स्थित सेलेब्रिटी ग्रीन के बैंक्वेंट हॉल में किया गया। कवि सम्मेलन से पूर्व इकाई की ओर से आयोजित आपकी आवाज-आपकी पहचान प्रतियोगिता में महिलाओं व बेटियों ने कविताओं की प्रस्तुति दी और उन्हें सम्मानित किया गया। बाद में आयोजित कवि सम्मेलन में कवियत्री सोनल जैन, कुलदीप रंगीला, दिनेश दिग्गज, गौरव साक्षी, राहुल शर्मा आदि कवियों ने काव्य रचनाओं की प्रस्तुति दी। यह जानकारी देते हुए महिला इकाई की अध्यक्ष सुनीता अग्रवाल व सचिव सुमन चौकडि़का ने बताया कि इस मौके पर संगठन के राष्ट्रीय महामंत्री राजेश भारुका, पार्षद सुमन गाडिया समेत अन्य कई लोग मौजूद थे। नेमिनाथ अंबिकादेवी अनुष्ठान आज सूरत. अडाजण स्थित योगी कॉम्प्लेक्स में विराजित प्रवर्तक ज्ञानरश्मिविजय महाराज के सानिध्य में सोमवार सुबह दस बजे से नेमिनाथ जिन अंबिकादेवी अनुष्ठान कराया जाएगा। गिरनार तीर्थाधिपति नेमिनाथ भगवान प्राचीन जैन मंदिर की 893वीं वर्षगांठ के उपलक्ष में आयोजित अनुष्ठान में सामूहिक रूप से पूजा-आराधना की जाएगी। कार्यशाला में दी दस दान की जानकारी सूरत . अखिल भारतीय तेरापंथ महिला मंडल के तत्वावधान में पुरानी ढालों का पुनरावर्तन दस दान कार्यशाला का आयोजन तेरापंथ महिला मंडल, परवत पाटिया की ओर से रविवार सुबह तेरापंथ भवन में किया गया। इस दौरान वक्ताओं ने दस दान के बारे में कार्यशाला में जानकारी दी। कार्यशाला में अध्यक्ष ललिता पारख, पुष्पा पुगलिया, मनोज गंग समेत अन्य कई सदस्य व पदाधिकारी महिलाएं मौजूद थी। स्वास्थ्य जांच शिविर आयोजित सूरत . स्वस्थ भारत-सशक्त भारत अभियान के तहत भाजपा महानगर इकाई के मेडिकल सेल की ओर से रविवार को शहर में 70 स्थलों पर स्वास्थ्य जांच शिविरों का आयोजन किया गया। शिविर में गर्भवती महिलाओं के स्वास्थ्य की विशेष रूप से जांच की गई। इस मौके पर भाजपा के पदाधिकारी व अन्य लोग मौजूद रहे। नृसिंह जयंती मनाई सूरत. इस्कॉन की ओर से वैशाख शुक्ल चतुर्दशी को भगवान नृसिंह जयंती का आयोजन जहांगीरपुरा स्थित इस्कॉन मंदिर में किया गया। इस अवसर पर मंदिर प्रांगण में भगवान नृसिंह का अभिषेक कर विश्व शांति के लिए यज्ञ-हवन का आयोजन किया गया।

पत्रिका 15 May 2022 9:00 pm

SURAT KAPDA MANDI: 'संगठन की बढ़ेगी ताकत, समस्या के होंगे समाधानÓ

surat textile market. व्यापारिक संगठन की ताकत बढ़ाने के उद्देश्य से सूरत मर्कंटाइल एसोसिएशन ने अब सूरत कपड़ा मंडी समेत देशभर की कपड़ा मंडियों से कपड़ा व्यापारियों को जोडऩे पर जोर देना प्रारम्भ कर दिया है। इस मुहिम से एसोसिएशन का मानना है कि इससे संगठन की ताकत बढ़ेगी और व्यापारिक समस्याओं का समाधान भी अधिक हो सकेगा। यह जानकारी रविवार सुबह वेसू में मनभरी फार्म पर आयोजित साप्ताहिक व्यापारिक बैठक में व्यापारियों को दी गई। सूरत कपड़ा मंडी के व्यापारिक हितों के प्रति सक्रिय सूरत मर्कंटाइल एसोसिएशन की साप्ताहिक व्यापारिक बैठक में रविवार सुबह बताया गया कि एसोसिएशन के सोशल मीडिया पर कई समूह हैं और इनमें सूरत कपड़ा मंडी के अलावा देशभर की कपड़ा मंडियों के व्यापारियों को जोडऩा चाहिए। जब तक बाहरी मंडियों के व्यापारी नहीं जुड़ेंगे तब तक एसोसिएशन की व्यापारिक कार्यप्रणाली से सभी वाकिफ नहीं हो पाएंगे। उन्हें समूह में जोडऩे से ना केवल व्यापारिक फायदे होंगे बल्कि सामूहिक रूप से व्यापारिक हित में कई आवश्यक निर्णय भी सहमति से किए जा सकेंगे। सूरत मर्कंटाइल एसोसिएशन के पंच पैनल के महेश पाटोदिया, सुरेंद्र अग्रवाल, राजीव ओमर, अशोक गोयल की अगुवाई में आयोजित साप्ताहिक व्यापारिक बैठक के दौरान कई व्यापारिक समस्याओं के संदर्भ में चर्चा की गई और उनके समाधान के लिए पंच पैनल व लीगल टीम को भी मामले सौंपे गए। इस अवसर पर एसोसिएशन के संजय अग्रवाल, संदीप गुप्ता, जितेन्द्र सुराणा, दीपक अग्रवाल, बसंत महेश्वरी, भरतभाई, दुर्गेश टिबड़ेवाल, रामकिशोर बजाज आदि मौजूद थे। -सभी निभाए अपनी-अपनी जिम्मेदारी textile mandiबैठक में बताया कि सूरत कपड़ा मंडी के व्यापारी अपनी-अपनी कपड़ा मंडियों के (जहां पर उनका व्यापारिक काम-काज है) व्यापारियों को सोशल मीडिया पर बने सूरत मर्कंटाइल एसोसिएशन के समूह में अवश्य जोड़ें। मौजूदा समय में हजारों व्यापारी सोशल मीडिया के माध्यम से एसोसिएशन से जुड़े हैं और भविष्य में उनकी संख्या लाखों में हो जाएगी। इससे संगठन की ताकत बढ़ेगी और कपड़ा व्यापार की समस्याओं के समाधान का दायरा भी बढ़ेगा।

पत्रिका 15 May 2022 6:03 pm

SURAT KAPDA MANDI: टेक्सटाइल मार्केट की दीवारों पर कपड़ा इतिहास की झलक

सूरत . एशिया की सबसे बड़ी सूरत कपड़ा मंडी में प्रवेश के साथ ही वस्त्रनगरी का एहसास लोगों को अब होने लगा है और इसकी शुरुआत महानगरपालिका प्रशासन ने फिलहाल रिंगरोड कपड़ा बाजार में मिलेनियम टेक्सटाइल मार्केट की दीवार के सौंदर्यीकरण से की है। यहां करीब ढाई सौ मीटर लम्बी दीवार पर प्रशासन ने तस्वीरों के माध्यम से कपड़ा उद्योग की झांकी जीवंत की है। महानगरपालिका प्रशासन की ओर से शहरभर में खाली जगह पर रंगरोगन व विभिन्न तस्वीरों के माध्यम से समृद्धनगरी सूरत की ऐतिहासिक कहानी दिखाने की पहल कुछ समय पहले प्रारम्भ की थी। मनपा प्रशासन की इस पहल को ध्यान में रख कुछ महीनों पहले सूरत कपड़ा मंडी के रिंगरोड कपड़ा बाजार, श्रीसालासर कपड़ा बाजार के ब्यूटीफिकेशन की मांग साउथ गुजरात टेक्सटाइल ट्रेडर्स एसोसिएशन की एसएमसी एंड एडमिनिस्ट्रिव कमेटी के सदस्य कपड़ा व्यापारियों ने लिखित पत्र के साथ मनपा आयुक्त बंछानिधि पाणी से की थी। उस दौरान व्यापारिक प्रतिनिधिमंडल में दिनेश कटारिया, अरुण पाटोदिया, पार्षद विजय चौमाल, दिनेश भोगर, कमल जैनआदि शामिल रहे थे। प्रतिनिधिमंडल ने तब पत्र में बताया था कि सूरत कपड़ा उद्योग के इतिहास से लोगों को जानकार कराने के लिए मनपा प्रशासन को सूरत कपड़ा मंडी के विभिन्न बाजार व रिंगरोड फ्लाइओवरब्रिज के पिल्लर पर तस्वीरों के माध्यम से जानकारी दी जानी चाहिए। प्रतिनिधिमंडल की मांग पर मनपा प्रशासन ने प्राथमिक स्तर पर सुनवाई रिंगरोड कपड़ा बाजार में कमेला दरवाजा के निकट मिलेनियम टेक्सटाइल मार्केट के पास की है और यहां मार्केट की करीब ढाई सौ मीटर लम्बी दीवार पर कपड़ा उद्योग के इतिहास को तस्वीरों के माध्यम से बताने की कोशिश की है। -लूम्स मशीनों पर बुनाई और पार्सल पैकिंग मिलेनियम मार्केट की करीब ढाई सौ मीटर लम्बी दीवार पर कपड़ा उद्योग के इतिहास को तस्वीरों के माध्यम से जीवंत करने का प्रयास इन दिनों मनपा प्रशासन की ओर से किया गया है। इन तस्वीरों में पुरानी पावरलूम्स मशीनों पर बुनते ग्रे ताकों के साथ-साथ सूरत कपड़ा उद्योग की टेक्सटाइल ट्रेडिंग, मार्केटिंग, पैकेजिंग समेत मशीनों के कई चित्रों को साफ-साफ देखा जा सकता है। -फ्लाइओवर को भी दें ऐसा ही रूप मनपा प्रशासन से कपड़ा मार्केट क्षेत्र में इसी तरह के ब्यूटीफिकेशन की मांग की थी और उसकी शुरुआत की गई है। अभी रिंगरोड फ्लाइओवर का काम चल रहा है, बाद में यहां भी इसी तरह से प्रशासन को कपड़ा उद्योग के इतिहास की तस्वीरों के साथ ब्यूटीफिकेशन करना चाहिए क्योंकि सर्वाधिक लोगों का आना-जाना यहीं से होता है। दिनेश कटारिया, एसएमसी एंड एडमिनिस्ट्रिव कमेटी चेयरमैन, साउथ गुजरात टेक्सटाइल ट्रेडर्स एसोसिएशन।

पत्रिका 14 May 2022 9:07 pm

SURAT NEWS: आदिवासी बहुल डांग में कपड़ा व्यापारी बना रहे हैं मंदिर

सूरत. मंदिर निर्माण के साथ समाज में धर्म चेतना की लहर पैदा करने का प्रयास सूरत कपड़ा मंडी के व्यापारी दक्षिण गुजरात के आदिवासी बहुल डांग-वलसाड जिले में कर रहे हैं। 2017 से जारी आदिवासी बहुल क्षेत्र में मंदिर निर्माण अभियान के तहत शनिवार को छठ्ठे सप्तश्रृंगी माता मंदिर का भूमिपूजन गुजरात-महाराष्ट्र की सीमा पर स्थित आदिवासी बहुल गांव में किया गया। आदिवासी बहुल दक्षिण गुजरात के डांग जिले में सह्याद्री पर्वतमाला है और इसके छोटे-बड़े गांवों में बड़ी संख्या में बसे आदिवासियों को प्रलोभन के जरिए ईसाई मिशनरी द्वारा धर्मांतरित किए जाने के मामले लगातार बनते रहते हैं। आदिवासियों के धर्मांतरण को रोकने के लिए गांव-गांव मंदिर निर्माण की मुहिम विश्व हिन्दू परिषद ने कई वर्षों पहले छेड़ी थी और इसमें पांच-छह साल पहले सूरत कपड़ा मंडी के कपड़ा व्यापारी अनिल पीतलिया भी शामिल हुए। शनिवार को पीतलिया मंदिर निर्माण मुहिम के अन्तर्गत सातवें सप्तश्रृंगी माता मंदिर के भूमिपूजन कार्यक्रम में शामिल हुए। इस मंदिर का निर्माण सापुतारा के निकट गुजरात-महाराष्ट्र की सीमा पर स्थित उमरनाघोड़ा गांव में विधिविधान से किया गया। इस संबंध में अनिल पीतलिया ने बताया कि विश्व हिन्दू परिषद ने आदिवासी बहुल डांग क्षेत्र में ईसाई धर्मांतरण रोकने के लिए मंदिर निर्माण से धर्म जागरण पर जोर दिया था और तब से इस अभियान में वे शामिल हैं। -यहां-यहां पर हो चुका है मंदिर निर्माण 2017 में वलसाड जिले की धरमपुर तहसील में आदिवासी बहुल धामनीगांव में हनुमानजी मंदिर का निर्माण करवाया गया और इसके बाद मांकड़बन गांव में हनुमानजी-शनिदेव मंदिर, अरनाई गांव में माताजी मंदिर, मेड़दागांव में हनुमानजी मंदिर, सापुतारा में पुरी हिल स्थित जमीन पर लैटे शिवरुद्र हनुमान मंदिर का निर्माण करवाया गया है।

पत्रिका 14 May 2022 8:57 pm

Gujarat Corona : गुजरात में कोरोना के 35 नए मरीज

अहमदाबाद. Gujarat गुजरात में शुक्रवार को Corona कोरोना के 35 नए patients मरीज सामने आए हैं। इसके साथ ही प्रदेश में Active case एक्टिव केस 200 के पार हो गए हैं। राज्य में शुक्रवार को सबसे अधिक 23 नए मरीज ahmedabad अहमदाबाद शहर के हैं। इसके अलावा Vadodara वडोदरा जिले में आठ, Kheda खेडा में दो, Gandhinagar गांधीनगर और Surat सूरत में एक-एक मरीजों की पुष्टि हुई है। नए मरीजों की तुलना में डिस्चार्ज (12) की संख्या कम होने से एक बार फिर एक्टिव मरीज 211 हो गए हैं। इनमें से दो वेंटिलेटर पर हैं जबकि अन्य 209 की हालत स्थिर है। राज्य में अब तक कोरोना के कुल मामले 1224657 हो गए हैं। गर्मी से मिली आंशिक राहत, अहमदाबाद में दो डिग्री कम हुआ तापमान सात शहरों में पारा 42 डिग्री के पार अहमदाबाद. गुजरात के अधिकांश भागों में पिछले दो दिनों के मुकाबले गर्मी से आंशिक राहत मिली है। हालांकि अभी भी अहमदाबाद समेत सात शहरों में पारा 42 डिग्री के पार रहा। अहमदाबाद शहर में बुधवार(45.8) और गुरुवार (45.3) झुलसाने वाली गर्मी रही। शहर में रेडअलर्ट की चेतावनी के बीच तापमान में कमी आई है। शुक्रवार को शहर का अधिकतम तापमान 43.3 डिग्री सेल्सियस रहा। फिर भी गर्म हवाओं और कड़ी धूप के कारण लोग पिछले दिनों की तरह ही परेशान दिखे। राज्य में सबसे गर्म सुरेन्द्रनगर रहा, जहां अधिकतम तापमान 44.3 डिग्री दर्ज किया गया। इसके अलावा अमरेली में 44, राजकोट में 43.4 तथा कच्छ के कंडला में 43 डिग्री तापमान रहा। इसके अलावा गांधीनगर समेत दो शहरों में 42 डिग्री या उससे अधिक तापमान दर्ज किया गया। मौसम विभाग के अनुसार शनिवार से तापमान में और कमी आ सकती है। अगले दो तीन दिनों तक तापमान में दो से तीन डिग्री की कमी आने के आसार जताए गए हैं।

पत्रिका 13 May 2022 10:07 pm

Surat/ सात माह की गर्भवती किशोरी को बच्चे को देना होगा जन्म, कोर्ट ने गर्भपात की मांग ठुकराई

सूरत. बलात्कार के कारण गर्भवती हुई भरुच की एक 17 वर्षीय किशोरी की गर्भपात की मंजूरी देने की मांग वाली याचिका सेशन कोर्ट ने नामंजूर कर दी। ऐसे में अब किशोरी को कुवारी मां बनना पड़ेगा। भरुच जिला निवासी महिला ने कोर्ट में याचिका दायर कर अपनी 17 साल की और सात महीने की गर्भवती पुत्री का गर्भपात करने के लिए मेडिकल टर्मीनेन्स प्रेगनेन्सी एक्ट, 1971 की धाराओं के तहत कोर्ट से मंजूरी मांगी थी। याचिका में महिला ने बताया था कि पुत्री के बीमार होने पर जब वह उसे अस्पताल ले गई तो जांच में उसके सात महीने की गर्भवती होने का पता चला था। पुत्री से पूछताछ करने पर उसने बताया कि अक्षय नाम के युवक ने उससे जबरदस्ती यौन संबंध बनाए थे और उसी से वह गर्भवती हुई है। इस संदर्भ में महिला ने आरोपी के खिलाफ कोसंबा थाने में बलात्कार और पॉक्सो एक्ट की धाराओं के तहत शिकायत भी दर्ज करवाई है। आरोपी ने किए बलात्कार के कारण पुत्री गर्भवती हुई है और वह इस गर्भ को रखना नहीं चाहती। यदि बच्चे का जन्म भी होता है तो उसका भविष्य नहीं होगा। कोर्ट की ओर से गर्भपात को लेकर न्यू सिविल अस्पताल के चिकित्सकों की पैनल से अभिप्राय मांगा गया था। पैनल ने अपने अभिप्रया में बताया कि किशोरी को 30 से 32 सप्ताह यानी आठ महीने का गर्भ है। यदि गर्भपात करने की मंजूरी दी जाती है तो किशोरी की जान के लिए जोखिम खड़ा हो सकता है। याचिका पर अंतिम सुनवाई के बाद चिकित्सकों के अभिप्राय को ध्यान में रखते हुए कोर्ट ने याचिका नामंजूर कर दी।

पत्रिका 12 May 2022 3:34 pm

Surat/ अब ट्रैफिक पुलिस कर्मी बॉडी कैमरा के साथ आएंगे नजर

सूरत। शहर की ट्रैफिक समस्या के निराकरण के साथ ट्रैफिक नियमन का कार्य प्रभावी बने और वाहन चालकों के साथ घर्षण की घटनाओं से बचा जा सके इसलिए पुलिस विभाग की ओर से ट्रैफिक पुलिस कर्मियों के लिए 545 बॉडी कैमरे खरीदे गए है। ट्रैफिक पुलिस कर्मियों को प्रशिक्षण देने के बाद इन कैमरों का उपयोग शुरू किया जाएगा। शहर में वाहनों की संख्या बढ़ने के साथ ट्रैफिक की समस्या लगातार बढ़ रही है। साथ ही ट्रैफिक नियमों का उल्लंघन करने पर ट्रैफिक पुलिस यदि कार्रवाई करती है तो कई बार वाहन चालक और पुलिस कर्मियों के बीच विवाद से लेकर हाथापाई तक की घटनाएं भी बनती है। इस तरह की घटनाओं को रोकने और ट्रैफिक नियमों का सख्ती से पालन करवाया जा सके इसके लिए पुलिस आयुक्त अजय कुमार तोमर लगातार प्रयास कर रहे हैं। यही नहीं ट्रैफिक पुलिस विभाग को आधुनिक टेक्नोलॉजी से जोड़ रहे हैं। इसी के तहत अब ट्रैफिक पुलिस के लिए 545 बॉडी कैमरे खरीदे गए हैं। जिससे आगमी दिनों में ट्रैफिक पुलिस कर्मी सड़कों पर बॉडी कैमरों के साथ नजर आएंगे। सीधे बन जाएगा ई - चालान ट्रैफिक पुलिस विभाग की डिप्टी पुलिस आयुक्त अमिता वानाणी ने बताया कि ट्रैफिक पुलिस कर्मियों को कैमरों के संचालन का प्रशिक्षण दिया जाएगा। बॉडी कैमरे से लैस पुलिस कर्मी ट्रैफिक नियमन के साथ ही नियमों का उल्लंघन कर करने वाले वाहन चालकों पर भी नजर रखेंगे। यदि कोई वाहन चालक नियमों का उल्लंघन करता है तो वह कैमरे में कैद हो जाएगा और सीधे वाहन चालक तथा पुलिस कर्मी सीधे संपर्क में आए बिना वाहन चालक का ई - चालान बन जाएगा। वहीं कोई वाहन चालक के साथ विवाद की घटना होती है तो किसी की भूल है यह भी पता चल सकेगा।

पत्रिका 12 May 2022 2:58 pm

रणबीर-आलिया को फैन ने भेजा सोने के गुलाब का गुलदस्ता, वीडियो वायरल

आज रणबीर कपूर और आलिया भट्ट शादी के बंधन में बंधने जा रहे हैं। इस कपल की बिग फैट वेडिंग होने जा रही है। जी हाँ, बीते कल मेहंदी से शुरू हुए समारोह में कई लोग पहुंचे। आपको बता दें कि सभी कार्यक्रम मुंबई के पाली हिल्स के अपार्टमेंट परिसर वास्तु में होंगे। कार्यक्रम के दौरान केवल करीबी परिवार और दोस्त ही शामिल होंगे। जी हाँ और इन सभी के बीच एक रिपोर्ट के अनुसार, गायक प्रतीक कुहाड़ को बुधवार दोपहर रणबीर कपूर और आलिया भट्ट के मेहंदी समारोह में देखा गया। जी हाँ और रिपोर्ट में कहा गया है कि गायक ने युगल के लिए कुछ गाने भी गाए। A jeweller from surat gifted Ranbir and Alia a gold plated bouquet #RanbirAliaWedding pic.twitter.com/1xchWhhgZe — Ranbir Kapoor Team (@RanbirKTeam) April 13, 2022 आप सभी को बता दें कि रणबीर कपूर-आलिया भट्ट की मेहंदी समारोह के बाद करीना कपूर खान और करिश्मा कपूर ने पपराज़ी के लिए पोज़ दिया। अब सभी के फोटोज वायरल हो रहे हैं। अब आज परंपरा के अनुसार, कपूर परिवार के सदस्य कृष्णा राज बंगले और वास्तु हाउस के बीच बारात का जुलूस निकालेंगे। जी हाँ और बीते कल आलिया भट्ट की बहन पूजा भट्ट ने भी मेहंदी रचाई और एक तस्वीर में वह मेहँदी दिखाने लगीं। इस तस्वीर में पूजा भट्ट की हथेली पर फूलों का एक छोटा सा डिज़ाइन बना हुआ नजर आ रहा है। आप सभी को बता दें कि बीते कल आलिया भट्ट की मेहंदी सेरेमनी से पहले करण जौहर भावुक हो गए और फिल्म निर्माता ने अभिनेत्री के हाथ पर पहली मेंहदी लगाई। आपको बता दें कि करण आलिया को अपनी बेटी मानते हैं। वैसे इन सभी के बीच आलिया और रणबीर के लिए गिफ्ट्स आने का सिलसिला भी शुरू हो गया है। खबरों के अनुसार सूरत के ज्वैलर ने रणबीर और आलिया को गोल्ड प्लेटेड गुलदस्ता गिफ्ट किया है। जी हाँ और एक वीडियो भी वायरल हो रहा है जिसमे एक शख्स खूबसूरत-सा तोहफा लेकर आरके हाउस में जाते हुए देखा जा सकता है। अब तक कई गिफ्ट्स आ चुके हैं। रणबीर-आलिया की मेहँदी सेरेमनी में फूट-फूटकर रोई नीतू कपूर, खास थी वजह बॉलीवुड से लेकर टीवी सेलेब्स तक ने दी रणबीर-आलिया को शादी की बधाई आज बारात लेकर दुल्हन आलिया को लेने जाएंगे रणबीर, 2 बजे है शादी

न्यूज़ ट्रॅक लाइव 14 Apr 2022 9:43 am

Surat Bus Fire: Gujrat के सूरत में यात्रियों से भरी Luxury Bus में लगी भीषण आग, महिला की मौत, वीडियो

सूरत में एक चलती बस आग का गोला बन गई... लग्जरी बस में अचानक शॉर्ट सर्किट के बाद आग लग गई... बताया जा रहा है कि बस सूरत से सौराष्ट्र के सफर पर निकली थी... खबर है कि एक शॉर्ट सर्किट हुआ जिसके बाद बस का एसी कंप्रेसर फट गया... चंद मिनटों में पूरा बस जलकर स्वाह हो गई... सूरत में अचानक सड़क पर शोले भड़के तो अफरा तफरी मच गई... इस दर्दनाक हादसे में 1 महिला की बस में जलकर मौत हो गई जबकि कुछ घायलों का इलाज जारी...

लाइव हिन्दुस्तान 19 Jan 2022 3:08 pm